#जीवन शैली

bolkar speaker

जब इन्सान सब कुछ खो दे, तो खुदखुशी का ही ख्याल क्यूँ आता हैं?

Jab Insan Sab Kuch Kho De Toh Khudkhushi Ka Hi Khyal Kyu Aata Hai
Jeet Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Jeet जी का जवाब
Unknown
1:56

और जवाब सुनें

bolkar speaker
जब इन्सान सब कुछ खो दे, तो खुदखुशी का ही ख्याल क्यूँ आता हैं?Jab Insan Sab Kuch Kho De Toh Khudkhushi Ka Hi Khyal Kyu Aata Hai
neelam mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए neelam जी का जवाब
I am nurse
4:58

bolkar speaker
जब इन्सान सब कुछ खो दे, तो खुदखुशी का ही ख्याल क्यूँ आता हैं?Jab Insan Sab Kuch Kho De Toh Khudkhushi Ka Hi Khyal Kyu Aata Hai
Gopal rana Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Gopal जी का जवाब
Sales executive
2:12

bolkar speaker
जब इन्सान सब कुछ खो दे, तो खुदखुशी का ही ख्याल क्यूँ आता हैं?Jab Insan Sab Kuch Kho De Toh Khudkhushi Ka Hi Khyal Kyu Aata Hai
Shivangi Dixit.  Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Shivangi जी का जवाब
Unknown
0:49

bolkar speaker
जब इन्सान सब कुछ खो दे, तो खुदखुशी का ही ख्याल क्यूँ आता हैं?Jab Insan Sab Kuch Kho De Toh Khudkhushi Ka Hi Khyal Kyu Aata Hai
lalit Netam Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए lalit जी का जवाब
Unknown
3:38

bolkar speaker
जब इन्सान सब कुछ खो दे, तो खुदखुशी का ही ख्याल क्यूँ आता हैं?Jab Insan Sab Kuch Kho De Toh Khudkhushi Ka Hi Khyal Kyu Aata Hai
Afroz Alam Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Afroz जी का जवाब
मजदूर
0:26
जब इंसान सब कुछ खो दे तो खुद खुशी का ही ख्याल क्यों आता है

bolkar speaker
जब इन्सान सब कुछ खो दे, तो खुदखुशी का ही ख्याल क्यूँ आता हैं?Jab Insan Sab Kuch Kho De Toh Khudkhushi Ka Hi Khyal Kyu Aata Hai
Rakesh Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Rakesh जी का जवाब
👨‍🏫 Teacher.
0:52

bolkar speaker
जब इन्सान सब कुछ खो दे, तो खुदखुशी का ही ख्याल क्यूँ आता हैं?Jab Insan Sab Kuch Kho De Toh Khudkhushi Ka Hi Khyal Kyu Aata Hai
MD NIZAM  ABBASI Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए MD जी का जवाब
NIPFS stroller
1:19

bolkar speaker
जब इन्सान सब कुछ खो दे, तो खुदखुशी का ही ख्याल क्यूँ आता हैं?Jab Insan Sab Kuch Kho De Toh Khudkhushi Ka Hi Khyal Kyu Aata Hai
Pt. Rakesh  Chaturvedi ( Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant | Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Pt. जी का जवाब
Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant |
2:22

bolkar speaker
जब इन्सान सब कुछ खो दे, तो खुदखुशी का ही ख्याल क्यूँ आता हैं?Jab Insan Sab Kuch Kho De Toh Khudkhushi Ka Hi Khyal Kyu Aata Hai
DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
0:48

bolkar speaker
जब इन्सान सब कुछ खो दे, तो खुदखुशी का ही ख्याल क्यूँ आता हैं?Jab Insan Sab Kuch Kho De Toh Khudkhushi Ka Hi Khyal Kyu Aata Hai
shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
2:09

bolkar speaker
जब इन्सान सब कुछ खो दे, तो खुदखुशी का ही ख्याल क्यूँ आता हैं?Jab Insan Sab Kuch Kho De Toh Khudkhushi Ka Hi Khyal Kyu Aata Hai
Hitesh jain Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Hitesh जी का जवाब
Blogger- Content Writer
2:58

bolkar speaker
जब इन्सान सब कुछ खो दे, तो खुदखुशी का ही ख्याल क्यूँ आता हैं?Jab Insan Sab Kuch Kho De Toh Khudkhushi Ka Hi Khyal Kyu Aata Hai
Raghvendra  Tiwari Pandit Ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Raghvendra जी का जवाब
Unknown
4:14

bolkar speaker
जब इन्सान सब कुछ खो दे, तो खुदखुशी का ही ख्याल क्यूँ आता हैं?Jab Insan Sab Kuch Kho De Toh Khudkhushi Ka Hi Khyal Kyu Aata Hai
Avdhesh Tiwari Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Avdhesh जी का जवाब
Business
1:50

bolkar speaker
जब इन्सान सब कुछ खो दे, तो खुदखुशी का ही ख्याल क्यूँ आता हैं?Jab Insan Sab Kuch Kho De Toh Khudkhushi Ka Hi Khyal Kyu Aata Hai
ANKUR singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए ANKUR जी का जवाब
Motivational speaker
2:56

bolkar speaker
जब इन्सान सब कुछ खो दे, तो खुदखुशी का ही ख्याल क्यूँ आता हैं?Jab Insan Sab Kuch Kho De Toh Khudkhushi Ka Hi Khyal Kyu Aata Hai
Manish Kumar  Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Manish जी का जवाब
Defence
3:00

bolkar speaker
जब इन्सान सब कुछ खो दे, तो खुदखुशी का ही ख्याल क्यूँ आता हैं?Jab Insan Sab Kuch Kho De Toh Khudkhushi Ka Hi Khyal Kyu Aata Hai
Harender Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Harender जी का जवाब
As School administration & Principal
4:04

bolkar speaker
जब इन्सान सब कुछ खो दे, तो खुदखुशी का ही ख्याल क्यूँ आता हैं?Jab Insan Sab Kuch Kho De Toh Khudkhushi Ka Hi Khyal Kyu Aata Hai
Porshia Chawla Ban Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Porshia जी का जवाब
मनोवैज्ञानिक, हैप्पीनेस कोच, ट्रेनर (सॉफ्ट स्किल्स/कॉर्पोरेट)
3:06

bolkar speaker
जब इन्सान सब कुछ खो दे, तो खुदखुशी का ही ख्याल क्यूँ आता हैं?Jab Insan Sab Kuch Kho De Toh Khudkhushi Ka Hi Khyal Kyu Aata Hai
Bhanu Prakash jha  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Bhanu जी का जवाब
Students
1:37

bolkar speaker
जब इन्सान सब कुछ खो दे, तो खुदखुशी का ही ख्याल क्यूँ आता हैं?Jab Insan Sab Kuch Kho De Toh Khudkhushi Ka Hi Khyal Kyu Aata Hai
Deepak Sharma Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Deepak जी का जवाब
संस्कृतप्रचारक:
3:16

bolkar speaker
जब इन्सान सब कुछ खो दे, तो खुदखुशी का ही ख्याल क्यूँ आता हैं?Jab Insan Sab Kuch Kho De Toh Khudkhushi Ka Hi Khyal Kyu Aata Hai
Soumya Sharma Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Soumya जी का जवाब
Unknown
2:58

bolkar speaker
जब इन्सान सब कुछ खो दे, तो खुदखुशी का ही ख्याल क्यूँ आता हैं?Jab Insan Sab Kuch Kho De Toh Khudkhushi Ka Hi Khyal Kyu Aata Hai
Dharm  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dharm जी का जवाब
Unknown
1:06

bolkar speaker
जब इन्सान सब कुछ खो दे, तो खुदखुशी का ही ख्याल क्यूँ आता हैं?Jab Insan Sab Kuch Kho De Toh Khudkhushi Ka Hi Khyal Kyu Aata Hai
अभिषेक शुक्ला  Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए अभिषेक जी का जवाब
Motivational speaker
3:46

bolkar speaker
जब इन्सान सब कुछ खो दे, तो खुदखुशी का ही ख्याल क्यूँ आता हैं?Jab Insan Sab Kuch Kho De Toh Khudkhushi Ka Hi Khyal Kyu Aata Hai
रंगन Bolkar App
Top Speaker,Level 55
सुनिए रंगन जी का जवाब
Business,Student🤓
2:13

bolkar speaker
जब इन्सान सब कुछ खो दे, तो खुदखुशी का ही ख्याल क्यूँ आता हैं?Jab Insan Sab Kuch Kho De Toh Khudkhushi Ka Hi Khyal Kyu Aata Hai
itishree Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए itishree जी का जवाब
Unknown
0:35

bolkar speaker
जब इन्सान सब कुछ खो दे, तो खुदखुशी का ही ख्याल क्यूँ आता हैं?Jab Insan Sab Kuch Kho De Toh Khudkhushi Ka Hi Khyal Kyu Aata Hai
Neha student  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Neha जी का जवाब
Student
0:35

bolkar speaker
जब इन्सान सब कुछ खो दे, तो खुदखुशी का ही ख्याल क्यूँ आता हैं?Jab Insan Sab Kuch Kho De Toh Khudkhushi Ka Hi Khyal Kyu Aata Hai
Dr.Nitin Pawar, D.M S.(Management) Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Dr.Nitin जी का जवाब
Kisan,Journalist,Marathi Writer, Social Worker,Political Leader.
7:00

bolkar speaker
जब इन्सान सब कुछ खो दे, तो खुदखुशी का ही ख्याल क्यूँ आता हैं?Jab Insan Sab Kuch Kho De Toh Khudkhushi Ka Hi Khyal Kyu Aata Hai
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:21

bolkar speaker
जब इन्सान सब कुछ खो दे, तो खुदखुशी का ही ख्याल क्यूँ आता हैं?Jab Insan Sab Kuch Kho De Toh Khudkhushi Ka Hi Khyal Kyu Aata Hai
Shipra Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Shipra जी का जवाब
Self Employed
1:18

bolkar speaker
जब इन्सान सब कुछ खो दे, तो खुदखुशी का ही ख्याल क्यूँ आता हैं?Jab Insan Sab Kuch Kho De Toh Khudkhushi Ka Hi Khyal Kyu Aata Hai
Ganga Asati Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ganga जी का जवाब
Unknown
0:31

bolkar speaker
जब इन्सान सब कुछ खो दे, तो खुदखुशी का ही ख्याल क्यूँ आता हैं?Jab Insan Sab Kuch Kho De Toh Khudkhushi Ka Hi Khyal Kyu Aata Hai
vivekanand kashyap Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए vivekanand जी का जवाब
Unknown
1:26

bolkar speaker
जब इन्सान सब कुछ खो दे, तो खुदखुशी का ही ख्याल क्यूँ आता हैं?Jab Insan Sab Kuch Kho De Toh Khudkhushi Ka Hi Khyal Kyu Aata Hai
Yogi Prashant Nath Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Yogi जी का जवाब
Businessman
4:14
पुष्कर में हूं आपका दोस्त आपका होश भेजो कि प्रशांत नाथ और बात करें आज के सवाल की कि जब इंसान का सब कुछ खो दे तो खुद खुशी का ही ख्याल क्यों आता जब इंसान सब कुछ खो दें तो खुद खुशी का ख्याल क्यों आता है क्यों आता है जब आपके पास कुछ नहीं रहेगा तो एक सिंपल सा आता है कि जब हम कोई गेम खेल रहे थे और उस गेम में हम आ रहे होते तो मैं गुस्सा आता है बहुत गुस्सा तो हम सोचते कि आगे से सिंपल सेट कर दो कि मैं बात करता हूं अभी इसमें मतलब इंटरेस्ट नहीं रहा है बात करते इंटरेस्ट की जीवन में या किसी चीज से भी ज्यादा रखो जुड़ाव होता है लगा होता है तो वह सिर्फ और सिर्फ आपके एंट्रेंस की वजह से होता आपके लगाव की वजह से होता है जब भी आपका इंटरेस्ट नहीं होता है आपका लगा भी किसी से नहीं रहता तो आप उससे खुद ब खुद दूर होते चले जाते हटने की कोशिश करते जाते बात करेंगे आपसे कोई ऐसा शख्स मिल जाता है और जिस से आप बात करना पसंद नहीं करते हैं तो आप सोचते हैं कि जल्द से जल्द उससे दूर हो जाएगा उसे कैसे भी करके पीछा छुड़ा ले तो यही सिंबल है जब जिंदगी में कुछ रश्मि रह जाता है कोई गोल नहीं रह जाता कोई अचीवमेंट नहीं हो जाता है बार-बार प्रयास करने के बावजूद भी वेतन करने के बाद भी निराशा ही हताशा ही और हार ही हाथ लगती है तो फिर ऐसे में व्यक्ति हताश और निराश होकर सोचा कि चलो यार जीवन पीठ करो अब हमारे बस की बात नहीं है इस तरह की लाइफ जीना तो सिंपल प्रोसेस है कि इंसान की मानसिकता वीक होती है जो लोग का अंदर से भी होते हैं यह नहीं कहा कि सिर्फ अच्छी खासी बॉडी ही आपके बाइसेप्स चेस्ट अच्छा खाता है तो फिर इसका मतलब आप बहुत बड़े स्ट्रांग या अच्छे फाइटर है तो आप बहुत ताकतवर इंसान नहीं ऐसा बिल्कुल नहीं आता कस ली होती आपके माइंड के अंदर से आपके इंटरनल माइंड में जो चल भी होती है वह आपकी ऐसी पावर होती है शरीर की पावर की बात करें वह कोई मायने नहीं रखता अगर आपका ब्रेन आपके माइंड आपकी सोच आपकी सोच बहुत ज्यादा स्ट्रांग है तो आप यकीनन वो वाकई बहुत ज्यादा स्ट्रांग है और आप कुछ भी चीज अच्छी कर सकते हैं कोई आपको हरा नहीं सकता और यही बात करें आप बॉडी से फीस कल बहुत ज्यादा स्ट्रांग है लेकिन अगर मेंटली ऑफिस स्ट्रांग नहीं है डिस्टर्ब है तो आप से बड़ा भी कोई नहीं हुआ इस दुनिया में तो अपनी वीकनेस को दूर कीजिए अपनी मेंटालिटी को स्ट्रांग बनाई है और इसके लिए आप कुछ अच्छे लोगों से जुड़िए जॉब हमेशा आप को मोटिवेट करते पॉजिटिव बातें करते उन लोगों से दूर होते चले जाइए जो लोग आपको नेगेटिव याद लगे रिक्त फोटो देखकर हर एक चीज में नियुक्त निकालते रहते हैं इसकी उस करते रहते हैं कि यार यह चीज ऐसी होनी चाहिए तो यह चीजें क्या क्या हमें पता नहीं चलता लेकिन धीरे-धीरे करके यह हमारे जहन में घर-घर जाकर बैठ जाती है और हम कब इसके आदी हो जाते हैं हम खुद उस चीज में ढल जाते हैं हमारा खुद करोगे या वैसे ही हो जाता है उस वक्त की तरह और हम खुद इतने नेगेटिव हो जाता कि हर चीज में नेगेटिविटी दिखाई देने लगती है अगर हम कोई कोशिश करते हैं और अब उसके बावजूद हमें जलवा जरा सा भी होगा प्रयास करने पर भी हमें रिजल्ट शो नहीं होता तो हम सुनते ही चीजें बेकार है लाइफ में कुछ नहीं रखा है यह नहीं है वह नहीं हर तरफ समस्याएं परेशानी है तो नजरिया दोस्त मिल आप सभी श्रोताओं को यही कहना चाहूंगा कि इस दुनिया में सब कुछ है एक से बढ़कर एक खूबसूरत जगह है वह दिया है झरने वंश चाहे कि आपको वहां पहुंचने की चाह रखनी होगी और अगर आग लगे आत्मक में जाए तो हर एक एक से एक डर्टी प्लेस है बहुत ज्यादा पूरा लोग हैं बहुत ज्यादा हीनता बीमारियां यह सारी चीज है तो संसार सब कुछ मिलकर बना हुआ है ठीक है आई होप सो दैट यह जितनी भी बातें मैंने अपने श्रोताओं के समक्ष रखी है वह आप सभी श्रोताओं के लिए बहुत ज्यादा हेल्प लोगी और आपको इन चीजो से उभरने में बहुत मददगार साबित होंगी और अगर इस तरह की कह सकते हैं पोस्ट ऑफ सुनना चाहते हैं बातें सुनना चाहते हैं तो आप मुझे कमेंट कर सकते हो और मेरे से जुड़ सकते हैं मेरे से मेरे सारे सोशल लिंक से आपको दिए हुए कांटेक्ट भी है और इस प्रोफाइल पेज को फॉलो करके भी जुड़ सकते हैं और अगर यह आपको पोस्ट पसंद आता है तो इसे शेयर करें ताकि किसी न किसी व्यक्ति की हेल्प हो सके तो इस तरह की मेंटालिटी को रखता हो सवाल उसके मन में चल रहे होंगे तो बस यही कहूंगा कि इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर करें और लाइक करें अगर आपको पसंद आता है और कोई भी डाउट हो बेइज्जत मुझसे संपर्क करें कांटेक्ट करें कमेंट करें ओके

bolkar speaker
जब इन्सान सब कुछ खो दे, तो खुदखुशी का ही ख्याल क्यूँ आता हैं?Jab Insan Sab Kuch Kho De Toh Khudkhushi Ka Hi Khyal Kyu Aata Hai
ashok pandit Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए ashok जी का जवाब
Godly service
2:58

bolkar speaker
जब इन्सान सब कुछ खो दे, तो खुदखुशी का ही ख्याल क्यूँ आता हैं?Jab Insan Sab Kuch Kho De Toh Khudkhushi Ka Hi Khyal Kyu Aata Hai
bhawna  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए bhawna जी का जवाब
Unknown
1:32

bolkar speaker
जब इन्सान सब कुछ खो दे, तो खुदखुशी का ही ख्याल क्यूँ आता हैं?Jab Insan Sab Kuch Kho De Toh Khudkhushi Ka Hi Khyal Kyu Aata Hai
Rajesh Soni Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Rajesh जी का जवाब
Teacher
2:55

bolkar speaker
जब इन्सान सब कुछ खो दे, तो खुदखुशी का ही ख्याल क्यूँ आता हैं?Jab Insan Sab Kuch Kho De Toh Khudkhushi Ka Hi Khyal Kyu Aata Hai
रमेश सिन्हा Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए रमेश जी का जवाब
Unknown
0:47

bolkar speaker
जब इन्सान सब कुछ खो दे, तो खुदखुशी का ही ख्याल क्यूँ आता हैं?Jab Insan Sab Kuch Kho De Toh Khudkhushi Ka Hi Khyal Kyu Aata Hai
ABHIMANYU KUMAR SINGH Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए ABHIMANYU जी का जवाब
Part time teaching
2:29

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • इंसान खुदखुशी क्यों करता है, खुदखुशी से कैसे बचें
URL copied to clipboard