#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker

आजकल परिवार के घनिष्ठ और मर्यादित संबंध की अवैध संबंधों में बदलने का प्रमुख कारण क्या है?

Aajkal Parivaar Ke Ghanishth Aur Maryadit Sambandh Ki Avaidh Sambandhon Mein Badalne Ka Pramukh Kaaran Kya Hai
डा. इन्दु प्रकाश सिंह  Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए डा. जी का जवाब
शिक्षण-कार्य, कालेज शिक्षा में प्राचार्य हूँ
2:10
आपका ब्रस में आजकल परिवार के घनिष्ठ और मर्यादित संबंधों की अवैध संबंध में बदलें के प्रमुख कारण क्या है अब जीवन में जो पुरानी मान्यताएं थी ना बदल चुकी है लोग आस्था वादी थे भाई बहन के नीचे जो लिखी जाती है मौसी है इस माह के बराबर मानी जाती थी पहली शादी के नाम पर लोग शरमाते थे कि आपने और चीजों की बात करने पर तो सर घबराहट होती है थी शर्म संकोच होता ही था इन हनीमून डेटिंग समझ लेना यह सब चीजें बड़ी साधारण सी हो गई सुहागरात और इसे लेकर के लोग मजाक किया करते हैं यही कारण है कि लोगों के दिलो-दिमाग में खुलापन और जहां खुलापन आ गया है वहां सारे रिश्ते सिर्फ स्त्री-पुरुष संबंधों तक सीमित हो गए हैं और ऐसे में लेटा वर्ष में शादियां हो रही है खान-पान बदल गया है तो लोग जिंदगी को एंजॉय करना चाहते हैं और इंजॉय करने में इतना खुलापन आ गया है कि सारे रिश्ते तार-तार हो गई हैं यहां तक कि आप इस मोबाइल पर देखें तो कुछ ऐसी कहानियां आ रही है अंतर्वासना आज यहां लोग अपनी मां से अपनी बहन से संबंध होना साली के संबंध होना शादी से पहले संबंध होना शादी के बाद ऐसी बातों की खुल्लम-खुल्ला चर्चा कर रहे हैं और यह निश्चित रूप से कैसा होगा क्योंकि आदमी केवल पैसे के नाम पर ऐसी बातें नहीं कर रहा कुछ नहीं यार तभी कुछ होगा तो हम तो यही कह सकते हैं कि आज भोग विलास के परिवेश में उपभोक्तावादी परिवेश में सारे रिश्ते में मानी हो चुके हैं उसकी गरिमा की तरफ किसी का ध्यान नहीं है कि हर कोई खाओ पियो मौज करो मैं डूब चुका है

और जवाब सुनें

bolkar speaker
आजकल परिवार के घनिष्ठ और मर्यादित संबंध की अवैध संबंधों में बदलने का प्रमुख कारण क्या है?Aajkal Parivaar Ke Ghanishth Aur Maryadit Sambandh Ki Avaidh Sambandhon Mein Badalne Ka Pramukh Kaaran Kya Hai
Ganga Asati Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ganga जी का जवाब
Unknown
0:24

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • अवैध संबंध के कारण ,घनिष्ठ और मर्यादित संबंध , घातक है अवैध संबंध
URL copied to clipboard