#धर्म और ज्योतिषी

neelam mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए neelam जी का जवाब
I am nurse
4:11
हेलो दोस्तों नमस्कार गुड मॉर्निंग मैंने हमेशा आप सभी का स्वागत करती हूं भारत के नंबर वन सागर वापस कॉल करें फ्री में हानिकारक रंगों को लगाना चाहिए या अबीर गुलाल लगाना चाहिए बहुत से लोग होली के त्यौहार में नशीला पदार्थ जैसे कपड़े फाड़ देते हैं ऐसे में क्या करना चाहिए तो दोस्तों दीजिए होली है रंगों का त्योहार कहा जाता है लेकिन इसमें जो केमिकल युक्त रंग गोरा रंग लगाया जाता है चेहरे पर बॉडी को उसका भाव सारा साइड इफेक्ट होता है इसी होती है दाने पड़ जाते हैं और आंखों में पड़ जाए तो खराब होने का डर भी रहता है तो जहां तक संभव हो सके नामों से पूछना चाहिए लिखने तो असंभव है लोग तो खिलेंगे कितने लोगों को आप समझा सकते हो लेकिन ज्यादातर अगर संभव हो सके तो आप किसी भी यार कितने रंगों का प्रयोग करिए और बहुत सारे ऐसे क्वालिटी के रंग भी है जो कि जिस में केमिकल कम मेरा होता है तो इस तरह से उसका अगर इसे भी यूज़ किया जाए तो और ज्यादा पृष्ठ होगा और ना कभी रंग से ज्यादा अगर होली खेलना बहुत ही तो आप रंग गुलाल गुलाल से खेली गुलाल और अबीर से वह का फोटो कुछ हद तक कम उकसान करता है क्योंकि उमर बाटे पर जाकर चिपकता नहीं है तो इस तरह से अगर उससे लगाया जाए माथे पे और गालों पर लगाकर रवि से खेला जाए तो किसी हद तक थोड़ा सा अच्छा होगा रंग लगाने की अपेक्षा तो लेकिन आप हो मतलब की सब्सिडी हानिकारक होती है नुकसान तो जितना हो सके उतना इन सब से बचना चाहिए अरे रन खेलना है तो रंगों का त्योहार है होली लेकिन होली में सबसे इंसान के अंदर बुराइयों को अपने आप से दूर कई लोगों ने फिल्म तोहार बनाइए मिठाई खिलाइए और अगर बहुत ही ज्यादा रन खेलना ही जरूरी है तो तो अच्छी क्वालिटी के रंग का यूज करके थोड़ा बहुत खेल सकते हैं लेकिन क्या किया जाए लेकिन दुनिया समाज में जो लोग रहते हैं उस चीज को नहीं मानते हैं तो कहीं ना कहीं अगर हम ना भी लगाए तो हमेशा वालों पर लगा देते हैं और इसमें नशीले पदार्थ का सेवन करके कपड़ा फाड़ना तो यह सिर्फ एकदम देता है ऐसा कोई भी कहीं भी नहीं है कि होली में आप नशीले पदार्थों का सेवन करो और रतन करके अपना ख्याल करो या दूसरों का नुकसान करो अब इसके लिए हम कुछ कर नहीं सकते हैं लेकिन समाज में इसी दिन पर आप हैं और लोग करते हैं लोग उसको खाली पीके और और तंग करते हैं तो उसके लिए मैं खेलना चाहता संभवत को सबसे अपने आप को दूर रखें और फिर होली तो रंगों का त्योहार है इसका गायत्री साल में एक बार आता है हमारा राष्ट्रीय त्यौहार है दूर होने के बाद भी नहीं हो सकता है क्या उससे दूर हो जाए क्योंकि पूरा भारत सुनाइए रंगो के त्यौहार को मनाता है तो कहीं ना कहीं और इस समय करो ना कॉल में जो है कि इंसान से ही सोचना चाहिए हर व्यक्ति को कि करो ना जिस तरह से कोरोनावायरस और करो ना पड़ रहा है उस तरह से इंसान को होली नहीं खेलना चाहिए समोसा कितने बच्चों का ऑपरेशन की कौन सबसे दूर रहती है क्योंकि अभी कोरोनावायरस रहा है और इस पीरियड में रंग खेलना एक दूसरे से भिड़ बनाकर गैदरिंग करना या फिर किसी से ज्यादा करीब आकर रंग लगाना यह कहीं मतलब खतरनाक है बहुत काफी हद तक क्योंकि लोग एक दूसरे को लगाएंगे कितने लोगों के लगा है उसमें किसको करना है आप कैसे जान पाओगे तो इन सब चीजों से बचना चाहिए तो इसलिए होली में होली में इस बार होली में काफी सावधानी बरती और कितना बेहतर के लोगों से हाथ जोड़कर मिले गले मिलने और रंग लगाने की बहुत कम कोशिश करिए और अपने आपको अपनी फैमिली को बचाइए इतना ही कहना चाहूंगी दोस्तों धन्यवाद

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

    URL copied to clipboard