#जीवन शैली

bolkar speaker

क्या किसी भी इंसान की झूठी तारीफ करने वाले का कोई अपना निजी स्वार्थ छुपा होता है?

Kya Kisi Bhee Insaan Kee Jhuthi Tarif Karane Vaale Ka Koee Apana Niji Svaarth Chhupa Hota Hai
डा. इन्दु प्रकाश सिंह  Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए डा. जी का जवाब
शिक्षण-कार्य, कालेज शिक्षा में प्राचार्य हूँ
1:22
आपका प्रश्न है क्या किसी भी इंसान की झूठी तारीफ करने वाले का कोई अपना निजी स्वार्थ छिपा होता है बिल्कुल मित्र यह दुनिया छोड़ चले बाजी से चलती है कुछ लोग जानते तो चले बाजी से बड़ा लाभ होता है जिसके चलते गिरी आप कहती है आपने तो पहले तो यह होती की मजबूरी होती है दूसरों की तारीफ करने से क्यों कि कुछ लोग तारीफ सुनने से बड़ी खुश होते हैं उन्हें अपना दूसरा कभी-कभी मजबूरी होती है जैसे कोई आदमी किसी के यहां काम कर रहा है और उसे मालूम है कि अगर वह कुछ नहीं हुआ तो उसे निकालने का नौकरी से किसी दूसरी जगह नौकरी लायक नहीं है उसको बेचारे को अपने स्वाभिमान को गिरवी रखकर और ऐसे व्यक्ति की चमचागिरी करनी पड़ती बड़ी गर्मी हो उसकी हां में हां मिलाना पड़ता है एक चीज सब यह अपना दूसरा यह होता है कि जो अवसरवादी लोग होते हैं और लाभ उठाने के लिए बड़ों की चमचागिरी करते तो चले बाजी करते हैं ताजा तनक दुधारू गाय हो उसकी 200000 सैनी पड़ती है और व्यावहारिक दृष्टिकोण यही है कि अपना लाभ उठाने के लिए कभी-कभी मानव धर्म के बजाय आप धर्म का भी काम करना चाहिए और अगर ऐसा नहीं करेंगे तो ऐसा ना हो कि स्वाभिमान आपको कई मुफलिसी है गरीबी में ले जा सकते

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • लोग झूठी तारीफ क्यों करते है, झूठी तारीफ करने के नुकसान,
URL copied to clipboard