#भारत की राजनीति

DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
2:30
आखिर में जमीन विवाद में कोर्ट का फैसला आया और वह कहते ही रद्द कर दिया गया कमिश्नर द्वारा इसके लिए क्या करना चाहिए आपने जो प्रश्न है मैं बात कहिए कि कोर्ट के फैसले को पुलिस कमिश्नर का एक टिकट नंबर टाइम से नहीं होता क्योंकि फूड कितनों को कमिश्नर को भी मानना पड़ता है वह अपनी तरफ से नहीं कर सकते हैं वह अलग है कि वह सैटरडे को मांगते नहीं किसी से बातचीत की कोर्ट के फैसले को सभी को मानना होता है देश के प्रधान जी को भी मन ना होते हैं देश के हर नागरिक को मारना होता है चाहे वह कितनी मुख्य पथ पर चला हां उसके खिलाफ अपील कर सकता है या वह को अमान्य कर सकता है हमान करने का मतलब उसने गैरकानूनी तरीका अपनाया और कोर्ट का अपमान किया आप कोर्ट में अपील करें कि जो फैसला आपके पक्ष में सुनाया गया है वह कमिश्नर ने मनीष इंकार करती है और कोर्ट में आप इस बात के सबूत दे डिस्ट्रिक्ट कोर्ट के फैसले को कर मान्यता मिली और उसे मारने के लिए कमिश्नर को भी मजबूर होना पड़ा ठाकुर कोई ऐसा फैसला जिससे समाज के अंदर शांति बनी रहे समाज के अंदर और प्यार बना रहे वाद विवाद टूट रहे और इस तरह की फैसले को अगर कमिश्नर ने सूझबूझ से परिचय दिया है तो मेरी समझ में है यह है कि हम इसका समर्थन करना चाहिए लेकिन अगर वह अन्याय अन्याय फैसला किसी बल्कि किसी के पद पर किया था फेवर में है तो आप को वोट में अपील करना चाहिए और यह न्याय मिलना चाहिए
Aakhir mein jameen vivaad mein kort ka phaisala aaya aur vah kahate hee radd kar diya gaya kamishnar dvaara isake lie kya karana chaahie aapane jo prashn hai main baat kahie ki kort ke phaisale ko pulis kamishnar ka ek tikat nambar taim se nahin hota kyonki phood kitanon ko kamishnar ko bhee maanana padata hai vah apanee taraph se nahin kar sakate hain vah alag hai ki vah saitarade ko maangate nahin kisee se baatacheet kee kort ke phaisale ko sabhee ko maanana hota hai desh ke pradhaan jee ko bhee man na hote hain desh ke har naagarik ko maarana hota hai chaahe vah kitanee mukhy path par chala haan usake khilaaph apeel kar sakata hai ya vah ko amaany kar sakata hai hamaan karane ka matalab usane gairakaanoonee tareeka apanaaya aur kort ka apamaan kiya aap kort mein apeel karen ki jo phaisala aapake paksh mein sunaaya gaya hai vah kamishnar ne maneesh inkaar karatee hai aur kort mein aap is baat ke saboot de distrikt kort ke phaisale ko kar maanyata milee aur use maarane ke lie kamishnar ko bhee majaboor hona pada thaakur koee aisa phaisala jisase samaaj ke andar shaanti banee rahe samaaj ke andar aur pyaar bana rahe vaad vivaad toot rahe aur is tarah kee phaisale ko agar kamishnar ne soojhaboojh se parichay diya hai to meree samajh mein hai yah hai ki ham isaka samarthan karana chaahie lekin agar vah anyaay anyaay phaisala kisee balki kisee ke pad par kiya tha phevar mein hai to aap ko vot mein apeel karana chaahie aur yah nyaay milana chaahie

और जवाब सुनें

Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
0:31
जमीनी विवाद में कोर्ट का फैसला आया और वह रहते हो रद्द कर दिया गया कमिश्नर द्वारा इसके लिए क्या करना चाहिए देख लिए कमिश्नर से इस चीज को लेकर कुछ नहीं होगा जमीन विवाद कोर्ट ने फैसला दे दिया तो फैसला सर्वोपरि है इसके बाद जो दोस्त हाई कोर्ट सुप्रीम कोर्ट जा सकते हैं और उनका भी जो फैसला होगा वही सर्वोपरि होगा कोर्ट के फैसले के ऊपर कोई भी व्यक्ति जो है कुछ नहीं कर सकता

Rakesh Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Rakesh जी का जवाब
👨‍🏫 Teacher.
0:50
जैसे कि आप बता रहे हैं कि कोर्ट के फैसला आने के बाद भी कमिश्नर द्वारा उसे रद्द कर दिया गया है तो हम सभी जानते हैं कि हमारे भारत में न्यायपालिका सर्वोच्च है अगर कोई ऐसा अधिकारी करता है तो आप उसके विरुद्ध जो है या कोर्ट के आम अन्य के खिलाफ जो है आप फिर से उच्च न्यायालय में वाद दर्ज कर सकते हैं और आप जो पुरवा का जो आदेश से वही अमल होगा और जो कमिश्नर द्वारा रद्द किया गया है उस पर कानूनी कार्रवाई की जा सकती है तो इस स्थिति में आप अच्छे वकील से राय लेकर आते पुनः कोर्ट में जा सकते हैं लेकिन अगर लोअर कोर्ट हो तो उस स्थिति में आपको है या फिर जाना होगा
Jaise ki aap bata rahe hain ki kort ke phaisala aane ke baad bhee kamishnar dvaara use radd kar diya gaya hai to ham sabhee jaanate hain ki hamaare bhaarat mein nyaayapaalika sarvochch hai agar koee aisa adhikaaree karata hai to aap usake viruddh jo hai ya kort ke aam any ke khilaaph jo hai aap phir se uchch nyaayaalay mein vaad darj kar sakate hain aur aap jo purava ka jo aadesh se vahee amal hoga aur jo kamishnar dvaara radd kiya gaya hai us par kaanoonee kaarravaee kee ja sakatee hai to is sthiti mein aap achchhe vakeel se raay lekar aate punah kort mein ja sakate hain lekin agar loar kort ho to us sthiti mein aapako hai ya phir jaana hoga

neelam mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए neelam जी का जवाब
I am nurse
1:29
हेलो फ्रेंड्स नमस्कार गुड मॉर्निंग मैं नीलम मिश्रा और आप मुझे सुन रहे हैं भारत के नंबर वन सवाल-जवाब पर कॉल करें पर आप सभी का स्वागत है बोल कर एक सवाल है कि जमीन विवाद में कोर्ट का फैसला आया और वह रद्द कर दिया गया कमिश्नर द्वारा इसके लिए क्या करना चाहिए तो देखी सबसे पहले तो दोस्त आप कोर्ट का फैसला आया है तो कोर्ट के फैसले के आगे किसी का फैसला किसी का भी उसमें हस्तक्षेप माना नहीं जाएगा लेकिन अब कमिश्नर द्वारा किया जा रहा है और आप आप फिर से कोर्ट में अपील कर सकते हैं आप उसमें कोर्ट में केस दायर कर सकते हैं कि ऐसा आपके साथ हो रहा है क्योंकि दोस्त कोर्ट का फैसला सर्वोपरि होता है उसे है प्रत्येक व्यक्ति को मानना पड़ता है वह कमिश्नर ऑफ पुलिस हो या फिर 2 लोग हैं जिनके पीछे भी बात है उसको मारना पड़ता है किसी अदर कोर्ट में या फिर मैं कोर्ट में आप दोबारा अप्लाई कर सकते हैं इस बात को और आपको यह थोड़ा सा तानाशाही दिखाकर अगर कोई कोर्ट का फैसला मानने से इंकार कर रहा है तो आप बिल्कुल इस बात से एग्री मत होइए आप किसी अच्छे वकील से इस पर बात करके और उसके बाद कानूनी कार्रवाई कर सकते हैं जिससे आपको कोई समस्या से छुटकारा मिल जाएगी आपको कैसा लगा जवाब जरूर बताएं

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • जमीन विवाद की धारा, जमीन विवाद में कानूनी सलाह, जमीन विवाद कानून
URL copied to clipboard