#खेल कूद

bolkar speaker

भारत का गरीब क्रिकेटर कौन है?

Bharat Ka Gareeb Crickter Kaun Hai
Sanjay Kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Sanjay जी का जवाब
𝔖𝔱𝔲𝔡𝔢𝔫𝔱 | 𝔈𝔡𝔲𝔠𝔞𝔱𝔦𝔬𝔫𝔦𝔰𝔱
2:27
भारत का गरीब क्रिकेटर कौन है कि आमतौर पर जो भारत के क्रिकेटर सोते हैं अधिकतर उनका जो बैकग्राउंड होता है वह इकोनॉमिकली बैकवर्ड होता है और बहुत ही ज्यादा अमीर घर से काफी कमी बच्चे होंगे जो खेले होंगे और पता है कि अकेले में तो उनके परिवार वाले हो अगर वह मान लिया जाए वह भी क्रिकेटर रहे हो या उनका भी सेम बैकग्राउंड रहा हो तो पहले वह गरीब रहे हो ग्रुप क्रिकेट खेलने के बाद में वह थोड़े अमीर हो गए हैं तो उनके बच्चे खेल रहे हो अन्यथा देखा ही गया है कि जितने भी क्रिकेटर खेले हैं इंडिया के लिए अधिकतर बहुत ही कम ऐसे होंगे जो अमीर होंगे वैसे तो लोअर मिडिल ऑर्डर जो इनकम होती है उसकी ब्रैकेट में या तो फिर बहुत ज्यादा गरीब लोग होते हैं वह क्रिकेट के में अधिकतर तेजपात पाते हैं और अमीर है बहुत ज्यादा लोग ऐसे खिलाड़ी तो नहीं निकल कर आए हैं हमने कि जो बहुत ज्यादा मेरा और काफी ज्यादा उनके पास रुपया पैसा हो और वह गरीब ना हो तो ऐसे कुछ करके बात कर ले तो अब यह कितनी अमीर हो पाते हैं कि जैसे बहुत ज्यादा गरीब हूं और ठीक-ठाक खेल गए अगर पांच-छह साल 7 साल तक खेल गए अंदर-बाहर होते रहे तो उनकी इतनी कम हो जाती है कि वह करीब करीब है इनका एक अगर गांव में रहते हैं उनके गांव में उनका एक अच्छा खाता फार्म हाउस टाइप का बन जाएगा और एक बड़ा सा घर बनवा देंगे जैसे मुनाफ पटेल की बात कर लेना पटेल का जो घर है वह उन्होंने अच्छा खासा अपने गांव में घर बनवा लिया है तो इतना ही इनका हुआ है बहुत ज्यादा वह अमीर नहीं हो पाए हैं क्रिकेट खेल करके हालांकि उनकी स्थिति पहले से बहुत ज्यादा अच्छी हो गई इसी तरह से इंडिया में है अधिकतर लोगों की अलग-अलग कहानियां है जैसे सचिन तेंदुलकर इनके परिवार वाले जो थे वह ठीक ठाक थे परिवार वाले मुंबई में रहते थे और 19 में तिजोरी लोअर मिडल इनकम वाले होते हैं उसी तरह का इनका भी परिवार था तो इनको भी काफी संघर्ष करना पड़ा उनको भी अपने पहले मौसी की गाड़ी आज घर में जाकर रहने पड़ा वहां से उनका नजदीक पड़ता था जो उनका जो निकेतन विद्या स्कूल का विद्यालय 6 जून का जहां रमाकांत अचरेकर कोचिंग करते थे तो वहां पर हो नजदीक था इसलिए वहां पर जाते थे वहां तुमको भी कुछ ही रुपए पॉकेट मनी वगैरह मिल पाती थी उनको खाना-पीना होता तो जितने भी खिलाड़ी हैं अधिकतर की संगत भी तरीके के हैं तो यही है धन्यवाद
Bhaarat ka gareeb kriketar kaun hai ki aamataur par jo bhaarat ke kriketar sote hain adhikatar unaka jo baikagraund hota hai vah ikonomikalee baikavard hota hai aur bahut hee jyaada ameer ghar se kaaphee kamee bachche honge jo khele honge aur pata hai ki akele mein to unake parivaar vaale ho agar vah maan liya jae vah bhee kriketar rahe ho ya unaka bhee sem baikagraund raha ho to pahale vah gareeb rahe ho grup kriket khelane ke baad mein vah thode ameer ho gae hain to unake bachche khel rahe ho anyatha dekha hee gaya hai ki jitane bhee kriketar khele hain indiya ke lie adhikatar bahut hee kam aise honge jo ameer honge vaise to loar midil ordar jo inakam hotee hai usakee braiket mein ya to phir bahut jyaada gareeb log hote hain vah kriket ke mein adhikatar tejapaat paate hain aur ameer hai bahut jyaada log aise khilaadee to nahin nikal kar aae hain hamane ki jo bahut jyaada mera aur kaaphee jyaada unake paas rupaya paisa ho aur vah gareeb na ho to aise kuchh karake baat kar le to ab yah kitanee ameer ho paate hain ki jaise bahut jyaada gareeb hoon aur theek-thaak khel gae agar paanch-chhah saal 7 saal tak khel gae andar-baahar hote rahe to unakee itanee kam ho jaatee hai ki vah kareeb kareeb hai inaka ek agar gaanv mein rahate hain unake gaanv mein unaka ek achchha khaata phaarm haus taip ka ban jaega aur ek bada sa ghar banava denge jaise munaaph patel kee baat kar lena patel ka jo ghar hai vah unhonne achchha khaasa apane gaanv mein ghar banava liya hai to itana hee inaka hua hai bahut jyaada vah ameer nahin ho pae hain kriket khel karake haalaanki unakee sthiti pahale se bahut jyaada achchhee ho gaee isee tarah se indiya mein hai adhikatar logon kee alag-alag kahaaniyaan hai jaise sachin tendulakar inake parivaar vaale jo the vah theek thaak the parivaar vaale mumbee mein rahate the aur 19 mein tijoree loar midal inakam vaale hote hain usee tarah ka inaka bhee parivaar tha to inako bhee kaaphee sangharsh karana pada unako bhee apane pahale mausee kee gaadee aaj ghar mein jaakar rahane pada vahaan se unaka najadeek padata tha jo unaka jo niketan vidya skool ka vidyaalay 6 joon ka jahaan ramaakaant acharekar koching karate the to vahaan par ho najadeek tha isalie vahaan par jaate the vahaan tumako bhee kuchh hee rupe poket manee vagairah mil paatee thee unako khaana-peena hota to jitane bhee khilaadee hain adhikatar kee sangat bhee tareeke ke hain to yahee hai dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • सबसे गरीब क्रिकेटर कौन है, भारत का गरीब क्रिकेटर, भारत के कौन से क्रिकेटर गरीब है
URL copied to clipboard