#धर्म और ज्योतिषी

Harshit kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Harshit जी का जवाब
Student
1:00

और जवाब सुनें

Er.Awadhesh kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 66
सुनिए Er.Awadhesh जी का जवाब
Unknown
4:32
नहीं कि महाशिवरात्रि के दिन पूजा किस प्रकार की जाती है और क्यों की जाती है क्या सच में भगवान होते तो दिखे प्रिंट क्या है कि पूजा इसलिए की जाती है कि भगवान शंकर और पार्वती जी का इस दिन विवाह हुआ था और बड़े हर्षोल्लास के साथ हम इनकी भक्ति और उनका गुणगान करते हैं और जो भी आराधना करने वाले व्यक्ति को तेरी जोक उपवास रखते हैं उनकी महाशिवरात्रि के दिन भगवान शिव की कृपा रहती है आपके ऊपर उनका आशीर्वाद रहता है और कहीं न कहीं आपके हर दुखों का निवारण करते हैं तो इस तरीके से हम क्या करते हैं इनकी इनकी शादी के दिन हम क्या करते हैं कि पूजा यात्रा करते हैं और महाशिवरात्रि वैसे तो विश्व संपूर्ण भारत में पूरे हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है वहीं पर पूजा की सामग्री देखे तो बेलपत्र भांग धतूरा गाय का दूध कच्चा दूर होना चाहिए वही एरोली है कि श्रद्धा श्रद्धा कपूर मूल्य निकलवा ही साबुत चावल सहज मिश्री धूप दीप साबुत हल्दी नागकेसर पांच प्रकार के फल गंगाजल वस्त्र जनित्र कुमकुम पुष्पमाला शमी का पत्र खर्च लोंग सुपारी पान रत्न आभूषण इलायची फुल आसान आसन क्या करेगी और पार्वती जी के सिंगार कि जो भी पूजा सामग्री है पूजा के बर्तन में आप सजाने और जो भी दक्षिणा आपको पंडित जी को देना है तो आप उनको उन्हें भी निकाल कर लो थाली में रख लीजिए इसके अलावा क्या होता है कि जो पूजा की जो करने की विधि है आप माथे पर क्या करिए कि त्रिपुंड लगाएं चंदन या भी विभूति तीनों उंगली से माथे पर क्या करें कि बाएं से दाएं दाएं की तरफ आप लगा ले फिर त्रिपुंड लगाएं इसके बाद क्या होगा कि यू को आपको क्या जानना है दूध दही घी शहद और गंगाजल से उनका अभिषेक करिए इसके बाद आप क्या करिए कि खाली जल से भी आप शिव का अभिषेक कर सकते हैं इसके अलावा सादा जल जाएगा उससे भी आपको ज्यादा जल से अभिषेक करें अभिषेक करते हुए महामृत्युंजय का जाप करना चाहिए शिव को बेलपत्र और धतूरे का फूल चावल भांगड़ा इसके बाद चंदन का तिलक लगाएं धूप दीप जलाएं तू ही सब भगवान जी के पूजा की विधि है आप कर सकते हैं और आप भी जो शिवरात्रि बीत गए उसने बड़े हर्षोल्लास के साथ लोगों में आस्था थी और उन्होंने अपने जो भी उनकी आस्था थी जो उनसे भगवान से मांगना था उनके लिए पूरे दिन व्रत रहे तो कहीं ना कहीं यह हमारी एक आस्था जुड़ी रहती है और उसके अलावा देखा जाए तो खीर फल का अब भूख लगा दीजिए और कुछ लोगों को आप उस दिन खिलाना चाहते हैं तो भगवान शिव के लिए मतलब एक को भुज के रूप में आप खिला सकते हैं तो कहीं न कहीं और ईद रात्रि में रात्रि का जागरण होता है और शिव मंदिर में नहीं यह घर के आस-पास आप कहीं भी कर सकते हैं कोई भी मार्केट हैं तब आप बाहर कहीं भी अपने घर पर भी कर सकते हैं और बड़े हर्षोल्लास के साथ यह जो शिवरात्रि कहां पर होता है मनाया जाता है तू कहीं ना कहीं आप इस पर्व को बड़े हर्षोल्लास के साथ सभी देशवासियों में मनाया जाता है और क्या सच में भगवान होते हैं तो देखिए फिर क्या है कि हमारी मारने की इच्छा है हम अगर हमारी आस्था है तो हमारे चारों तरफ प्रभु है भगवान हैं अगर आस्था नहीं है तो हमारी तरफ कोई नहीं भगवान है क्योंकि बहुत सारे ऐसे लोग हैं जो बिना भगवान के बीजेपी थे दुनिया की तो हमें हमारा विश्वास ही हमारे भगवान को उत्पन्न करते हैं और भगवान ही हमारे छात्र ने कहा जाता है कि जो प्रभु परमात्मा है कण कण में बसा है बस हमारे माननीय 9 मारने के तरीके हैं बस हमें हम अगर मान रहे तुम्हारे चारों तरफ हमारे ऊपर नीचे दाएं बाएं हर कण-कण में इस प्रभु परमात्मा का वार्षिक निर्गुण होता है निराकार होता है और यही है यही मान की कोई साकार रूप में भक्ति करता है कोई निराकार रूप में भर्ती करता है तू ही मारने के तरीके कर आप मानते हैं तो आपके लिए भगवान है नहीं मानते तो आपके लिए भगवान नहीं आपकी इच्छा है आप खुश स्वतंत्र हैं धन्य

मनोज कुमार यादव Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए मनोज जी का जवाब
कृषक 🌾🌾🌾🌾
1:21
नमस्कार मित्रों जैसे आपके पास में महाशिवरात्रि के दिन पूजा किस प्रकार की जाती है और या क्यों की जाती है क्या सच में भगवान होते हैं तो देखें मित्रों एक साथ आपके सारे सवाल कुछ नहीं है ना बात आपकी मां शिवरात्रि पूजा इसलिए करके की जाती है कि जब शिवजी का हर साल जैसे शादी विवाह का शालिग्राम बनाते हैं उसी तरह उसका शालिग्राम मनाया जाता है यानी किसी विवाह होते हैं उसका बरात संहिता है उसका व्रत रखते हैं इस तरह की कई सारे मतलब त्योहार होते हैं उसके शिव विवाह के दिन में यानी शिवरात्रि के दिन में दूसरी बात आपका जाते हैं कि सच में भगवान होते हैं तो देखें मित्रों अगर आपको मन में श्रद्धा भक्ति है तो भगवान होते हैं भगवान के ऊपर विश्वास करते हैं तब गली भगवान होते हैं अगर आप विश्वास ही उन पर नहीं करते हैं तो आपके लिए भगवान नहीं होते और रहा बात की हमें भगवान नहीं देखा है फिर भी हमें ऊपर विश्वास रखते हैं क्यों क्योंकि हमारे लिए श्रद्धा पूर्वक हमारे कर्म ही महान होते हैं इसी के आधार पर भगवान भी हमारे कर्म कई लेख रखता है अपने पास और उसी काम में परिणाम का फल देते हैं पिछले करके भगवान के ऊपर विश्वास है कि भगवान आदमी है और अगर नहीं है तो दिन और रात कैसे होते मित्र यह चीज समझिए धन्यवाद

DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
3:34
महाशिवरात्रि के दिन पूजा किस प्रकार की जाती है और यह क्यों की जाती है क्या सच में भगवान होते हैं एक प्रश्न का धीरे-धीरे में आपको उत्तर दूंगा सबसे बड़ी चीज तो है रात्रि के प्रथम तहत एक चतुर तह तक का मुहूर्त होता है और प्रथम पहर का पूजा शाम 6:27 से रात 9:30 तक उचित है कि पूजा 9 से 12 रात्रि 12:30 तक होता है और की पूजा को 3:32 तक होता है और प्रत्यय पैर की जो पूछा है वह प्रातः काल 3:32 से लेकर 6:34 तक होता है ऐसी मान्यता है कि हिंदू धर्म में विवाह का मुहूर्त शादी के लिए उत्तम होता है पौराणिक मान्यताओं के अनुसार भगवान की माता पार्वती विवाह संपन्न हुआ था हिंदू पंचांग की मानें तो जिस दिन फागुन माह की मध्य रात्रि अर्थात निश्चित काल में होती है उसी दिन शिवरात्रि मनाई जाती है शिवरात्रि तो हर महीने में आती है लेकिन महाशिवरात्रि साल भर में 1 बार आती है फागुन मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को महाशिवरात्रि का त्यौहार मनाया जाता है इस बार 11 मार्च सोमवार को महाशिवरात्रि का मैट्रिक ले क्योंकि शिव और शक्ति की मिलन की रात है आध्यात्मिक रूप से चित्र कर दो पुरुष की मिलन की रात के रूप में बताया जाता है शिव भक्त इंटेक्स रखकर अपने आराध्य का आशीर्वाद प्राप्त कर के मंदिरों में जलाभिषेक का कार्यक्रम दिन भर चलता है लेकिन क्या आपको पता है कि महाशिवरात्रि क्यों मनाई जाती है क्या इसके पीछे कारण पुरानी कथाओं के अनुसार महाशिवरात्रि के दिन शिव जी पहली बार प्रकट हुए थे शिव का प्राकृतिक ज्योतिर्लिंग यानी अग्नि के शिवलिंग ग्रुप में था एक्टिविटी जिसका ना तो आदि थाना बताया जाता है कि शिवलिंग का पता लगाने के लिए ब्रह्मा जी हंस के रूप में शिवलिंग की तख्ती ऊपरी भाग को देखने की कोशिश कर रहे थे कि नहीं हो पाए शूटिंग के ऊपरी भाग तक पहुंची नहीं पाए राधा ढूंढ रहे थे लेकिन अपने प्यार नहीं मिला इसके अतिरिक्त एक हमारी किट बनती है जहां यह बात कहां जाती है महाशिवरात्रि के दिन शिवलिंग विभिन्न 64 जगहों पर प्रकट हुए थे उनका नाम पता है इन्हें हम 12 ज्योतिर्लिंग के नाम से जानते हैं महाशिवरात्रि के दिन उज्जैन के महाकालेश्वर मंदिर में लोग दीपस्टर में लगाते हैं दीपस्तंभ मित्र लगाते हैं ताकि लोग शिवजी की अग्नि वाले अनंत लिंग का अनुभव कर सकें यह जो मूर्तियां का नाम यानी जो लिंग से प्रकट हुए थे ऐसा नहीं जिसकी ना तो आज ही था और ना ही अंत महाशिवरात्रि को पूरी रात शिवभक्त अपने रात जागरण करते हैं शिव भक्ति शिव जी की शादी का उत्सव मनाते हैं मान्यता है कि मां शिवरात्रि को शिव जी के साथ शक्ति की शादी हुई थी यानी पार्वती जी की एजेंसी ने बैराग जीवन छोड़कर ग्रैंड जीवन में प्रवेश किया था कि वीडियो बैरागी शिवरात्रि के 15 दिन पश्चात होली का त्योहार मनाने के पीछे भी एक यही कारण है

Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:49
हेलो दोस्तों स्वागत है आपका शिवरात्रि की पूजा किस प्रकार की जाती है और यह क्यों की जाती है क्या सच में भगवान है जी आप लोग तो मानते हैं और भगवान होते हैं महाशिवरात्रि की पूजा इसलिए की जाती है क्योंकि इस दिन भगवान शंकर और माता पार्वती की शादी हुई थी तो इसी की खुशी में हम लोग महाशिवरात्रि मनाते हैं और महाशिवरात्रि के दिन शंकर भगवान को दूध अर्पित किया जाता है जल अर्पण किया जाता है फूल चढ़ाते हैं और भांग धतूरा और बहुत सारी चीजें जैसे ऋतु फल है जो भी होते हैं वे सब चढ़ाते हैं वेद और वेद चढ़ाते बेलपत्र चढ़ाते हैं बेल चढ़ाते हैं और ने भांग धतूरा बहुत पसंद होता है वह भी चढ़ाते हैं धन्यवाद

मनीष कुमार Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए मनीष जी का जवाब
किसान
0:58
कंचन नमस्कार आपने पूछा है महाशिवरात्रि के दिन पूजा किस प्रकार की चक्की और क्यों की जाती है क्या सच में भगवान होते तो मैं आपको बताना चाहता हूं शिवजी की पूजा की जाती है उनसे दूध का अभिषेक पंचांग मटका अभिषेक सोलंकी पर किया जाता है भगवान शंकर को जल अर्पण किया जाता है उसके बाद शिवजी की पूजा की जाती है नांदिया जी की पूजा की जाती है और शिवलिंग पर पुष्प चढ़ाकर पूजा की जाती है और भगवान शिव और माता पार्वती को शिव पूजा की जाती है और भगवान शंकर और पार्वती माता का मिलन होता है इस दिन इसलिए पूजा की जाती है और आपने पूछा है क्या सच में भगवान होते तो मैं आपको बताना चाहता हूं सच में भगवान होते हैं इसलिए तो हम जी रहे हैं हम चल रहे हैं भगवान नहीं होता तो यह संसार नहीं होता संसार के रचयिता कि भगवान ने की है सब कुछ भगवान है ब्रह्मा विष्णु महेश सब भगवान की रचयिता है इस संसार में भगवान होते तो आप नहीं होते मैं नहीं होता कुछ नहीं होता

Manish Bhati Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Manish जी का जवाब
Life coach, professional counsellor & Relationship expert. Fitness & Motivational Coach
1:31
नमस्कार जैसा की आपको कौन सी नामा शिवरात्रि के दिन पूजा किस प्रकार की जाती है और क्यों की जाती है क्या सच में भगवान होते हैं हम सब को कहा जात भगवान ने बनाया है हम सब की परेशानी हम सब की दुविधा यह सब हमारे कर्मों के साथ सोती है उनका भगवान इसे देखो इसका दो शर्मा को पूरा जोहर शरीर में आत्मा रे आत्मा के अंदर भगवान आत्मा एक परमात्मा का रूप है सुबह से ही भगवान है जरूर है अगर इंसान है तो यह आपके जिला कोठी में महाशिवरात्रि के दिन पूजा किस प्रकार से भी जल्दी देखो महाशिवरात्रि के दिन पूजा इस प्रकार से की जाती है माता पार्वती महादेव जी को दूध अर्पित कीजिए दूध चढ़ाएं विदाई जो भी आपकी सर भगवान आपकी भक्ति रिंगटोन कृष्ण का दिखाइए भी देखता आप क्या चढ़ा रहे हैं यह दूध दही भांग लोगों ने अपने शोले के कोडिंग की है आप मगर भगवान को एक फूल भी चढ़ा है तो वह भी भगवान से आपकी श्रद्धा से बहुत अच्छा फिर करते हैं और क्यों मनाई जाती पार्वती और माता और शिव जी महाराज का शादी हुई थी इसलिए महाशिवरात्रि मनाई जाती है मां तुझे सलाम
Namaskaar jaisa kee aapako kaun see naama shivaraatri ke din pooja kis prakaar kee jaatee hai aur kyon kee jaatee hai kya sach mein bhagavaan hote hain ham sab ko kaha jaat bhagavaan ne banaaya hai ham sab kee pareshaanee ham sab kee duvidha yah sab hamaare karmon ke saath sotee hai unaka bhagavaan ise dekho isaka do sharma ko poora johar shareer mein aatma re aatma ke andar bhagavaan aatma ek paramaatma ka roop hai subah se hee bhagavaan hai jaroor hai agar insaan hai to yah aapake jila kothee mein mahaashivaraatri ke din pooja kis prakaar se bhee jaldee dekho mahaashivaraatri ke din pooja is prakaar se kee jaatee hai maata paarvatee mahaadev jee ko doodh arpit keejie doodh chadhaen vidaee jo bhee aapakee sar bhagavaan aapakee bhakti ringaton krshn ka dikhaie bhee dekhata aap kya chadha rahe hain yah doodh dahee bhaang logon ne apane shole ke koding kee hai aap magar bhagavaan ko ek phool bhee chadha hai to vah bhee bhagavaan se aapakee shraddha se bahut achchha phir karate hain aur kyon manaee jaatee paarvatee aur maata aur shiv jee mahaaraaj ka shaadee huee thee isalie mahaashivaraatri manaee jaatee hai maan tujhe salaam

Aarti  Sharma  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Aarti जी का जवाब
Staff nurse
1:10
शनि शुभ महाशिवरात्रि के दिन पूजा किस प्रकार की जाती है और यह जो की जाती है क्या सच में भगवान होते हैं आंसर इस महाशिवरात्रि इशा फेस्टिवल ऑफ गॉड शिव डिस्टे पीपल वरशिप ऑफ व्हाट्सएप कॉलिंग टू माइथोलॉजी गोडेस पर्वती एंड गॉड्स कोट मैरिज ऑन डिस्टेंस बाय हिंदू पीपल सेलिब्रेट दिस फेस्टिवल लिस्ट ए पीपल हैव बीन पास्ड फॉर द होल डे एंड ऑन द एनिमल लाइफ ऑफ द पीपल कैन ईट ओनली फॉर यू हैव ब्रेकफास्ट पीपल गो टू द टेंपल एंड वरशिप ऑफ द लॉर्ड शिवा टेंपल एंड अभिषेक का शिवलिंग ब्रीदर गंगाजल मिल्क बेलपत्र एक्स्ट्रा भगवान सच में होते हैं अब तो भगवान होते हैं अगर आप बिलीव नहीं करते तो भगवान नहीं होते कहते हैं ना मानो तो मैं गंगा मां हूं ना मानो तो बहता पानी

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • महाशिवरात्रि की पूजा विधि, महाशिवरात्रि पर किस मुहूर्त में करें पूजा,घर पर ही महाशिवरात्रि पूजन की अत्यंत आसान विधि
URL copied to clipboard