#भारत की राजनीति

Saurabh Rai Bolkar App
Top Speaker,Level 88
सुनिए Saurabh जी का जवाब
Software Engineer
2:43
आपका जो तर्क है वह काफी सही है क्योंकि उस समय कांग्रेस के समय $110 प्रति बैरल था पेट्रोल और तब पेट्रोल की प्राइस 70 गए थे और आज जो है पेट्रोल बहुत सस्ता ठाकुर ना काल में उसके बाद भी पेट्रोल के प्राइसेज ओं थे वह कम नहीं हुए तो देखिए आपको रोना काल से जो उस समय जो था वह बहुत ही अलग था कांग्रेस के समय से शायद आपको भी यह बात पता होगी कि कोरोनावायरस समय था वह ऐसे समझ ही की मदद पूरे विश्व को नहीं पता कि ऐसा समय आया कब क्योंकि जब ऐसा समय आया था तो उस समय शायद ही ऐसा कोई इंसान होगा जो इस विश्व में जिंदा होगा उस समय क्योंकि ऐसा कोई समय 1919 से 1920 के आसपास आया था उसके बाद से कभी किसी ने ऐसे समय नहीं देखा है जब पूरी अर्थव्यवस्था बंद हो गई जब तक कुछ बंद हो गया सारे बिजनेस बंद हो गए सब कुछ थप्पड़ गया जियो का हो गया तेरी एक वायरस की वजह से इतनी बड़ी बात है एक बहुत ही छोटा सा वायरस देख भी नहीं सकते उसके वजह से हमारी दुनिया पर इतना ज्यादा फर्क पड़ गया और ऐसे समय में जवाब सरकारों के इनकम की बात करेंगे तो आय का स्रोत जो है वह भी बंद हो गया अब कोरोनावायरस आपके पास पैसे तो नहीं है कहीं नहीं अगर आप देखिए यह स्थिति कि सरकार के पास पैसे नहीं है लेकिन सरकार को इंतजाम इस समय सबसे ज्यादा करना है एक तरफ जो हमारे माइग्रेंट वर्कर्स जो थे वह कर रहे थे बहुत दयनीय स्थिति थी उसे आज भी देखें और सूचित वह आंखों में आंसू आ जाते हैं ऐसे बहुत सारे लोग थे जिनके पास खाने के लिए अनाज नहीं था ऐसे बहुत सारे लोग थे जो बहुत ही ज्यादा परेशान थे और सरकार को भी सैनिटाइजर और दुनिया भर के खर्चे करने थे तो यह समय जो था वह बहुत ही अलग था और ऐसे समय में सरकार कोरा की जरूरत थी और जिसकी जरूरत को पूरा करने के लिए सरकार ने पेट्रोल प्राइस इस पर जो है वह टैक्स बढ़ा दिया था ताकि आम जनता जो है वह पहले भी पेट्रोल का प्राइस उतना ही दे रही थी अभी भूत नहीं दे रही है लेकिन सरकार को थोड़ा राजस्व प्राप्त हो रहा है जिससे सरकार जो है विकास करने में सरकार को आसानी हो खैर जो भी पक्ष में नहीं रखा यह मैं यह नहीं कह रहा हूं यह पूर्णता सत्य है पर एक यह भी नजरिया है इस चीज को देखने का कि अगर सरकार के पास पैसे ही नहीं रहेंगे तो सरकार काम कैसे करेगी तो नहीं बात है आपके सवाल कि कि क्या नरेंद्र मोदी सच में पेट्रोल की सरकार है तो ऐसा नहीं है धन्यवाद

और जवाब सुनें

Harender Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Harender जी का जवाब
As School administration & Principal
1:32
कांग्रेस के समय सो $10 प्रति बैरल होने पर भी पेट्रोल की प्राइस ₹70 देने पर भी आए दिन बंद कर सामना करना पड़ता है भाई कांग्रेस और भाजपा दोनों तो एक ही है भैया जो ₹40 डाल $40 प्रति बैरल था तुम कहां पर पेट्रोल का दाम कम किया गया यह स्टील का बेड और दूसरे चार्ज है वह सब पेट्रोल तो आज भी तो लेट देखा जाए तो 30 से ₹35 ही है यह जो बड़ा बाकी चीजें हैं वह तो ड्यूटी चालू ड्यूटी सेंटर की स्ट्रीट कि यह सब लोगों का है तो कहने का मतलब है चाहे वह स्टेट गवर्नमेंट कांग्रेस की हो या बीजेपी की हो या किसी दूसरे की मैटर यह है कि यह लोग अपने जो एक्साइज ड्यूटी टैक्स एसएसएलटी शेयर दूसरी चीजें हैं उसको कम क्यों नहीं करते आप लोग शुरू कर लेते हैं पार्टियां तो सिर्फ अपना एक घंटा चलाती है

AFTAB ALAM Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए AFTAB जी का जवाब
Business
2:44

Bhanu Prakash jha  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Bhanu जी का जवाब
Students
0:22

Jeet Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Jeet जी का जवाब
Unknown
3:35

Dhruv Singh Ghosh Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Dhruv जी का जवाब
Student🖍️
4:52

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

    URL copied to clipboard