#भारत की राजनीति

bolkar speaker

क्या पेट्रोल डीजल में आग लगा ही रहेगी आ फिर कम होने का चांस रहेगी?

Kya Petrol Diesel Me Aag Laga Hi Rahegee Aa Fir Kam Hone Ka Chance Rahegee
shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
1:23
सिवान तो आज आप का सवाल है कि क्या पेट्रोल डीजल में आग लगा ही रहेगी या फिर कब होने का चांस रहेगा तो देखिए आप मतलब जैसे पेट्रोल डीजल का ऋषि धाम मतलब बड़ा है तो बहुत सारे जगह पर स्ट्राइक हो रहा है बेटा सो रहा है वरना हम रहते हैं वहां पर भी मतलब एक बार बंद हो गया था फिर ऐसे ही मतलब भारत भी बहुत बार बंद कर दो जिस तरह से स्ट्राइक हो रहा है उस हिसाब से सरकार को तो पता चल ही रही है कि मतलब क्यों कर रहा है मतलब क्यों नहीं कर रहे हैं क्या उनका डिमांड है करना चाहिए या नहीं सबको पता है कि पेट्रोल-डीजल एक मतलब इंसान का मतलब बेसिक के हो गया है कि हां कहीं पर भी जाना है बाप को अमरनाथ गाड़ी से ही जाना रहता है उसके बाद अगर आप तो पब्लिक ट्रांसपोर्ट बैठे तो वहां का भी बहुत दाम बढ़ गया है यह मैं भी मतलब घर आ रही थी तो मतलब पास जो रास्ता है वहां का 10 15 बढ़ गया फिर और ट्रेन का तो बहुत ही ज्यादा बढ़ गया था इस तरह से पढ़ता ही रहेगा तू मेरी सांसों मुझे लगता है जैसे स्ट्राइक हो रहा है तो सरकार को पता है की मांगे पूरी करनी चाहिए या नहीं या फिर ऐसे स्ट्राइक चलता रहेगा तो मुझे लगता है कि अगर हम लोग इस तरह से स्ट्राइक करें और फिर इस तरह से मतलब सरकार को करें और इस तरह से उनको बनाने और बताने की कोशिश करें तुम्हें लगता है कि चांस है नाम कम हो जाएगी

और जवाब सुनें

bolkar speaker
क्या पेट्रोल डीजल में आग लगा ही रहेगी आ फिर कम होने का चांस रहेगी?Kya Petrol Diesel Me Aag Laga Hi Rahegee Aa Fir Kam Hone Ka Chance Rahegee
Bhavesh Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Bhavesh जी का जवाब
West Bengal India is Great
0:52
स्विफ्ट पेट्रोल और डीजल में मुझे लगता है कि फिलहाल कम होने की उपलब्ध नहीं है लेकिन हां जिस तरह से कि अभी का जो प्रस्तुति चल रही है अगर कुछ चाहो जनता चाहे तो यह कुछ कम जरूर करा सकता है क्योंकि अभी है चुनाव का समय ब्लॉक बंगाल का चुनाव इलेक्शन स्टार्ट होने वाली है तो दोस्तों बहुत जरूरी है हम सबका साथ होना और हर एक आदमी मिलकर के इस चीज की विरोधी करें तो जरूर कुछ ना कुछ कम होने का चांस होगा कभी आपको कुछ आवाज आ रहा होगा कि नरेंद्र मोदी जी का जो कि कोलकाता में आज है उनका भाषण समाचार रहा है जो भाषण सुनने में तो बहुत मजा आ रहा है लेकिन बस जरूरी है कि हम सब को इसके लिए है बोलना कि हां ऐसा नहीं होना चाहिए इसका मांग करना चाहिए

bolkar speaker
क्या पेट्रोल डीजल में आग लगा ही रहेगी आ फिर कम होने का चांस रहेगी?Kya Petrol Diesel Me Aag Laga Hi Rahegee Aa Fir Kam Hone Ka Chance Rahegee
Er.Awadhesh kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 66
सुनिए Er.Awadhesh जी का जवाब
Unknown
1:39
आपका सवाल है क्या पेट्रोल डीजल में आग लगी रहेगी या फिर कम होने के चांस रहेगी तेजी से बढ़ रहा है तू उसकी पोजीशन क्या रहेगी तो देखिए अभी तक जो आंकड़ा हमने देखा है बीजेपी जब से है तो इसका प्रोसेस यही रहा है कि जो भी इस पेट्रोल डीजल का दाम है वहीं क्रीज पर आए डिक्रीज निप्पल बहुत ही एयर कंडीशन में रहा है तू अभी तो चुनाव का माहौल में चुनाव में सबसे ज्यादा अगर देखा जाए तो इसकी खपत होती है तू कई प्रदेशों में चुनाव है उसके साथ-साथ उत्तर प्रदेश में ग्राम पंचायत और जिला पंचायत का चुनाव हो रहा है सबसे बड़ी बात है और सरकार के लिए किसे किसे कितना हमें रनिंग होगी तू इस चीज को ध्यान में रखते हुए सरकार अभी भी चाहेगी किस का रेट घटेगा और हम जितना अच्छा रेट रहेगा उतना ही गवर्नमेंट को भी से ज्यादा फायदा होगा तो क्योंकि इससे भी ज्यादा यह गवर्नमेंट की हार नहीं होती है तो गवर्नमेंट चाहेगी कि पेट्रोल-डीजल के दाम जो भी इंक्रीजिंग लेवल पर हैं तो बने रहे कहीं कहीं ₹100 से ऊपर भी पेट्रोल डीजल बीच विक्रय और कहीं-कहीं 90 प्लस पेट्रोल बिक रहे हैं तो यह आने वाले समय के लिए बड़ा ही घातक साबित है और जो हम पब्लिक है उससे बहुत ज्यादा प्रभावित हुई है क्योंकि वह जो दिन-प्रतिदिन उनका दिनचर्या बन गया था मैं तुम अगर गाड़ी है तू नहीं जाना है ड्यूटी जाना है अभी नहीं करना है उनके लिए बहुत ज्यादा परेशानी का सबब है महंगाई जितनी बड़ी जा रही है जा रही है वह आम पब्लिक के लिए बहुत ज्यादा घातक साबित हो रही है

bolkar speaker
क्या पेट्रोल डीजल में आग लगा ही रहेगी आ फिर कम होने का चांस रहेगी?Kya Petrol Diesel Me Aag Laga Hi Rahegee Aa Fir Kam Hone Ka Chance Rahegee
Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
1:05
कॉल डीजल में आग लगा ही रहेगी या फिर कम होने का चांस रहेगी यदि बात करें पेट्रोल और डीजल पेट्रोल का कीमत ₹98 से लगभग 90 से ₹92 के बीच में डीजल पेट्रोल के लगातार इसमें बढ़ोतरी होती जा रही है परंतु कोई भी सरकार होती है उसको मुख्य उद्देश्य है कि वह अपनी जनता को सुविधा दी परंतु हमारी सरकार ने क्या किया हमें महंगाई की बोतले दाग दिया लेकिन शुरुआती दौर है पेट्रोल-डीजल देंगे जरूर है परंतु हो सकता है समय के साथ में बदलाव होगा सस्ते दाम पर हमें उपलब्ध हो जाए तो आगे कैसे होंगे परंतु हां इतना जरूर की कीमतों में गिरावट जरूर आएगी

bolkar speaker
क्या पेट्रोल डीजल में आग लगा ही रहेगी आ फिर कम होने का चांस रहेगी?Kya Petrol Diesel Me Aag Laga Hi Rahegee Aa Fir Kam Hone Ka Chance Rahegee
Ganga Asati Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ganga जी का जवाब
Unknown
0:23
पिक्चर पेट्रोल डीजल में जो रेट है उसका बॉयफ्रेंड या फिर कम होने देता उसे कम हो तो सकते हैं पर इस को कहना बहुत डांट पड़ेगी कितना कम होगा स्पीड से बड़ा है मुझे नहीं लगता कि स्पीड से कम होगा उसे देख टाइम लगेगा हो सकते हैं कि इतने पर ही रुक जा या बोलना बड़े इसके लिए आपको ध्यान देना पड़ेगा की चीजें पिस्टल से चल रही है

bolkar speaker
क्या पेट्रोल डीजल में आग लगा ही रहेगी आ फिर कम होने का चांस रहेगी?Kya Petrol Diesel Me Aag Laga Hi Rahegee Aa Fir Kam Hone Ka Chance Rahegee
DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
2:24
पेट्रोल डीजल में आग लगी रहेगी या फिर कम होने की भी चांस है पिछले 7 सालों से बीजेपी पेट्रोल के डीजल की कीमतों में दिन-प्रतिदिन 22514 465 डॉक्टर से चेक करते हुए पेट्रोल कुछ तोड़ने के पार ली गई है क्या बीजेपी ने किसी चीज की कीमतों में गिरावट की कांग्रेस सरकार छोड़ के गई थी उसके दो सौ तीन सौ पर्सेंट महंगाई बढ़ गई है भ्रष्टाचार पांच सौ पर्सेंट बड़ी है गरीबी को इस सरकार ने 1000 परसेंट बढ़ा दिया है बेरोजगारी को 20 गुना कर दिया लोगों के काम धंधों को नष्ट कर दिया विद्यार्थियों की जीवन को जो है विनाश की कगार पर खड़ा कर दिया और आप ने प्रश्न किया कि किन संगठन की अंध भक्तों को आंखें खोल लेनी चाहिए कि इससे कार के रहते हुए तो कदाचित कीमतें घटने का सवाल ही नहीं उठता खुदकुशी करने को तैयार हो जाएंगे जिन किसानों ने लॉकडाउन के दौरान सरकार की मदद की रात दिन जोखिम लेकर आज उन किसानों के आंदोलन को जो है यह सरकार क्या कह रही है आतंकवादियों का आंदोलन है गुंडों का आंदोलन लखनऊ का आंदोलन ऐसे शर्ते सरकार यूज कर रही हो और उनके आंदोलन को कुचलने के लिए उनके आंदोलन को नष्ट करने के लिए तोड़ने के लिए एड़ी चोटी का जोर लगा रही है और अपने गुर्गों से और अपने जो इनके भक्त अंधभक्त हैं उनसे कुछ लोगों को अपने पक्ष में कर की पर्ची का जाल बिछा कर यह सरकार उनके आंदोलन को नष्ट कर रही है आप मान के चलिए जो सरकार किसान और जवानों की नहीं वह किसी की नहीं हो लोड कर लीजिएगा 2019 का चुनाव जीतने के लिए किस तरह से मारे भारतीय जवानों को 40 जवानों को मौत के मुंह में रोका गया इस चमन लगा दीजिएगा क्योंकि राजनीतिक बहुत गंदा खेल है इसमें इंसान किस हद तक जा सकता है इस विषय में कुछ सोच भी नहीं सकता

bolkar speaker
क्या पेट्रोल डीजल में आग लगा ही रहेगी आ फिर कम होने का चांस रहेगी?Kya Petrol Diesel Me Aag Laga Hi Rahegee Aa Fir Kam Hone Ka Chance Rahegee
Rahul chaudhary Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
1:10
डीजे में आग लगी थी कम से कम हनुमान में अगर कुछ दो चार रुपए ऊपर नीचे हो सकते हैं इससे ज्यादा क्या उम्मीद ना करें और अगर ऐसे ही मर जाऊंगा लेकिन पहले प्राइस अख्तर के पुराने कम होने के कारण माता का नाम इसलिए मुझे कोई कम होना

bolkar speaker
क्या पेट्रोल डीजल में आग लगा ही रहेगी आ फिर कम होने का चांस रहेगी?Kya Petrol Diesel Me Aag Laga Hi Rahegee Aa Fir Kam Hone Ka Chance Rahegee
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:22
कृष्ण के पेट्रोल और डीजल में निश्चित ही कम हो जाएंगे हमेशा बने नहीं रह पाएंगे क्योंकि पेट्रोल और डीजल के बढ़ते रहते हैं धन्यवाद

bolkar speaker
क्या पेट्रोल डीजल में आग लगा ही रहेगी आ फिर कम होने का चांस रहेगी?Kya Petrol Diesel Me Aag Laga Hi Rahegee Aa Fir Kam Hone Ka Chance Rahegee
sanjay kumar pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए sanjay जी का जवाब
Writer, Teacher, motivational youtuber
2:12
गुड इवनिंग क्वेश्चन यह है कि क्या पेट्रोल डीजल में आग लगा ही रहेगा या फिर कम होने का चांस रहेगी कम होने का चांस है सरकार दबाव में है अंतरराष्ट्रीय बाजार में इसकी कीमत काफी बड़ी हुई है इसलिए लेकिन सरकार भी पूरे दबाव में है इलेक्शन होने वाले हैं और इससे कई वस्तुओं के दाम बढ़ने लगे हैं कई चीजों के दाम बढ़ने लगे हैं इसलिए सरकार इस पर विचार कर रही है इसे जीएसटी के दायरे में लाने पर भी चर्चा हो रही है और कुछ ना कुछ तो सरकार करेगी निश्चित रूप से अन्यथा इसके दुष्परिणाम हो सकते हैं सरकार को भुगतना पड़ सकता है इसमें केंद्र सरकार और राज्य सरकार दोनों सरकार है जो है वह जिम्मेदार हैं टेक्स्ट तो लेती हैं उनका इनकम पचोर से बहुत बड़ा यह करेंगे क्या हमको तो करना ही है उनको भी इनकम चाहिए ही सरकार को डेवलपमेंट के लिए जानकारियों के लिए सोच तो चाहिए लेकिन अब उसी में है कि केंद्र सरकार कह रही है कि राज्य सरकारें भी उतने ही जिम्मेदार हैं उनका कहना है कि 40 परसेंट से अधिक पर राज्य सरकारों के पास ही चला जाता है टैक्स का थोड़ी सी लिए राज्य सरकारें अपने हिसाब से सोचें और ठीक है अभी देखिए कई राज्यों में कुछ गोवा जैसे राज्य है जहां कि राज्य सरकारों ने कमरा कर रखा है तो वहां काफी कम रेट है पेट्रोल डीजल का उसी तरह से सोचना होगा हर राज्य सरकार को और मुझे तो लगता है कि से जीएसटी के दायरे में ही लाना उचित रहेगा यह जीएसटी के दायरे में होगा तो पेट्रोल और डीजल के दाम एक समान होंगे पूरे देश में तो इसलिए इसको जीएसटी के दायरे में सरकार को लाना चाहिए फिर इतने सवाल नहीं उठेंगे जितने कि अभी उठे हैं तो मुझे उम्मीद है कि इस के नाम में कुछ कमी जरूर आनी चाहिए थैंक यू

bolkar speaker
क्या पेट्रोल डीजल में आग लगा ही रहेगी आ फिर कम होने का चांस रहेगी?Kya Petrol Diesel Me Aag Laga Hi Rahegee Aa Fir Kam Hone Ka Chance Rahegee
Gopal rana Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Gopal जी का जवाब
Sales executive
1:00

bolkar speaker
क्या पेट्रोल डीजल में आग लगा ही रहेगी आ फिर कम होने का चांस रहेगी?Kya Petrol Diesel Me Aag Laga Hi Rahegee Aa Fir Kam Hone Ka Chance Rahegee
Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
0:45
कसाना की क्या पेट्रोल डीजल के आज लगाएंगे रहेगी या फिर कम आने का चांस है तो कुछ दिन पहले धर्मेंद्र है जो कि पेट्रोलियम मंत्री हैं उन्हें एक बयान दिया था कि अभी दो-तीन महीने जैसे जनवरी फरवरी और मार्च में पेट्रोल यानी कि कच्चा माल पीछे से आना काम आता है इसलिए पेट्रोल डीजल के भाव से बढ़ गए हैं आने वाले समय में पेट्रोल और डीजल के भाव पीछे से पर्याप्त मात्रा में कच्चे माल आने लगेगा तो पहनते पेट्रोल डीजल का भाव भी वक्त नीचे आने के चांस है धन्यवाद

bolkar speaker
क्या पेट्रोल डीजल में आग लगा ही रहेगी आ फिर कम होने का चांस रहेगी?Kya Petrol Diesel Me Aag Laga Hi Rahegee Aa Fir Kam Hone Ka Chance Rahegee
KAUSHAL KUMAR SINGH Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए KAUSHAL जी का जवाब
Gmind institute
3:02
देखिए जहां तक पेट्रोल डीजल की बात है तो मैं कोशिश करूंगा कि बहुत सरल शब्दों में आप तक की बात पहुंची की असल में हो क्या रहा है अभी आपने देखा होगा कि पेट्रोल-डीजल की कीमतें लगातार बढ़ी है सरकार यह कहती है कि पेट्रोल और डीजल जो होती है क्योंकि इंडिया में तो यह पैदा नहीं होता है यह ज्यादातर जो खाड़ी के देश है वहां से आता है तो वहां पर जो अंतरराष्ट्रीय कीमती होती हैं कच्चे तेल की उसके आधार पर तेल की कीमतें निर्धारित होती है या नहीं अगर वह बढ़ता है तो यहां पर भी बढ़ेगा घर घटता है तो जलाली घटेगा लेकिन जनरल ही ऐसा हो नहीं रहा है इस पर 3 छात्र से जो काम कर रहे हैं तो सेंट्रल गवर्नमेंट है दूसरा स्टेट गवर्नमेंट तीसरा पब्लिक सेक्टर यस यूज़ है और कॉर्पोरेट है यह तीनों लोग मिलकर पब्लिक को जमके चूना लगा रहे हैं आप ऐसा कह सकते हैं अब इसमें हो क्या रहा है कि जब कोरोनावायरस था उस समय जो कच्चे तेल की कीमत बैरल में निर्धारित होती थी वह $1 से भी कम पहुंच गई थी उस समय भी तेल आपको डीजल और पेट्रोल मिलाकर ₹75 पेट्रोल और डीजल भी 6065 के आसपास मिल रहा था लेकिन अचानक जब तेल कम कीमत पर था तब तो कीमतें कम नहीं हुई क्योंकि उस पर हुआ था कि जो सेंट्रल गवर्नमेंट ने उस पर शेष बढ़ा दिया और स्टेट गवर्नमेंट ने बेड बढ़ा दिया तो अभी आप देखेंगे स्ट्रक्चर क्या है कि जो पेट्रोल या डीजल की कीमतें है वह 15 से ₹20 के अंदर ही है जो जेनुइन कीमत है अब यह जो ₹90 का खेल है इसमें क्या हो रहा है कि 30 से ₹40 सेंट्रल गवर्नमेंट को मिलना है और 25 से ₹30 या ₹35 आप देखेंगे स्टेट गवर्नमेंट को मिलना है यह दोनों लोग ही कम नहीं करना चाह रहे हैं और बीच का जो कमीशन है वह कॉरपोरेट कंपनियां जो 22 चाचा रुपया पल्ली रही है पर उसमें वह सब ले रही हैं तो यह पब्लिक को एक तरह से कहीं ना कहीं बेवकूफ बनाया जा रहा है इस बात के लिए कि हम आपका जो पैसा यह टैक्स के रूप में ले रहे हैं आपके ऊपर खर्च कर रहे हैं लेकिन आपको पता है कि बहुत सारी कीमती से रेगुलेट होती हैं हमारे जो खाने की जो चीजें हैं प्याज है टमाटर है सब्जी आए यह सब पेट्रोल-डीजल इसकी कोई बात करती है क्योंकि ट्रांसपोर्टेशन हमारा इससे चलता है यह हम जो ट्रेन से सफर करते हैं एरोप्लेन से सफर करते हैं या फिर बस से सफर करते हैं इस सब पर आम पब्लिक को बटन पड़ता है अब सरकार को यह चीज समझ नहीं है कि जनता का पैसा जो जनता के लिए आप ले रहे हैं उसमें इंटरनेशनल लेवल पर रेगुलेशन के नाम से लोगों को बेवकूफ बनाया जा रहा है तो यह सारा कांसेप्ट है इसको अच्छी तरीके से समझना है अब जनता अगर विरोध कर रही है तो वह सही भी है और सरकार को निश्चित तौर पर स्पर्श सोचना भी चाहिए

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • पेट्रोल के रेट इतने जल्दी क्यों बढ़ रहे है, पेट्रोल डीजल की कीमत, पेट्रोल डीजल की कीमत बढ़ने का कारण
URL copied to clipboard