#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker

हमारे समाज में इतनी गंदगी क्यों बढ़ती जा रही है?

Humare Samaj Mein Itni Gandagi Kyun Badhti Ja Rahi Hai
Bhavesh Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Bhavesh जी का जवाब
West Bengal India is Great
0:39
हमारी समाज में इतनी गंदगी क्यों बढ़ रही है भाई उसका जिम्मेदार जो हम सब कहने से खुद ही हैं आजकल हम सोचते हैं कि अपने बच्चे को अच्छे से पढ़ाई पढ़ाई लिखाई इंग्लिश मीडियम में डाला है वह वहीं से जो हम जितने होना चाहिए जो संस्कारी होते हैं दादा-दादी नाना-नानी की और यह सब बच्चे लोग भूलते जा रहे हैं क्योंकि अभी बहुत काम हो रहा है तो संस्कारी आएंगे कहां से यह सब चीज को ध्यान रखना चाहिए मांगने का वादा करके जितनी सारी व्यक्ति हैं सब कुछ समझना से और संभालना चाहिए और सब कुछ सिखाना चाहिए भागवत गीता सो जाना चाहिए सब कुछ

और जवाब सुनें

bolkar speaker
हमारे समाज में इतनी गंदगी क्यों बढ़ती जा रही है?Humare Samaj Mein Itni Gandagi Kyun Badhti Ja Rahi Hai
Ganga Asati Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ganga जी का जवाब
Unknown
0:22
मुझे समझ में क्योंकि हमारी जिंदगी है भ्रष्टाचार की तीसरी

bolkar speaker
हमारे समाज में इतनी गंदगी क्यों बढ़ती जा रही है?Humare Samaj Mein Itni Gandagi Kyun Badhti Ja Rahi Hai
Nikhil Ranjan Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Programme Coordinator at National Institute of Electronics & Information Technology (NIELIT)
0:57
यारों का टशन ए हमारे समाज में इतनी गंदगी क्यों बढ़ती जा रही है तो देखिए अच्छा लगे या बुरा लगे वैसे सच्चाई है कि इसके जिम्मेदार भी आप और हम स्वयं है क्योंकि हमारे से ही मिलकर यह समाज बनता है अगर आप आप कहेंगे कि हम तो कोई गंदी बात बोल नहीं रहे कोई गंदगी नहीं फैला रहे तो हम कैसे जिम्मेदार तो देखिए अगर गंदगी फैल भी रही है और उस पर अगर हम आंखें मूंदे पड़े हुए हैं तो भी यह हमारी ना कामयाबी है और इस समाज को बर्बाद करने में हमारा हाथ है हमारा रोल है तो इसलिए अगर आपको लगता है कि समाज में कुछ बुरा हो रहा है तो उसके खिलाफ आवाज उठाई है उसके खिलाफ यहां पर जब तक हम लोग खड़े नहीं होंगे तब तक समाज हमारा और ज्यादा गंदगी से भरता रहेगा दूसरी चीज हमेशा दूसरों पर कॉल करने से पहले इंसान को अपने आप को देखना चाहिए तो सबसे पहले अपने आप को सुधार लेंगे तब या दूसरे को सुधार करने के लिए बोल पाएंगे मे शुभकामनाएं आपके साथ हैं धन्यवाद

bolkar speaker
हमारे समाज में इतनी गंदगी क्यों बढ़ती जा रही है?Humare Samaj Mein Itni Gandagi Kyun Badhti Ja Rahi Hai
satish kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए satish जी का जवाब
Student
0:36
हाय फ्रेंड्स क्वेश्चन पूछा क्योंकि हमारे समाज में इतनी गंदगी क्यों बढ़ती जा रही हैं तो देखा जाए तो हमारे समाज में गंदगी बढ़ाने वाले व्यक्तियों की संख्या जो है सही व्यक्ति की संख्या से बहुत ही ज्यादा क्योंकि गंदगी जो होते हैं वैसे ही व्यक्ति बढ़ाते हैं जो समाज में जो हत्या ज्ञानी होते हैं यानी कि उन्हें समझ नहीं होती है कि समाज की उन्नति के तरीकों से होगी तुम ऐसे व्यक्ति अगर ज्यादा है तो जाहिर है कि समाज में जो है यह इनका तरह की कुरीतियां की जरूरत पड़ेगी

bolkar speaker
हमारे समाज में इतनी गंदगी क्यों बढ़ती जा रही है?Humare Samaj Mein Itni Gandagi Kyun Badhti Ja Rahi Hai
Anand Patel Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Anand जी का जवाब
Mathematics Teacher
0:42
सवाल है कि हमारे समाज में इतनी गंदी जी क्यों बढ़ती जा रही है जिस समाज में जो गंदगी है और अनैतिकता एं फैल रही है जो लोग हर आवश्यक कार्य कर रहे हैं जिनका कोई महत्व नहीं होता है तो यह इसका कारण यह हो सकता है कि हमारे समाज में अशिक्षा और बेरोजगारी की जो लेवल है वह बढ़ता जा रहा है लोग अशिक्षित हैं वह लोग बेरोजगार हैं तो समाज में गलत कार्य को ज्यादा अंजाम दे रहे हैं लोग अन्यथा जब लोग शिक्षित होते हैं और रोजगार होता है तो लोग अपने काम से मतलब रखते हैं तो ऐसा नहीं है इसलिए समाज में इन चीजों में बढ़ोतरी हो रही है

bolkar speaker
हमारे समाज में इतनी गंदगी क्यों बढ़ती जा रही है?Humare Samaj Mein Itni Gandagi Kyun Badhti Ja Rahi Hai
DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
1:38
समाज में इतनी गंदगी क्यों बढ़ती जा रही है क्योंकि आपने समाज की गंदगी की बात की है तो तो भाभी के विचारों की गंदगी बढ़ रही है व्यवहार की गंदगी बढ़ रही है इंसान की मानसिकता की गंदगी हो रही है और इसके साथ क्यों समाजिक वातावरण रंग ले रहा है वह भेजो कि वह विचार ही पोस्ट अंकिता इंसान के स्वास्थ्य पर भावनाओं और विचारों से ग्रसित है पर इसका मूल कारण इंसान के पास इंसानियत खत्म हो गई है स्वार्थ ने इतना कब्जा कर लिया है कि मानवता बिक्री है और यही कारण है कि कोई किसी भी किए गए उपकार या की गई भलाई या किए गए कृतिम का कोई मोल नहीं समझता और सिर्फ उसके पीछे एक थी जंभे एक की ढंग से निश्चित रूप से उसे कोई फायदा होगा और यह भावना रखते हुए आज इंसानियत जो है वह दुनिया में देखने को नहीं मिलती है जब सद्गुण चटाइया और झाइयां खत्म हो जाती हैं तो समाज में क्या बचेगा शिवाय गंदगी के सिवाय कोई चिट्ठी को विचार के कुछ संस्कार के क्योंकि ज्ञान ट्रेन और टाइम बारात में जा रात होती है वहां दिन में यह भाषा का और आपके प्रश्न का फाटक आंसर

bolkar speaker
हमारे समाज में इतनी गंदगी क्यों बढ़ती जा रही है?Humare Samaj Mein Itni Gandagi Kyun Badhti Ja Rahi Hai
Er.Awadhesh kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 66
सुनिए Er.Awadhesh जी का जवाब
Unknown
2:03
प्रश्न है कि हमारे समाज में इतनी गंदगी क्यों बढ़ती जा रही है तो दिखे फ्रेंड कहां जाता है कि जब आप एडवांस वर्जन होते जाएंगे तो कहीं ना कहीं आपकी गलतियां खुद को नहीं दिखेगी और आप गलती पर गलती बस अब गंदगी पर गंदगी जिए जा रहे हैं और दूसरों को एडवाइज देते हैं कि हां आप एक कर रहे हो कर रहे हो वैसे आप करने की बात फैला रखा है समाज को गंदा कर हर तरीके की चीजें आपके द्वारा की जाती लेकिन खुद पर आप उसे अडॉप्ट नहीं करते हैं और खुद की चीजों को आप इग्नोर करते हैं तो देखिए क्या होता कि आप बहुत ज्यादा अच्छी पर्सनालिटी हो जाती है तो आप कहीं भी कूड़ा कचरा या कुछ भी ऐसी अभद्र बातें जो गंदगी फैलाने वाली चीजें होती है अपने मुंह से तो बोल के चले जाते हैं लेकिन उसका प्रभाव वहां के रह रहे लोगों की स्कूटी लोग होते हैं जो नॉर्मल लोगों थे उनको बहुत ज्यादा देखने को मिलता है जिसे देखा जाए तो फैशन की दुनिया में देखा जाए तो बालीवुड जो फैशन करता है वही वही फैशन क्या कर रहे हैं छोटे-छोटे जो गांव के लोग हैं गांव के लोग कर रहे हैं और यह कहा जाए कि देखा जाए वैसे तू कहीं ना कहीं हमारी समाज में एक तरफ से गंदगी कोशिश बढ़ावा दी जा रही है इससे क्या हो रहा है कि लोगों का मन अलग अंदाज में भाग रहा है और कहीं न कहीं को समाज में कुछ न कुछ गलतियां कर रहे हैं जिससे कहा जाता है कि समाज गंदा हो रहा है वहीं पर साफ सफाई की बात करें तो हम कुछ भी चीजें का जब भी साफ सफाई की बात होती है तो हम उसे इग्नोर करते हैं कुछ ऐसी चीजें होती हम कहीं भी फेंक देते हैं उसे डस्टबिन में ना डाल कर हम कहीं भी उचित ही रख देते हैं तो इससे भी क्या होते हैं गंदगी बढ़ती जाती हमारी सोच होनी चाहिए हमें कुछ भी चीज है उसको सही तरीके से रखने का सही तरीके से इस्तेमाल करने का सही तरीके से बोलने और समझाने का और जो भी ऐसी कुत्तिया है उसे दूर करने के बारे में सोचना चाहिए

bolkar speaker
हमारे समाज में इतनी गंदगी क्यों बढ़ती जा रही है?Humare Samaj Mein Itni Gandagi Kyun Badhti Ja Rahi Hai
Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
2:02
हमारे समाज में इतनी गंदगी बढ़ती जा रही है 200 समाज के अंदर गंदगी तो बढ़ने से तात्पर्य समाज के अंदर असामाजिक तत्व तेजी पर रहे हैं अश्लीलता को बढ़ावा मिल रही है समाज समाज नव करके समाज के अंदर काफी सारी बुराइयां दहेज प्रथा और महिलाओं के साथ अत्याचार इत्यादि जो आज भी ज्यादा तादाद में हो रहे हैं क्षेत्र की 1 घटनाएं पत्नी ने अपने पति की हत्या अपने प्रेमी के साथ मिल कर दी कर दी और हमारे समाज को बदला भारतीय संस्कृति जैसे-जैसे हम मिलते हुए बढ़ते जा रहे हैं पढ़ने का कारण यही है कि हम पाश्चात्य संस्कृति के बिल्कुल करीब आ चुके हैं और जैसा जैसे हम इसके करीब जाते रहेंगे समाज के अंदर आज देखेंगे दोस्तों के साथ भेदभाव हो रहा है मनोज हमें आपकी रहती होंगी

bolkar speaker
हमारे समाज में इतनी गंदगी क्यों बढ़ती जा रही है?Humare Samaj Mein Itni Gandagi Kyun Badhti Ja Rahi Hai
मनोज कुमार यादव Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए मनोज जी का जवाब
कृषक 🌾🌾🌾🌾
1:11
नमस्कार मित्रों जैसे आपका प्रश्न हमारे समाज में इतनी गंदगी क्यों बढ़ती जा रही है क्योंकि मित्रों इसके लिए कई कारण होते हैं आदमी में एकता नहीं होते ही आदमी का बोली सुबह गलत हो जाते हैं रास्ता भटक जाते हैं इंसान इंसान को नहीं पहचानते हैं हमेशा लोग बुरे कर्म करने लगते हैं संसार में सुधार तभी होगा जब सब कोई मिलकर एकजुट होंगे अच्छे से बोली निकालेंगे जैसे व्यवहार करेंगे अच्छे संस्कार देंगे आज हम लोग जो कर रहे हैं कल तो वही देख कर के बच्चे लोग भी वही करेंगे इसलिए करके पहले अपने को सुधारना है तब जाकर के बच्चों को सुधारना है तभी समझ से गंदगी दूर होगा और जिसका मन में पाप रहता है वह कभी समाज को सुधारने सकते समाज को सुधारने के लिए स्वयं अपने आप को बदलो एक अच्छे इंसान बनो और दूसरे को भी अच्छा बनने का मौका तो और उन्हें कोई अगर गलत रास्ता पर भटक रहा है तो उसे सही मार्ग पर भी लेना चाहिए यही इंसानियत का धर्म है धन्यवाद

bolkar speaker
हमारे समाज में इतनी गंदगी क्यों बढ़ती जा रही है?Humare Samaj Mein Itni Gandagi Kyun Badhti Ja Rahi Hai
Prerna Rai Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Prerna जी का जवाब
Collage student in polytechnic collage
2:48
हम आए दिन देख रहे हैं आजकल हमारे समाज में मतभेद बढ़ता ही जा रहा है हमारे समाज में गंदगी हो रही है कि उसे साफ करना मुश्किल होता है और इस गंदगी को पढ़ाने में अगर किसी का हाथ है वह भी हमारे समाज के लोगों का ही है या नहीं समास अगर गंदी बदबू आ रही है समाज की गंदगी से आगरा में समस्या हो रही है तो उसका कारण भी हम ही हैं यह बात जिस दिन हम लोग समझ जाएंगे सभी लोग इस बात को अपना लेंगे उस दिन मैं कह सकती हूं किस समाज से धीरे-धीरे गंदगी साफ हो रही है हमारे समाज में इतनी गंदगी इसलिए बढ़ रही है क्योंकि लोग आपस में जाति धर्म के नाम पर झगड़े करते हैं जाति धर्म के नाम पर विवाद करते हैं जो कि सही नहीं है भारत की तो पहचान ली है तरह तरह के लोग यहां रहते हैं तरह-तरह की जातियां रहती है मगर अब भाषा बोलते हैं फिर भी सब ठीक है यह पहचान है भारत की परंतु जातिवाद जातिवाद या धर्म के नाम पर जब लोग धर्म की बात आती है लोग अपने प्रधान का नाम लेने लग जाते हैं हमें सभी धर्मों का आदर करना चाहिए दूसरा बड़ा कारण है लोग सिर्फ और सिर्फ अपने सगे को ही अपना मानते हैं यानी मैं कहना चाहती हूं अगर राह पर चलने वाला कोई इंसान नहीं मिलता है उसी से मदद की जरूरत है तो उनकी मदद करने से पहले 10 बार सोचते हैं हां चौकन्ना रहना जरूरी है परंतु वह जिसको आपकी सहायता चाहिए उसकी सहायता भी आपको करनी चाहिए मैंने एक बार क्या देखा कि रोड पर के इंसान का एक्सीडेंट हो गया है वह खड़े बहुत होगी वीडियो भी बहुत लोग बना रहे थे परंतु कोई इंसान की मदद नहीं कर रहा था मैं लोगों से पूछा ऐसा क्यों हूं तो जवाब देते हैं कि कौन सी गर्लफ्रेंड कौन जाएगा हॉस्पिटल फालतू पर कॉमेंट करो उसके बाद पुलिस को सत्य पुलिस स्टेशन के चक्कर लगाने पड़े लोगों की ऐसी सोच है मानवता आज के समाज के लोग भूलते जा रहे हैं जिसके कारण हमारे समाज में गंदगी बढ़ती जा रही है हमें ही हमें अपने समाज की गंदगी को साफ करना होगा नहीं तो 1 दिन ऐसा आएगा कि हम शिकंदी कि के पद स्वीकृत घुट के मर जाएंगे मैं आप लोगों से यही कहना चाहूंगी यह एक कदम तुम पर आओ एक कदम तुम बढ़ाओ फिर किसी से आज लगाओ फिर किसी से आस लगा

bolkar speaker
हमारे समाज में इतनी गंदगी क्यों बढ़ती जा रही है?Humare Samaj Mein Itni Gandagi Kyun Badhti Ja Rahi Hai
shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
1:59
तो आज आप का सवाल है कि हमारे समाज में इतनी जल्दी क्यों बढ़ती जा रही है हमारे समाज में जितनी गंदगी बढ़ चुकी है उसका कारण मुझे लगता है कि इंसानियत की कमी इंसानियत अवधि के भी मंदिर नहीं अमीरों के दिन के अंदर इंसानियत बची है और दूसरा के इंसान बहुत मतलबी हो चुका चलते हो चुका है मैं सिर्फ अपने बारे में सोचता है कि मैं किसी की मदद करना किसी के बारे में सोचना सल्फेेशन तब होते हैं जब हम किसी कॉन्पिटिशन के लिए जाने के लिए एग्जाम के लिए जाते जो आप चले जाते करें जय माता दी तब हम अपने आप को रख दी फिर हम किसी फ्रेंड को या फिर किसी ऐसे को रखते हैं कि उसे भी मतलबी अपॉर्चुनिटी लेना चाहिए देख रहे हैं इंसान भूखा है पर उसे नहीं दे रहे तो यहां पर यह मतलबी और इंसानियत की कमी है क्या लाएगी तो आजकल अपने आपस में लड़ाई करना मतलबी हो ना इंसानियत बिल्कुल भी सारे क्राइम रहा है उसके वजह से लोगों को लगता है कि नहीं अब सरकार कुछ नहीं करेगी सरकार के मतलब फिर मैंने कभी आ नहीं पाएंगे इसके वजह से क्राइम बीपी बढ़ता जा रहा है आलोक बेरोजगारी की वजह से जुड़ी या फिर कैसे कर रहे हैं या फिर फ्रस्ट्रेशन के वजह से देश में चल रही है इसके बारे में एक एक बात कहना है मुश्किल है मतलब चोरी कर रहे हैं मतलब ऐसा प्यार और किसी के प्रति मतलब कुछ अच्छा सोच विचार कर नहीं बचा अगर ऐसा ही रहा है देश कितना ब्लॉक होने की कोशिश ना करें आपस में एक दूसरे से लड़ते रहेंगे झगड़ते रहेंगे तो देश कभी आगे नहीं बढ़ेगा ना ही देश कभी खुशी से अच्छे से रह पाएगा

bolkar speaker
हमारे समाज में इतनी गंदगी क्यों बढ़ती जा रही है?Humare Samaj Mein Itni Gandagi Kyun Badhti Ja Rahi Hai
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:47
हेलो फ्रेंड स्वागत है आपका आपका कृष्ण हमारे समाज में इतनी गंदगी बढ़ती जा रही है तो फ्रेंड समाज में गंदगी इसलिए बढ़ रही है कि लोग सिर्फ अपने बारे में सोचते हैं दूसरों के बारे में नहीं सोचते हैं अपने घर को साफ साफ करते हैं और कचरा कहीं पर भी फेंक देते हैं और समाज में यहां वहां गंदगी फैलाते हैं कहीं भी कूड़ा एकत्रित कर देते हैं इसलिए गंदगी हो रही है और दूसरा समाज में इतना भ्रष्टाचार है छोरी है और एक ने क्राइम होते हैं हत्याएं होती हैं यह भी गंदगी है और जो हमारे समाज में महिलाओं के साथ बुरा व्यवहार होता है बलात्कार होते हैं और उनको जो गलत दृष्टि से देखा जाता है यह भी समाज की ही एक गंदगी है तो इन सब गलियों को समूल नष्ट करना चाहिए और इन्हें सुधारने का तुरंत से तुरंत प्रयास करना चाहिए धन्यवाद

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • हमारे समाज का माहौल आजकल बिगड़ता क्यों जा रहा है, आज समाज में इतनी बुराइयां क्यों फैल रही हैं, हमारे समाज में फैलता भ्रष्टाचार
URL copied to clipboard