#जीवन शैली

bolkar speaker

जब तक भारत में समानता और भेदभाव खत्म नहीं हो जाता तब तक भारत में गरीबी एवं बेरोजगारी दूर नहीं हो सकती?

Jab Tak Bharat Mein Samaanta Aur Bhedbhaav Khatm Nahin Ho Jaata Tab Tak Bharat Mein Gareebi Evam Berojagari Door Nahin Ho Sakti
shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
1:58
आज आप का सवाल है कि जब तक भारत में समानता और भेदभाव खत्म नहीं हो जाता तब तक भारत में गरीबी एवं बेरोजगारी दूर नहीं हो सकती टुडे कारण कहते हैं ना कि बेरोजगारी का कारण क्या है तो की सेटिंग दिखाओ और एक नाजुक आशुलिपि है उसे भी मैं एक मतलब सारे कैटेगरी और एक रीजन में मेरा खून लेकिन सिर्फ और सिर्फ समानता और भेदभाव ही नहीं है एक जॉब दौरे के मतलब बेरोजगारी हटाने के लिए और सिर्फ और सिर्फ मतलब यह नहीं कि आप डिस्क्रिमिनेशन बना देंगे तो जॉब मिल जाएगी उसके लिए आपको इस मतलब सरकार को इतना जॉब की उपलब्धियां भी लानी जरूरी है देखने का मतलब बढ़ रहा है जैसे मतलब इतने वैकेंसी कम होती जा रही है तो वैकेंसी होनी चाहिए उतना जल्दी उठना चाहिए तब बच्चे को उतना मिलेगा अगर इतने सारे बच्चों में अगर पालने के टिप्स पिंकी क्या जा रहा है तो नमकीन अंबुज आप मिलना भी नहीं है कि कितना वैकेंसी नहीं है तो वैकेंसी बढ़ानी चाहिए उसके बाद दो जो अंधेरों की बात किए हैं यह भी रखना बहुत जरूरी है क्योंकि क्या होता है कभी कदार हमारे पास काम होता है लेकिन हम वहां पर का रीजन यह सब को देख कर रखते हैं अगर कोई इंसान हमारे घर की तरफ से भूखा पार पूरा दिखाना सीखने के पहले पूछते हैं कि तुम कौन से धर्म के ऊपर लगभग गौतम नहीं देती कि जो टच कर देगा इस तरह के भेदभाव इस तरह से आता है यह सब मतलब जॉब करते हैं दो जिसके कारण अगर कुछ नहीं खाना मिल रहा है तो कोई घर पर हमारे काम करना चाहता है नौकर की तरफ भी काम करना चाहता मुझको रिलीजन का चित्र देखकर भेजता हूं काम नहीं देते कैसे बहुत सारी चीजें बहुत सारे ऐसे कारण है जिसका दूर होना जब का हटना और बहुत सारे से कह दो स्कूल आना उपलब्धियां लानी है बहुत जरूरी है तब जाकर बेरोजगारी बढ़ेगी

और जवाब सुनें

bolkar speaker
जब तक भारत में समानता और भेदभाव खत्म नहीं हो जाता तब तक भारत में गरीबी एवं बेरोजगारी दूर नहीं हो सकती?Jab Tak Bharat Mein Samaanta Aur Bhedbhaav Khatm Nahin Ho Jaata Tab Tak Bharat Mein Gareebi Evam Berojagari Door Nahin Ho Sakti
pooja Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए pooja जी का जवाब
Student
0:37
नमस्कार प्रश्न है जब तक भारत में समानता और भेदभाव खत्म नहीं हो जाता तब तक भारत में गरीबी एवं बेरोजगारी दूर नहीं हो सकती यह बिल्कुल यह कहना बिल्कुल सही होगा कि जब तक भेदभाव खत्म नहीं होगा तब तक भारत की गरीबी और बेरोजगारी दूर नहीं हो सकती इसके चलते क्या हो रहा है जो कुछ अमीर है वो और अमीर होते जा रहे हैं और जो गरीब है वह गरीब होते जा रहे हैं तो हमको भेदभाव जो है वह खत्म करना होगा अगर हमको भारत को आगे लाना है गरीबी को खत्म करना है बेरोजगारी को खत्म कर

bolkar speaker
जब तक भारत में समानता और भेदभाव खत्म नहीं हो जाता तब तक भारत में गरीबी एवं बेरोजगारी दूर नहीं हो सकती?Jab Tak Bharat Mein Samaanta Aur Bhedbhaav Khatm Nahin Ho Jaata Tab Tak Bharat Mein Gareebi Evam Berojagari Door Nahin Ho Sakti
satish kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए satish जी का जवाब
Student
0:39
हाय फ्रेंड्स क्वेश्चन है कि भारत में जब समानता और भेदभाव अगर खत्म हो जाए तभी भारत में गरीबी और बेरोजगारी दूर हो सकती हैं तो यह तो बात सही है कि गरीबी और बेरोजगारी का मुख्य कारण जो समानता और भेदभाव है इसे हम पूरी तरह से सिर्फ इसी पर हम अगर 2:00 बजे तो यह गलत बात है क्योंकि गरीबी और बेरोजगारी शिक्षा के अभाव में जो होता है हमें गरीबी और बेरोजगारी प्राप्त होती हैं लेकिन आजकल के समय में देखा जाए तो भारत से अधिकतर युवा जो हम लोग अशिक्षित हैं इसके बावजूद भी जमीन पर रोजगारी नहीं तो इसका श्रेय हम समानता और भेदभाव को नहीं दे सकते हैं

bolkar speaker
जब तक भारत में समानता और भेदभाव खत्म नहीं हो जाता तब तक भारत में गरीबी एवं बेरोजगारी दूर नहीं हो सकती?Jab Tak Bharat Mein Samaanta Aur Bhedbhaav Khatm Nahin Ho Jaata Tab Tak Bharat Mein Gareebi Evam Berojagari Door Nahin Ho Sakti
DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
4:12
भारत में समानता और भेदभाव खत्म नहीं हो जाता तब तक भारत में गरीबी में बेरोजगारी दूर नहीं हो सकती इसके पीछे सबसे बड़ी राजनीतिक पहलू हिंदू को मुस्लिम के खिलाफ मुस्लिम को हिंदू के खिलाफ एक्शन को सिखों के खिलाफ सिखों को हिंदुओं के खिलाफ पुरानी चीजों को उखाड़कर पुरानी घटनाओं को खाट पर यह जनता पर शासन करने के लिए बना रही है अजीत का परिणाम है कि जब तक सभी लोग चाहे किसी भी धर्म किसी भी जाति के लोगों आपसी मतभेद भुलाकर धन्यवाद संप्रदायवाद जातिवाद एक बार निकवा जी सब मिलाकर एक दूसरे को सहयोग लेकर चलें और यह राजनीतिक नेताओं को जो जनता का शोषण कर रहे हैं उनका तिरस्कार करें उन्हें निकाल बाहर के थे तो जनता की ताकत से बड़ी ताकत दुनिया में कोई नहीं है आप इतिहास पढ़िए जब जब जनता में ताकत चाहिए जनता ने हुंकार भरी है तो ज्वालामुखी से भी ज्यादा भयानक परिणाम देखने को मिले और चिंता क्यों कुचलना किसानों को कुछ ना सरकारी कर्मचारियों को कुचलना अध्यापकों को कुचलना सैनिकों को कुचलना उनकी हत्या करना यह सब राजनीतिक लोग ना तो मेरा अवानी समस्त देशवासियों को समस्याओं को सुमित सीजन डाकू अपनी आंखों से तू भक्ति की पट्टी है वह हटाए सच्चाई का अवलोकन करें और उखाड़ फेंके ऐसी सट्टा को जिसने हम सबके खुशियां छीन ली हम सब की जीवन की शक्तियां हिंदी हम सब को नकारा बना दिया एक बार फिर से अपमान करता हूं जय जवान जय किसान का नारा नहीं है यह सत्य है आज किसानों के आंदोलन को तोड़ने के लिए सरकार सभी हथकंडे अपना रही है और इस हद कंधों को सरकार जो अपना रिजल्ट को तोड़ने के लिए भारत के सभी वर्ग के जवान किसान विद्यार्थी युवा कर्मचारी सरकारी कर्मचारी सब एकजुट हो जाएं और सरकार के नाच कदमों को उखाड़ फेंकने चाहिए सरकार की नाकामी हथकंडा अपनाना यह सब एक साथ चलना है इसलिए सरकार पहले मौका देती है फिर उसके बाद अपनी कमियों को छुपाने के लिए अपनी ताकत दिखाने की कोशिश करती है तो बड़े-बड़े सत्ताधारी तानाशाह संचार से चले गए फिर से स्वतंत्र हुकूमत आई और उसको मत कि देश में शांति और सुकून जनता ने एक बहुत बड़ी भूल कर दी विश्वास करके और एक सट्टा शकुन वाली सट्टा को बेदखल कर दो रहा जनता के दिन अच्छे दिनों की सपने देखने के साथ-साथ पूरी तरह जल चुकी है अगर बेरोजगारी दूर करनी है गरीबी दूर करनी है तो समझ भारतवासियों को एकजुट होना होगा और इन दोनों समस्याओं ओके लड़ना होगा ना कि देश के प्रधानमंत्री की 8 निर्भर के संदेश पर कि उनको दिखा दो कि हम इतने आत्मनिर्भर हैं सरकार की सत्ता को उखाड़ फेंक सकते हैं

bolkar speaker
जब तक भारत में समानता और भेदभाव खत्म नहीं हो जाता तब तक भारत में गरीबी एवं बेरोजगारी दूर नहीं हो सकती?Jab Tak Bharat Mein Samaanta Aur Bhedbhaav Khatm Nahin Ho Jaata Tab Tak Bharat Mein Gareebi Evam Berojagari Door Nahin Ho Sakti
Abhishek Shukla  Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Abhishek जी का जवाब
Motivational speaker
3:08
आपका बहुत-बहुत धन्यवाद जो आपने सुबह जी ने भी यह प्रश्न किया है कि जब तक आप भारत में जो समानता और भेदभाव खत्म नहीं हो जाता तो भारत में गरीबी और बेरोजगारी कैसे दूर हो सकती है देखें सुने और देखें क्या है कि आज के समय में जो है तो पहले के समय में क्या होता था कि ऐसा भी भेदभाव जाति वाले कीड़े की जो रिजर्वेशन थी वह नहीं थी और समानता सभी जो है चेक कर लीजिए जिसको जितना मतलब जिसमें कह लीजिए जितना ज्ञान और सद्भावना या फिर सब चीजें हैं तो उस अनुसार जो है तो अपने लीजिए कि अपने क्षेत्र में जो है तो नाम रोशन करता था लेकिन आज के समय में जो है तो सभी चीज है जो है तो भेज दो किस श्रेणी में आ चुकी है अरे चीजों में जो है तो रिजर्वेशन पाया जा रहा है जिस वजह से जो है तो जो योग्य इंसान है उसकी योग्यता को जो है तो एक कठघरे में लाकर खड़ा कर दिया जाता है और जिस से बोला जाता है कि तुम्हारा जो है योग्यता इसमें ही दर्ज की जाए दूसरे किसी कैटेगरी में तुम्हारी में जितना तेज नहीं हो सकते तो यह सभी कारण जो है दोस्तों तो एक जोग इंसान जो है जिसको बहुत ज्यादा योग्यता है तो भी वह जो है उस केटेगरी में खड़ा होता है और उसकी योग्यता को नकारा जाता है दोस्तों इस वजह से जो है तो अच्छे इंसानों का चयन नहीं हो पाता और वही इंसान जो है तो आदमी रोजगार के रूप में जो है हम देखते हैं और कहीं ना कहीं इस पर जो है तो राजनीति हमेशा चलती आ रही है कि कहीं ना कहीं सब चीजों को हटाया जाना चाहिए लेकिन फिर भी वह जानते हैं यदि इसलिए को हटाया गया तो सरकार जो है तो उनकी गिर जाएगी जिस वजह से जो है यह कभी उस पर ध्यान नहीं देते लेकिन आने वाले समय में सभी चीज ध्यान देना चाहिए क्योंकि मैं इसका सपोर्ट नहीं करता दोस्तों ना ही उसका विद्रोह करूंगा देखे क्या है कि एक अपने खुद के कहने सोच है कि हमें जो है तो अपनी योग्यता के अनुसार जो है तो पद मिलना चाहिए ना केवल यह सभी देख कर के भी हमारा समानता है या फिर क्या लेजर भेजवा है इस वजह से जो है तो काफी योग्य इंसान भी है जो आज से अपने कैरियर की किसी भी क्षेत्र में जिस क्षेत्र में काम करना चाहते थे अभी कर रहे हैं उन्हें उतनी अच्छी चलने नहीं दिया गया जो कि उसके हकदार थे ये सभी चीजें हैं जो सोचने वाली है जिससे आने वाले समय में जो है तो बदलाव की आवश्यकता है जिससे की योग्यता अच्छे अच्छे लोगों की पहचान ली जा सके और उन्हें जो है चेक देश निर्माण के लिए जो है तू योग किया जाए जो कि काफी बेहतर साबित होगा हमारे देश के विकास के लिए और हमारी युवा पीढ़ी के लिए सुमित करता हूं कि आपको बेहतर विकल्प के साथ जाए तो सुझाव मिले होंगे और ऐसे ही हमारे साथ जुड़े रहे हमेशा खुश रहे दोस्तों धन्यवाद

bolkar speaker
जब तक भारत में समानता और भेदभाव खत्म नहीं हो जाता तब तक भारत में गरीबी एवं बेरोजगारी दूर नहीं हो सकती?Jab Tak Bharat Mein Samaanta Aur Bhedbhaav Khatm Nahin Ho Jaata Tab Tak Bharat Mein Gareebi Evam Berojagari Door Nahin Ho Sakti
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:33
भारत में गरीबी एवं बेरोजगारी दूर की बात है कि भारत में समानता और भेदभाव खत्म जाना चाहिए जिससे हकीकत की बात यहां पर रोजगार के अवसर है और ज्यादा से ज्यादा मिलेंगे तभी बेरोजगारी दूर होगी और गरीबी खत्म कर बहुत होना चाहिए सभी को काम मिलना चाहिए जिससे गरीबी और बेरोजगारी दूर हो

bolkar speaker
जब तक भारत में समानता और भेदभाव खत्म नहीं हो जाता तब तक भारत में गरीबी एवं बेरोजगारी दूर नहीं हो सकती?Jab Tak Bharat Mein Samaanta Aur Bhedbhaav Khatm Nahin Ho Jaata Tab Tak Bharat Mein Gareebi Evam Berojagari Door Nahin Ho Sakti
Pt. Rakesh  Chaturvedi ( Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant | Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Pt. जी का जवाब
Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant |
3:00
नमस्कार दोस्तों प्रश्न है कि जब तक भारत में समानता और भेदभाव खत्म नहीं हो जाता तब तक भारत में गरीबी एवं बेरोजगारी दूर नहीं हो सकती दोस्तों इस में समानता लिखा हुआ है तो और समानता यह सही वो सब धोना चाहिए कि साथ दोस्तों को बताना चाहता हूं कि हमारे में बहुत प्रकार की समानता है भारत में व्याप्त है और सबसे जो बड़ा और समानता है वह आए क्या समानता है खाने को नहीं है दूसरे के पास पिकनिक के लिए काफी है किसी व्यक्ति के पास चलने के लिए नहीं जाने के लिए साधन नहीं है तो किसी के पास 5 गाड़ियां हैं तो दोस्तों ये आए क्या समानता जब तक सरकार खत्म करने में सक्षम नहीं हो पाती है यह पूर्ण रूप से तो खत्म नहीं हो सकता है लेकिन जो आय की असमानता है जो गरीबी और अमीरी में खाई उसको कम किया जा सकता है तो यह जब तक हम नहीं होगा तो दोस्तों भारत आगे नहीं बढ़ सकता और भेदभाव की बात है तो दोस्तों भेदभाव रंग से जागते भेदभाव कर के राजनीतिक पार्टियां वाले लाभ उठा रहे हैं तो दोस्ती खत्म होगी या कम होगी तो निश्चित रूप से गरीबी भी कम होगी बड़े दुख की बात है कि आज रिचार्ज कराता है तो 18% जीएसटी देना पड़ता है और 1000 का व्यक्ति भी रिचार्ज कराता तो 18 पर्सेंट जीएसटी देता है तो सरकार को सोचना चाहिए सरकार को बीच में गरीबों के लिए सोचना चाहिए कुछ ब्रेकर लगाने चाहिए तभी गरीबी दूर हो सकती है वो जब गरीबी दूर होगी तो निश्चित रूप से विरोध गाड़ी भी कुछ कम होने लग जाती है क्योंकि आप गरीबी पर अंकुश लगाते हैं जब गरीबों की प्रति व्यक्ति आय बढ़ने लग जाती है तो कोई ना कोई वह भी काम करता है हो सकता है कि बार छोटा-मोटा काम भी करें और उसमें सफल हो और लोगों को रोजगार भी दे सकता है मानता ज्यादा नहीं रहती है हर बच्चे को पढ़ने का मौका मिलेगा वह भी रोजगार प्राप्त कर सकता है तो दोस्तों यह बहुत ही चिंता का विषय है कि हमारे भारत में तीव्र गति से आय की असमानता बहुत तेजी से बढ़ती जा रही है उसके दुष्परिणाम भी नजर आते जा रहे हैं लूट हत्याएं हो रही है पैसे के लिए लोगे दो ₹200000 चुरा ले जाते हैं लेकिन उसकी पर्ची पर इतनी बढ़ चुकी है कि उसकी सरकारी आए हैं बहुत लोगों की या व्यापार से आए हैं वह कंप्लेंट तक नहीं लिख पाता है कोई चिंता का विषय है दोस्तों हमें सभी को समाज में रहना है तो सरकार को इसके बारे में कदम उठाना चाहिए यह तो आरक जगता जल्द ही फैल सकती है धन्यवाद
Namaskaar doston prashn hai ki jab tak bhaarat mein samaanata aur bhedabhaav khatm nahin ho jaata tab tak bhaarat mein gareebee evan berojagaaree door nahin ho sakatee doston is mein samaanata likha hua hai to aur samaanata yah sahee vo sab dhona chaahie ki saath doston ko bataana chaahata hoon ki hamaare mein bahut prakaar kee samaanata hai bhaarat mein vyaapt hai aur sabase jo bada aur samaanata hai vah aae kya samaanata hai khaane ko nahin hai doosare ke paas pikanik ke lie kaaphee hai kisee vyakti ke paas chalane ke lie nahin jaane ke lie saadhan nahin hai to kisee ke paas 5 gaadiyaan hain to doston ye aae kya samaanata jab tak sarakaar khatm karane mein saksham nahin ho paatee hai yah poorn roop se to khatm nahin ho sakata hai lekin jo aay kee asamaanata hai jo gareebee aur ameeree mein khaee usako kam kiya ja sakata hai to yah jab tak ham nahin hoga to doston bhaarat aage nahin badh sakata aur bhedabhaav kee baat hai to doston bhedabhaav rang se jaagate bhedabhaav kar ke raajaneetik paartiyaan vaale laabh utha rahe hain to dostee khatm hogee ya kam hogee to nishchit roop se gareebee bhee kam hogee bade dukh kee baat hai ki aaj richaarj karaata hai to 18% jeeesatee dena padata hai aur 1000 ka vyakti bhee richaarj karaata to 18 parsent jeeesatee deta hai to sarakaar ko sochana chaahie sarakaar ko beech mein gareebon ke lie sochana chaahie kuchh brekar lagaane chaahie tabhee gareebee door ho sakatee hai vo jab gareebee door hogee to nishchit roop se virodh gaadee bhee kuchh kam hone lag jaatee hai kyonki aap gareebee par ankush lagaate hain jab gareebon kee prati vyakti aay badhane lag jaatee hai to koee na koee vah bhee kaam karata hai ho sakata hai ki baar chhota-mota kaam bhee karen aur usamen saphal ho aur logon ko rojagaar bhee de sakata hai maanata jyaada nahin rahatee hai har bachche ko padhane ka mauka milega vah bhee rojagaar praapt kar sakata hai to doston yah bahut hee chinta ka vishay hai ki hamaare bhaarat mein teevr gati se aay kee asamaanata bahut tejee se badhatee ja rahee hai usake dushparinaam bhee najar aate ja rahe hain loot hatyaen ho rahee hai paise ke lie loge do ₹200000 chura le jaate hain lekin usakee parchee par itanee badh chukee hai ki usakee sarakaaree aae hain bahut logon kee ya vyaapaar se aae hain vah kamplent tak nahin likh paata hai koee chinta ka vishay hai doston hamen sabhee ko samaaj mein rahana hai to sarakaar ko isake baare mein kadam uthaana chaahie yah to aarak jagata jald hee phail sakatee hai dhanyavaad

bolkar speaker
जब तक भारत में समानता और भेदभाव खत्म नहीं हो जाता तब तक भारत में गरीबी एवं बेरोजगारी दूर नहीं हो सकती?Jab Tak Bharat Mein Samaanta Aur Bhedbhaav Khatm Nahin Ho Jaata Tab Tak Bharat Mein Gareebi Evam Berojagari Door Nahin Ho Sakti
Ganga Asati Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ganga जी का जवाब
Unknown
0:32
भारत में सम्मान समिति द्वारा खत्म नहीं हो जाता तब तक भारत में गरीबी व बेरोजगारी भी हो सकती थी सही बातें समांतर समांतर माध्य माध्यमिक शिक्षा के सामान्य घर पर बैठा जाता है

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • भारत से गरीबी कैसे दूर करें, भारत में इतनी गरीबी क्यों है,
URL copied to clipboard