#undefined

bolkar speaker

गर्मियों में जल संरक्षण के लिए घरेलू तथा राष्ट्रीय उपाय क्या है?

Garmiyo Mein Jal Sanrakshan Ke Liye Gharelu Tatha Raashtriy Upaay Kya Hai
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:53
हेलो एवरीवन स्वागत है आपका आपका तस्वीर गरिमा में जल संरक्षण के लिए घरेलू तथा राष्ट्रीय उपाय क्या है तो फ्रेंड्स गर्मियों में जल संरक्षण के लिए आपको जो लोग इस इस्तेमाल करते हैं तो ऐसी के पाइप से जो पानी निकलता है तो उस पानी को आप बाथरूम में इस्तेमाल की कर लीजिए ठीक है नहीं और आप को थोड़ा-थोड़ा पानी इस्तेमाल करना है ज्यादा पानी आपको गर्मियों में नहीं बहाना चाहिए और आप लोग बाल्टी में पानी भरकर स्नान कीजिए आप लोग को हारा चालू करके नानाइए उससे पानी बहुत बसता है पार्टी में भरकर ही काम करिए और डायरेक्ट सहारा चैनल चलाकर आपको काम नहीं करना है बाकी में भरकर काम कीजिए तो काफी सारा पानी बचेगा और जब बारिश होगी तो बारिश का पानी बचाने के लिए भी हमें उपाय करना चाहिए और नदी तालाबों में बारिश का पानी रोकना चाहिए धन्यवाद

और जवाब सुनें

bolkar speaker
गर्मियों में जल संरक्षण के लिए घरेलू तथा राष्ट्रीय उपाय क्या है?Garmiyo Mein Jal Sanrakshan Ke Liye Gharelu Tatha Raashtriy Upaay Kya Hai
TechVR ( Vikas RanA) Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए TechVR जी का जवाब
IT Professional
4:32
हेलो दुकान आई होप आप सब ठीक होंगे प्रश्न पूछा गनीमत यह गर्मियों में जल से जल संरक्षण के लिए घरेलू तथा राज्य उपाय क्या है जिसने भी यह क्वेश्चन पूछा है बहुत इंपोर्टेंट प्रश्न पर प्रश्न को पूछने के लिए धन्यवाद किया गया इसके बारे में बात करें तो देखिए 21वीं सदी में के पहले दशक में पूरे विश्व में अगर हम दृष्टि डालें तो यह सत्य है और सत्य भरता आ रहा है कि पूरे पूरे देश में पूरी मानवता में कई प्रतियोगिताओं से जूझ रही है अभी पर भारी कभी बाहर कभी जल समुद्री तूफान कभी भूकंप पर कभी महामारी तो कभी जल संकट से पूरी मानवता जो है त्रस्त बढ़ती आबादी के कारण सामने सबसे बड़ा संकट के रूप में जल की कमी ही उभर रही है पर्यावरण के साथ निरंतर खिलवाड़ का हमारे द्वारा तलवार का यह नतीजा है कि आज पूरी जनसंख्या हेतु पर्याप्त पेयजल के संकट से पूरा विश्व को जरा भारत में उपलब्ध जल संसाधनों की दृष्टि का आकलन है गर्म करें तो हमारे काम नहीं जाता है कि 2000 में प्रति व्यक्ति 18 से 3 मीटर पानी का कथा जोगी 2050 में 50 सीटें घटकर 1000 के बीच मेट्रो हो जाएगा भारत इस समय कृषि उपयोग हेतु तथा पेयजल के संकट से गुजर रहा है और यह संकट हमारे वैश्विक स्तर पर बहुत साफ साफ दिखाई दे रहा है हर विकसित और विकासशील देश के संकट को दूर करने हेतु उपाय पर एक जगह काफी विचार-विमर्श चल रहा है इस संकट के निवारण हेतु हमें तीन स्तरों पर विचार करना होगा पहले यह कि अब तक हम जल का उपयोग किस तरह से करते थे दूसरा कि भविष्य में कैसे करना है जल का संरक्षण हेतु क्या कदम उठाएं पूरी स्थिति पर नजर डालें तो यह तस्वीर उभरती है कि कभी अभी तक हम जल का उपयोग अनुशासित ढंग से ही करता रहता जरूरत से ज्यादा जल का नुकसान करते हैं संरक्षण की व्याकुलता रहने की स्थिति में जल संरक्षण हेतु कई कदम उठाने होंगे जैसे कि हर नागरिक में जल संरक्षण हेतु जागरूकता लानी होगी हर नागरिक शावर में जगह बाल्टी भर कर पानी का स्नान करें सेविंग करते समय नेट बंद रखें बर्तन धोते समय ना स्थान पर टर्म का प्रयोग करें कि उत्तराखंड के अनुसार टॉयलेट में लगी सूरज की टंकी को प्लास्टिक की बोतल में पानी भर कर रख देने से 1 लीटर जल बचाया जा सकता गांव और शहरों में पहले तालाबों के जल में जल एकत्रित योजना केवल पाकिस्तान के पास बचा रखने के लिए बल्कि जाने के उपयोग में काम आता आज गांव शहरों में तालाबों को पाटकर जो है जाने को तोड़कर बना दिए गए हैं सुरक्षा हेतु चारों में तलाब जो खोदे जा रहे हैं गंदे जल का सिंचाई में उपयोग करके जल सरक्षण किया जा सकता है वर्षा का जल छत पर सुरक्षा कर उसका उपयोग करना इसलिए छत पर टंकी पानी बनाना होगा साथ में स्थल पर नल टूटे अक्सर खराब रहती है उसके मोहम्मद कर लोगों को जागरूक लगा हजारों लीटर पानी को संरक्षित किया जा सकता है पर्यावरण के प्रति जागरूक जरूरी है क्योंकि पर्यावरण संतुलन के सकारात्मक प्रभाव जल संरक्षण पर पड़ता है करते वृक्षों के कारण भूमि की नमी लगातार कम हो रही है जिससे गुंजल जो कि नीचे का पानी स्तर पर बहुत बुरा असर पड़ रहा है और यह बहुत जरूरी है कि वृक्षारोपण कार्यक्रम की तो बहुत ज्यादा जागरूकता लाकर जाए नदियों के जल को गंदा पानी कभी नहीं छोड़ना चाहिए जरूरत होने पर जल का प्रयोग करें उपयोग किया जा सकता है होटल संरक्षण विषय में व्यापक अभियान की तरह सरकारी और गैर सरकारी दोनों स्तरों पर इसके प्रचार होना बहुत जरूरी है जैसे छोटे बड़े सभी विषय गंभीरता से संबंध थे और इस अभियान को मौका देकर जल संरक्षण हेतु सरकार को जल्द ही सरकार जहां अच्छा कोई बढ़िया कानून बनाए विद्यालयों और महाविद्यालयों में हुई इसका निरंतर प्रचार-प्रसार होना बहुत जरूरी है जिसे आने वाली पीढ़ी इस चीज की महत्वता को समझे और इस चीज को तर्क ज्यादा अग्रसर हो जल संरक्षण हेतु रेन वाटर हार्वेस्टिंग तकनीक का सहारा लेना चाहिए जो कि यह तकनीक पानी की कमी नहीं सके मैं देखा कि इस तकनीक से इतना जल्दी खत्म हो जाता दूसरे स्रोतों की आवश्यकता ही नहीं पड़ती है बाकी बहुत सारे और भी इस चीज के लेकिन बाकी मेन है जागरूकता बहुत जरूरी है जब तक हम खुद नहीं समझेंगे तो हम दूसरों को इस चीज के बारे में नहीं समझा पाएंगे नहीं तो हमारी आने वाली पीढ़ियां बिना जलके रहेंगे और इस पृथ्वी पर सिर्फ और सिर्फ जो है हम तड़प आएंगे इस चीज के लिए और पछताएंगे कि उस समय अगर हम इस चीज को रोका होता तो जो है इतना बुरा समय हमें नहीं देखना पड़ता आशा करता हूं आपको आपके सवाल का जवाब मिल गया होगा और आप भी सिर्फ को अपनी तरफ से कदम उठाएंगे जो कि हमारे आने वाली पीढ़ी और हमारे लिए काफी अच्छा रहेगा धन्यवाद लाइक और सब्सक्राइब करें धन्यवाद
Helo dukaan aaee hop aap sab theek honge prashn poochha ganeemat yah garmiyon mein jal se jal sanrakshan ke lie ghareloo tatha raajy upaay kya hai jisane bhee yah kveshchan poochha hai bahut importent prashn par prashn ko poochhane ke lie dhanyavaad kiya gaya isake baare mein baat karen to dekhie 21veen sadee mein ke pahale dashak mein poore vishv mein agar ham drshti daalen to yah saty hai aur saty bharata aa raha hai ki poore poore desh mein pooree maanavata mein kaee pratiyogitaon se joojh rahee hai abhee par bhaaree kabhee baahar kabhee jal samudree toophaan kabhee bhookamp par kabhee mahaamaaree to kabhee jal sankat se pooree maanavata jo hai trast badhatee aabaadee ke kaaran saamane sabase bada sankat ke roop mein jal kee kamee hee ubhar rahee hai paryaavaran ke saath nirantar khilavaad ka hamaare dvaara talavaar ka yah nateeja hai ki aaj pooree janasankhya hetu paryaapt peyajal ke sankat se poora vishv ko jara bhaarat mein upalabdh jal sansaadhanon kee drshti ka aakalan hai garm karen to hamaare kaam nahin jaata hai ki 2000 mein prati vyakti 18 se 3 meetar paanee ka katha jogee 2050 mein 50 seeten ghatakar 1000 ke beech metro ho jaega bhaarat is samay krshi upayog hetu tatha peyajal ke sankat se gujar raha hai aur yah sankat hamaare vaishvik star par bahut saaph saaph dikhaee de raha hai har vikasit aur vikaasasheel desh ke sankat ko door karane hetu upaay par ek jagah kaaphee vichaar-vimarsh chal raha hai is sankat ke nivaaran hetu hamen teen staron par vichaar karana hoga pahale yah ki ab tak ham jal ka upayog kis tarah se karate the doosara ki bhavishy mein kaise karana hai jal ka sanrakshan hetu kya kadam uthaen pooree sthiti par najar daalen to yah tasveer ubharatee hai ki kabhee abhee tak ham jal ka upayog anushaasit dhang se hee karata rahata jaroorat se jyaada jal ka nukasaan karate hain sanrakshan kee vyaakulata rahane kee sthiti mein jal sanrakshan hetu kaee kadam uthaane honge jaise ki har naagarik mein jal sanrakshan hetu jaagarookata laanee hogee har naagarik shaavar mein jagah baaltee bhar kar paanee ka snaan karen seving karate samay net band rakhen bartan dhote samay na sthaan par tarm ka prayog karen ki uttaraakhand ke anusaar toyalet mein lagee sooraj kee tankee ko plaastik kee botal mein paanee bhar kar rakh dene se 1 leetar jal bachaaya ja sakata gaanv aur shaharon mein pahale taalaabon ke jal mein jal ekatrit yojana keval paakistaan ke paas bacha rakhane ke lie balki jaane ke upayog mein kaam aata aaj gaanv shaharon mein taalaabon ko paatakar jo hai jaane ko todakar bana die gae hain suraksha hetu chaaron mein talaab jo khode ja rahe hain gande jal ka sinchaee mein upayog karake jal sarakshan kiya ja sakata hai varsha ka jal chhat par suraksha kar usaka upayog karana isalie chhat par tankee paanee banaana hoga saath mein sthal par nal toote aksar kharaab rahatee hai usake mohammad kar logon ko jaagarook laga hajaaron leetar paanee ko sanrakshit kiya ja sakata hai paryaavaran ke prati jaagarook jarooree hai kyonki paryaavaran santulan ke sakaaraatmak prabhaav jal sanrakshan par padata hai karate vrkshon ke kaaran bhoomi kee namee lagaataar kam ho rahee hai jisase gunjal jo ki neeche ka paanee star par bahut bura asar pad raha hai aur yah bahut jarooree hai ki vrkshaaropan kaaryakram kee to bahut jyaada jaagarookata laakar jae nadiyon ke jal ko ganda paanee kabhee nahin chhodana chaahie jaroorat hone par jal ka prayog karen upayog kiya ja sakata hai hotal sanrakshan vishay mein vyaapak abhiyaan kee tarah sarakaaree aur gair sarakaaree donon staron par isake prachaar hona bahut jarooree hai jaise chhote bade sabhee vishay gambheerata se sambandh the aur is abhiyaan ko mauka dekar jal sanrakshan hetu sarakaar ko jald hee sarakaar jahaan achchha koee badhiya kaanoon banae vidyaalayon aur mahaavidyaalayon mein huee isaka nirantar prachaar-prasaar hona bahut jarooree hai jise aane vaalee peedhee is cheej kee mahatvata ko samajhe aur is cheej ko tark jyaada agrasar ho jal sanrakshan hetu ren vaatar haarvesting takaneek ka sahaara lena chaahie jo ki yah takaneek paanee kee kamee nahin sake main dekha ki is takaneek se itana jaldee khatm ho jaata doosare sroton kee aavashyakata hee nahin padatee hai baakee bahut saare aur bhee is cheej ke lekin baakee men hai jaagarookata bahut jarooree hai jab tak ham khud nahin samajhenge to ham doosaron ko is cheej ke baare mein nahin samajha paenge nahin to hamaaree aane vaalee peedhiyaan bina jalake rahenge aur is prthvee par sirph aur sirph jo hai ham tadap aaenge is cheej ke lie aur pachhataenge ki us samay agar ham is cheej ko roka hota to jo hai itana bura samay hamen nahin dekhana padata aasha karata hoon aapako aapake savaal ka javaab mil gaya hoga aur aap bhee sirph ko apanee taraph se kadam uthaenge jo ki hamaare aane vaalee peedhee aur hamaare lie kaaphee achchha rahega dhanyavaad laik aur sabsakraib karen dhanyavaad

bolkar speaker
गर्मियों में जल संरक्षण के लिए घरेलू तथा राष्ट्रीय उपाय क्या है?Garmiyo Mein Jal Sanrakshan Ke Liye Gharelu Tatha Raashtriy Upaay Kya Hai
Shivangi Dixit.  Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Shivangi जी का जवाब
Unknown
0:27
गलियों में जल संरक्षण के लिए घरेलू सबसे पुराना और सबसे अच्छा उपाय बताया गया है कि जलाशयों का निर्माण करें जहां पर आने के समय समय पर छोड़ा जाएगा उनका यूज़ किया जाए इसलिए जो है वह चाहे छोटे हो या बड़े रूप में होटल संग्रह का निर्माण करें और जब बारिश होती तो वर्षा जल का संरक्षण वह बहुत ज्यादा जरूरी होता है
Galiyon mein jal sanrakshan ke lie ghareloo sabase puraana aur sabase achchha upaay bataaya gaya hai ki jalaashayon ka nirmaan karen jahaan par aane ke samay samay par chhoda jaega unaka yooz kiya jae isalie jo hai vah chaahe chhote ho ya bade roop mein hotal sangrah ka nirmaan karen aur jab baarish hotee to varsha jal ka sanrakshan vah bahut jyaada jarooree hota hai

bolkar speaker
गर्मियों में जल संरक्षण के लिए घरेलू तथा राष्ट्रीय उपाय क्या है?Garmiyo Mein Jal Sanrakshan Ke Liye Gharelu Tatha Raashtriy Upaay Kya Hai
shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
1:21
हैरिदान तो आज आप का सवाल है कि गर्मियों में जल संरक्षण के लिए घरेलू तथा राष्ट्र उपाय क्या है तो देखिए हम सबको पता है कि जो मतलब बहुत जल्दी रेपिडली खत्म हो रहा है वह चीज अगर खत्म हो जाए तो हमारे वतन हमारा लाइफ क्या होगा हम कैसे मतलब जिंदा ही नहीं रह सकते पानी की बात करें पेड़ पौधे की बात करें तो यह सब चीजों की बिना हमें हम सफाई कर ही नहीं सकता मुमकिन है तो इसे कंजर करना और बचा कर रखना सेट करना बहुत बहुत ज्यादा जरूरी है बचपन से ही हम लोग जब छोटे थे तब से हम सब लोगों ने बदला भी पढ़ कर आया है कि मतलब कंजर करना कंजर्वेशन कितना जरूरी होता है पानी की बात करें तो हमें पता है कि पानी हमारे बेसिक नीड्स जरूरत है उसके बिना कोई भी मनुष्य कोई दिन में हो जाएगा हर एक दूसरे से स्कूल के समय पर भी एक ही जब भी बारिश आ रहा हो तो दुख होता है जो छत होता है वहां पर अगर हम जो टाइम है वह खोल देते हैं क्या फेसबुक हुआ है वहां पर उसे उस वक्त जोर मत लगाओ खोल देते या फिर कोई कंटेनर में पानी को बचा कर रखते तो जब भी गर्मी का मौसम या फिर पानी की कमी हो तो उसी पानी को इस्तेमाल कर सकते हैं
Hairidaan to aaj aap ka savaal hai ki garmiyon mein jal sanrakshan ke lie ghareloo tatha raashtr upaay kya hai to dekhie ham sabako pata hai ki jo matalab bahut jaldee repidalee khatm ho raha hai vah cheej agar khatm ho jae to hamaare vatan hamaara laiph kya hoga ham kaise matalab jinda hee nahin rah sakate paanee kee baat karen ped paudhe kee baat karen to yah sab cheejon kee bina hamen ham saphaee kar hee nahin sakata mumakin hai to ise kanjar karana aur bacha kar rakhana set karana bahut bahut jyaada jarooree hai bachapan se hee ham log jab chhote the tab se ham sab logon ne badala bhee padh kar aaya hai ki matalab kanjar karana kanjarveshan kitana jarooree hota hai paanee kee baat karen to hamen pata hai ki paanee hamaare besik needs jaroorat hai usake bina koee bhee manushy koee din mein ho jaega har ek doosare se skool ke samay par bhee ek hee jab bhee baarish aa raha ho to dukh hota hai jo chhat hota hai vahaan par agar ham jo taim hai vah khol dete hain kya phesabuk hua hai vahaan par use us vakt jor mat lagao khol dete ya phir koee kantenar mein paanee ko bacha kar rakhate to jab bhee garmee ka mausam ya phir paanee kee kamee ho to usee paanee ko istemaal kar sakate hain

bolkar speaker
गर्मियों में जल संरक्षण के लिए घरेलू तथा राष्ट्रीय उपाय क्या है?Garmiyo Mein Jal Sanrakshan Ke Liye Gharelu Tatha Raashtriy Upaay Kya Hai
Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
1:20
मतवाले गर्मियों में जल संरक्षण के लिए घरेलू तथा राष्ट्रीय उपाय क्या है दोस्तों यदि जल संरक्षण करना चाहते हैं जरूरी नहीं कि गर्मी में भी सर्दी हो जल संरक्षण

bolkar speaker
गर्मियों में जल संरक्षण के लिए घरेलू तथा राष्ट्रीय उपाय क्या है?Garmiyo Mein Jal Sanrakshan Ke Liye Gharelu Tatha Raashtriy Upaay Kya Hai
Ganga Asati Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ganga जी का जवाब
Unknown
0:19
जल संरक्षण के लिए घरेलू तथा राष्ट्रीय उपाय बताएं घरेलू उपाय नहीं किया फोन को तमीज नहीं है या फिर जहां पर भी आपके बस सुविधा है वहां पर एकत्रित करके रखें राष्ट्रपति मूवी टिकट कितना भी चलते कम हिंदी एकदम भरपूर मात्रा में ना देनी तो भेज दूंगा
Jal sanrakshan ke lie ghareloo tatha raashtreey upaay bataen ghareloo upaay nahin kiya phon ko tameej nahin hai ya phir jahaan par bhee aapake bas suvidha hai vahaan par ekatrit karake rakhen raashtrapati moovee tikat kitana bhee chalate kam hindee ekadam bharapoor maatra mein na denee to bhej doonga

bolkar speaker
गर्मियों में जल संरक्षण के लिए घरेलू तथा राष्ट्रीय उपाय क्या है?Garmiyo Mein Jal Sanrakshan Ke Liye Gharelu Tatha Raashtriy Upaay Kya Hai
satish kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए satish जी का जवाब
Student
0:29
गाड़ी में जल संरक्षण के लिए घरेलू तथा राष्ट्रीय उपाय क्या क्वेश्चन पूछा गया तो गर्मियों के समय में अगर हम जल संरक्षण के बाद काम कई तरीकों से जुड़े गर्मियों में हम जल संरक्षण कर सकते हैं क्या आता है कि गर्मियों के समय में कभी-कभी जगह पर बारिश हो तो बारिश के पानी को हमेशा विरोध से इकट्ठा करके हम जल संरक्षण कर सकते हैं और यह जो है ना राष्ट्रीय स्तर पर भी हम इसे व्यापक रूप से उम्मीद कर सकते हैं

bolkar speaker
गर्मियों में जल संरक्षण के लिए घरेलू तथा राष्ट्रीय उपाय क्या है?Garmiyo Mein Jal Sanrakshan Ke Liye Gharelu Tatha Raashtriy Upaay Kya Hai
Er.Awadhesh kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 66
सुनिए Er.Awadhesh जी का जवाब
Unknown
3:07
है कि गर्मियों में जल संरक्षण के लिए घरेलू तथा राष्ट्रीय उपाय क्या है गर्मियों में हम जल संरक्षण के कई उपाय हैं जैसे क्या है कि पानी पीते समय गिलास को झूठा ना करें मतलब हम क्लास में झूठा नहीं करेंगे तो उसे धोने की जो आवश्यकता पड़ेगी और नहीं होगी सुबह मग में पानी लेकर आधा लीटर पानी से हम मंजन कर सकते हैं इसके अलावा हम नहाने के समय हम अगर मग सेना है तो 20 से 30 लीटर में बहुत आराम से अपना सकते हैं उसके साथ साथ हम फालतू की जो पानी ज्यादा बहाते हैं ज्यादा नुकसान करते हैं उसे रोके हमें उतना ही पानी की आवश्यकता करनी चाहिए जितना कि हमें जरूरत हो उससे ज्यादा हमें यूज नहीं करता नाचे कभी-कभी हम किसानों को देखेंगे कि पानी इन्हीं खोल के खेत में चले और पानी में क्या करता है कहीं गटर लाइन में या कहीं वहां पर बड़े-बड़े पोखरे होते हैं वहां पर पानी निकल जाता है और वह बाद में जाते हैं तो तब बहुत सारा पानी निकल जाता कहीं ना कहीं एक नुकसान होता है जिससे जनसमर्थन से हमें क्या फायदे हैं इससे हमारे जीवन में बहुत सारे फायदे हर दिन पानी का हम उपयोग करते हैं कृषि उगाने में मदद करेगा हमारी जो पारिस्थितिकी तंत्र है वह निजी जीवन की हम रक्षा कर सकते हैं इसके साथ-साथ कम पानी का उपयोग का मतलब है अधिक हम बचत करेंगे जब अधिक पानी की बचत करेंगे तू जिसे जरूरत होगी उसे हम क्या कर सकते हैं वह पानी दे सकते हैं इसे पानी की आपूर्ति सीमित करनी चाहिए पानी संरक्षण करने से हम क्या करेंगे ऊर्जा की बचत भी करेंगे श्याम समरसेबल से पानी लेते हैं तो हम क्या करेंगे जितना कम पानी यूज करेंगे उतना ही कम हमारे समर्सिबल चलेगा तो इस वजह से हमें इसका लाभ होगा उसी साथ साथ हम घरेलू कामकाज के लिए जल बचा बचा सकते हैं वह क्या करेंगे हम उस पानी को कपड़े कपड़े कपड़े साफ करने के लिए खाना पकाने के लिए घर घर साफ करने के लिए लाने के लिए हम यूज कर सकते हैं बड़े-बड़े जो कल कारखाने हैं उसमें क्या होता है कि जल स्वच्छ जल का इस्तेमाल इस्तेमाल कर क्या करता है बर्बाद करते हैं तो इसमें भी हम क्या करते हैं कि बहुत ज्यादा जल की आपूर्ति कर देते हैं और अमीर सुजल नहीं मिल पाता है और कई जगह पर देखा गया है जहां पर पानी की बहुत ज्यादा किल्लत होती है जहां बहुत ज्यादा परेशानी होती है जैसे आप अभी चले जाइए मुंबई में दिल्ली में कैसी जगह है जिस जिस में क्या है कि आपके लिए पानी की बहुत कमी होती जिस पानी से आप एक बोतल खरीदते हैं तो उसी पानी से आपको सब कुछ करना पड़ता है कभी-कभी ऐसा होता है कि जिस पानी से लोग नहाते हैं उसे इकट्ठा करके वह कपड़े धोने के काम में लेते क्यों क्यों नहीं पानी की वैल्यू पता रहती है जहां पर गांव में देखे बहुत ज्यादा पानी बर्बाद होता है हमें पानी का संरक्षण करना चाहिए और घरेलू चीजों में हमें उसे इस्तेमाल करना चाहिए

bolkar speaker
गर्मियों में जल संरक्षण के लिए घरेलू तथा राष्ट्रीय उपाय क्या है?Garmiyo Mein Jal Sanrakshan Ke Liye Gharelu Tatha Raashtriy Upaay Kya Hai
Harender Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Harender जी का जवाब
As School administration & Principal
1:08
रेडमी में जल संरक्षण के घरेलू तथा राष्ट्रीय पानी के पीने का पानी ही नहीं होगा तो क्या संरक्षण करो अक्षरों में रहकर के अवशेष बुलगारी कर लो कभी आप मध्य प्रदेश के अन्य इलाकों में महाराष्ट्र का कर्ज़ का इलाकों में हो जहां पर एक एक बूंद के लिए लोग तरस जाते हैं तो निश्चित तौर पर अपनी ग्रामीण क्षेत्रों में जल के स्रोत तालाबों में बावरिया हैं उन सब को खाली रखना पड़ेगा खोजना पड़ेगा ताकि वर्षा का पानी में होते जो नल के माध्यम से या जो पोर्टल के माध्यम से पानी कब हम निकाल कर के बेस्ट करते उसको रोकना होगा और कहीं भेजो घरों में हम पानी का इस्तेमाल करते हैं उसको भी सीमित करना होगा तभी हम बच पाएंगे नहीं तो नहीं बच पाएंगे

bolkar speaker
गर्मियों में जल संरक्षण के लिए घरेलू तथा राष्ट्रीय उपाय क्या है?Garmiyo Mein Jal Sanrakshan Ke Liye Gharelu Tatha Raashtriy Upaay Kya Hai
DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
1:52
फिल्मों में जल संरक्षण की डिटेल महाराज की वाइफ की गर्मी में वर्षा की संभावना होती है होती है ऐसी स्थिति में अगर सभी लोग अपने घरों के आसपास छोटे छोटे गड्ढे खोदने का तालाब बनाने के पदों पर छोटे-छोटे टैंक बनाने वाली वोटिंग प्लास्टिक पेपर सीमेंटेड की बनी है अनलिमिटेड राजस्थानी सेक्सी चुदाई पानी का उपयोग करें पानी को सेक्स करके पीने के लिए या अन्य उपयोग के लिए कैसे घर की सफाई के लिए कपड़ों की धुलाई के लिए पौधों की सिंचाई के लिए अगर इस तरह घरेलू स्तर पर अनिवार्य है पुनीता मानिक इस तरह की संसाधनों को जोर आता है तो निश्चित रूप से जो है पानी से क्या चंद्र अच्छा दोनों एक ही क्लास वीर जवानों को साफ करना चाहिए और साफ करने के लिए और उसके ट्रिक बड़े-बड़े जो हैं खाना बनाने चाहिए आर्टिफिशियल तलाब बनानी चाहिए कि नहीं बनानी चाहिए क्या वर्षा के जल को संरक्षित करके उनका उपयोग विभिन्न रूप से किया जा सके मनोनीत उपयोग के लिए और उद्योगों के उपयोग के लिए और कैसी के उपयोग के लिए

bolkar speaker
गर्मियों में जल संरक्षण के लिए घरेलू तथा राष्ट्रीय उपाय क्या है?Garmiyo Mein Jal Sanrakshan Ke Liye Gharelu Tatha Raashtriy Upaay Kya Hai
Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
2:36
सोने की गर्मियों में जा शिक्षण के लिए घरेलू तथा राष्ट्रीय उपाय क्या है तो गर्मियों में कम से कम 5 महीनों के लिए सुरक्षित पानी हमेशा उपलब्ध कराना चाहिए जिसके लिए हमें घरेलू और सामुदायिक स्तर पर कहीं उपाय संभव है जैसे हम बरसात का पानी खड़ा करना चाहिए घरेलू स्तर पर उपाय इस प्रकार कर सकते हैं जिससे यह तो आपको ज्ञात है कि राजस्थान के अन्य राज्यों में कम वर्षा होती हैं जिससे फल चारु पूरे वर्ष में पर्याप्त जल की आपूर्ति नहीं हो पाती इसके अधिकांश वर्षा जल को वेस्ट में बांधने देते हैं पानी को इस कमी को हम अपने प्रयासों में काफी हद तक पूरी कर सकते हैं जैसे छत से बरसात के पानी को बैठने बहने दे वर्षा काल में छात्रों की सफाई करें तथा शब्दों के ढलान वाली और पाएं लगाकर या पानी टंकी अकाउंट अकाउंट में संगीत करें मकान की छत पक्की नहीं हो तो खेतिया खुले मैदान में ठनका बनाकर पानी कटा कर सकते हैं यदि लंका बनाना संभव है तो मुर्गा जली यानी कि टाकाया पलसा ट्रेंस तेमाल करें यदि राजस्थान में होने वाले नंबर 7 में एक पक्के मकान की छत लगभग 25 वर्ग किलोमीटर में इतना पानी संगठित हो सकते हो सकता है जिससे 10 लोगों के प्रिय और को 200 से ज्यादा दिनों तक खाना पकाने में पीने के लिए आवश्यकता पूर्ति होती है बोल दूध की कीमतें घरेलू उपाय आप इस प्रकार कर सकते हैं कि आप स्वयं पानी बचाएं अपने आसपास के लोगों को भी इसके लिए प्रेरित करें उन्नति आधुनिक संस्था स्वस्थ स्वच्छ शौचालय वीआईपी उपयोग में ले जाने पानी की बहुत कम आवश्यकता पड़ती है जहां तक संभव हो 9 या जाने में पानी को या सब्जी की कुड़ियां या पेड़ पौधे के लिए इस्तेमाल करें पानी में प्रदूषण के कारण से संभव होते हैं जैसे वर्षा ने एक बार पानी को नमूने की जांच के लिए राजस्थान के जन स्वास्थ्य विभाग की जांच करवा कर पानी पीने से मनुष्य के लिए सुरक्षित हैं

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • जल संरक्षण के उपाय एवं प्रकार, जल संरक्षण के उपयोग, जल संरक्षण के उपयोग का विवरण दीजिए
URL copied to clipboard