#undefined

bolkar speaker

एक ट्रेन में आपके द्वारा अनुभव किए गए कुछ सबसे असहज अनुभव क्या है?

Ek Train Mein Aapke Dwara Anubhav Kiye Gaye Kuchh Sabse Asahaj Anubhav Kya Hai
shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
1:55
हेलो जी गाना तो आज आप का सवाल है कि एक प्लेन में आपके द्वारा अनुभव किए गए तो सबसे अच्छा है जानू क्या करते समय के अनुसार एक्सपीरियंस इंसान को मतलब मिलता है चाहे वह फंक्शन एक्सपीरियंस हो या फिर बहुत सारी रात करते हैं आप सब लोग सो रहे हो और फिर अगर आप गलती से भी डाउन हो जाता है फिर कोई वजह से आपको जाना हो सके तो आप लाइट ऑन करके तो बहुत ज्यादा डिस्टर्ब हो जाते चीनी लगते हैं इंसान मतलब जो चाहिए वह इसीलिए इतना पैसा लगाया था क्यों अच्छे से सो सके अच्छे से रेस्ट कर सके नो डाउट यह अच्छी भी चीज देखी है रेस्ट करना चाहिए लेकिन अगर कोई किसी को किसी चीज के लिए रखा फ्लैशलाइट ऑन कर रहा है तो यह कंपार्टमेंट है कि हरेक लोगों को कॉर्पोरेट करना भी जरूरी है कोई किसी काम की वजह से करो तो चिल्लाना नहीं तो मैंने बहुत बार देखा है कि लोग चिल्लाते हैं और दूसरी चीज मैंने यह देखा है कि अगर मेरी कुछ पानी वगैरह कर गिर जाता है ट्रेन में या फिर अगर गलती से बोतल से कुछ भी चीज लिखो जा रहा है तो लोग बहुत ज्यादा चिल्लाते हैं गुस्सा होने लगते हैं एकदम झा लड़ाई झगड़ा होने लगता है सिर्फ को लेकर लड़ाई झगड़ा कर किसी की सीट में आपने कुछ गिरा दिया तो यह सब चीजें था मैंने देखा है कि लोग छोटी छोटी चीजों पर बहुत ज्यादा गुस्सा हो जाता है बहुत ज्यादा लड़ते जहां पर एक शांति से और किसी के भी गलती कोई जानबूझकर ऐसा गलती नहीं किया क्योंकि वहां से उसे भी जाना है वह जानू कैसे नहीं गिरेगा जानबूझकर कोई किसी को परेशान करने के लिए लाइट ऑन नहीं करेगा यह सोच समझकर अच्छे से मतलब जाना चाहिए जर्नी अच्छे से यात्रा करना चाहिए लेकिन लोग छोटी छोटी चीजों पर बहुत ज्यादा लड़ते मैंने देखा
Helo jee gaana to aaj aap ka savaal hai ki ek plen mein aapake dvaara anubhav kie gae to sabase achchha hai jaanoo kya karate samay ke anusaar eksapeeriyans insaan ko matalab milata hai chaahe vah phankshan eksapeeriyans ho ya phir bahut saaree raat karate hain aap sab log so rahe ho aur phir agar aap galatee se bhee daun ho jaata hai phir koee vajah se aapako jaana ho sake to aap lait on karake to bahut jyaada distarb ho jaate cheenee lagate hain insaan matalab jo chaahie vah iseelie itana paisa lagaaya tha kyon achchhe se so sake achchhe se rest kar sake no daut yah achchhee bhee cheej dekhee hai rest karana chaahie lekin agar koee kisee ko kisee cheej ke lie rakha phlaishalait on kar raha hai to yah kampaartament hai ki harek logon ko korporet karana bhee jarooree hai koee kisee kaam kee vajah se karo to chillaana nahin to mainne bahut baar dekha hai ki log chillaate hain aur doosaree cheej mainne yah dekha hai ki agar meree kuchh paanee vagairah kar gir jaata hai tren mein ya phir agar galatee se botal se kuchh bhee cheej likho ja raha hai to log bahut jyaada chillaate hain gussa hone lagate hain ekadam jha ladaee jhagada hone lagata hai sirph ko lekar ladaee jhagada kar kisee kee seet mein aapane kuchh gira diya to yah sab cheejen tha mainne dekha hai ki log chhotee chhotee cheejon par bahut jyaada gussa ho jaata hai bahut jyaada ladate jahaan par ek shaanti se aur kisee ke bhee galatee koee jaanaboojhakar aisa galatee nahin kiya kyonki vahaan se use bhee jaana hai vah jaanoo kaise nahin girega jaanaboojhakar koee kisee ko pareshaan karane ke lie lait on nahin karega yah soch samajhakar achchhe se matalab jaana chaahie jarnee achchhe se yaatra karana chaahie lekin log chhotee chhotee cheejon par bahut jyaada ladate mainne dekha

और जवाब सुनें

bolkar speaker
एक ट्रेन में आपके द्वारा अनुभव किए गए कुछ सबसे असहज अनुभव क्या है?Ek Train Mein Aapke Dwara Anubhav Kiye Gaye Kuchh Sabse Asahaj Anubhav Kya Hai
DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
1:39
1 दिन में आपके द्वारा अनुभव की कुछ सबसे अच्छा है जन्मों के मैंने पहना चुनी चाहिए लेकिन ब्लास्ट शिव जी के साथ कहिए या यह कहीं आज की जो युवा पीढ़ी है और सभी संस्कार भूल चुके छोटे बड़े का पानी के मानपुर चुकी है सेमलिया भूल चुकी है और वह केवल आधुनिकता के लिए एडवांस में फिर अपनी सुकून सीटों के लिए किसी भी स्थान पर कहीं भी टाइम हो शालिनी को चाय होते हुए ट्रेन हो वह मक्खी को नहीं टूटते तो एक मैं नहीं जानता कि वह भाई तोड़ा था या आगे भाई छोड़ा था लेकिन उनकी क्रियाकलापों से शायद यही लगा कि विनोद सैनी जो है और भी जुड़े सभी हदें पार कर गए जो कि एक सार्वजनिक स्थान पर कदाचित नहीं देख कर मन को बड़ी वेदना हुई इसमें की संख्या संस्कृति संस्कार यह सब मैं नहीं रखते
1 din mein aapake dvaara anubhav kee kuchh sabase achchha hai janmon ke mainne pahana chunee chaahie lekin blaast shiv jee ke saath kahie ya yah kaheen aaj kee jo yuva peedhee hai aur sabhee sanskaar bhool chuke chhote bade ka paanee ke maanapur chukee hai semaliya bhool chukee hai aur vah keval aadhunikata ke lie edavaans mein phir apanee sukoon seeton ke lie kisee bhee sthaan par kaheen bhee taim ho shaalinee ko chaay hote hue tren ho vah makkhee ko nahin tootate to ek main nahin jaanata ki vah bhaee toda tha ya aage bhaee chhoda tha lekin unakee kriyaakalaapon se shaayad yahee laga ki vinod sainee jo hai aur bhee jude sabhee haden paar kar gae jo ki ek saarvajanik sthaan par kadaachit nahin dekh kar man ko badee vedana huee isamen kee sankhya sanskrti sanskaar yah sab main nahin rakhate

bolkar speaker
एक ट्रेन में आपके द्वारा अनुभव किए गए कुछ सबसे असहज अनुभव क्या है?Ek Train Mein Aapke Dwara Anubhav Kiye Gaye Kuchh Sabse Asahaj Anubhav Kya Hai
Prerna Rai Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Prerna जी का जवाब
Collage student in polytechnic collage
3:00
ट्रेन का सफर जो कि बहुत ही मजेदार होता है हम हर गर्मियों की छुट्टी में इंतजार करते थे कि कब हम अपने कहां जाएंगे हम बिहार के रहने वाले हैं परंतु हम दिल्ली में रहकर अपनी पढ़ाई करते हैं मेरे पापा मम्मी में मेरी बहना सबकी मेरा गर्मियों की छुट्टियों में हम अपने दादा दादी से मिलने पर हार जाते हैं मैं बिहार जाने में 24 घंटे से भी ज्यादा समय लगता है हम अपने से दूर की दूरी ट्रेन से सफर करते हैं और ट्रेन में जो मजा है वह कहीं नहीं है एक बार की बात है मैंने एक अनुभव अनुभव किया एक बार की बात है मैं ट्रेन में बैठी हुई थी उनसे अपनी-अपनी सीटों पर बैठे हुए थे सामने वाली सीट पर ही एक बुरी बुजुर्ग और बैठी हुई थी उनके साथ साथ उनके पोते बेटे और बहू भी थी मैंने क्या अनुभव किया उनके पोते बेटे और बहू सब अपने आप में लगे हुए हैं उन बुजुर्ग औरतों को भी कुछ पूछ भी नहीं रहा चाहे कोई खाने की कुछ बात हो या कुछ मुझे जब भी कुछ चाहिए था खुद ही ले लेते देखकर मुझे बहुत आश्चर्य चकित हो क्या क्यों कोई गलती से कुछ बोल क्यों नहीं रहे हमसे कोई बात क्यों नहीं कर रहा है बाद में रात का समय हुआ तो जैसे कि उसे बोलने आई तो अपना उधर एक साइड में फिर कर कर सो गई मैं यह सब देखकर समझ नहीं पा रही थी कि क्या हो रहा है मैं अपनी फैमिली के साथ इंजॉय कर रही थी पर मेरा बार-बार ध्यान वही चला जा रहा था कहते हैं ना तब जब उनसे कुछ देख ले तो उसकी जड़ तक मोहन जाए तब तक हमें समय नहीं मिलता मेरा भी कुछ काम था जब हम अपने डेस्टिनेशन यानी जब ट्रेन आखरी स्टेशन पर पहुंच जाना करना था तो वह यही बताना था जैसे हम लोग पढ़ने लग गए मैंने क्या देखा कि सब मुझे पोता बहुत सुंदर गजब औरत को कुत्ता रही थी ऐसे में उनकी मदद करने की कोशिश करी वह मेरे को चला जिसमें मेरे पैर हाथ सलामत है मैं चल सकती हूं तो सो गई मैं तो सेकंड की मदद करना चाहती थी जब मैंने उनकी बहू ने मुझे पता है कि वह चाहती है क्यों कोई मदद ना करें क्योंकि जब कोई इनकी ज्यादा मदद करने लग जाते हैं उन्हें लगता है कि राधा पूरी हो चुकी है हमें चाहती है कि उनको कोई बड़ा फर्क है शासनादेश में हम लोग भी उन आंखों से कम बात करते मुझसे छोटी बात पर गुस्सा हो जाती है गुस्सा होकर वह अपने
Tren ka saphar jo ki bahut hee majedaar hota hai ham har garmiyon kee chhuttee mein intajaar karate the ki kab ham apane kahaan jaenge ham bihaar ke rahane vaale hain parantu ham dillee mein rahakar apanee padhaee karate hain mere paapa mammee mein meree bahana sabakee mera garmiyon kee chhuttiyon mein ham apane daada daadee se milane par haar jaate hain main bihaar jaane mein 24 ghante se bhee jyaada samay lagata hai ham apane se door kee dooree tren se saphar karate hain aur tren mein jo maja hai vah kaheen nahin hai ek baar kee baat hai mainne ek anubhav anubhav kiya ek baar kee baat hai main tren mein baithee huee thee unase apanee-apanee seeton par baithe hue the saamane vaalee seet par hee ek buree bujurg aur baithee huee thee unake saath saath unake pote bete aur bahoo bhee thee mainne kya anubhav kiya unake pote bete aur bahoo sab apane aap mein lage hue hain un bujurg auraton ko bhee kuchh poochh bhee nahin raha chaahe koee khaane kee kuchh baat ho ya kuchh mujhe jab bhee kuchh chaahie tha khud hee le lete dekhakar mujhe bahut aashchary chakit ho kya kyon koee galatee se kuchh bol kyon nahin rahe hamase koee baat kyon nahin kar raha hai baad mein raat ka samay hua to jaise ki use bolane aaee to apana udhar ek said mein phir kar kar so gaee main yah sab dekhakar samajh nahin pa rahee thee ki kya ho raha hai main apanee phaimilee ke saath injoy kar rahee thee par mera baar-baar dhyaan vahee chala ja raha tha kahate hain na tab jab unase kuchh dekh le to usakee jad tak mohan jae tab tak hamen samay nahin milata mera bhee kuchh kaam tha jab ham apane destineshan yaanee jab tren aakharee steshan par pahunch jaana karana tha to vah yahee bataana tha jaise ham log padhane lag gae mainne kya dekha ki sab mujhe pota bahut sundar gajab aurat ko kutta rahee thee aise mein unakee madad karane kee koshish karee vah mere ko chala jisamen mere pair haath salaamat hai main chal sakatee hoon to so gaee main to sekand kee madad karana chaahatee thee jab mainne unakee bahoo ne mujhe pata hai ki vah chaahatee hai kyon koee madad na karen kyonki jab koee inakee jyaada madad karane lag jaate hain unhen lagata hai ki raadha pooree ho chukee hai hamen chaahatee hai ki unako koee bada phark hai shaasanaadesh mein ham log bhee un aankhon se kam baat karate mujhase chhotee baat par gussa ho jaatee hai gussa hokar vah apane

bolkar speaker
एक ट्रेन में आपके द्वारा अनुभव किए गए कुछ सबसे असहज अनुभव क्या है?Ek Train Mein Aapke Dwara Anubhav Kiye Gaye Kuchh Sabse Asahaj Anubhav Kya Hai
Ganga Asati Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ganga जी का जवाब
Unknown
0:25
आपकी द्वारा लिखो ठीक है कुछ सबसे अच्छे जनसंख्या है तुम एक बार मुझे जो मेरे सामने सामने बैठी थी फैमिली अच्छे दिन आ गए थे वहां पर तो बहुत बोल रहे थे अच्छा मिलता है मुझे सोने का टाइम रहता था 29 लोगों को जल्दी नहीं चाहते हैं कि अभी जाती तो रात को जल्दी उठ जाते तो उनकी जो बातें सोते टाइम बहुत खराब है
Aapakee dvaara likho theek hai kuchh sabase achchhe janasankhya hai tum ek baar mujhe jo mere saamane saamane baithee thee phaimilee achchhe din aa gae the vahaan par to bahut bol rahe the achchha milata hai mujhe sone ka taim rahata tha 29 logon ko jaldee nahin chaahate hain ki abhee jaatee to raat ko jaldee uth jaate to unakee jo baaten sote taim bahut kharaab hai

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • ट्रेन के कुछ अनुभव, ट्रेन में जाते वक्त कुछ असहज अनुभव के बारे में बताएं,
URL copied to clipboard