#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker

ज्ञान होना जरूरी है या उस ज्ञान का सही वक्त पर यूज होना जरूरी है?

Aaj Ka Sawaal Jo Hai Bahut Hi Acha Hai Gyaan Hona Jaroori Hai Ya Us Gyaan Ka Sahi Wakt Par Use Hona Jaroori Hai
Laxmi devi sant Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Laxmi जी का जवाब
🧖‍♀️life coach,Spiritual Advisor And Motivational speaker🙏
1:13
आज का सवाल है जो बहुत ही अच्छा है ज्ञान होना जरूरी है या उस ज्ञान का सही वक्त पर यूज होना जरूरी है तो दोनों ही जरूरी है ठीक है ऐसा नहीं कहूंगी कोई जरूरी है क्योंकि कोई एक जरूरी हो ही नहीं सकता ज्ञान अगर नहीं है तो ज्ञान का इस्तेमाल भी नहीं होगा ठीक है जब तक आप अंधेरे से नहीं दूसरों के अंधेरा मतलब एक्सपीरियंस बहुत सारी चीजें की फीस करनी होती है जब तक आप अंधेरे को नहीं देखोगे तब तक आपके सामने रोशनी जितनी भी रहेगी उस रोशनी की कोई वैल्यू नहीं हुई है ना अंधेरे से जब गुजरो कि तभी तो उस रोशनी की रैली होगी आपकी लाइफ में तो ज्ञान अर्थात वह अंधेरा हमें एक्सपीरियंस देता है बहुत सारा अंधेरे के बाद हमें जब रोशनी मिलती है जब हम अपनी लाइफ में आगे बढ़ते हैं और अगर कहीं जरूरत है हमारी इस ज्ञान की जिस अंधेरे से हम गुजरे हैं वह ज्ञान हमारे अंदर है हमारे पास से कोई इसी अंधेरे से गुजर तो हम उस इंसान को रोशनी दिखा सकते हैं अपने ज्ञान के तुम अर्थात ज्ञान होना भी जरूरी है और उस ज्ञान कहां से सही वक्त पर इस्तेमाल करना भी जरूरी है धन्यवाद
Aaj ka savaal hai jo bahut hee achchha hai gyaan hona jarooree hai ya us gyaan ka sahee vakt par yooj hona jarooree hai to donon hee jarooree hai theek hai aisa nahin kahoongee koee jarooree hai kyonki koee ek jarooree ho hee nahin sakata gyaan agar nahin hai to gyaan ka istemaal bhee nahin hoga theek hai jab tak aap andhere se nahin doosaron ke andhera matalab eksapeeriyans bahut saaree cheejen kee phees karanee hotee hai jab tak aap andhere ko nahin dekhoge tab tak aapake saamane roshanee jitanee bhee rahegee us roshanee kee koee vailyoo nahin huee hai na andhere se jab gujaro ki tabhee to us roshanee kee railee hogee aapakee laiph mein to gyaan arthaat vah andhera hamen eksapeeriyans deta hai bahut saara andhere ke baad hamen jab roshanee milatee hai jab ham apanee laiph mein aage badhate hain aur agar kaheen jaroorat hai hamaaree is gyaan kee jis andhere se ham gujare hain vah gyaan hamaare andar hai hamaare paas se koee isee andhere se gujar to ham us insaan ko roshanee dikha sakate hain apane gyaan ke tum arthaat gyaan hona bhee jarooree hai aur us gyaan kahaan se sahee vakt par istemaal karana bhee jarooree hai dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • ज्ञान का यूज करना क्यों जरूरी है, हम अपने ज्ञान का सही समय कहां करें, अपने ज्ञान का सही इस्तेमाल क्यों करना चाहिए
URL copied to clipboard