#टेक्नोलॉजी

Bhavesh Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Bhavesh जी का जवाब
West Bengal India is Great
2:18
डिप्रेशन और सजावट कितना प्रकार का होता है और इसे करते समय हमें किस बात का ध्यान रखना चाहिए तो दूसरा लड़का और सजावट की कोई लिमिट नहीं आप जितनी प्रकार का चाहो उतनी पताका कर सकते आप जैसे चाहो वैसे कर सकते हो लेकिन किस चीज का ध्यान रखना चाहिए जैसे मान लीजिए आप सजावट कर रहे हो वहां पर किसी ने अगर कोई सीमा क्यों किया जब कोई ना चले फिर कुछ ऐसे काम किया तो कहीं ऐसा न लगे कि अगर आप की चिंगारी की छोरी तू चल गई इस सजा पर को पूरा नुकसान किस चीज के लिए आपको पहले तैयार करना पड़ेगा चाहे वह कोई मतलब जरूरत है ध्यान देने की दूसरी चीज रखनी क्या कोई भी ध्यान रखना है कभी जोरदार हवा आ गया तो क्या हमारा यह एक बार में गिर सकता है बिगड़ सकता कुछ भी हो सकता है किसी का हो गया बारिश की आवाज में घर सजावट कर रहे हैं खुले तो क्या वह अगर बारिश आई तो वह खत्म हो सकता है और अगर मुझे और कोई जगह नहीं यही करना पड़ेगा तो उसे बारिश से बचाव के लिए हम क्या कर सकते हैं सबसे पहले आपको यह भी मायने में लगाना पड़ेगा 30 रनों की चुनौती हो गया कि मान लीजिए अगर किसी ने भी इस पाठ को भेज दिया कोई होता नहीं छोड़ने की आदत होती है दिखाइए कैसे किया एक विचार वह पूरा का पूरा बिगड़ गया तो यह भी आपको बहुत अच्छी तरह से ध्यान रखना चाहिए और साथ-साथ उसको ऐसी खबर करना चाहिए से बांधना चाहिए ताकि जब कोई डेकोरेशन नगर किस ने छोड़ दिया तो दूसरा किस राज्य में खराब नहीं होना चाहिए रितिक रोशन की कोई लिमिट नहीं है आप जैसे चाहो जो चाहो फ्लावर चाऊ चाऊ चाऊ चाऊ जैसे भी कुछ कर सकते हो लेकिन कुछ जरूरी यही है जिससे कि हमारा डेकोरेशन बाद में कभी खराब ना हो जाए और सबसे बड़ा जो सबसे बड़ी चीज है वह पांचवा और वह यह है आपको इस चीज का ध्यान रखना ख्याल रखना और ट्रेनिंग में कौन सी चीजें चल कौन सी डिप्रेशन में ऐसा करूं जो कि सामने वाले को पसंद आना चाहिए और कौन सी चीज के लिए आप डेकोरेशन कर रहे हैं शादी के लिए अलग है सगाई के लिए अलग है पार्टी के लिए अलग बजट के लिए अलग से क्या लाभ होता है तो वह सब जो है वह आप को सोचना पड़ेगा यह तरीका
Dipreshan aur sajaavat kitana prakaar ka hota hai aur ise karate samay hamen kis baat ka dhyaan rakhana chaahie to doosara ladaka aur sajaavat kee koee limit nahin aap jitanee prakaar ka chaaho utanee pataaka kar sakate aap jaise chaaho vaise kar sakate ho lekin kis cheej ka dhyaan rakhana chaahie jaise maan leejie aap sajaavat kar rahe ho vahaan par kisee ne agar koee seema kyon kiya jab koee na chale phir kuchh aise kaam kiya to kaheen aisa na lage ki agar aap kee chingaaree kee chhoree too chal gaee is saja par ko poora nukasaan kis cheej ke lie aapako pahale taiyaar karana padega chaahe vah koee matalab jaroorat hai dhyaan dene kee doosaree cheej rakhanee kya koee bhee dhyaan rakhana hai kabhee joradaar hava aa gaya to kya hamaara yah ek baar mein gir sakata hai bigad sakata kuchh bhee ho sakata hai kisee ka ho gaya baarish kee aavaaj mein ghar sajaavat kar rahe hain khule to kya vah agar baarish aaee to vah khatm ho sakata hai aur agar mujhe aur koee jagah nahin yahee karana padega to use baarish se bachaav ke lie ham kya kar sakate hain sabase pahale aapako yah bhee maayane mein lagaana padega 30 ranon kee chunautee ho gaya ki maan leejie agar kisee ne bhee is paath ko bhej diya koee hota nahin chhodane kee aadat hotee hai dikhaie kaise kiya ek vichaar vah poora ka poora bigad gaya to yah bhee aapako bahut achchhee tarah se dhyaan rakhana chaahie aur saath-saath usako aisee khabar karana chaahie se baandhana chaahie taaki jab koee dekoreshan nagar kis ne chhod diya to doosara kis raajy mein kharaab nahin hona chaahie ritik roshan kee koee limit nahin hai aap jaise chaaho jo chaaho phlaavar chaoo chaoo chaoo chaoo jaise bhee kuchh kar sakate ho lekin kuchh jarooree yahee hai jisase ki hamaara dekoreshan baad mein kabhee kharaab na ho jae aur sabase bada jo sabase badee cheej hai vah paanchava aur vah yah hai aapako is cheej ka dhyaan rakhana khyaal rakhana aur trening mein kaun see cheejen chal kaun see dipreshan mein aisa karoon jo ki saamane vaale ko pasand aana chaahie aur kaun see cheej ke lie aap dekoreshan kar rahe hain shaadee ke lie alag hai sagaee ke lie alag hai paartee ke lie alag bajat ke lie alag se kya laabh hota hai to vah sab jo hai vah aap ko sochana padega yah tareeka

और जवाब सुनें

Ganga Asati Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ganga जी का जवाब
Unknown
0:44
डेकोरेशन सजावट कितने प्रकार की होती है मनुष्य करते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए कि सबसे ज्यादा जनसंख्या वाले छोटे बच्चे के ऑपरेशन ऑपरेशन 21 महीने वेल्डिंग मशीन को कैसे समय भी ध्यान रखें कि किसका है उसको क्या पसंद है कौन सा कलर पसंद है उसी हिसाब से डिप्रेशन करें
Dekoreshan sajaavat kitane prakaar kee hotee hai manushy karate samay kin baaton ka dhyaan rakhana chaahie ki sabase jyaada janasankhya vaale chhote bachche ke opareshan opareshan 21 maheene velding masheen ko kaise samay bhee dhyaan rakhen ki kisaka hai usako kya pasand hai kaun sa kalar pasand hai usee hisaab se dipreshan karen

Harender Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Harender जी का जवाब
As School administration & Principal
2:33
डेकोरेशन सजावट कितने प्रकार की होती हैं ऐसे करते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए फैशन हो गया है आप सोच लो कि चाहे घर का वास्तु शास्त्र या घर का डेकोरेटिव करना हो जैसे आपने देखा है कमरों का इंटीरियर डेकोरेशन इंटीरियर डेकोरेशन करने के लिए अपने किसी किसी घरों में अभी से निजात इंटीरियर कितना बेहतर होता है बिल्डिंग के डिजाइन करना उसके स्ट्रक्चर को डिजाइन करना उसका इंटीरियर को डिजाइन करना दूसरा है कि होटल से अंबाला इंटीरियर डिजाइन करना तीसरा होता है शादी के मंडप वगैरह का डेकोरेशन करना डिजाइन चौथा है मंदिर ट्रस्ट है क्या ऐसे सार्वजनिक चीजों को डेकोरेशन करना और उसमें कहीं डेकोरेशन में टाइल्स और कोई कलर और बहुत सारी चीजों की कागज फूल है तो परमानेंट डेकोरेशन होते हैं जो अस्थाई तौर पर घरों में होटल्स में मार्च में और जगहों पर किए जाते हैं और शादी-ब्याह के नंबर वगैरह में डेकोरेशन हार्दिक बहुत अच्छी घंटे के बाद इवेंट मैनेजमेंट आफ देखा होगा लेकिन इस ट्वीट किया जाता है और कुछ टिप्स टो ऑर्गेनाइज किए जाते हैं बहुत सारे डांस कंपटीशन है उनका डेकोरेशन किया जाता है तू कहीं ना कहीं डेकोरेशन द फील्ड में आपको उतर रहे हैं तो इसके लिए प्रोफेशनली स्पॉट होना पड़ेगा इससे संबंधित डिप्लोमा डिग्री कोर्स भी करते हैं अगर आप अग्रेशन में अपने आप को बेहतर कर सकते हैं तो अच्छे के लिए ऊपर चलो ठीक है तो निश्चित तौर पर यहां से आप कर सकते हैं तो डेकोरेशन में टेंपरेरी डिप्रेशन होता है मंडप डेकोरेशन होते हैं जो डेकोरेशन कर सकते हैं उसका मालिक होटल के रूम भैया घरों के इंटीरियर डेकोरेशन खुश होते हैं तो इस तरह से कर सकते हैं
Dekoreshan sajaavat kitane prakaar kee hotee hain aise karate samay kin baaton ka dhyaan rakhana chaahie phaishan ho gaya hai aap soch lo ki chaahe ghar ka vaastu shaastr ya ghar ka dekoretiv karana ho jaise aapane dekha hai kamaron ka inteeriyar dekoreshan inteeriyar dekoreshan karane ke lie apane kisee kisee gharon mein abhee se nijaat inteeriyar kitana behatar hota hai bilding ke dijain karana usake strakchar ko dijain karana usaka inteeriyar ko dijain karana doosara hai ki hotal se ambaala inteeriyar dijain karana teesara hota hai shaadee ke mandap vagairah ka dekoreshan karana dijain chautha hai mandir trast hai kya aise saarvajanik cheejon ko dekoreshan karana aur usamen kaheen dekoreshan mein tails aur koee kalar aur bahut saaree cheejon kee kaagaj phool hai to paramaanent dekoreshan hote hain jo asthaee taur par gharon mein hotals mein maarch mein aur jagahon par kie jaate hain aur shaadee-byaah ke nambar vagairah mein dekoreshan haardik bahut achchhee ghante ke baad ivent mainejament aaph dekha hoga lekin is tveet kiya jaata hai aur kuchh tips to orgenaij kie jaate hain bahut saare daans kampateeshan hai unaka dekoreshan kiya jaata hai too kaheen na kaheen dekoreshan da pheeld mein aapako utar rahe hain to isake lie propheshanalee spot hona padega isase sambandhit diploma digree kors bhee karate hain agar aap agreshan mein apane aap ko behatar kar sakate hain to achchhe ke lie oopar chalo theek hai to nishchit taur par yahaan se aap kar sakate hain to dekoreshan mein tempareree dipreshan hota hai mandap dekoreshan hote hain jo dekoreshan kar sakate hain usaka maalik hotal ke room bhaiya gharon ke inteeriyar dekoreshan khush hote hain to is tarah se kar sakate hain

DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
1:15
डेकोरेशन सजावट कितने प्रकार की होती है मैसेज करते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए या अनेक प्रकार की होती है और हर तरह की होती है कहीं कागजों से संबंधित कहीं कपड़ों से संबंधित कहीं फर्नीचर से संबंधित तो कहीं सजावटी प्रकाश के बल्बों से संबंधित अनेक प्रकार की डेकोरेशन अनेक प्रकार की सजावट धोने हैं जिसे हम इंटीरियर डेकोरेशन दीया डेकोरेशन के नाम से भी जानते हैं इनको उपयोग में लाते समय हमें ध्यान रखना चाहिए यह टिकाऊ हो और बहुत ज्यादा कीमती ना हो लेकिन सुंदरी भाव और स्टेटस सिंबल के साथ-साथ एक आदर्श व्यक्तित्व भी परिचय देने वाला डेकोरेशन में इंसान की व्यक्ति की झलक मिलती है उसकी स्टेटस चंबल की झलक मिलती है और उसकी जो है एक तरह से कहूं आचरण की झलक मिलती है
Dekoreshan sajaavat kitane prakaar kee hotee hai maisej karate samay kin baaton ka dhyaan rakhana chaahie ya anek prakaar kee hotee hai aur har tarah kee hotee hai kaheen kaagajon se sambandhit kaheen kapadon se sambandhit kaheen pharneechar se sambandhit to kaheen sajaavatee prakaash ke balbon se sambandhit anek prakaar kee dekoreshan anek prakaar kee sajaavat dhone hain jise ham inteeriyar dekoreshan deeya dekoreshan ke naam se bhee jaanate hain inako upayog mein laate samay hamen dhyaan rakhana chaahie yah tikaoo ho aur bahut jyaada keematee na ho lekin sundaree bhaav aur stetas simbal ke saath-saath ek aadarsh vyaktitv bhee parichay dene vaala dekoreshan mein insaan kee vyakti kee jhalak milatee hai usakee stetas chambal kee jhalak milatee hai aur usakee jo hai ek tarah se kahoon aacharan kee jhalak milatee hai

Bhupesh Kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Bhupesh जी का जवाब
Entrepreneur , Blogger, Influencer
1:38
नमस्कार दोस्तों है चेक वेदर में आपका स्वागत है मैं आपका अपना मित्र भूपेश उमा मैं आशा करता हूं आप सभी से कुछ लोगे और अपना और अपने परिवार का ख्याल रखिए होगी जैसा कि आपको पूछना डेकोरेशन नियर सजावट कितने प्रकार की होती है हमें इसे करते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए देखें दोस्तों डेकोरेशन और सजावट तीन प्रकार की हो सकती है क्योंकि डेकोरेशन सजावट हमेशा ही लोकेशन के हिसाब से की जानी चाहिए किशन जिस तरीके का उसकी टीम के हिसाब से अगर आप डेकोरेशन करते तो ज्यादा बेस्ट रहेगी अगर आपने गौर किया होगा कभी आपने देखा होगा शादी पर हो के लिए अलग तरीके के टेंट लगाए जाते हैं और नेता लोगों के लिए अलग तरीकों के टेंट लगा जाते हो और कभी कोई शोकसभा होती है तो वाइट कलर का टेंट लगाया जाता है कलर हर एक चीज को डिसाइड करते हैं कलर इसलिए क्योंकि हर एक कलर का अपने मतलब होता जैसे वाइट का मतलब पीस होता है राइट का मतलब को चालू होता है पिंक वगैरा यह सारे खुशहाली के लिए यूज कर सकते हैं आपने देखा होगा पिंक कलर यूज करा जाता है ज्यादातर गर्ल्स के लिए तो अगर कोई गलत की कोई पार्टी होती है तो आप उसकी टीम पिंक रख सकते हैं या फिर कोई बच्चे की पार्टी तो ब्लू कर सकते हैं या लोग कर सकते हैं कोई भी कलर फुल कलर आप यूज कर सकते रेडो बना सकते हैं तो इसी तरीके से मैं कहूंगा कि आप डेकोरेशन सजावट कर सकते हैं पर आप अगर उसको एक कलर थीम के हिसाब से सो जाएंगे तो वह काफी अच्छा ही लगेगा इसके अलावा दोस्तो आप वेडिंग के लिए डेकोरेशन करते हैं पार्टी के लिए करते हैं एनिवर्सरी के लिए करते हैं कभी अपने घर के रेट करते हैं हाउसवार्मिंग पार्टी करते हैं अलग अलग तरीके की पार्टी के लिए डेकोरेट करते हैं
Namaskaar doston hai chek vedar mein aapaka svaagat hai main aapaka apana mitr bhoopesh uma main aasha karata hoon aap sabhee se kuchh loge aur apana aur apane parivaar ka khyaal rakhie hogee jaisa ki aapako poochhana dekoreshan niyar sajaavat kitane prakaar kee hotee hai hamen ise karate samay kin baaton ka dhyaan rakhana chaahie dekhen doston dekoreshan aur sajaavat teen prakaar kee ho sakatee hai kyonki dekoreshan sajaavat hamesha hee lokeshan ke hisaab se kee jaanee chaahie kishan jis tareeke ka usakee teem ke hisaab se agar aap dekoreshan karate to jyaada best rahegee agar aapane gaur kiya hoga kabhee aapane dekha hoga shaadee par ho ke lie alag tareeke ke tent lagae jaate hain aur neta logon ke lie alag tareekon ke tent laga jaate ho aur kabhee koee shokasabha hotee hai to vait kalar ka tent lagaaya jaata hai kalar har ek cheej ko disaid karate hain kalar isalie kyonki har ek kalar ka apane matalab hota jaise vait ka matalab pees hota hai rait ka matalab ko chaaloo hota hai pink vagaira yah saare khushahaalee ke lie yooj kar sakate hain aapane dekha hoga pink kalar yooj kara jaata hai jyaadaatar garls ke lie to agar koee galat kee koee paartee hotee hai to aap usakee teem pink rakh sakate hain ya phir koee bachche kee paartee to bloo kar sakate hain ya log kar sakate hain koee bhee kalar phul kalar aap yooj kar sakate redo bana sakate hain to isee tareeke se main kahoonga ki aap dekoreshan sajaavat kar sakate hain par aap agar usako ek kalar theem ke hisaab se so jaenge to vah kaaphee achchha hee lagega isake alaava dosto aap veding ke lie dekoreshan karate hain paartee ke lie karate hain enivarsaree ke lie karate hain kabhee apane ghar ke ret karate hain hausavaarming paartee karate hain alag alag tareeke kee paartee ke lie dekoret karate hain

Shipra Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Shipra जी का जवाब
Self Employed
1:11
आकाश वाले की डेकोरेशन सजावट कितने प्रकार के होते हैं हमें इसे किस करते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए है तो नहीं पर डेकोरेशन की कितने प्रकार की होती तो इसकी तो कोई सीमा ही नहीं है कि आप के लोकेशन के लिए डेकोरेशन कर रहे हैं आप उसी के साथ ही डेकोरेशन करेंगे बर्थडे पार्टी के लिए हो सकती है - यादव के लिए हो सकती है किटी पार्टी के लिए हो सकती है चाय पार्टी के लिए हो सकती है बड़े फंक्शन की अगर बात करी जाए तो मुंडन सारी में नहीं हो गई या फिर शादी के कोई फंक्शन सो गए बहुत सारी चीजें होती हैं बहुत सारी ऑपरेशन सर्चलाइट में होते हैं जिनके डेकोरेशन किया जाता है और कुछ लोगों को तो हंसने मुस्कुराने जिंदगी जीने का जिन लोगों को शौक होता है वह तो हर एक बात में मौका ढूंढते हैं पार्टीज करने के लिए टुगेदर करने की और डेकोरेशन करने के लिए इस चीज की तो कोई लिमिट एशियन है ही नहीं रही बात है कि चीजों का ध्यान रखना चाहिए है डेकोरेशन अब जो भी कर रहे हैं वह हमेशा कीर्तन देखना चाहिए है कलर कंट्रास्ट इन जागो टेलीकॉम लाइसेंस ले रहे हैं उनका ध्यान रखना बेहद जरूरी है और साथ ही साथ इस चीज का ध्यान रखना बेहद जरूरी है कि जो चीज आपको अच्छी लग रही है वह दूसरे के नजरिए से उनको भी अच्छी लगेगी या नहीं लगेगी जरूरी नहीं है कि आप सारी चीजें एक आती मिक्स करके बहुत ही ज्यादा फौज पहुंचकर की चीजों को डेकोरेट करने थोड़ा सा देश का ध्यान रखना बेहद जरूरी है आपका दिन शुभ रहे थे निपात
Aakaash vaale kee dekoreshan sajaavat kitane prakaar ke hote hain hamen ise kis karate samay kin baaton ka dhyaan rakhana chaahie hai to nahin par dekoreshan kee kitane prakaar kee hotee to isakee to koee seema hee nahin hai ki aap ke lokeshan ke lie dekoreshan kar rahe hain aap usee ke saath hee dekoreshan karenge barthade paartee ke lie ho sakatee hai - yaadav ke lie ho sakatee hai kitee paartee ke lie ho sakatee hai chaay paartee ke lie ho sakatee hai bade phankshan kee agar baat karee jae to mundan saaree mein nahin ho gaee ya phir shaadee ke koee phankshan so gae bahut saaree cheejen hotee hain bahut saaree opareshan sarchalait mein hote hain jinake dekoreshan kiya jaata hai aur kuchh logon ko to hansane muskuraane jindagee jeene ka jin logon ko shauk hota hai vah to har ek baat mein mauka dhoondhate hain paarteej karane ke lie tugedar karane kee aur dekoreshan karane ke lie is cheej kee to koee limit eshiyan hai hee nahin rahee baat hai ki cheejon ka dhyaan rakhana chaahie hai dekoreshan ab jo bhee kar rahe hain vah hamesha keertan dekhana chaahie hai kalar kantraast in jaago teleekom laisens le rahe hain unaka dhyaan rakhana behad jarooree hai aur saath hee saath is cheej ka dhyaan rakhana behad jarooree hai ki jo cheej aapako achchhee lag rahee hai vah doosare ke najarie se unako bhee achchhee lagegee ya nahin lagegee jarooree nahin hai ki aap saaree cheejen ek aatee miks karake bahut hee jyaada phauj pahunchakar kee cheejon ko dekoret karane thoda sa desh ka dhyaan rakhana behad jarooree hai aapaka din shubh rahe the nipaat

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
1:37
तो आज आप का सवाल है कि डेकोरेशन या सजावट कितने प्रकार की होती है हमें इसे करते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए तुझे जब भी छोटी मोटी जगह हो या फिर कोई बड़ी जगह हो तो डेकोरेशन बांद्रा को हैप्पी बर्थडे का डेकोरेशन अलग टाइप का होता है शादी का माहौल जो होता है उसको डेकोरेशन अलग तरीका का होता है अगर कोई बच्चा पैदा होते किस दिन का तो उसका डेकोरेशन थोड़ा बच्चे टाइप का अलग होता है अगर कोई अंग है तो उसका डेकोरेशन उसके बर्थडे का डेकोरेशन या फिर सब शंका डेकोरेशन अलग-अलग तरीके का अलग डेकोरेशन होता है तो ध्यान देना है कि अब जिस चीज का डेकोरेट कर रहे हैं या फिर जो इंसान तो वह इंसान का एज क्या है या फिर जैसे छोटा बच्चा अगर है तो कलर फुल डेकोरेशन अगर आप करते हैं बलून कलरफुल होता है और फिर अगर फ्लावर्स बहुत ही मतलब अच्छे अच्छे से कलर फुल अगर आप लाते तो वह बहुत ज्यादा एक्टिव बच्चे को भी अच्छा लगता है और अगर आप किसी बड़े लोगों का करते तो आप ब्लू वाइट इस तरह का बोलूंगा अगर डेकोरेशन होता है तो ज्यादा मतलब लगता है क्योंकि बदलती रहती है आपको ध्यान देना है कि किस चीज का विक्रय कर रहे हैं आ मतलब बर्थडे है या फिर शादी है या फिर किस तरह का है थोड़ा इस तरह से आपको थोड़ा आईडिया लेना होगा उसके बारे ग्रेट करना होगा उसके बाद इंसान का एज क्या उस हिसाब से आपको कलर्स अरेंज करना है कि कौन से कलर कहां पर किस तरह से मार्च किया जाएगा कितने आएंगे और उनको किस तरह इतनी सारी गैस कैसे बैठेंगे और कहां पर क्या चीज की सजावट होनी चाहिए चीजों का ध्यान देना चाहिए
To aaj aap ka savaal hai ki dekoreshan ya sajaavat kitane prakaar kee hotee hai hamen ise karate samay kin baaton ka dhyaan rakhana chaahie tujhe jab bhee chhotee motee jagah ho ya phir koee badee jagah ho to dekoreshan baandra ko haippee barthade ka dekoreshan alag taip ka hota hai shaadee ka maahaul jo hota hai usako dekoreshan alag tareeka ka hota hai agar koee bachcha paida hote kis din ka to usaka dekoreshan thoda bachche taip ka alag hota hai agar koee ang hai to usaka dekoreshan usake barthade ka dekoreshan ya phir sab shanka dekoreshan alag-alag tareeke ka alag dekoreshan hota hai to dhyaan dena hai ki ab jis cheej ka dekoret kar rahe hain ya phir jo insaan to vah insaan ka ej kya hai ya phir jaise chhota bachcha agar hai to kalar phul dekoreshan agar aap karate hain baloon kalaraphul hota hai aur phir agar phlaavars bahut hee matalab achchhe achchhe se kalar phul agar aap laate to vah bahut jyaada ektiv bachche ko bhee achchha lagata hai aur agar aap kisee bade logon ka karate to aap bloo vait is tarah ka boloonga agar dekoreshan hota hai to jyaada matalab lagata hai kyonki badalatee rahatee hai aapako dhyaan dena hai ki kis cheej ka vikray kar rahe hain aa matalab barthade hai ya phir shaadee hai ya phir kis tarah ka hai thoda is tarah se aapako thoda aaeediya lena hoga usake baare gret karana hoga usake baad insaan ka ej kya us hisaab se aapako kalars arenj karana hai ki kaun se kalar kahaan par kis tarah se maarch kiya jaega kitane aaenge aur unako kis tarah itanee saaree gais kaise baithenge aur kahaan par kya cheej kee sajaavat honee chaahie cheejon ka dhyaan dena chaahie

lyadav Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए lyadav जी का जवाब
Unknown
1:35
डेकोरेशन या सजावट को हम निम्नलिखित पांच प्रकार में बांट सकते हैं पहला है आर्ट डेकोरेशन जिसके अंदर हम सजावट का सामान बलून डेकोरेशन फ्लावर डेकोरेशन आदि कर सकते हैं दूसरा प्रकार है लाइट डेकोरेशन जिसके अंदर हम चार पी पार लाइट इत्यादि बाजार में मिलने वाली विभिन्न रंग बिरंगी लाइटों का उपयोग करके सजावट कर सकते हैं तीसरा है स्ट्रक्चर डेकोरेशन जिसके अंदर हम किसी भी प्रकार की मूर्तियां इत्यादि को सजावट के तौर पर रख सकते हैं या बना सकते हैं चौथा प्रकार है पेंटिंग डेकोरेशन जिसके अंदर हम विभिन्न प्रकार की डिजाइन कलर इत्यादि से सजावट कर सकते हैं पांचवा है कंस्ट्रक्शन डेकोरेशन जिसके अंदर हम जरूरत और हो सकता अनुसार किसी भी स्ट्रक्चर डिजाइन दीवाल आदि बनाकर हम सजावट में इसका उपयोग कर सकते हैं अब बात करते हैं हमें सजावट करते समय किन किन बातों का ध्यान रखना चाहिए सजावट करते समय हमें कलर एलाइनमेंट अरेंजमेंट डिजाइन ऑब्जेक्ट आदि सही तरीके से लगाए हैं या नहीं इसका ध्यान देना होता है साथ ही हमारे क्लाइंट की क्या रिक्वायरमेंट है और उसका बजट किस प्रकार है उस प्रकार से हमें सजावट करनी रहती है

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

    URL copied to clipboard