#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker

भारत में निवेशकों के लिए संभलने के समय के बारे में बताओ?

Bharat Mein Niveshakon Ke Liye Sambhalne Ke Samay Ke Baare Mein Batao
vijay singh Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए vijay जी का जवाब
Social worker in india
3:25
नमस्कार मैं विजय सिंह बोलकर परिवार से हूं और आप सुन रहे हैं आपका पसंद का ऐप बोलकर जो आपसे जानकारी हमला कर रहा हूं जो ध्यान से सुने और अमल करें आपका प्रश्न का उत्तर यह है कि हमारे भारतीय शेयर बाजार में संसद का आया समान व्यवहार हमारे निवेशकों के सत्र करने के लिए बहुत ही पर्याप्त माना जाना चाहिए क्योंकि शुक्रवार के दिन 1939 एंड देने वाला सेंसेक्स में सोमवार के दिन हो 50 अंक के उछाल के मायने समझने की बहुत ही जरूरत है जब दुनिया के शेयर बाजार भी भारी उठापटक के दौर से गुजर रहे हैं और हमारे करो ना मामा जी के बाद दुनिया की अर्थव्यवस्था को लगे झटको से गाड़ी अभी पटरी पर नहीं आ पाई है हर जगह सरकारी खजाने से आमजन को राहत देने का सिलसिला अभी भी जारी है और किसी के भी कच्चे तेल के दामों में उतार-चढ़ाव और मुर्दा स्थिति की आशंका ने हमारे आर्थिक जगत को समझ में डाल दिया है पिछले शुक्रवार को सेंसेक्स में हुई गिरावट इतिहास की पांचवीं सबसे बड़ी गिरावट थी और पिछले साल मार्च में तीन कारोबारी सत्रों में सेंसेक्स 9500 अंक नीचे खुला सबको याद है तरुण से दुनिया भर के शेयर बाजार धराशाई हो गए थे और फिर 11 महीनों में शेयर बाजार पूछ ले तो शाम को आश्चर्य में डाल दिया और इस अवधि के पेड़ में कुछ शेयरों के दाम 45 * तक भी बढ़ गए थे इनका कारण बड़े बड़े अर्थशास्त्री को भी नहीं समझ पाया न्यूज़ को की तो बात ही दूर शेयर बाजारों में ऐसे खेल के अक्षर होते रहते हैं जब तक हम आम निवेशक को इसकी जानकारी नहीं होगी तब तक वह ऐसे लूटते रहेंगे हमारी आर्थिक विश्लेषकों का मानना है कि सभी बड़े शेयर बाजार जरूरत से अधिक बढ़ गए हैं ऐसे में नेता बने रहना शेयर बाजारों को पिछले साल वाली मिलाया जा सकता है शेयर बाजारों का नियंत्रित करने वाली संस्थाओं से भी होती है जो रिजर्व बैंक भी इस हालात से परिचित हैं ऐसे में छोटे निवेशकों के लिए तो यह समय संभल कर चलने का ही है हमारे आर्मी उसको को आर्थिक तंत्र की बालिका का अंदाज नहीं होता है इसलिए उनके सामने आने चित्रा अधिक होती है पिछले 2 सप्ताह के भीतर कुछ राज्य में कोरोना के मामले बढ़ गए हैं और नए स्टैंड के सामने आने के बाद आ रही है यानी कोरोनावायरस भी तस्वीर भी साफ नहीं हो पाई है और यह धुंधली तस्वीर शेयर बाजार के भविष्य को भी आशंकाओं के घेरे में ले लेती है और पिछले शुक्रवार को शेयर बाजार में लगभग छह लाख करोड़ का नुकसान होने की आशंका है लाभ और हानि शेरवा धार के स्थाई अंग है लेकिन आने चिता के माहौल में अधिक जोखिम उठाने से हमें बचना चाहिए अमेरिकी बाजारों में लगातार बढ़ रहे हैं या एंड अमेरिका ईरान के बीच तनाव की खबरें चिंता बढ़ाने वाली होती है इसलिए कहा जाता है अगले 1 महीने नहीं उसको के लिए संभल कर रहने का है इसलिए सावधानी को ध्यान में रखें धन्यवाद दोस्तों खुश रहो
Namaskaar main vijay sinh bolakar parivaar se hoon aur aap sun rahe hain aapaka pasand ka aip bolakar jo aapase jaanakaaree hamala kar raha hoon jo dhyaan se sune aur amal karen aapaka prashn ka uttar yah hai ki hamaare bhaarateey sheyar baajaar mein sansad ka aaya samaan vyavahaar hamaare niveshakon ke satr karane ke lie bahut hee paryaapt maana jaana chaahie kyonki shukravaar ke din 1939 end dene vaala senseks mein somavaar ke din ho 50 ank ke uchhaal ke maayane samajhane kee bahut hee jaroorat hai jab duniya ke sheyar baajaar bhee bhaaree uthaapatak ke daur se gujar rahe hain aur hamaare karo na maama jee ke baad duniya kee arthavyavastha ko lage jhatako se gaadee abhee pataree par nahin aa paee hai har jagah sarakaaree khajaane se aamajan ko raahat dene ka silasila abhee bhee jaaree hai aur kisee ke bhee kachche tel ke daamon mein utaar-chadhaav aur murda sthiti kee aashanka ne hamaare aarthik jagat ko samajh mein daal diya hai pichhale shukravaar ko senseks mein huee giraavat itihaas kee paanchaveen sabase badee giraavat thee aur pichhale saal maarch mein teen kaarobaaree satron mein senseks 9500 ank neeche khula sabako yaad hai tarun se duniya bhar ke sheyar baajaar dharaashaee ho gae the aur phir 11 maheenon mein sheyar baajaar poochh le to shaam ko aashchary mein daal diya aur is avadhi ke ped mein kuchh sheyaron ke daam 45 * tak bhee badh gae the inaka kaaran bade bade arthashaastree ko bhee nahin samajh paaya nyooz ko kee to baat hee door sheyar baajaaron mein aise khel ke akshar hote rahate hain jab tak ham aam niveshak ko isakee jaanakaaree nahin hogee tab tak vah aise lootate rahenge hamaaree aarthik vishleshakon ka maanana hai ki sabhee bade sheyar baajaar jaroorat se adhik badh gae hain aise mein neta bane rahana sheyar baajaaron ko pichhale saal vaalee milaaya ja sakata hai sheyar baajaaron ka niyantrit karane vaalee sansthaon se bhee hotee hai jo rijarv baink bhee is haalaat se parichit hain aise mein chhote niveshakon ke lie to yah samay sambhal kar chalane ka hee hai hamaare aarmee usako ko aarthik tantr kee baalika ka andaaj nahin hota hai isalie unake saamane aane chitra adhik hotee hai pichhale 2 saptaah ke bheetar kuchh raajy mein korona ke maamale badh gae hain aur nae staind ke saamane aane ke baad aa rahee hai yaanee koronaavaayaras bhee tasveer bhee saaph nahin ho paee hai aur yah dhundhalee tasveer sheyar baajaar ke bhavishy ko bhee aashankaon ke ghere mein le letee hai aur pichhale shukravaar ko sheyar baajaar mein lagabhag chhah laakh karod ka nukasaan hone kee aashanka hai laabh aur haani sherava dhaar ke sthaee ang hai lekin aane chita ke maahaul mein adhik jokhim uthaane se hamen bachana chaahie amerikee baajaaron mein lagaataar badh rahe hain ya end amerika eeraan ke beech tanaav kee khabaren chinta badhaane vaalee hotee hai isalie kaha jaata hai agale 1 maheene nahin usako ke lie sambhal kar rahane ka hai isalie saavadhaanee ko dhyaan mein rakhen dhanyavaad doston khush raho

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • विदेशी निवेशकों के लिए भारत, शेयर बाजार में निवेश के लिए गिरने, संभलने और सीखने का कोई विकल्प, Share Market Investment Tips
URL copied to clipboard