#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker

महाशिवरात्रि क्यों मनाते हैं वास्तविक कारण बताइए?

Mahashivratri Kyo Manate Hai Vastvik Karan Bataiye
pooja Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए pooja जी का जवाब
Student
3:57
नमस्कार आशा कर रही हूं आप सब खैरियत से हैं आज का प्रश्न पूछा है महाशिवरात्रि क्यों मनाते हैं वास्तविक कारण बताइए महाशिवरात्रि का पर्व इस साल 11 मार्च यानी गुरुवार को यानी आज मनाया जा रहा है महाशिवरात्रि पर्व भगवान शिव के लिए रखा जाता है यूं तो शिवरात्रि जो है बनाई जाती है हड़ताल लेकिन पान फाल्गुन मास में आने वाली शिवरात्रि का खास महत्व है इस मौके पर श्रद्धालुओं के मंदिरों में रुद्राभिषेक करते हैं बहुत से लोग शिवरात्रि का व्रत करते हैं और रात्रि का जागरण भी करते हैं सद्गुरु बताते हैं कि इस बात का खास महत्व है और इसका हम बेहतर तरीके से इस्तेमाल कर सकते हैं हम हमारी भारतीय संस्कृति में 365 दिन उत्सव मनाए जाने की परंपरा है और क्या कहें कि साल में कभी दिन उत्सव मनाने के लिए कुछ ना कुछ बहाना चाहिए कभी हम ऐतिहासिक घटनाओं को याद करते हैं तो कभी जीत को याद करते हैं खास मौके जैसे की कटाई बुवाई का जस्ट मना कर स्वागत करते हैं हर परिस्थिति के लिए हमारे पास हर तरह के त्यौहार है लेकिन शिवरात्रि इन सबसे अलग और खास है उसका अपना एक खास महत्व है तो आइए अब जानते हैं शिवरात्रि महाशिवरात्रि क्यों मनाई जाती है हिंदू धर्म में हर माह माह तक महाशिवरात्रि या शिवरात्रि मनाई जाती है लेकिन फाल्गुन माह में आने वाली महाशिवरात्रि का खास महत्व होता है माना जाता है कि इसी दिन भगवान शिव और पार्वती का विवाह हुआ था सूत्रों की मानें तो महाशिवरात्रि की रात की भगवान शिव करोड़ों सूर्य के समान भाव वाले ज्योतिर्लिंग के रूप में प्रकट हुए थे इसके बाद पर हड़ताल फाल्गुन माह के मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि को महाशिवरात्रि का त्यौहार मनाया जाता है कहा तो यह भी जाता है कि मां पार्वती सती का पुनर्जन्म है मां पार्वती शिव के रूप जी को पति के रूप में प्राप्त करना चाहती थी इसके लिए उन्होंने इस टिप्पणी को अपना बनाने के लिए प्रयत्न किए थे भोलेनाथ प्रसन्न नहीं हुए इसके बाद मां पार्वती ने त्रियुगीनारायण से 5 किलोमीटर दूर गौरीकुंड में कठिन साधना की थी और शिव जी को मोह लिया था और इसी दिन शिव और पार्वती का विवाह हुआ था अंत में जानते हैं कि शिवरात्रि का का क्या महत्व है शिवरात्रि आध्यात्मिक पथ पर चलने वाले साधकों के लिए बहुत महत्व रखती है यह उनके लिए भी महत्वपूर्ण है जो पारिवारिक परिस्थितियों में है और संसार की गांव में मांगने हैं पारिवारिक परिस्थितियों में मगन लोग महाशिवरात्रि को स्टेट के विवाह के उत्सव की तरह मनाते हैं सांसारिक महत्वकांक्षी में मांगने लोग महाशिवरात्रि को स्टेट के द्वारा अपने शत्रुओं पर विजय पाने के दिवस के रुप में मनाते हैं हालांकि साधकों के लिए यह वह दिन है जिस दिन में कैलाश पर्वत के साथ एकात्मक हो गए थे एक पर्वत की भारतीय वन निश्चल हो गए थे यौगिक परंपरा में शिव को किसी देवता की तरह नहीं पूछा जाता है उन्हें आदि गुरु माना जाता है पहले गुरु जी जैन से ज्ञान उपजा ध्यान की अनेक पत्र बंदियों के पश्चात 1 दिन में पूर्ण रूप देखकर हो गए वही देना महाशिवरात्रि का था आशा करती हूं आपको सवाल का जवाब मिला होगा मिलती होगी आवाज में रसिया
Namaskaar aasha kar rahee hoon aap sab khairiyat se hain aaj ka prashn poochha hai mahaashivaraatri kyon manaate hain vaastavik kaaran bataie mahaashivaraatri ka parv is saal 11 maarch yaanee guruvaar ko yaanee aaj manaaya ja raha hai mahaashivaraatri parv bhagavaan shiv ke lie rakha jaata hai yoon to shivaraatri jo hai banaee jaatee hai hadataal lekin paan phaalgun maas mein aane vaalee shivaraatri ka khaas mahatv hai is mauke par shraddhaaluon ke mandiron mein rudraabhishek karate hain bahut se log shivaraatri ka vrat karate hain aur raatri ka jaagaran bhee karate hain sadguru bataate hain ki is baat ka khaas mahatv hai aur isaka ham behatar tareeke se istemaal kar sakate hain ham hamaaree bhaarateey sanskrti mein 365 din utsav manae jaane kee parampara hai aur kya kahen ki saal mein kabhee din utsav manaane ke lie kuchh na kuchh bahaana chaahie kabhee ham aitihaasik ghatanaon ko yaad karate hain to kabhee jeet ko yaad karate hain khaas mauke jaise kee kataee buvaee ka jast mana kar svaagat karate hain har paristhiti ke lie hamaare paas har tarah ke tyauhaar hai lekin shivaraatri in sabase alag aur khaas hai usaka apana ek khaas mahatv hai to aaie ab jaanate hain shivaraatri mahaashivaraatri kyon manaee jaatee hai hindoo dharm mein har maah maah tak mahaashivaraatri ya shivaraatri manaee jaatee hai lekin phaalgun maah mein aane vaalee mahaashivaraatri ka khaas mahatv hota hai maana jaata hai ki isee din bhagavaan shiv aur paarvatee ka vivaah hua tha sootron kee maanen to mahaashivaraatri kee raat kee bhagavaan shiv karodon soory ke samaan bhaav vaale jyotirling ke roop mein prakat hue the isake baad par hadataal phaalgun maah ke maas ke krshn paksh kee chaturthee tithi ko mahaashivaraatri ka tyauhaar manaaya jaata hai kaha to yah bhee jaata hai ki maan paarvatee satee ka punarjanm hai maan paarvatee shiv ke roop jee ko pati ke roop mein praapt karana chaahatee thee isake lie unhonne is tippanee ko apana banaane ke lie prayatn kie the bholenaath prasann nahin hue isake baad maan paarvatee ne triyugeenaaraayan se 5 kilomeetar door gaureekund mein kathin saadhana kee thee aur shiv jee ko moh liya tha aur isee din shiv aur paarvatee ka vivaah hua tha ant mein jaanate hain ki shivaraatri ka ka kya mahatv hai shivaraatri aadhyaatmik path par chalane vaale saadhakon ke lie bahut mahatv rakhatee hai yah unake lie bhee mahatvapoorn hai jo paarivaarik paristhitiyon mein hai aur sansaar kee gaanv mein maangane hain paarivaarik paristhitiyon mein magan log mahaashivaraatri ko stet ke vivaah ke utsav kee tarah manaate hain saansaarik mahatvakaankshee mein maangane log mahaashivaraatri ko stet ke dvaara apane shatruon par vijay paane ke divas ke rup mein manaate hain haalaanki saadhakon ke lie yah vah din hai jis din mein kailaash parvat ke saath ekaatmak ho gae the ek parvat kee bhaarateey van nishchal ho gae the yaugik parampara mein shiv ko kisee devata kee tarah nahin poochha jaata hai unhen aadi guru maana jaata hai pahale guru jee jain se gyaan upaja dhyaan kee anek patr bandiyon ke pashchaat 1 din mein poorn roop dekhakar ho gae vahee dena mahaashivaraatri ka tha aasha karatee hoon aapako savaal ka javaab mila hoga milatee hogee aavaaj mein rasiya

और जवाब सुनें

bolkar speaker
महाशिवरात्रि क्यों मनाते हैं वास्तविक कारण बताइए?Mahashivratri Kyo Manate Hai Vastvik Karan Bataiye
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:19
हेलो हैप्पी बंद स्वागत है आपका आपका पर्सनल महाशिवरात्रि क्यों मनाई जाती है वह किस कारण बताइए तो सिर्फ महाशिवरात्रि के दिन शंकर जी और पार्वती जी का विवाह हुआ था इसीलिए महाशिवरात्रि मनाई जाती है और शंकर भगवान और पार्वती जी को मंजन करने के लिए पूजा करी जाती है धन्यवाद
Helo haippee band svaagat hai aapaka aapaka parsanal mahaashivaraatri kyon manaee jaatee hai vah kis kaaran bataie to sirph mahaashivaraatri ke din shankar jee aur paarvatee jee ka vivaah hua tha iseelie mahaashivaraatri manaee jaatee hai aur shankar bhagavaan aur paarvatee jee ko manjan karane ke lie pooja karee jaatee hai dhanyavaad

bolkar speaker
महाशिवरात्रि क्यों मनाते हैं वास्तविक कारण बताइए?Mahashivratri Kyo Manate Hai Vastvik Karan Bataiye
Pradumn kumar Vajpayee Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Pradumn जी का जवाब
Bijneas9369174848
0:26
रजनी महाशिवरात्रि क्यों मनाते हैं वास्तविक कारण बताइए महाशिवरात्रि भगवान शिव का त्यौहार है हिंदू पुराणों के अनुसार किसी दिन सृष्टि के आरंभ में मध्यरात्रि के दौरान भगवान शिव ब्रह्मा से रूद्र रूप में प्रकट हुए थे इसलिए इस दिन को महाशिवरात्रि कहा जाता है और उसकी अभी बात है कि इसी दिन भगवान शिव और पार्वती का विवाह हुआ था धन्यवाद
Rajanee mahaashivaraatri kyon manaate hain vaastavik kaaran bataie mahaashivaraatri bhagavaan shiv ka tyauhaar hai hindoo puraanon ke anusaar kisee din srshti ke aarambh mein madhyaraatri ke dauraan bhagavaan shiv brahma se roodr roop mein prakat hue the isalie is din ko mahaashivaraatri kaha jaata hai aur usakee abhee baat hai ki isee din bhagavaan shiv aur paarvatee ka vivaah hua tha dhanyavaad

bolkar speaker
महाशिवरात्रि क्यों मनाते हैं वास्तविक कारण बताइए?Mahashivratri Kyo Manate Hai Vastvik Karan Bataiye
NeelamAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए NeelamAwasthi जी का जवाब
I am housewife
1:45
कमाल है महाशिवरात्रि क्यों मनाते हैं वास्तविक कारण बताइए देखिए पौराणिक और धार्मिक मान्यता के अनुसार इन 3 कारणों से महाशिवरात्रि पर्व मनाया जाता है जिसमें शिव पार्वती का विवाह सबसे ज्यादा प्रचलित है इस कारण से महाशिवरात्रि को कई स्थानों पर रात्रि में शिव बारात भी निकाली जाती है महाशिवरात्रि इन तीनों वजह से मनाई जाती है माता पार्वती और भगवान शिव का विवाह फाल्गुन मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को हुई थी इस तिथि को भगवान शिव और माता पार्वती के महामिलन के उत्सव के रूप में मनाते हैं महाशिवरात्रि के दिन शिव पार्वती का विवाह होने से इसका महत्व ज्यादा कहा जाता है कि इस दिन भगवान शिव की पूजा करने से वह जल्द प्रसन्न होते हैं एक मान्यता यह भी है कि महाशिवरात्रि का व्रत रखने से विवाह में आ रही अड़चनें दूर होती हैं दुआ जल्द होता है महाशिवरात्रि का पर्व भारत के सभी प्रदेशों में धूमधाम से मनाया जाता है भारत के साथ नेपाल मॉरिशस सहित दुनिया के कई अन्य देशों में भी महाशिवरात्रि का पर्व उत्साह पूर्वक मनाया जाता है महाशिवरात्रि का व्रत फाल्गुन मास की कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी को किया जाता है महाशिवरात्रि भगवान शिव का त्योहार है हिंदू पुराणों के अनुसार इसी दिन सृष्टि के आरंभ में मध्य रात्रि में भगवान शिव ब्रह्मा से रुद्र के रूप में प्रकट हुए थे इसीलिए इस दिन को महाशिवरात्रि कहा जाता है धन्यवाद
Kamaal hai mahaashivaraatri kyon manaate hain vaastavik kaaran bataie dekhie pauraanik aur dhaarmik maanyata ke anusaar in 3 kaaranon se mahaashivaraatri parv manaaya jaata hai jisamen shiv paarvatee ka vivaah sabase jyaada prachalit hai is kaaran se mahaashivaraatri ko kaee sthaanon par raatri mein shiv baaraat bhee nikaalee jaatee hai mahaashivaraatri in teenon vajah se manaee jaatee hai maata paarvatee aur bhagavaan shiv ka vivaah phaalgun maas kee krshn paksh kee chaturdashee tithi ko huee thee is tithi ko bhagavaan shiv aur maata paarvatee ke mahaamilan ke utsav ke roop mein manaate hain mahaashivaraatri ke din shiv paarvatee ka vivaah hone se isaka mahatv jyaada kaha jaata hai ki is din bhagavaan shiv kee pooja karane se vah jald prasann hote hain ek maanyata yah bhee hai ki mahaashivaraatri ka vrat rakhane se vivaah mein aa rahee adachanen door hotee hain dua jald hota hai mahaashivaraatri ka parv bhaarat ke sabhee pradeshon mein dhoomadhaam se manaaya jaata hai bhaarat ke saath nepaal morishas sahit duniya ke kaee any deshon mein bhee mahaashivaraatri ka parv utsaah poorvak manaaya jaata hai mahaashivaraatri ka vrat phaalgun maas kee krshn paksh kee trayodashee ko kiya jaata hai mahaashivaraatri bhagavaan shiv ka tyohaar hai hindoo puraanon ke anusaar isee din srshti ke aarambh mein madhy raatri mein bhagavaan shiv brahma se rudr ke roop mein prakat hue the iseelie is din ko mahaashivaraatri kaha jaata hai dhanyavaad

bolkar speaker
महाशिवरात्रि क्यों मनाते हैं वास्तविक कारण बताइए?Mahashivratri Kyo Manate Hai Vastvik Karan Bataiye
Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
0:44
आपका सवाल है कि महाशिवरात्रि क्यों मनाई जाती है वास्तविक कारण क्या है तो महाशिवरात्रि भगवान शिव और शक्ति की मिलन की रात है आधुनिक रूप से इसे देखा जाए तो प्रकृति और पुरुष के मिलन की रात के रूप में भी जताया जाता है और यह फागुन महीने की मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को मनाई जाती है वह अभी वह 4 मार्च सोमवार को है तो आप सभी को महाशिवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाएं धन्यवाद
Aapaka savaal hai ki mahaashivaraatri kyon manaee jaatee hai vaastavik kaaran kya hai to mahaashivaraatri bhagavaan shiv aur shakti kee milan kee raat hai aadhunik roop se ise dekha jae to prakrti aur purush ke milan kee raat ke roop mein bhee jataaya jaata hai aur yah phaagun maheene kee maas kee krshn paksh kee chaturdashee ko manaee jaatee hai vah abhee vah 4 maarch somavaar ko hai to aap sabhee ko mahaashivaraatri kee haardik shubhakaamanaen dhanyavaad

bolkar speaker
महाशिवरात्रि क्यों मनाते हैं वास्तविक कारण बताइए?Mahashivratri Kyo Manate Hai Vastvik Karan Bataiye
DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
1:13
शिवरात्रि क्यों मनाते हैं मासी कारण बताइए महाशिवरात्रि मनाने का मूल कारण यह है कि भगवान शिव का माता पार्वती से विवाह संपन्न हुआ था यह भी हमारी हिंदू धर्म के अनुसार टी-20 है और यह कथा प्रचलित है इसलिए भगवान शिव के विवाह के उपलक्ष में महाशिवरात्रि का पूजन किया जाता है यह भी कहा जाता है कि पार्वती जी ने हजारों साल तक करके भगवान शिव को वर्क के रूप में स्वीकार किया था इस विषय में बहुत स्वीकृत बनती है लेकिन भगवान शिव को पति के रूप में स्वीकार करने का और इस उत्सव को भगवान शिव की पूजा आराधना के रूप में मनाने का एक हिंदू धर्म में पारंपरिक संस्कार है यह मान के चलिए यह हिंदुओं का एक अच्छा उपवास व्रत और त्योहार
Shivaraatri kyon manaate hain maasee kaaran bataie mahaashivaraatri manaane ka mool kaaran yah hai ki bhagavaan shiv ka maata paarvatee se vivaah sampann hua tha yah bhee hamaaree hindoo dharm ke anusaar tee-20 hai aur yah katha prachalit hai isalie bhagavaan shiv ke vivaah ke upalaksh mein mahaashivaraatri ka poojan kiya jaata hai yah bhee kaha jaata hai ki paarvatee jee ne hajaaron saal tak karake bhagavaan shiv ko vark ke roop mein sveekaar kiya tha is vishay mein bahut sveekrt banatee hai lekin bhagavaan shiv ko pati ke roop mein sveekaar karane ka aur is utsav ko bhagavaan shiv kee pooja aaraadhana ke roop mein manaane ka ek hindoo dharm mein paaramparik sanskaar hai yah maan ke chalie yah hinduon ka ek achchha upavaas vrat aur tyohaar

bolkar speaker
महाशिवरात्रि क्यों मनाते हैं वास्तविक कारण बताइए?Mahashivratri Kyo Manate Hai Vastvik Karan Bataiye
pari Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए pari जी का जवाब
Unknown
0:43
ई बैंकिंग क्या का महाशिवरात्रि क्यों मनाते हैं विस्तार से बताइए कि चतुर्थी को महाशिवरात्रि का त्यौहार मनाया जाता है महाशिवरात्रि का महत्व इस महाशिवरात्रि का महत्व इसलिए है क्योंकि यह शिव और शक्ति की मिलन की रात है आध्यात्मिक रूप से इसे प्राकृतिक और पुरुष के मिलन की रात के रूप में बताया जाता है एवं इस दिन व्रत रखकर अपना आराध्या का आशीर्वाद प्राप्त करते हैं थैंक यू फ्रेंड
Ee bainking kya ka mahaashivaraatri kyon manaate hain vistaar se bataie ki chaturthee ko mahaashivaraatri ka tyauhaar manaaya jaata hai mahaashivaraatri ka mahatv is mahaashivaraatri ka mahatv isalie hai kyonki yah shiv aur shakti kee milan kee raat hai aadhyaatmik roop se ise praakrtik aur purush ke milan kee raat ke roop mein bataaya jaata hai evan is din vrat rakhakar apana aaraadhya ka aasheervaad praapt karate hain thaink yoo phrend

bolkar speaker
महाशिवरात्रि क्यों मनाते हैं वास्तविक कारण बताइए?Mahashivratri Kyo Manate Hai Vastvik Karan Bataiye
मनीष कुमार Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए मनीष जी का जवाब
किसान
1:01
आपको बताना चाहता हूं कि महाशिवरात्रि का पर्व को मनाते हैं महाशिवरात्रि महाशिवरात्रि फाल्गुन मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को मनाया जाता है और आज ही के दिन भगवान शिव जी पहली बार प्रकट हुए थे और शिव और शक्ति का मिलन होता है आध्यात्मिक रूप से ही माना गया है और महाशिवरात्रि के दिन भगवान शिव को जल अभिषेक किया जाता है शिवलिंग पर अभिषेक होता है दिनभर पूजा-पाठ होते हैं और उनकी आराधना पूजा की जाती है और भगवान शंकर भगवान को जल चढ़ाते उनकी पूजा की जाती है शिव महाशिवरात्रि हमेशा फाल्गुन मास में कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को मनाई जाती है आध्यात्मिक रूप से तो यह माना गया है कि वह शक्ति का मिलन होता है
Aapako bataana chaahata hoon ki mahaashivaraatri ka parv ko manaate hain mahaashivaraatri mahaashivaraatri phaalgun maas kee krshn paksh kee chaturdashee ko manaaya jaata hai aur aaj hee ke din bhagavaan shiv jee pahalee baar prakat hue the aur shiv aur shakti ka milan hota hai aadhyaatmik roop se hee maana gaya hai aur mahaashivaraatri ke din bhagavaan shiv ko jal abhishek kiya jaata hai shivaling par abhishek hota hai dinabhar pooja-paath hote hain aur unakee aaraadhana pooja kee jaatee hai aur bhagavaan shankar bhagavaan ko jal chadhaate unakee pooja kee jaatee hai shiv mahaashivaraatri hamesha phaalgun maas mein krshn paksh kee chaturdashee ko manaee jaatee hai aadhyaatmik roop se to yah maana gaya hai ki vah shakti ka milan hota hai

bolkar speaker
महाशिवरात्रि क्यों मनाते हैं वास्तविक कारण बताइए?Mahashivratri Kyo Manate Hai Vastvik Karan Bataiye
Ganga Asati Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ganga जी का जवाब
Unknown
0:16
महाशिवरात्रि क्यों मनाते हैं उसके वश में करने वाला शिवरात्रि बनाते हैं क्योंकि सिर्फ भगवान शिव और माता पार्वती जी चौथा टेस्ट करके जो मनोकामना मांगते वह अपनी होती है

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • महाशिवरात्रि क्यों मनाते हैं, महाशिवरात्रि मनाने का कारण, शिवरात्रि का महत्व, शिवरात्रि की कथा
URL copied to clipboard