#जीवन शैली

bolkar speaker

किस अवस्था में मनुष्य का मन विचार शून्य हो जाता है?

Kis Awastha Me Manushy Ka Man Vichar Shuny Ho Jata Hai
pushpanjali patel Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए pushpanjali जी का जवाब
Student with micro finance bank employee
1:16
मैंने तारा कटारा की तरह हमें मणिकंदन विचार हो जाता है लेकिन जो बच्चे की जान की बाजी होती है आज तक उनका जो विचार होता है वह बिल्कुल की बात जो जाने के लिए ज्यादा होती है वह बचपन में बहुत ज्यादा होती है लेकिन एक बोतल के बाद कुछ नहीं कहती है तुम बचपन बचपन में बहुत ही ज्यादा जन्म से लेकर के 1 साल तक हम लोगों ने किया था कह सकते हैं और झूठा था कि बात करें तो वहां पर जो मनुष्य तू ने नहीं कहा जा सकता क्योंकि उनके मन में एकदम विपरीत विचार चलती रहती है कि किस प्रकार के मारे जाने के बाद ही होगा वह होगा और हम उनके पत्नी कैसे होते हैं इसलिए हमें नहीं कह सकते हैं हिंदी में सुनो यह तो मैं कहूं कि बचपन से लेकर 1 साल तक हो सकती है क्या सवाल का जवाब चाहिए
Mainne taara kataara kee tarah hamen manikandan vichaar ho jaata hai lekin jo bachche kee jaan kee baajee hotee hai aaj tak unaka jo vichaar hota hai vah bilkul kee baat jo jaane ke lie jyaada hotee hai vah bachapan mein bahut jyaada hotee hai lekin ek botal ke baad kuchh nahin kahatee hai tum bachapan bachapan mein bahut hee jyaada janm se lekar ke 1 saal tak ham logon ne kiya tha kah sakate hain aur jhootha tha ki baat karen to vahaan par jo manushy too ne nahin kaha ja sakata kyonki unake man mein ekadam vipareet vichaar chalatee rahatee hai ki kis prakaar ke maare jaane ke baad hee hoga vah hoga aur ham unake patnee kaise hote hain isalie hamen nahin kah sakate hain hindee mein suno yah to main kahoon ki bachapan se lekar 1 saal tak ho sakatee hai kya savaal ka javaab chaahie

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • इंशान का दिमाग कब काम करना बंद कर देता है, किस अवस्था में मनुष्य सोचना बंद कर देता है
URL copied to clipboard