#खेल कूद

KamalKishorAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 55
सुनिए KamalKishorAwasthi जी का जवाब
Unknown
2:06
सवाल ही भारत के किस राज्य में शेखावाटी जिला है और यह किस दृष्टि से महत्वपूर्ण माना जाता है देखिए सीकर जिला भारत के राजस्थान प्रांत का एक जिला है या जिला शेखावाटी के नाम से भी जाना जाता है या प्राकृतिक दृष्टि से महत्वपूर्ण से महत्वपूर्ण है सीकर श्रीमाधोपुर नीमकाथाना फतेहपुर शेखावाटी जिले के सबसे बड़े शहर व तहसील है यहां पर तरह तरह की प्राकृतिक रंग देखने को मिलते हैं सीकर जिले को वीरभान ने बताया और वीरभान का बास सीकर का पुराना नाम दिया राजा माधव सिंह जी ने वर्तमान स्वरूप प्रदान किया और सीकर नाम दिया इन्होंने छल करके कांसली गांव के राजा श्री गणेश जी की मूर्ति जीती यह मूर्ति का असली के राजा को एक संत द्वारा भेंट की गई थी इस मूर्ति की प्राप्ति के बाद कांसली गांव अभी जय था कई बार सीकर के राजा ने कांसली को जीतने का प्रयास किया लेकिन बाद में गुप्त चोरों के जरिए जब इसके बारे में सूचना हासिल हुई तो उसने एक विश्वसनीय सैनिक को साधु का भेष बनाकर कांसली भेजा और छल से यह मूर्ति हासिल की तथा अभी सुबह कांसली पर आक्रमण कर विजय हासिल की छल से मूर्ति प्राप्त करने और विजय हासिल करने के बाद सीकर राजानी महल के सामने गणेश जी का मंदिर भी बनवाया जो कि आज भी सुभाष चौक दीक्षित है राजा ने गोपीनाथ जी का मंदिर भी बनवाया था सीकर की रामलीला बहुत ही प्रसिद्ध है पूरे शेखावटी में इस रामलीला मंचन को भी राजा ने शुरू कर और अभिषेक सांस्कृतिक मंडल नामक संस्था चलाती है धन्यवाद
Savaal hee bhaarat ke kis raajy mein shekhaavaatee jila hai aur yah kis drshti se mahatvapoorn maana jaata hai dekhie seekar jila bhaarat ke raajasthaan praant ka ek jila hai ya jila shekhaavaatee ke naam se bhee jaana jaata hai ya praakrtik drshti se mahatvapoorn se mahatvapoorn hai seekar shreemaadhopur neemakaathaana phatehapur shekhaavaatee jile ke sabase bade shahar va tahaseel hai yahaan par tarah tarah kee praakrtik rang dekhane ko milate hain seekar jile ko veerabhaan ne bataaya aur veerabhaan ka baas seekar ka puraana naam diya raaja maadhav sinh jee ne vartamaan svaroop pradaan kiya aur seekar naam diya inhonne chhal karake kaansalee gaanv ke raaja shree ganesh jee kee moorti jeetee yah moorti ka asalee ke raaja ko ek sant dvaara bhent kee gaee thee is moorti kee praapti ke baad kaansalee gaanv abhee jay tha kaee baar seekar ke raaja ne kaansalee ko jeetane ka prayaas kiya lekin baad mein gupt choron ke jarie jab isake baare mein soochana haasil huee to usane ek vishvasaneey sainik ko saadhu ka bhesh banaakar kaansalee bheja aur chhal se yah moorti haasil kee tatha abhee subah kaansalee par aakraman kar vijay haasil kee chhal se moorti praapt karane aur vijay haasil karane ke baad seekar raajaanee mahal ke saamane ganesh jee ka mandir bhee banavaaya jo ki aaj bhee subhaash chauk deekshit hai raaja ne gopeenaath jee ka mandir bhee banavaaya tha seekar kee raamaleela bahut hee prasiddh hai poore shekhaavatee mein is raamaleela manchan ko bhee raaja ne shuroo kar aur abhishek saanskrtik mandal naamak sanstha chalaatee hai dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • शेखावाटी जिला कहा पर है, शेखावाटी जिलें को खास बात क्या है, शेखावाटी क्यो मशहूर है
  • राजस्थान के वर्तमान सीकर और झुंझुनू जिले शेखावाटी ,भारत के किस राज्य में शेखावाटी जिला है,राजस्थान राज्य
URL copied to clipboard