#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker

क्या अहंकार की सीमा होती है?

Kya Ahankaar Ki Seema Hoti Hai
DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
0:57
अहंकार की सीमा होती है बिल्कुल नहीं होती और समाज की तरह कह रहा आज की तरह ऊंचा विस्तृत होता है उस ओमकार कीर्तन में इंसान इतना अंधा हो जाता है कि उसको सच्चाई पर इतना ज्ञान अज्ञान का कोई इंटरनेशनल था उसी दिन रात में कोई फर्क नजर नहीं आता सही हो गलत से कोई फर्क नजर नहीं आता क्योंकि इंकारी व्यक्ति या मनमानी करने वाला व्यक्ति या अपना कंपनी वाला व्यक्ति या अपनी नजरिया से एक तरफा को तिरस्कार करते हुए सो जाना बे थे ना केवल इंकारी हो जाता है बल्कि तब भी होता है और उसकी कोई सीमा नहीं होती
Ahankaar kee seema hotee hai bilkul nahin hotee aur samaaj kee tarah kah raha aaj kee tarah ooncha vistrt hota hai us omakaar keertan mein insaan itana andha ho jaata hai ki usako sachchaee par itana gyaan agyaan ka koee intaraneshanal tha usee din raat mein koee phark najar nahin aata sahee ho galat se koee phark najar nahin aata kyonki inkaaree vyakti ya manamaanee karane vaala vyakti ya apana kampanee vaala vyakti ya apanee najariya se ek tarapha ko tiraskaar karate hue so jaana be the na keval inkaaree ho jaata hai balki tab bhee hota hai aur usakee koee seema nahin hotee

और जवाब सुनें

bolkar speaker
क्या अहंकार की सीमा होती है?Kya Ahankaar Ki Seema Hoti Hai
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:20
हेलो फ्रेंड स्वागत है आपका आप कमलेश को क्या इंकार की सीमा होनी है तो फ्रेंड फ्रेंड कार्ड की कोई सीमा नहीं होती है जिस जो व्यक्ति ऐंकारी हो जाता है तो वह अपना ऐंकारी दिखाता रहता है उसकी कोई भी सीमा नहीं होती है तो फ्रेंड सागर आपको मेरी जवाब पसंद आए तो लाइक जरूर करिएगा धन्यवाद
Helo phrend svaagat hai aapaka aap kamalesh ko kya inkaar kee seema honee hai to phrend phrend kaard kee koee seema nahin hotee hai jis jo vyakti ainkaaree ho jaata hai to vah apana ainkaaree dikhaata rahata hai usakee koee bhee seema nahin hotee hai to phrend saagar aapako meree javaab pasand aae to laik jaroor kariega dhanyavaad

bolkar speaker
क्या अहंकार की सीमा होती है?Kya Ahankaar Ki Seema Hoti Hai
Amit Singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Amit जी का जवाब
Student
0:50
नमस्कार दोस्तों कैसे हैं सब आने की सीमा होती है हमारे हिसाब से तो आकर की कोई सीमा नहीं होनी चाहिए ना होती है क्योंकि अहंकार कोई मतलब जरूरी थोड़ी ना होता है कि हम निश्चित सीमा तक अहंकार करें हमारी सबसे सोनकर बिल्कुल करना ही नहीं चाहिए क्योंकि हम घर में अपने दूसरे का नहीं बिगाड़ दिया खुद को मैं लोगों अपने आप पर कंट्रोल में रख अपने अपना अपना ही मतलब हर चीज खो देते हैं यानी कि नहीं देखा जाता है कि जिस प्रकार से दिल दिमाग होते जिस भी चीज में लग जाती है तो उसे अंदर ही अंदर खोखला कर देती ठीक उसी प्रकार से अगर कर देती तुम दूसरों को नुकसान पहुंचा करो सॉन्ग को नुकसान तो मैं तुमसे मिलकर हम भी अंतरंग खुले हो जाते हैं तुम्हारे प्यार की कोई सीमा होती नहीं है हमें बिल्कुल करना ही नहीं चाहिए सवाल का जवाब अच्छा लगा होगा धन्यवाद
Namaskaar doston kaise hain sab aane kee seema hotee hai hamaare hisaab se to aakar kee koee seema nahin honee chaahie na hotee hai kyonki ahankaar koee matalab jarooree thodee na hota hai ki ham nishchit seema tak ahankaar karen hamaaree sabase sonakar bilkul karana hee nahin chaahie kyonki ham ghar mein apane doosare ka nahin bigaad diya khud ko main logon apane aap par kantrol mein rakh apane apana apana hee matalab har cheej kho dete hain yaanee ki nahin dekha jaata hai ki jis prakaar se dil dimaag hote jis bhee cheej mein lag jaatee hai to use andar hee andar khokhala kar detee theek usee prakaar se agar kar detee tum doosaron ko nukasaan pahuncha karo song ko nukasaan to main tumase milakar ham bhee antarang khule ho jaate hain tumhaare pyaar kee koee seema hotee nahin hai hamen bilkul karana hee nahin chaahie savaal ka javaab achchha laga hoga dhanyavaad

bolkar speaker
क्या अहंकार की सीमा होती है?Kya Ahankaar Ki Seema Hoti Hai
Ganga Asati Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ganga जी का जवाब
Unknown
0:22
यह है कि क्या एंकर की सीमा होती है तो एंकर की कोई सीमा नहीं होती है लोग जानकारी हो जाती है तो वह हर चीज में सिर्फ उसका मतलब ढूंढते हैं और उसी को सेट करना चाहते हैं दूसरी का मतलब तो देखते ही नहीं है या फिर दूसरे की अच्छाई तो दिखते नहीं उन्हें कोई मतलब ही नहीं रहता कि दूसरा है कि ऐसा अच्छा भी है कि खराब है
Yah hai ki kya enkar kee seema hotee hai to enkar kee koee seema nahin hotee hai log jaanakaaree ho jaatee hai to vah har cheej mein sirph usaka matalab dhoondhate hain aur usee ko set karana chaahate hain doosaree ka matalab to dekhate hee nahin hai ya phir doosare kee achchhaee to dikhate nahin unhen koee matalab hee nahin rahata ki doosara hai ki aisa achchha bhee hai ki kharaab hai

bolkar speaker
क्या अहंकार की सीमा होती है?Kya Ahankaar Ki Seema Hoti Hai
vijay singh Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए vijay जी का जवाब
Social worker in india
1:08
आकाश वाले इस प्रकार से क्या अहंकार की सीमा होती है तो दोस्तों आपके सवाल का उत्तर इस प्रकार है नहीं कार की भी सीमा होती है सरकार ज्यादा दिन तक नहीं चल सकता है इसलिए हर इंसान को कभी कम नहीं करना चाहिए क्योंकि मनुष्य का जीवन हमेशा परिवर्तन होता रहता है कभी दिन कभी रात होता है उसी प्रकार से हमारे जिंदगी में कभी सुख आता है कभी दुख आता है इसलिए अपने आपके पर कभी घमंड नहीं करना चाहिए क्योंकि जिंदगी का पता नहीं कब क्या हो जाए इसलिए मुझे को हमेशा रहेगा की सीमा में हीरोइन आती है कार को ज्यादा नींद आना चाहिए नहीं तो बेकार की वजह से आपका बहुत ही नुकसान हो सकता है इसलिए इंकार कि वह चेक उदाहरण है इन के माध्यम से अमृता मेघवाल इसलिए हमेशा की सीमा होती है जवां दोस्तों खुश रहो
Aakaash vaale is prakaar se kya ahankaar kee seema hotee hai to doston aapake savaal ka uttar is prakaar hai nahin kaar kee bhee seema hotee hai sarakaar jyaada din tak nahin chal sakata hai isalie har insaan ko kabhee kam nahin karana chaahie kyonki manushy ka jeevan hamesha parivartan hota rahata hai kabhee din kabhee raat hota hai usee prakaar se hamaare jindagee mein kabhee sukh aata hai kabhee dukh aata hai isalie apane aapake par kabhee ghamand nahin karana chaahie kyonki jindagee ka pata nahin kab kya ho jae isalie mujhe ko hamesha rahega kee seema mein heeroin aatee hai kaar ko jyaada neend aana chaahie nahin to bekaar kee vajah se aapaka bahut hee nukasaan ho sakata hai isalie inkaar ki vah chek udaaharan hai in ke maadhyam se amrta meghavaal isalie hamesha kee seema hotee hai javaan doston khush raho

bolkar speaker
क्या अहंकार की सीमा होती है?Kya Ahankaar Ki Seema Hoti Hai
J.P. Y👌g i Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए J.P. जी का जवाब
Unknown
5:00
समय क्या है कार्यक्रम कार्यक्रम का विरोध होना चाहिए कभी नाश करने का किसी महिला संभालते हैं प्राणी प्रवचन में देखा जाता है मानव ठीक और ज्ञान की धारा ओपन शॉट कहां सुल्तान के साथ उसके कार्य किया था हमने उसको दिखाने के लिए प्रभावी बनाता है जिसके अंदर राशि और नाम की प्रक्रिया प्रवीण सरपंच साथियों आप ही के लिए मिलता है पहचानो पहचानो प्रभाव को कम करने के लिए संक्रांति दमन के सभी प्रश्नों पर सूजन आना चाहता है उसकी फोटो नहीं आने की क्षमता को बढ़ाता है मानव कल्याण आश्रम चंद्रावल की चौथी सुरजन चेतन के हिसाब से संपर्क करते हुए और 60 साल की कलम की शुक्रवार को संपन्न है या नवरात्रि का सांभर सकता हूं नर्मदा के प्रधानमंत्रियों प्रमोशन कार्यक्रम में क्या फर्क है

bolkar speaker
क्या अहंकार की सीमा होती है?Kya Ahankaar Ki Seema Hoti Hai
Nikhil Ranjan Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Programme Coordinator at National Institute of Electronics & Information Technology (NIELIT)
0:28
नमस्कार आपका प्रश्न का इंकार की सीमा होती है तो आंखों बता देना कि नहीं कार क्या है एक भाव है और भाव जहां पर आ जाते हैं वहां पर कोई सीमा नहीं होती वह अनंत हो सकता है तो यहां पर अगर किसी के अंदर इंकार का भाव आ गया है तो वह कुछ भी कर सकता है कितना भी कर सकता है तो यहां पर स्वयं व्यक्ति को ऐसे लोगों से बच के रहना चाहिए मैं शुभकामनाएं आपके साथ हैं धन्यवाद
Namaskaar aapaka prashn ka inkaar kee seema hotee hai to aankhon bata dena ki nahin kaar kya hai ek bhaav hai aur bhaav jahaan par aa jaate hain vahaan par koee seema nahin hotee vah anant ho sakata hai to yahaan par agar kisee ke andar inkaar ka bhaav aa gaya hai to vah kuchh bhee kar sakata hai kitana bhee kar sakata hai to yahaan par svayan vyakti ko aise logon se bach ke rahana chaahie main shubhakaamanaen aapake saath hain dhanyavaad

bolkar speaker
क्या अहंकार की सीमा होती है?Kya Ahankaar Ki Seema Hoti Hai
Anand Patel Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Anand जी का जवाब
Mathematics Teacher
0:27
सवाल है क्या अहंकार की सीमा होती है तो देखिए अहंकार न्यू है बहुत ही असीमित वस्तु है आप अहंकार कोई गलती करता है तो उसका हंकार बढ़ता ही चला जाता है इसकी कोई सीमा नहीं होती है इसलिए हमें अहंकार नहीं करना चाहिए किसी भी चीज पर किसी भी बात पर या किसी भी व्यक्ति विशेष पर उसकी आज शॉप पर या हमें किसी भी सफलता को सफल होने पर हमें इंकार नहीं करना चाहिए
Savaal hai kya ahankaar kee seema hotee hai to dekhie ahankaar nyoo hai bahut hee aseemit vastu hai aap ahankaar koee galatee karata hai to usaka hankaar badhata hee chala jaata hai isakee koee seema nahin hotee hai isalie hamen ahankaar nahin karana chaahie kisee bhee cheej par kisee bhee baat par ya kisee bhee vyakti vishesh par usakee aaj shop par ya hamen kisee bhee saphalata ko saphal hone par hamen inkaar nahin karana chaahie

bolkar speaker
क्या अहंकार की सीमा होती है?Kya Ahankaar Ki Seema Hoti Hai
NeelamAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए NeelamAwasthi जी का जवाब
I am housewife
1:10
अहंकार की सीमा होती है देखिए अहंकार एक एहसास है जितने व्यक्ति की ऐसी सोच हो जाती है कि बहुत कुछ हमारे कंट्रोल में है मैं समर्थन जारी व्यक्ति गुब्बारे की तरह फूलता ही रहता है रंकार का सबसे बड़ा अरबिया है कि अहंकारी व्यक्ति अपनों से तो दूर होता ही जाता है गुजरते समय के साथ हुआ अपने आप से भी दूर हो जाता है जब आप किसी ऐसी स्थिति में पहुंच जाते हैं जहां ना आपका पैसा आपकी मदद कर पाए और ना आप का रुतबा जैसे कि किसी को कोई लाइलाज बीमारी हो जाए कोई बाढ़ में फंस जाए या भूचाल आ जाए ऐसी स्थिति में व्यक्ति को एहसास होता है कि उनको कितना आता है कुछ भी उसके बस में नहीं है प्राकृतिक आपदा ऐसी विषम परिस्थितियों में जब व्यक्ति को यह एहसास होता है कि दरअसल कुछ भी उसके कंट्रोल में नहीं है उसका अधिकार लुप्त हो जाता है धन्यवाद
Ahankaar kee seema hotee hai dekhie ahankaar ek ehasaas hai jitane vyakti kee aisee soch ho jaatee hai ki bahut kuchh hamaare kantrol mein hai main samarthan jaaree vyakti gubbaare kee tarah phoolata hee rahata hai rankaar ka sabase bada arabiya hai ki ahankaaree vyakti apanon se to door hota hee jaata hai gujarate samay ke saath hua apane aap se bhee door ho jaata hai jab aap kisee aisee sthiti mein pahunch jaate hain jahaan na aapaka paisa aapakee madad kar pae aur na aap ka rutaba jaise ki kisee ko koee lailaaj beemaaree ho jae koee baadh mein phans jae ya bhoochaal aa jae aisee sthiti mein vyakti ko ehasaas hota hai ki unako kitana aata hai kuchh bhee usake bas mein nahin hai praakrtik aapada aisee visham paristhitiyon mein jab vyakti ko yah ehasaas hota hai ki darasal kuchh bhee usake kantrol mein nahin hai usaka adhikaar lupt ho jaata hai dhanyavaad

bolkar speaker
क्या अहंकार की सीमा होती है?Kya Ahankaar Ki Seema Hoti Hai
Pooja prajapati Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Pooja जी का जवाब
Student
2:10

bolkar speaker
क्या अहंकार की सीमा होती है?Kya Ahankaar Ki Seema Hoti Hai
Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
1:33
इंकार की सीमा होती है दोस्तों कोई भी बुराई होती है उसकी कोई सीमा नहीं होती है जो भी अच्छा ही है उनकी भी कोई सीमा नहीं होती क्योंकि हम जानते हैं की आरजू थी कोई सीमा नहीं होती है दोस्तों कुछ भी जो चीजें होती है कार की पुष्टि मां तो उसकी सिम आ गई है कि जब भी कोई लड़की इंकार कर रहा है जब मर जाएगा तो उसका एंकर किस काम का जिस चीज के ऊपर कर रहा है उसके पास है उसको साथ लेकर निश्चित को कोई नहीं रोक सकता एंड की जांच की जाए दोस्तों सकता है अगर आपको इस चीज के लिए हो सकता है कि दूसरों के मुकाबले आपके पास जमीन दर्द है अगर आपको कैसी हो सकता है कि आप ज्यादा बलिष्ठ माने इमो की बात करें तो इनकी मां नहीं होती है वह आपको और भी ज्यादा अहंकारी बनाता है और आपकी जो भी आने की समय वह आपको बर्बाद हो ही रहा है क्या पहन कर
Inkaar kee seema hotee hai doston koee bhee buraee hotee hai usakee koee seema nahin hotee hai jo bhee achchha hee hai unakee bhee koee seema nahin hotee kyonki ham jaanate hain kee aarajoo thee koee seema nahin hotee hai doston kuchh bhee jo cheejen hotee hai kaar kee pushti maan to usakee sim aa gaee hai ki jab bhee koee ladakee inkaar kar raha hai jab mar jaega to usaka enkar kis kaam ka jis cheej ke oopar kar raha hai usake paas hai usako saath lekar nishchit ko koee nahin rok sakata end kee jaanch kee jae doston sakata hai agar aapako is cheej ke lie ho sakata hai ki doosaron ke mukaabale aapake paas jameen dard hai agar aapako kaisee ho sakata hai ki aap jyaada balishth maane imo kee baat karen to inakee maan nahin hotee hai vah aapako aur bhee jyaada ahankaaree banaata hai aur aapakee jo bhee aane kee samay vah aapako barbaad ho hee raha hai kya pahan kar

bolkar speaker
क्या अहंकार की सीमा होती है?Kya Ahankaar Ki Seema Hoti Hai
anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
1:03
नमस्कार दोस्तों बोलकर आप में स्वागत है सवाल है कि क्या इंकार की सीमा होती है यह नहीं होती है कार मनुष्य में कितना भी हो सकता है कभी भी वह मनुष्य के अंदर कभी भी अहंकार हो सकता और वह मारेगा तब तक भी उसके पड़ोस के अंत तक देश की आन का रहेगा उसके दिमाग में उसके दिमाग और दिल में और अहंकार को निकालना बहुत मुश्किल है पर जिस इंसान के अंदर अहंकार चला जाए अन्य कार हो जाए तो उसे निशान कार से निकालना बहुत मुश्किल है उसके लिए पैसे भी देना पड़े तब भी वह सफल नहीं हो पाता क्योंकि आकार 1 दिन सही रहेगा तो फिर अगले दिन दोबारा वैसा का वैसा हो जाएगा वह इंसान इसलिए आकार की कोई सीमा नहीं होती
Namaskaar doston bolakar aap mein svaagat hai savaal hai ki kya inkaar kee seema hotee hai yah nahin hotee hai kaar manushy mein kitana bhee ho sakata hai kabhee bhee vah manushy ke andar kabhee bhee ahankaar ho sakata aur vah maarega tab tak bhee usake pados ke ant tak desh kee aan ka rahega usake dimaag mein usake dimaag aur dil mein aur ahankaar ko nikaalana bahut mushkil hai par jis insaan ke andar ahankaar chala jae any kaar ho jae to use nishaan kaar se nikaalana bahut mushkil hai usake lie paise bhee dena pade tab bhee vah saphal nahin ho paata kyonki aakaar 1 din sahee rahega to phir agale din dobaara vaisa ka vaisa ho jaega vah insaan isalie aakaar kee koee seema nahin hotee

bolkar speaker
क्या अहंकार की सीमा होती है?Kya Ahankaar Ki Seema Hoti Hai
Harender Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Harender जी का जवाब
As School administration & Principal
0:32
कंकर की सीमा होती है देखे बिल्कुल नहीं अंकल की कोई सीमा नहीं है नगर हंकार को आमंत्रित कर लेते हैं तब तो बहुत सारी चीजें हैं अगर नियंत्रित नहीं कर लेते हैं तो कोई भी सीमा नहीं क्योंकि अहंकार जिसके अंदर आ जाता है और वह तभी जाता है जब उसका अंत हो जाता और अहंकार जब बढ़ता चला जाता है तब भी उसकी महत्वाकांक्षा बढ़ती चली जाती
Kankar kee seema hotee hai dekhe bilkul nahin ankal kee koee seema nahin hai nagar hankaar ko aamantrit kar lete hain tab to bahut saaree cheejen hain agar niyantrit nahin kar lete hain to koee bhee seema nahin kyonki ahankaar jisake andar aa jaata hai aur vah tabhee jaata hai jab usaka ant ho jaata aur ahankaar jab badhata chala jaata hai tab bhee usakee mahatvaakaanksha badhatee chalee jaatee

bolkar speaker
क्या अहंकार की सीमा होती है?Kya Ahankaar Ki Seema Hoti Hai
pushpanjali patel Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए pushpanjali जी का जवाब
Student with micro finance bank employee
1:18
आने का कारण कार्य की मां होती है जिनकी मां होती है किसी किसी किसी व्यक्ति का अकाउंट नंबर दे देना कोई बात नहीं की तो वह कह रहे थे जैसे तुझको बहुत ज्यादा नुकसान होता है या फिर सो जाऊंगा यार होता है तू मुझे ना तो किसी बात को समझने का प्यार करते और ना ही किसी बात को सुनने का बयां कर देंगे तो नहीं लगता है जो हम कर रहे हैं जो दोस्त हैं वही पैसे वरना तो किसी की बात नहीं आने दो कि झूठ धोखा देती गाना वह चाहिए अहंकारी मकान का टाइम खत्म होगा कि वह अपने बदल गया है करते हैं हमको चाहिए
Aane ka kaaran kaary kee maan hotee hai jinakee maan hotee hai kisee kisee kisee vyakti ka akaunt nambar de dena koee baat nahin kee to vah kah rahe the jaise tujhako bahut jyaada nukasaan hota hai ya phir so jaoonga yaar hota hai too mujhe na to kisee baat ko samajhane ka pyaar karate aur na hee kisee baat ko sunane ka bayaan kar denge to nahin lagata hai jo ham kar rahe hain jo dost hain vahee paise varana to kisee kee baat nahin aane do ki jhooth dhokha detee gaana vah chaahie ahankaaree makaan ka taim khatm hoga ki vah apane badal gaya hai karate hain hamako chaahie

bolkar speaker
क्या अहंकार की सीमा होती है?Kya Ahankaar Ki Seema Hoti Hai
Vijay shankar pal Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Vijay जी का जवाब
My youtube channel - Tech with vijay
0:32
नमस्कार साथियों सवाल है कि क्या अहंकार की सीमा होती है तो जी बिल्कुल अहंकार की भी सीमा होती है अगर आप उस सीमा से बाहर हुए तो फिर आपके लिए भारी पड़ सकता है मुश्किल में पड़ सकते हैं आप समस्याओं से घिर सकते हैं इसलिए अहंकार वैसे तो करना ही नहीं चाहिए अगर आपके अंदर है अभी 10:05 परसेंट तो उसे 20 परसेंट मत कीजिए जैसे अगर सीमा को आप पार करते हैं तो आप बहुत ही बड़ी मुश्किल में पड़ सकते हैं
Namaskaar saathiyon savaal hai ki kya ahankaar kee seema hotee hai to jee bilkul ahankaar kee bhee seema hotee hai agar aap us seema se baahar hue to phir aapake lie bhaaree pad sakata hai mushkil mein pad sakate hain aap samasyaon se ghir sakate hain isalie ahankaar vaise to karana hee nahin chaahie agar aapake andar hai abhee 10:05 parasent to use 20 parasent mat keejie jaise agar seema ko aap paar karate hain to aap bahut hee badee mushkil mein pad sakate hain

bolkar speaker
क्या अहंकार की सीमा होती है?Kya Ahankaar Ki Seema Hoti Hai
Dr.Nitin Pawar, D.M S.(Management) Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Dr.Nitin जी का जवाब
Kisan,Journalist,Marathi Writer, Social Worker,Political Leader.
7:00
क्या हम कर की कोई सीमा होती है जब मैं इस विषय पर सोचता हूं तो मुझे निश्चित रूप से कुछ बातें समझ में आती है बहुत सारे रंग कारी व्यक्ति इस दुनिया में है और रिकॉर्ड ब्रेक एंड कैरी विक्की है हुए हैं और आगे भी और आगे भी होंगे लेकिन की सीमा भयंकर की सीमा निश्चित है और वह मूर्तियों मोदी की तरफ जाता हुआ उसको महसूस होता है तो बिल्कुल किसी बेसहारा गरीब या छोटे बच्चों की तरह रोता भी लोगों से बोलना भी चाहता है लोगों को पास भी बोला था और अपने मन की सच्ची बातें भी कहता है माफी मांगता है कि मैंने अगर कुछ बुरा किया हो आपके साथ तो मुझे क्षमा करो मैं अब ज्यादा दिन का मेहमान नहीं हूं लेकिन वह मुझको रोक नहीं पाता बहुत सारे करोड़ों पर्ची उद्योगपति और शासकों की मूर्ति के सामने गिड़गिड़ा बड़ा उदाहरण निरीक्षण प्राथमिक झंडा जिसको सिकंदर कहा जाता है उसका आया और उसने बताया कि इस दुनिया को कि मेरे मरने के बाद मेरे हाथ जो है वह खुले करके रखी है लोगों को देखने हैं चाहिए कि मैं कुछ भी लेकर नहीं जा रहा उसके पास अहंकार भी था और एक का संवेदनशीलता बिछिया और बुद्धिमानी भी उसने पहचान लिया था जान लिया कि पूरी दुनिया को मैं जीतने जीतने जा रहा हूं लेकिन मूर्ति के सामने मैं हार गया जब उसको बीमारियां हुई उसकी उम्र भी बहुत कम थी शराब भी पीता था बहुत और कई सारे इस के संदर्भ में आज भी चर्चा है और तू चौधरी निकल के आते हैं संशोधन होते हैं लेकिन यह जाहिर बात है कि उसने ऐसा कहा था उसे भी शासक को हम जब देखते हैं हिटलर के आखिरी क्षण का एग्जैक्ट रिकॉर्ड नहीं है लेकिन उसने भी मूर्ति को अपना लिया था आत्महत्या की कैसे बचाया जाता है चंगेज खान हो या तैमूर लंग हो या पुरवा के बड़े 8764 जापान के पश्चिम के मध्य चिया चिया चिया के संदर्भ में देखते हैं तो हमें भी पता चलता है विद्वता से भरे हुए लड़की भी मुट्ठी से हार जाते बहुत विद्वान योगी महात्मा संत पुरुष हुए और उन्होंने यह सबसे बताया है और यह मूर्ति की व्यवस्था किसने की है वह भी सोच समझकर की है कि यह इंसान हीरो है वह अहंकार से घर अगर उसके लिए कुछ ऐसी व्यवस्था नहीं की तो फिर दूसरों को पीड़ा देगा हत्या करेगा शैतानी हीरा हीरा जी का खेड़ा और कर दो लोगों को दुख पहुंचा देगा के जानकार बनाने वाले ने भी इसकी व्यवस्था निर्माण की है तो ऐसा शब्द है जिसे देखकर ऐसा मुझे तो ऐसा लगता है कि किसी मां होती है धन्यवाद
Kya ham kar kee koee seema hotee hai jab main is vishay par sochata hoon to mujhe nishchit roop se kuchh baaten samajh mein aatee hai bahut saare rang kaaree vyakti is duniya mein hai aur rikord brek end kairee vikkee hai hue hain aur aage bhee aur aage bhee honge lekin kee seema bhayankar kee seema nishchit hai aur vah moortiyon modee kee taraph jaata hua usako mahasoos hota hai to bilkul kisee besahaara gareeb ya chhote bachchon kee tarah rota bhee logon se bolana bhee chaahata hai logon ko paas bhee bola tha aur apane man kee sachchee baaten bhee kahata hai maaphee maangata hai ki mainne agar kuchh bura kiya ho aapake saath to mujhe kshama karo main ab jyaada din ka mehamaan nahin hoon lekin vah mujhako rok nahin paata bahut saare karodon parchee udyogapati aur shaasakon kee moorti ke saamane gidagida bada udaaharan nireekshan praathamik jhanda jisako sikandar kaha jaata hai usaka aaya aur usane bataaya ki is duniya ko ki mere marane ke baad mere haath jo hai vah khule karake rakhee hai logon ko dekhane hain chaahie ki main kuchh bhee lekar nahin ja raha usake paas ahankaar bhee tha aur ek ka sanvedanasheelata bichhiya aur buddhimaanee bhee usane pahachaan liya tha jaan liya ki pooree duniya ko main jeetane jeetane ja raha hoon lekin moorti ke saamane main haar gaya jab usako beemaariyaan huee usakee umr bhee bahut kam thee sharaab bhee peeta tha bahut aur kaee saare is ke sandarbh mein aaj bhee charcha hai aur too chaudharee nikal ke aate hain sanshodhan hote hain lekin yah jaahir baat hai ki usane aisa kaha tha use bhee shaasak ko ham jab dekhate hain hitalar ke aakhiree kshan ka egjaikt rikord nahin hai lekin usane bhee moorti ko apana liya tha aatmahatya kee kaise bachaaya jaata hai changej khaan ho ya taimoor lang ho ya purava ke bade 8764 jaapaan ke pashchim ke madhy chiya chiya chiya ke sandarbh mein dekhate hain to hamen bhee pata chalata hai vidvata se bhare hue ladakee bhee mutthee se haar jaate bahut vidvaan yogee mahaatma sant purush hue aur unhonne yah sabase bataaya hai aur yah moorti kee vyavastha kisane kee hai vah bhee soch samajhakar kee hai ki yah insaan heero hai vah ahankaar se ghar agar usake lie kuchh aisee vyavastha nahin kee to phir doosaron ko peeda dega hatya karega shaitaanee heera heera jee ka kheda aur kar do logon ko dukh pahuncha dega ke jaanakaar banaane vaale ne bhee isakee vyavastha nirmaan kee hai to aisa shabd hai jise dekhakar aisa mujhe to aisa lagata hai ki kisee maan hotee hai dhanyavaad

bolkar speaker
क्या अहंकार की सीमा होती है?Kya Ahankaar Ki Seema Hoti Hai
Rajesh Kumar Naveriya  Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Rajesh जी का जवाब
Ast. Teacher
3:00
क्या हंकार की सीमा होती है तो उनका कितना होना चाहिए होती तो नहीं है हम तो होना चाहिए क्योंकि आकार ही हमारा समूल नाश करने की एक लड़का है अहंकार अधिक बढ़ जाता है तो हमारा समुंदर जाता है ऐसा चाणक्य नहीं बताया है और रावण का भी हमने रावण में हाथ देखा है कि सोने की लंका थी परंतु मिट्टी मिल गई तू हमका की सीमा बहुत आवश्यक है तुम्हारी सब करते हैं पर तू उसे दूसरा वनडे के रूप में दिखाते हैं क्योंकि वह गाड़ी को विवाद का कारण बन जाता है क्योंकि भगवान को जानकारी नहीं है भगवान जी अहंकार को खा जाते हैं तो यही कारण है कि यह नहीं कहता है वैसे काम में नहीं करना चाहिए उनका होता है हम उनके नाश की जड़ होता है अहंकार किस बात का हम क्या लेकर आए थे क्या लेते जाना है यह सब सोचते हुए भगवान ने हमें माध्यम बनाया है कि परिवार वाले का चाय वह मुखिया के रूप में हो जब पत्नी के रूप में हो क्या पुत्री पुत्री के रूप में हो किस बात का इमान है भाई जी हम इतना रोल ठीक से अदा नहीं कर पाएंगे तो फिर हमें नाटक में पात्र भी ठीक नहीं समझा जाएगा यही हमारे जीवन में होता है कि हमें इंकार की एक सीमा में बम की तलवार चाहिए यह बात अलग है कि यहां स्वाभिमान से जीना स्वयं होना चाहिए हम भगवान ने गीता में कहा कि जो है मैं इसका मतलब ऐसा नहीं है कि दूसरों के वारंट हो गए हैं और घमंड दिखा रहा है ऐसे तो कभी आदमी हो पाते हैं और रहते हैं कि कांडा की सीमा में चलना चाहिए रूपा का होना चाहिए कि हम दूसरे का कितना भला कर रहा है वह हम हैं यार कितना दान कर रहे हैं ऐसा अहंकार जो भगवान को समर्पित हो जो अच्छी चीज है क्योंकि उसकी भी एक सीमा होती है कि भगवान के लिए तारीख की जाए उसमें
Kya hankaar kee seema hotee hai to unaka kitana hona chaahie hotee to nahin hai ham to hona chaahie kyonki aakaar hee hamaara samool naash karane kee ek ladaka hai ahankaar adhik badh jaata hai to hamaara samundar jaata hai aisa chaanaky nahin bataaya hai aur raavan ka bhee hamane raavan mein haath dekha hai ki sone kee lanka thee parantu mittee mil gaee too hamaka kee seema bahut aavashyak hai tumhaaree sab karate hain par too use doosara vanade ke roop mein dikhaate hain kyonki vah gaadee ko vivaad ka kaaran ban jaata hai kyonki bhagavaan ko jaanakaaree nahin hai bhagavaan jee ahankaar ko kha jaate hain to yahee kaaran hai ki yah nahin kahata hai vaise kaam mein nahin karana chaahie unaka hota hai ham unake naash kee jad hota hai ahankaar kis baat ka ham kya lekar aae the kya lete jaana hai yah sab sochate hue bhagavaan ne hamen maadhyam banaaya hai ki parivaar vaale ka chaay vah mukhiya ke roop mein ho jab patnee ke roop mein ho kya putree putree ke roop mein ho kis baat ka imaan hai bhaee jee ham itana rol theek se ada nahin kar paenge to phir hamen naatak mein paatr bhee theek nahin samajha jaega yahee hamaare jeevan mein hota hai ki hamen inkaar kee ek seema mein bam kee talavaar chaahie yah baat alag hai ki yahaan svaabhimaan se jeena svayan hona chaahie ham bhagavaan ne geeta mein kaha ki jo hai main isaka matalab aisa nahin hai ki doosaron ke vaarant ho gae hain aur ghamand dikha raha hai aise to kabhee aadamee ho paate hain aur rahate hain ki kaanda kee seema mein chalana chaahie roopa ka hona chaahie ki ham doosare ka kitana bhala kar raha hai vah ham hain yaar kitana daan kar rahe hain aisa ahankaar jo bhagavaan ko samarpit ho jo achchhee cheej hai kyonki usakee bhee ek seema hotee hai ki bhagavaan ke lie taareekh kee jae usamen

bolkar speaker
क्या अहंकार की सीमा होती है?Kya Ahankaar Ki Seema Hoti Hai
Trilok Sain Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Trilok जी का जवाब
Motivational Speaker Public Speaker Life Coach Youtuber
0:14
का की सीमा होती है एक समाप्त होना ही धन्यवाद
Ka kee seema hotee hai ek samaapt hona hee dhanyavaad

bolkar speaker
क्या अहंकार की सीमा होती है?Kya Ahankaar Ki Seema Hoti Hai
TechVR ( Vikas RanA) Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए TechVR जी का जवाब
IT Professional
2:31
हेलो मेरी बन आई होप आप सब बढ़िया हम भी प्रश्न पूछा गया क्या अहंकार की सीमा होती है देखिए अहंकार जो है एक ऐसा गुण अवगुण है कि जो बड़े से बड़े इंसान को जो है ऐसे रास्ते पर ले आता है कि वह अकेला खड़ा होता है और सारी दुनिया जो है उसको लगता है कि उसके कार्तिक तले दबी हुई लेकिन सारी दुनिया उस नजर से उसको देखती है कि कि दूसरा इंसान जो है ऐंकारी जो था वह दिखता किसका है कार का अंत कब होगा इंकार की सीमा होती है बड़े से बड़े अधिकारी का एक दिन ऐसा आता है कि उसका इनकार चकनाचूर होता है जैसे कि रावण चौथा सबसे बड़ा अहंकारी था उसको अहंकार हो गया कि कल उसके बस में है वह सर्वशक्तिमान है उसे कोई मार नहीं सकता वह अमीर है जम रहे हो हर किसी को वह अपने से कुछ समझता था लेकिन उसका अहंकार तोड़ने के लिए एक बनवासी क्षत्रिय साधारण मनुष्य के द्वारा उसकी मृत्यु हुई उसका अहंकार तक टूटा और उस अहंकार के टूटने के बाद उसे ज्ञात हुआ उस चीज का बहुत हुआ कि अहंकार जो है उस अहंकार न सके अपने तुझसे दूर कर लिए दूर कर दिए वहीं अनकार वाली था उसको था उसका भी अहंकार था कि वह सबसे जो है शक्तिमान है सबसे बड़ा है तू किसी को भी हरा सकता है मरते वक्त उसने श्री राम को भी यह बात बोली थी कि आप मुझे बताते तो मैं उसको पकड़कर आपके चरणों में जाता लेकिन उस टाइम भी शिकार हो गया था और अहंकार तुम्हारा जो है तुम पर आ गए स्टेशन अपने भाई को दे दिए क्या अपने वाली भाई की जो पत्नी होती है वह तुम्हारी क्या लगती हो तुम्हें तुम्हें अधिकार जमाया जो कि गलत काम का टूटा वह भी जो है मोक्ष की प्राप्ति की तो उसी प्रकार से अहंकार जो है वह का रहता है वह आप का सर्वनाश की वजह बनता है तो इंकार की एक सीमा होती है जब अहंकार टूटता है लेकिन उसके बाद आपके पास बताने के लिए कुछ नहीं होता तो यही एक उसका सर कुछ उदाहरण है आशा करता हूं आपका आपके सवाल का जवाब मिल गया होगा लाइक और सब्सक्राइब करें धन्यवाद
Helo meree ban aaee hop aap sab badhiya ham bhee prashn poochha gaya kya ahankaar kee seema hotee hai dekhie ahankaar jo hai ek aisa gun avagun hai ki jo bade se bade insaan ko jo hai aise raaste par le aata hai ki vah akela khada hota hai aur saaree duniya jo hai usako lagata hai ki usake kaartik tale dabee huee lekin saaree duniya us najar se usako dekhatee hai ki ki doosara insaan jo hai ainkaaree jo tha vah dikhata kisaka hai kaar ka ant kab hoga inkaar kee seema hotee hai bade se bade adhikaaree ka ek din aisa aata hai ki usaka inakaar chakanaachoor hota hai jaise ki raavan chautha sabase bada ahankaaree tha usako ahankaar ho gaya ki kal usake bas mein hai vah sarvashaktimaan hai use koee maar nahin sakata vah ameer hai jam rahe ho har kisee ko vah apane se kuchh samajhata tha lekin usaka ahankaar todane ke lie ek banavaasee kshatriy saadhaaran manushy ke dvaara usakee mrtyu huee usaka ahankaar tak toota aur us ahankaar ke tootane ke baad use gyaat hua us cheej ka bahut hua ki ahankaar jo hai us ahankaar na sake apane tujhase door kar lie door kar die vaheen anakaar vaalee tha usako tha usaka bhee ahankaar tha ki vah sabase jo hai shaktimaan hai sabase bada hai too kisee ko bhee hara sakata hai marate vakt usane shree raam ko bhee yah baat bolee thee ki aap mujhe bataate to main usako pakadakar aapake charanon mein jaata lekin us taim bhee shikaar ho gaya tha aur ahankaar tumhaara jo hai tum par aa gae steshan apane bhaee ko de die kya apane vaalee bhaee kee jo patnee hotee hai vah tumhaaree kya lagatee ho tumhen tumhen adhikaar jamaaya jo ki galat kaam ka toota vah bhee jo hai moksh kee praapti kee to usee prakaar se ahankaar jo hai vah ka rahata hai vah aap ka sarvanaash kee vajah banata hai to inkaar kee ek seema hotee hai jab ahankaar tootata hai lekin usake baad aapake paas bataane ke lie kuchh nahin hota to yahee ek usaka sar kuchh udaaharan hai aasha karata hoon aapaka aapake savaal ka javaab mil gaya hoga laik aur sabsakraib karen dhanyavaad

bolkar speaker
क्या अहंकार की सीमा होती है?Kya Ahankaar Ki Seema Hoti Hai
vivekanand kashyap Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए vivekanand जी का जवाब
Unknown
0:58
आपका सवाल है क्या अहंकार की सीमा होती है तो हां जब आप किसी ऐसी स्थिति में पहुंच जाते हैं जहां ना आपका पैसा आपकी मदद कर पाए और ना आप का रुतबा जैसे कि किसी को कोई लाइलाज बीमारी हो जाए कोई बाढ़ में फंस जाए या भूचाल आ जाए ऐसी स्थिति में व्यक्ति को एहसास होता है कि वह कितना आसान है कुछ भी कुछ के बस में नहीं है अहंकार क्या है एहसास की बहुत कुछ आपकी कंट्रोल में प्राकृतिक आपदाएं जैसी विषम परिस्थितियों में जो व्यक्ति को एहसास होता है कि दरअसल कुछ भी उसके कंट्रोल में नहीं है उसी क्षण उसका अहंकार लुप्त हो जाता है और अहंकार की सीमा समाप्त हो जाते हैं धन्यवाद जवाब अच्छा लगा हो तो फॉलो करना बिल्कुल ना भूलें धन्यवाद
Aapaka savaal hai kya ahankaar kee seema hotee hai to haan jab aap kisee aisee sthiti mein pahunch jaate hain jahaan na aapaka paisa aapakee madad kar pae aur na aap ka rutaba jaise ki kisee ko koee lailaaj beemaaree ho jae koee baadh mein phans jae ya bhoochaal aa jae aisee sthiti mein vyakti ko ehasaas hota hai ki vah kitana aasaan hai kuchh bhee kuchh ke bas mein nahin hai ahankaar kya hai ehasaas kee bahut kuchh aapakee kantrol mein praakrtik aapadaen jaisee visham paristhitiyon mein jo vyakti ko ehasaas hota hai ki darasal kuchh bhee usake kantrol mein nahin hai usee kshan usaka ahankaar lupt ho jaata hai aur ahankaar kee seema samaapt ho jaate hain dhanyavaad javaab achchha laga ho to pholo karana bilkul na bhoolen dhanyavaad

bolkar speaker
क्या अहंकार की सीमा होती है?Kya Ahankaar Ki Seema Hoti Hai
sarthak patel Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए sarthak जी का जवाब
Unknown
0:02

bolkar speaker
क्या अहंकार की सीमा होती है?Kya Ahankaar Ki Seema Hoti Hai
Umesh Upaadyay Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Umesh जी का जवाब
Life Coach | Motivational Speaker
3:21
जी नहीं अहंकार की कोई सीमा नहीं होती है कोई बहुत अहंकारी हो सकता है उसमें अत्यधिक हंकार हो सकता है तो किसी में क्षण मात्र भी थोड़ा सा भी इनकार नहीं होता किसी में हर समय एक अच्छा लगता है तो किसी में कभी भी नहीं चलता है यार कोई बाहर से आपको नहीं देता है आप बाहर से स्वीकार ग्रहण नहीं करते हो आप अहंकारी बनते चले जाते हो अगर आपने अपने इस स्वभाव को मनोदशा को एक दोस्त को कंट्रोल नहीं किया मैंने इसमें किया तो पता ही नहीं चलेगा कि हम कितने अहंकारी हो गए हैं जो कि सही नहीं है क्या इनका गुना के भी देखें थोड़ा बहुत है इनका सब में होता है लेकिन उतना हैंड कार ही होना चाहिए जितना कि ओके है जितना कि आई ना किसी को या अपने आप को किसी तरीके से हुआ छोटा ना दिखे किसी तरीके से किसी और को ऐसा प्रतीत ना हो कि आप इनकार में है किसी को आप के अहंकार के कारण कोई दुख तकलीफ या परेशानी ना पहुंचे अगर इतना है अगर होता है तो चल जाएगा पर क्या करना चाहिए जी नहीं आए घर होना नहीं चाहिए बड़ी कहना और ऐसी स्टेट में रहना आइडियलिस्टिक में रहना की जरा भी कहीं का नहीं है और एक बार नहीं 1 दिन नहीं कभी भी किसी भी परिस्थिति में उस इंसान को अहंकार नहीं होता यह होना थोड़ा मुश्किल होता है इसीलिए मैं कहता हूं कि चलो ठीक है मानक थोड़ा बहुत है यार लेकिन फिर वह छलक ना नहीं चाहिए हर जगह पर आप का अहंकार नहीं आना चाहिए नहीं होता क्या है बस सिंपल सी बात है आप अपने आप को किस तरीके से देखते हो दुनिया को किस तरीके से देखते हो आप अपने आप को लोगों से या परिस्थिति में ऊपर दिखाने के लिए क्या करते हो यही सब तो इंकार है जो कि सही नहीं है भाई आपको तो वैसे रहना चाहिए जैसा मुंह से प्रोक्रिएट होता है जैसा एकदम मुनासिब एकदम सही होता है उन व्यक्तियों के साथ कारण या उन व्यक्तियों के साथ उस ग्रुप में या फिर इंडिविजुअल किसी इंसान के साथ आपकी सोच आपकी अब जीवन शैली आपका देखने का नजरिया आप किस तरीके से अपने आपको दूसरों के संदर्भ में देखते हो परिस्थितियों को किस तरीके से देखते हो किस तरीके से अपने आप को परिस्थिति को लोगों को मैनेज करते हो यह सारा बताते हैं कि आपने कहता है कहां रे तुझे अगर आप उठा देते तरीके से चीजें मैनेज कर लेते हो तो बहुत की बात है कि नहीं करते तो फिर आप आप में अहंकार दिखता है और अगर इसको सही समय पर बार-बार कंट्रोल नहीं किया गया तो यह अच्छा लगने लगता है यह बता चला जाता है जो कि सही नहीं है यह इंकार हम खुद टेबल आप करते हैं खुद बनाते हैं और पता ही नहीं चलता हमें कि हम कितने अहंकारी हो गए हैं
Jee nahin ahankaar kee koee seema nahin hotee hai koee bahut ahankaaree ho sakata hai usamen atyadhik hankaar ho sakata hai to kisee mein kshan maatr bhee thoda sa bhee inakaar nahin hota kisee mein har samay ek achchha lagata hai to kisee mein kabhee bhee nahin chalata hai yaar koee baahar se aapako nahin deta hai aap baahar se sveekaar grahan nahin karate ho aap ahankaaree banate chale jaate ho agar aapane apane is svabhaav ko manodasha ko ek dost ko kantrol nahin kiya mainne isamen kiya to pata hee nahin chalega ki ham kitane ahankaaree ho gae hain jo ki sahee nahin hai kya inaka guna ke bhee dekhen thoda bahut hai inaka sab mein hota hai lekin utana haind kaar hee hona chaahie jitana ki oke hai jitana ki aaee na kisee ko ya apane aap ko kisee tareeke se hua chhota na dikhe kisee tareeke se kisee aur ko aisa prateet na ho ki aap inakaar mein hai kisee ko aap ke ahankaar ke kaaran koee dukh takaleeph ya pareshaanee na pahunche agar itana hai agar hota hai to chal jaega par kya karana chaahie jee nahin aae ghar hona nahin chaahie badee kahana aur aisee stet mein rahana aaidiyalistik mein rahana kee jara bhee kaheen ka nahin hai aur ek baar nahin 1 din nahin kabhee bhee kisee bhee paristhiti mein us insaan ko ahankaar nahin hota yah hona thoda mushkil hota hai iseelie main kahata hoon ki chalo theek hai maanak thoda bahut hai yaar lekin phir vah chhalak na nahin chaahie har jagah par aap ka ahankaar nahin aana chaahie nahin hota kya hai bas simpal see baat hai aap apane aap ko kis tareeke se dekhate ho duniya ko kis tareeke se dekhate ho aap apane aap ko logon se ya paristhiti mein oopar dikhaane ke lie kya karate ho yahee sab to inkaar hai jo ki sahee nahin hai bhaee aapako to vaise rahana chaahie jaisa munh se prokriet hota hai jaisa ekadam munaasib ekadam sahee hota hai un vyaktiyon ke saath kaaran ya un vyaktiyon ke saath us grup mein ya phir indivijual kisee insaan ke saath aapakee soch aapakee ab jeevan shailee aapaka dekhane ka najariya aap kis tareeke se apane aapako doosaron ke sandarbh mein dekhate ho paristhitiyon ko kis tareeke se dekhate ho kis tareeke se apane aap ko paristhiti ko logon ko mainej karate ho yah saara bataate hain ki aapane kahata hai kahaan re tujhe agar aap utha dete tareeke se cheejen mainej kar lete ho to bahut kee baat hai ki nahin karate to phir aap aap mein ahankaar dikhata hai aur agar isako sahee samay par baar-baar kantrol nahin kiya gaya to yah achchha lagane lagata hai yah bata chala jaata hai jo ki sahee nahin hai yah inkaar ham khud tebal aap karate hain khud banaate hain aur pata hee nahin chalata hamen ki ham kitane ahankaaree ho gae hain

bolkar speaker
क्या अहंकार की सीमा होती है?Kya Ahankaar Ki Seema Hoti Hai
sanjay kumar pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए sanjay जी का जवाब
Writer, Teacher, motivational youtuber
2:04
गुड इवनिंग सवाल है कि क्या हंकार की सीमा होती है अहंकार की तटीय सीमा कहिए तो होती भी या नहीं भी होती है दोनों कहा जा सकता है कुछ लोग अधिक अहंकारी होते हैं कुछ लोग का महान कार्य होते हैं इसलिए वह सीमा तो वही हो गई और न था जिस व्यक्ति को अहंकार हो जाता है वह उसकी कोई सीमा नहीं होती वास्तव में अगर उसे अहंकार हो गया तो फिर वह किसी की नहीं सुनता वह फिर अपने आप में ही अपने आप को सबसे अधिक महान समझता है अपने ही विचारों को सब पर थोपना चाहता है और उसके अहंकार को जब ठेस लगती है तो वह फिर तिलमिला उठता है वह फिर दूसरे को परेशान करता है अंकारी व्यक्ति बड़ा ही क्या कहा जाए उसे अंकारी व्यक्ति बहुत ही मतलब खतरनाक होता है वह अपने जानकार को जिंदा रखने के लिए कुछ भी कर सकता है इसलिए जानकारी व्यक्ति से हमें दूर ही रहना चाहिए जिसे हम कार हो गया उसे जितना अधिक हो सके उससे दूरी बना कर रखें तो ही अच्छा है न था वह आज के समान व्यक्ति को अपने आकार के आदमी कुछ भी जलाने को आतुर रहता है ऐसे व्यक्ति से दूर ही रहे उनकी कोई सीमा नहीं होती है जो वास्तव में हम कारी हो जाता है वैसे कौन ज्यादा होता है लोगों में कोई को मांगता है किसी को थोड़े बहुत चीजों का आकार है कोई बहुत अधिक जानकारी हो जाता है तो यह सीमाएं हैं बाकी वास्तव में जो हंकारी है उसकी कोई सीमा नहीं होती है
Gud ivaning savaal hai ki kya hankaar kee seema hotee hai ahankaar kee tateey seema kahie to hotee bhee ya nahin bhee hotee hai donon kaha ja sakata hai kuchh log adhik ahankaaree hote hain kuchh log ka mahaan kaary hote hain isalie vah seema to vahee ho gaee aur na tha jis vyakti ko ahankaar ho jaata hai vah usakee koee seema nahin hotee vaastav mein agar use ahankaar ho gaya to phir vah kisee kee nahin sunata vah phir apane aap mein hee apane aap ko sabase adhik mahaan samajhata hai apane hee vichaaron ko sab par thopana chaahata hai aur usake ahankaar ko jab thes lagatee hai to vah phir tilamila uthata hai vah phir doosare ko pareshaan karata hai ankaaree vyakti bada hee kya kaha jae use ankaaree vyakti bahut hee matalab khataranaak hota hai vah apane jaanakaar ko jinda rakhane ke lie kuchh bhee kar sakata hai isalie jaanakaaree vyakti se hamen door hee rahana chaahie jise ham kaar ho gaya use jitana adhik ho sake usase dooree bana kar rakhen to hee achchha hai na tha vah aaj ke samaan vyakti ko apane aakaar ke aadamee kuchh bhee jalaane ko aatur rahata hai aise vyakti se door hee rahe unakee koee seema nahin hotee hai jo vaastav mein ham kaaree ho jaata hai vaise kaun jyaada hota hai logon mein koee ko maangata hai kisee ko thode bahut cheejon ka aakaar hai koee bahut adhik jaanakaaree ho jaata hai to yah seemaen hain baakee vaastav mein jo hankaaree hai usakee koee seema nahin hotee hai

bolkar speaker
क्या अहंकार की सीमा होती है?Kya Ahankaar Ki Seema Hoti Hai
RADHe Joshi Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए RADHe जी का जवाब
Unknown
0:29

bolkar speaker
क्या अहंकार की सीमा होती है?Kya Ahankaar Ki Seema Hoti Hai
nav kishor aggarwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए nav जी का जवाब
Service
1:13
नमस्कार आपका सवाल है कि क्या है कार्ड की कोई सीमा होती है वहां दोस्त कुछ चीजें ऐसी हैं जैसे कि इंकार है लालच है स्वार्थ है या घमंड है इन सब चीजों की कोई सीमा नहीं है क्रोध है इनकी कोई सीमा नहीं है तो इन चीजों की सीमा को निर्धारित नहीं होती कोई थोड़ा करता है कोई ज्यादा करता है तो लेकिन इसकी सीमा कोई नहीं आप सोचो कि वह एक आदमी का अहंकार इतना ही रहेगा नहीं ऐसा कुछ नहीं है उसके पास जैसे-जैसे जितना ज्यादा पैसा आता जाएगा जितना ज्यादा वह अमीर होता जाएगा जितना ज्यादा से ज्यादा मिलते जाएंगे होता ही जा रहे हैं इनकारी हो जाएगा कहीं ज्यादा घमंडी होता चला जाएगा उतना ही उसका लालच बढ़ता चला जाएगा तो इन सब चीजों की कोई सीमा नहीं है आप आप आज ₹10 कमाते आप सोचें कि काश में ₹100 कमाता फिर आप कल ₹100 कमाएंगे तो आप सोचें कि काश में हजार रुपए कमाता आप हजार रुपे कमाने लगेंगे आप सोचेंगे कि काश में ₹100000 कमाता तो इस तरह आपकी धीरे-धीरे लालसा बढ़ती जाएगी और आपका एंकर आपका घमंड आ आपकी जो भी स्वार्थ की भावना को धीरे धीरे धीरे धीरे धीरे बढ़ती जाएगी तो इनकी सीमा कोई नहीं होती इन सब चीजों को तो खुद ही कंट्रोल करना चाहिए और खुद ही अपने पर काबू रखना चाहिए धन्यवाद
Namaskaar aapaka savaal hai ki kya hai kaard kee koee seema hotee hai vahaan dost kuchh cheejen aisee hain jaise ki inkaar hai laalach hai svaarth hai ya ghamand hai in sab cheejon kee koee seema nahin hai krodh hai inakee koee seema nahin hai to in cheejon kee seema ko nirdhaarit nahin hotee koee thoda karata hai koee jyaada karata hai to lekin isakee seema koee nahin aap socho ki vah ek aadamee ka ahankaar itana hee rahega nahin aisa kuchh nahin hai usake paas jaise-jaise jitana jyaada paisa aata jaega jitana jyaada vah ameer hota jaega jitana jyaada se jyaada milate jaenge hota hee ja rahe hain inakaaree ho jaega kaheen jyaada ghamandee hota chala jaega utana hee usaka laalach badhata chala jaega to in sab cheejon kee koee seema nahin hai aap aap aaj ₹10 kamaate aap sochen ki kaash mein ₹100 kamaata phir aap kal ₹100 kamaenge to aap sochen ki kaash mein hajaar rupe kamaata aap hajaar rupe kamaane lagenge aap sochenge ki kaash mein ₹100000 kamaata to is tarah aapakee dheere-dheere laalasa badhatee jaegee aur aapaka enkar aapaka ghamand aa aapakee jo bhee svaarth kee bhaavana ko dheere dheere dheere dheere dheere badhatee jaegee to inakee seema koee nahin hotee in sab cheejon ko to khud hee kantrol karana chaahie aur khud hee apane par kaaboo rakhana chaahie dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • क्या अहंकार की सीमा है, अहंकार नकारात्मक भाव की चरम सीमा
URL copied to clipboard