#undefined

bolkar speaker

आलू के पौधे में पाला के असर का वैज्ञानिक कारण क्या होता है?

Aalu Ke Paudhe Me Pala Ke Asar Ka Vaigyanik Kaaran Kya Hota Hai
Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
0:29
पहले के असर का वैज्ञानिक कारण के कारण तापमान में गिरावट की वजह से आलू की फसल पर पार्लर जाता है और हम जानते हैं कि बदलते मौसम में सबसे अधिक दो आलू की फसल को सबसे ज्यादा नुकसान ही होता है और सब्जी खेती फसल को पाला झुलसा रोग हो जाता है
Pahale ke asar ka vaigyaanik kaaran ke kaaran taapamaan mein giraavat kee vajah se aaloo kee phasal par paarlar jaata hai aur ham jaanate hain ki badalate mausam mein sabase adhik do aaloo kee phasal ko sabase jyaada nukasaan hee hota hai aur sabjee khetee phasal ko paala jhulasa rog ho jaata hai

और जवाब सुनें

bolkar speaker
आलू के पौधे में पाला के असर का वैज्ञानिक कारण क्या होता है?Aalu Ke Paudhe Me Pala Ke Asar Ka Vaigyanik Kaaran Kya Hota Hai
Er.Awadhesh kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 66
सुनिए Er.Awadhesh जी का जवाब
Unknown
2:21
प्रश्न है कि आलू के पौधे में पाला के असर का वैज्ञानिक कारण क्या होता है तो दिखे फैंस क्या है कि किसानों को बहुत बड़ी चिंता होती है क्योंकि पाले की वजह से हमारा जो आलू होता है वह नहीं हो पाता है और हमारी तो पैदावार होती है एकदम हमारी लागत से भी कम होती है तो यह बहुत बड़ी चिंता होती है किसान के लिए तू कि वैज्ञानिकों का मानना है कि आलू को पाले से बचाने के लिए बचाना बहुत जरूरी है नहीं तो आप क्यों जो उत्पाद है वह प्रभावित होगा और इसी की एवज में वैज्ञानिक कई प्रयोग आपको बताते हैं कि इस वजह से आपको अपने आलू की फसल को बचा सकते हैं पाले से क्योंकि पहला चीज है बचाने के लिए आप क्या कर सकते हैं कि फसल में हल्का पानी दे खेत में नमी बनाए लगातार बनाए रखें क्योंकि नवी अगर बनी रहेगी ना तो पाला का असर नहीं पड़ता है इसलिए खेत में हल्का ही पानी देने की नमी बराबर होनी चाहिए पर सुख सु पूरी तरह से जो जमीन होती है वहां पर सुखी रहो उसके साथ तीसरा है ही साथ ही ज्यादा पानी 9 दे नहीं तो नुकसान हो सकता है उसमें ज्यादा पानी की जरूरत भी नहीं होती है चौथाई की फसल में कोई भी बीमारी आ रही है तू पैक यारी से संपर्क करें या अपने आसपास क्षेत्र कृषि अनुसंधान केंद्र हैं आपकी जो भी किसी से रिलेटेड दुकान है वहां पर आप संपर्क कर सकते हैं क्योंकि उससे आपको अच्छी सलाह मिल जाती है और उसने उस फसल की बीमारी को दूर करने के लिए दवा भी मिल जाती है इसके अलावा आज तो ऐप के माध्यम से आप वैज्ञानिक एवं के द्वारा डायरेक्ट संपर्क कर सकते हैं और अपने खेत को ऑनलाइन दिखा कर उसमें जो भी दवा की की जरूरत होती है वह डायरेक्ट आपको मिल जा रही है क्योंकि किसान सेवा बैंकों के द्वारा शुरू की गई है जिसमें से सरकार भी सहयोग कर रही है कि ऐप के माध्यम किसान और वैज्ञानिक को जोड़ने का काम कर रही है वैसे भी आप अपनी समस्या को हल कर सकते हैं उसके अलावा लास्ट है कि किसान सुबह के समय पूरे खेत को जरूर देखें क्योंकि देखने से ही पता चलेगा कि हां क्या कमी है क्या नहीं कमी है और हमें किस की जरूरत है जैसे कि हमारी खेत की जो फसल है वह अच्छी हो सके
Prashn hai ki aaloo ke paudhe mein paala ke asar ka vaigyaanik kaaran kya hota hai to dikhe phains kya hai ki kisaanon ko bahut badee chinta hotee hai kyonki paale kee vajah se hamaara jo aaloo hota hai vah nahin ho paata hai aur hamaaree to paidaavaar hotee hai ekadam hamaaree laagat se bhee kam hotee hai to yah bahut badee chinta hotee hai kisaan ke lie too ki vaigyaanikon ka maanana hai ki aaloo ko paale se bachaane ke lie bachaana bahut jarooree hai nahin to aap kyon jo utpaad hai vah prabhaavit hoga aur isee kee evaj mein vaigyaanik kaee prayog aapako bataate hain ki is vajah se aapako apane aaloo kee phasal ko bacha sakate hain paale se kyonki pahala cheej hai bachaane ke lie aap kya kar sakate hain ki phasal mein halka paanee de khet mein namee banae lagaataar banae rakhen kyonki navee agar banee rahegee na to paala ka asar nahin padata hai isalie khet mein halka hee paanee dene kee namee baraabar honee chaahie par sukh su pooree tarah se jo jameen hotee hai vahaan par sukhee raho usake saath teesara hai hee saath hee jyaada paanee 9 de nahin to nukasaan ho sakata hai usamen jyaada paanee kee jaroorat bhee nahin hotee hai chauthaee kee phasal mein koee bhee beemaaree aa rahee hai too paik yaaree se sampark karen ya apane aasapaas kshetr krshi anusandhaan kendr hain aapakee jo bhee kisee se rileted dukaan hai vahaan par aap sampark kar sakate hain kyonki usase aapako achchhee salaah mil jaatee hai aur usane us phasal kee beemaaree ko door karane ke lie dava bhee mil jaatee hai isake alaava aaj to aip ke maadhyam se aap vaigyaanik evan ke dvaara daayarekt sampark kar sakate hain aur apane khet ko onalain dikha kar usamen jo bhee dava kee kee jaroorat hotee hai vah daayarekt aapako mil ja rahee hai kyonki kisaan seva bainkon ke dvaara shuroo kee gaee hai jisamen se sarakaar bhee sahayog kar rahee hai ki aip ke maadhyam kisaan aur vaigyaanik ko jodane ka kaam kar rahee hai vaise bhee aap apanee samasya ko hal kar sakate hain usake alaava laast hai ki kisaan subah ke samay poore khet ko jaroor dekhen kyonki dekhane se hee pata chalega ki haan kya kamee hai kya nahin kamee hai aur hamen kis kee jaroorat hai jaise ki hamaaree khet kee jo phasal hai vah achchhee ho sake

bolkar speaker
आलू के पौधे में पाला के असर का वैज्ञानिक कारण क्या होता है?Aalu Ke Paudhe Me Pala Ke Asar Ka Vaigyanik Kaaran Kya Hota Hai
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:35
हेलो फ्रेंड स्वागत है आपका आपका प्रश्न है आलू के पौधे में मालिक के असर का वैज्ञानिक कारण क्या होता है तो फ्रेंड से आलू के पौधों में अक्सर सर्दियों के मौसम में पाला पड़ जाया करता है तो पाला पड़ने से आलू की फसल बर्बाद हो जाती है तो यह ज्यादा सर्दी की वजह से पड़ता है मगर खेत पर बहुत ज्यादा नमी होगी तो पाला ज्यादा गिरता है इसलिए खेतों में बहुत ज्यादा पानी नहीं देना चाहिए हल्का पानी देना चाहिए और हल्की नमी रहनी चाहिए बहुत ज्यादा नमी होगी और पाला गिरेगा तो फसल बिल्कुल भी बर्बाद हो जाएगी धन्यवाद
Helo phrend svaagat hai aapaka aapaka prashn hai aaloo ke paudhe mein maalik ke asar ka vaigyaanik kaaran kya hota hai to phrend se aaloo ke paudhon mein aksar sardiyon ke mausam mein paala pad jaaya karata hai to paala padane se aaloo kee phasal barbaad ho jaatee hai to yah jyaada sardee kee vajah se padata hai magar khet par bahut jyaada namee hogee to paala jyaada girata hai isalie kheton mein bahut jyaada paanee nahin dena chaahie halka paanee dena chaahie aur halkee namee rahanee chaahie bahut jyaada namee hogee aur paala girega to phasal bilkul bhee barbaad ho jaegee dhanyavaad

bolkar speaker
आलू के पौधे में पाला के असर का वैज्ञानिक कारण क्या होता है?Aalu Ke Paudhe Me Pala Ke Asar Ka Vaigyanik Kaaran Kya Hota Hai
anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
0:47
ऑस्कर दोस्तों बोलकर आप में स्वागत है सवाल है कि आलू के पौधों में पालने के असर का वैज्ञानिक कारण क्या है तो उसमें मां मेरा मानना यह है कि फसलों में फूल और बालिया फलिया आने पर या विकसित होते समय पढ़ने की सबसे ज्यादा संभावनाएं रहती हैं तथा पाली के प्रभाव से पौधों की पत्तियां और पुलिस ने लगते हैं जिसकी वजह से फसल पर असर पड़ता और कथा आलू पर भी यही होता है और कुछ फैसले ऐसे थे जो ज्यादा तापमान में पालक झेल नहीं पाती हैं जिसकी वजह से उनको खराब होने का खतरा रहता है
Oskar doston bolakar aap mein svaagat hai savaal hai ki aaloo ke paudhon mein paalane ke asar ka vaigyaanik kaaran kya hai to usamen maan mera maanana yah hai ki phasalon mein phool aur baaliya phaliya aane par ya vikasit hote samay padhane kee sabase jyaada sambhaavanaen rahatee hain tatha paalee ke prabhaav se paudhon kee pattiyaan aur pulis ne lagate hain jisakee vajah se phasal par asar padata aur katha aaloo par bhee yahee hota hai aur kuchh phaisale aise the jo jyaada taapamaan mein paalak jhel nahin paatee hain jisakee vajah se unako kharaab hone ka khatara rahata hai

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • आलू पौधे का कैसा होता है, आलू कितने समय में उगता है, आलू कहा पर उगता है
  • आलू की फसल में पाला,आलू में पाला पड़ गया ,आलू की वैज्ञानिक खेती
URL copied to clipboard