#जीवन शैली

bolkar speaker

मन कभी-कभी पागलपंती क्यों करता है?

Man Kabhi Kabhi Pagalpanti Kyun Karta Hai
vijay singh Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए vijay जी का जवाब
Social worker in india
0:43
आपका सवाल है मन कभी-कभी पागलपंती करता है तो दोस्तों आपके सवाल का उत्तर इस प्रकार है मन कभी-कभी पागलपन दिन दुकान से करता है जो कि मनुष्य के ज्यादातर काम का बहुत ज्यादा होता है और डिप्रेशन के शिकार होने की वजह से नबी नबी पागलपंती का रोल करने लग जाता है क्योंकि उनके मानसिक टेंशन होने की वजह से कई बार दस्त कार्य को कर देता है इसलिए कभी-कभी पागलपंती आता रहता है धन्यवाद दोस्तों को सुनें
Aapaka savaal hai man kabhee-kabhee paagalapantee karata hai to doston aapake savaal ka uttar is prakaar hai man kabhee-kabhee paagalapan din dukaan se karata hai jo ki manushy ke jyaadaatar kaam ka bahut jyaada hota hai aur dipreshan ke shikaar hone kee vajah se nabee nabee paagalapantee ka rol karane lag jaata hai kyonki unake maanasik tenshan hone kee vajah se kaee baar dast kaary ko kar deta hai isalie kabhee-kabhee paagalapantee aata rahata hai dhanyavaad doston ko sunen

और जवाब सुनें

bolkar speaker
मन कभी-कभी पागलपंती क्यों करता है?Man Kabhi Kabhi Pagalpanti Kyun Karta Hai
Ganga Asati Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ganga जी का जवाब
Unknown
0:26
नेपाल सिंह सहित ही क्यों करता है दोपहर को देखने गए थे कि मैं भी बोर हो जाता एक साथ काम करके नीचा दिखाना है कुछ हटके करो ऑफिस का एक काम करो दोस्तों के साथ कब से अप्लाई करो मस्ती ना करो कभी-कभी वह भी चाहता है मौज मस्ती करो चलती रहती है उसे आप हंसते हैं हकीकत अच्छी रहेगी
Nepaal sinh sahit hee kyon karata hai dopahar ko dekhane gae the ki main bhee bor ho jaata ek saath kaam karake neecha dikhaana hai kuchh hatake karo ophis ka ek kaam karo doston ke saath kab se aplaee karo mastee na karo kabhee-kabhee vah bhee chaahata hai mauj mastee karo chalatee rahatee hai use aap hansate hain hakeekat achchhee rahegee

bolkar speaker
मन कभी-कभी पागलपंती क्यों करता है?Man Kabhi Kabhi Pagalpanti Kyun Karta Hai
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:28
हेलो दिमाग खराब है आपका अपना मन कभी-कभी पागलपन करता है तो फ्रेंडशिप हम बोर हो जाते हैं तो कभी कभी मस्ती करने का आया पागलपंती करने का मन होता है तो थोड़ा बहुत इंसान करता है जब अपनी रोज की लाइट से वह काम करते-करते थक जाता है तब थोड़ी देर अपने मन की खुशी के लिए अपनी इंटरटेनमेंट के लिए मजाक में गिनती करता है धन्यवाद
Helo dimaag kharaab hai aapaka apana man kabhee-kabhee paagalapan karata hai to phrendaship ham bor ho jaate hain to kabhee kabhee mastee karane ka aaya paagalapantee karane ka man hota hai to thoda bahut insaan karata hai jab apanee roj kee lait se vah kaam karate-karate thak jaata hai tab thodee der apane man kee khushee ke lie apanee intaratenament ke lie majaak mein ginatee karata hai dhanyavaad

bolkar speaker
मन कभी-कभी पागलपंती क्यों करता है?Man Kabhi Kabhi Pagalpanti Kyun Karta Hai
anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
0:27
नमस्कार दोस्तों बोलकर आप में स्वागत है सवाल है कि मन कभी-कभी पागलपंती क्यों करता हूं तो इसका कारण है मन पर दबाव मतलब की क्रिया प्रक्रिया का नियम मतलब कि जब मन पर दबाव ज्यादा होगा तो वह खुद को शांत करने के लिए पागलपंती करता है तथा मन में हमेशा बेवजह घबराहट होती रहती है
Namaskaar doston bolakar aap mein svaagat hai savaal hai ki man kabhee-kabhee paagalapantee kyon karata hoon to isaka kaaran hai man par dabaav matalab kee kriya prakriya ka niyam matalab ki jab man par dabaav jyaada hoga to vah khud ko shaant karane ke lie paagalapantee karata hai tatha man mein hamesha bevajah ghabaraahat hotee rahatee hai

bolkar speaker
मन कभी-कभी पागलपंती क्यों करता है?Man Kabhi Kabhi Pagalpanti Kyun Karta Hai
Trilok Sain Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Trilok जी का जवाब
Motivational Speaker Public Speaker Life Coach Youtuber
0:25
कश्मीर की मन कभी-कभी पागलपंती क्यों करते हैं दरअसल मन तो इस बच्चे की तरह मन चंचल है कैसे हैं कि पलक पलक मनोर तो मन तो घूमता रहता है इधर उधर तो कभी-कभी इसके जो पागलपंती की इच्छा होती है इसलिए मन नियंत्रण में नहीं है उनका तो उनके भोजन पाउडर परीक्षित
Kashmeer kee man kabhee-kabhee paagalapantee kyon karate hain darasal man to is bachche kee tarah man chanchal hai kaise hain ki palak palak manor to man to ghoomata rahata hai idhar udhar to kabhee-kabhee isake jo paagalapantee kee ichchha hotee hai isalie man niyantran mein nahin hai unaka to unake bhojan paudar pareekshit

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • इंसान जब पागलपंती करने लगे तो उसे कैसे ठीक करें,मन कभी-कभी पागलपंती क्यों करता है
URL copied to clipboard