#undefined

Harender Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Harender जी का जवाब
As School administration & Principal
1:25
दिल्ली सीनियर कैसी बीमारी है और इसके क्या लक्षण होते सेमारी से कैसे बचा जा सकता है इसमें शरीर के अंदर खून का बनना कम हो जाता है और निश्चित तौर पर ही कंडीशन से दूसरी जंक्शन तक अपनी संतानों में जाता रहता है इसकी विशेषता होती है कि हमारा जो फ्रॉड है ब्लड बैंक बंद हो जाता है और ब्लड का जब बंद हो जाता है तो उसको इससे संबंधित पेशेंट को हर महीने में ब्लड रिलेशन की जरूरत होती है ब्लड चढ़ाने की जरूरत होती है और निश्चित तौर में पूरी जिंदगी इनको इस बीमारी से ग्रस्त रहना पड़ता है और रेगुलर समय अंतराल पर हॉस्पिटल में जा कर के अपने प्राण को चलना पड़ता है शरीर को ठीक ढंग से काम नहीं करे तो ऐसी बीमारी से बचने के लिए जरूरी है कि भाई देखो मां घर से ही संतान को मिलते हैं इसमें संतान को कोई दोस्त नहीं है और अगर थैलेसीमिया पीड़ित है तो निश्चित तौर पर अपने जेनेटिक टेस्ट करवा करके ही करें तो ज्यादा रखो
Dillee seeniyar kaisee beemaaree hai aur isake kya lakshan hote semaaree se kaise bacha ja sakata hai isamen shareer ke andar khoon ka banana kam ho jaata hai aur nishchit taur par hee kandeeshan se doosaree jankshan tak apanee santaanon mein jaata rahata hai isakee visheshata hotee hai ki hamaara jo phrod hai blad baink band ho jaata hai aur blad ka jab band ho jaata hai to usako isase sambandhit peshent ko har maheene mein blad rileshan kee jaroorat hotee hai blad chadhaane kee jaroorat hotee hai aur nishchit taur mein pooree jindagee inako is beemaaree se grast rahana padata hai aur regular samay antaraal par hospital mein ja kar ke apane praan ko chalana padata hai shareer ko theek dhang se kaam nahin kare to aisee beemaaree se bachane ke lie jarooree hai ki bhaee dekho maan ghar se hee santaan ko milate hain isamen santaan ko koee dost nahin hai aur agar thaileseemiya peedit hai to nishchit taur par apane jenetik test karava karake hee karen to jyaada rakho

और जवाब सुनें

Udham Prasad Gautam Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Udham जी का जवाब
Unknown
2:24
हाय दोस्तो नमस्कार गुड इवनिंग आपका प्रश्न है कि थैलेसीमिया कैसी बीमारी है और इसके क्या लक्षण होते हैं इस बीमारी से कैसे बचा जा सकता है दोस्तों थैलेसीमिया एक प्रकार की अनुवांशिकी बीमारी है दोस्तों की बात समझ जाएगा ठीक है क्योंकि आपके माता-पिता में कुछ ऐसे लक्षण पाए गए हो जो आपके अंदर वह लक्षण नजर मिल जाते हैं ठीक है इसमें क्या होता है की सबसे बड़ी इसकी अंदर मतलब कमी क्या होती है कि जो आरबीसी होता है ना रक्त निर्माण ठीक है यानी खून अच्छे से बन नहीं पाता है ठीक है और जब अच्छे से बन नहीं पाता है तो आपके अंदर खून के ऊपर दिन कमी होने लगती है ठीक है और आप खाते पीते बहुत है जो भी आप रक्त का बनने वाले जो भी पदार्थ है आप खाते हैं लेकिन उस हिसाब से जितनी मात्रा में बनना चाहिए ब्लड उतनी मात्रा में अच्छे से पढ़ नहीं पाता है ठीक है और जब जेल से बाहर जा के अंदर ब्लड नहीं बन पाएगा तो आपके अंदर बहुत ही सारी कमी आ जाएगी दुनिया भर के लोग आपके न जाने लगेंगे आपके ऊपर ठीक है आप अच्छे से चल नहीं पाओगे आप के अंदर ताकत नहीं रह पाएगी ठीक है जैसे तमाम लक्षण आपको देखने को ज्यादा बीमारी उभरती है तो करी करी ढाई 3 महीने के अंतराल में क्या फुल लक्षण आपको दिखने लगेंगे ठीक है बार बार चक्कर भी आ जाएंगे ठीक है ऐसे तमाम ऐसे आपको लक्षण मिलने ले क्योंकि जो ब्लड है वहीं जब मेन पोषक तत्व जो हर जगह पहुंचाने व जब वही नहीं रहेगा अच्छे से तो जायज बात आपके अंदर हर हर एक रोग की उत्पत्ति होने लगेगी ठीक है तो इस तरह से आप मतलब यह बीमारी होती है ठीक है और इसके लक्षण की बात करूं तो लक्षण तो बता दिया मैंने कि मतलब की तबीयत जाने से बात बहुत सारे लोग हो जाएंगे ठीक है ना चढ़ाना खून की कमी ठीक है और आपके कोई भी काम करने में मन न लगना ठीक है आपका ज्यादातर दिमाग मतलब पैसा चिंता में रहना ही सब आम लक्षण इसके अंदर हो सकते हैं और बचाने की तरीका तो आप अगर आपको ऐसा अनुभव हो रहा है कि कोई भी काम है आपका मन नहीं लग रहा है आपके हरदम सुस्ती पकड़े रहती है ब्लड की कमी है तो आप जरूर सबसे बढ़िया डॉक्टर संपर्क करें उसके बाद आप उसका जो भी इलाज बताएं का डॉक्टर उसके हिसाब से आपको स्वर पूरा दवा करने का प्रयास कीजिए ठीक है क्योंकि अनुवांशिक लक्षण ज्यादा जाते नहीं बस पर कंट्रोल किया जा सकता है ठीक है तो और ज्यादा टेक्निकल आए तो यह जा भी सकते हैं क्योंकि दोस्तों में तो आप अगर यह लक्षण आपको देखने लगे तो आप जरूर सबसे पहले डॉक्टर से संपर्क करें ठीक है धन्यवाद
Haay dosto namaskaar gud ivaning aapaka prashn hai ki thaileseemiya kaisee beemaaree hai aur isake kya lakshan hote hain is beemaaree se kaise bacha ja sakata hai doston thaileseemiya ek prakaar kee anuvaanshikee beemaaree hai doston kee baat samajh jaega theek hai kyonki aapake maata-pita mein kuchh aise lakshan pae gae ho jo aapake andar vah lakshan najar mil jaate hain theek hai isamen kya hota hai kee sabase badee isakee andar matalab kamee kya hotee hai ki jo aarabeesee hota hai na rakt nirmaan theek hai yaanee khoon achchhe se ban nahin paata hai theek hai aur jab achchhe se ban nahin paata hai to aapake andar khoon ke oopar din kamee hone lagatee hai theek hai aur aap khaate peete bahut hai jo bhee aap rakt ka banane vaale jo bhee padaarth hai aap khaate hain lekin us hisaab se jitanee maatra mein banana chaahie blad utanee maatra mein achchhe se padh nahin paata hai theek hai aur jab jel se baahar ja ke andar blad nahin ban paega to aapake andar bahut hee saaree kamee aa jaegee duniya bhar ke log aapake na jaane lagenge aapake oopar theek hai aap achchhe se chal nahin paoge aap ke andar taakat nahin rah paegee theek hai jaise tamaam lakshan aapako dekhane ko jyaada beemaaree ubharatee hai to karee karee dhaee 3 maheene ke antaraal mein kya phul lakshan aapako dikhane lagenge theek hai baar baar chakkar bhee aa jaenge theek hai aise tamaam aise aapako lakshan milane le kyonki jo blad hai vaheen jab men poshak tatv jo har jagah pahunchaane va jab vahee nahin rahega achchhe se to jaayaj baat aapake andar har har ek rog kee utpatti hone lagegee theek hai to is tarah se aap matalab yah beemaaree hotee hai theek hai aur isake lakshan kee baat karoon to lakshan to bata diya mainne ki matalab kee tabeeyat jaane se baat bahut saare log ho jaenge theek hai na chadhaana khoon kee kamee theek hai aur aapake koee bhee kaam karane mein man na lagana theek hai aapaka jyaadaatar dimaag matalab paisa chinta mein rahana hee sab aam lakshan isake andar ho sakate hain aur bachaane kee tareeka to aap agar aapako aisa anubhav ho raha hai ki koee bhee kaam hai aapaka man nahin lag raha hai aapake haradam sustee pakade rahatee hai blad kee kamee hai to aap jaroor sabase badhiya doktar sampark karen usake baad aap usaka jo bhee ilaaj bataen ka doktar usake hisaab se aapako svar poora dava karane ka prayaas keejie theek hai kyonki anuvaanshik lakshan jyaada jaate nahin bas par kantrol kiya ja sakata hai theek hai to aur jyaada teknikal aae to yah ja bhee sakate hain kyonki doston mein to aap agar yah lakshan aapako dekhane lage to aap jaroor sabase pahale doktar se sampark karen theek hai dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • थैलेसीमिया बीमारी का आयुर्वेदिक इलाज, थैलेसीमिया से बचने के उपाय, थैलेसीमिया के रोगी का क्या उपचार किया जा सकता है
URL copied to clipboard