#रिश्ते और संबंध

Trilok Sain Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Trilok जी का जवाब
Motivational Speaker Public Speaker Life Coach Youtuber
0:28
उसने की क्या लड़कियों का फिगर साइज होना उनकी खूबसूरती और आकर्षक बनाने के लिए जरूरी है क्या खूबसूरत हो लेकिन आगे बढ़ने के लिए सफल होने के लिए जीवन जीने के लिए जरूर लिखें आपने कंडीशन प्रश्न में यह पूछा खूबसूरती और आकर्षक खूबसूरती आ रही है तो सारी बातें मित्र करती है आकर्षक लगना तो यह सब चीजें बैठक रखी है फिगर साइज मैटर करता है धन्यवाद
Usane kee kya ladakiyon ka phigar saij hona unakee khoobasooratee aur aakarshak banaane ke lie jarooree hai kya khoobasoorat ho lekin aage badhane ke lie saphal hone ke lie jeevan jeene ke lie jaroor likhen aapane kandeeshan prashn mein yah poochha khoobasooratee aur aakarshak khoobasooratee aa rahee hai to saaree baaten mitr karatee hai aakarshak lagana to yah sab cheejen baithak rakhee hai phigar saij maitar karata hai dhanyavaad

और जवाब सुनें

nav kishor aggarwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए nav जी का जवाब
Service
0:41
नमस्कार प्रश्न पूछा गया कि क्या लड़कियों का अच्छा फिगर साइज होना उनकी खूबसूरती और आकर्षक लगने के लिए जरूरी है जी हां काफी हद तक ए बात सही है देखिए चेहरा ही खूबसूरती का पैमाना नहीं होता खूबसूरती से पैमाने के लिए काफी सारी चीजें देखी जाती हैं आपने देखा होगा कि जितने भी ब्यूटी कंपटीशन होते हैं उसमें खाली चेहरा ही नहीं देखा जाता उसने लड़कियों की फिगर साइज कद उसके अलावा उनकी सेंस ऑफ ह्यूमर यह सारी चीजें देखी जाती हैं और लड़कियों का अच्छा फिगर साइज उनकी खूबसूरती और आकर्षक लगने के लिए बहुत जरूरी होता है धन्यवाद
Namaskaar prashn poochha gaya ki kya ladakiyon ka achchha phigar saij hona unakee khoobasooratee aur aakarshak lagane ke lie jarooree hai jee haan kaaphee had tak e baat sahee hai dekhie chehara hee khoobasooratee ka paimaana nahin hota khoobasooratee se paimaane ke lie kaaphee saaree cheejen dekhee jaatee hain aapane dekha hoga ki jitane bhee byootee kampateeshan hote hain usamen khaalee chehara hee nahin dekha jaata usane ladakiyon kee phigar saij kad usake alaava unakee sens oph hyoomar yah saaree cheejen dekhee jaatee hain aur ladakiyon ka achchha phigar saij unakee khoobasooratee aur aakarshak lagane ke lie bahut jarooree hota hai dhanyavaad

vijay singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए vijay जी का जवाब
Social worker in india
0:44
दोस्तों आप का सवाल है क्या लड़कियों का अच्छा फिगर साइज होना उनकी खूबसूरती भक्षक लगने के लिए जरूरी है तो दोस्तों आपके सवाल का उत्तर इस प्रकार है ज्यादातर लड़कियां एक्सरसाइज व्यायाम करती है जिससे उनका स्तरीय अस्थाई अच्छी होती है और उनका खूबसूरती और एक दूसरे को अक्सर लगने लग जाते हैं इसीलिए दिल्ली व राम करते हैं और अच्छा खानदान की वजह से और अच्छे कपड़े पहनने की वजह से उनका फिगर साइज और खूबसूरत आकर्षक लगने लग जाता है धन्यवाद साथियों खुश रहो
Doston aap ka savaal hai kya ladakiyon ka achchha phigar saij hona unakee khoobasooratee bhakshak lagane ke lie jarooree hai to doston aapake savaal ka uttar is prakaar hai jyaadaatar ladakiyaan eksarasaij vyaayaam karatee hai jisase unaka stareey asthaee achchhee hotee hai aur unaka khoobasooratee aur ek doosare ko aksar lagane lag jaate hain iseelie dillee va raam karate hain aur achchha khaanadaan kee vajah se aur achchhe kapade pahanane kee vajah se unaka phigar saij aur khoobasoorat aakarshak lagane lag jaata hai dhanyavaad saathiyon khush raho

Divya Singh  Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Divya जी का जवाब
Mentor teacher at DoE, Delhi
4:55
नमस्कार प्रश्न है क्या लड़कियों का अच्छा फिगर साइज होना उनकी खूबसूरती और आकर्षक लगने के लिए जरूरी है किसी भी मनुष्य किसी भी व्यक्ति का फिगर साइज यदि फिट होता है या नहीं जैसा प्रकृति ने उसको बनाया है व्यवस्था देखना खूबसूरत और आकर्षक बिल्कुल लगता ही है तो कोई महिला हो या पुरुष हूं यह बात सभी पर लागू होती है यदि वह फिट है फिट है यानी स्वास्थ्य हैं तो उनका शरीर देखने में आकर्षक लगता ही है खूबसूरत लगता ही है कितने ही ऐसे व्यक्तित्व हैं चाहे वह फिल्मी सेलिब्रिटीज हो चाहे वह पॉलिटिकल सेलिब्रिटीज हो चाहे हमारे घर के आस-पास रहने वाले हमारे जानकार लोगों हमारे साथी मित्र हो हमारे साथ काम करने वाले लोग हो तो यह बिल्कुल सही बात है कि एक अच्छा एक अच्छा शरीर सभी को अपनी और आकर्षित करता है खूबसूरत लगता है और अच्छा शरीर या अच्छा फिगर तभी होता है जब व्यक्ति का खानपान व्यक्ति का स्वास्थ्य बिल्कुल उचित होता है तो श्रम जो है वह शरीर की आवश्यकता होती है और श्रम के साथ जब हम जीते हैं मेहनत करते हैं तो हमारा शरीर फिट रहता है अब वह श्रम घर में काम करके हो एक्सरसाइज करके हो जोगिंग करके हो या हमारा जो कार्य जहां हम कार्य करते वहां हम व्यस्त रहते हो तो इस प्रकार से शरीर हमारा फिट रहे स्पोर्ट्स खेल के भी हो हो सकता है वह बिल्कुल महिला ही क्यों नहीं लड़कियां ही क्यों पुरुष भी कोई भी व्यक्ति हो आप देखेंगे चाहे छोटा बच्चा ही क्यों ना हो तो हर उम्र का व्यक्ति यदि सेट है उसका शरीर बिल्कुल सुडौल सीधा यानी कि जैसा होना चाहिए जो एक आइडियल है जो एक नॉर्मल शरीर है वह सभी को देखने में आकर्षित करता है और ऐसा ही लड़कियों के लिए भी है यदि उनका फिगर और साइड जो एक होना चाहिए यदि उससे बहुत ज्यादा है या बहुत कम भी है यानी कि बहुत पतला होना बहुत मोटा होना दोनों ही स्थिति में जो है शरीर आकर्षक नहीं लगता है इसके दूसरी और हम यह भी बात कर लें कि केवल केवल फिगर फिट होने से ही खूबसूरती नहीं होती है खूबसूरती यदि हम रूप से देखें तो बिल्कुल उनसे होगी किंतु खूबसूरती यदि हम व्यक्ति के व्यवहार से देखें उसके कार्य से देखें उसके सब के साथ रहने का प्रेम भाव से देखें दूसरों के प्रति अपने आसपास रहने वाले व्यक्तियों के प्रति उसका व्यवहार देखें तो असली खूबसूरती वही होती है मनुष्य का फिगर और उसका शरीर नहीं देखते हैं केवल शरीर एक कारक नहीं हो सकता किसी की खूबसूरती के लिए बहुत से ऐसे व्यक्ति हैं जो बहुत जिसे हम अच्छा फिगर मानते हैं जो आइडियल फिगर मानते हैं वह नहीं भी होता किंतु उनके कार्य उनका व्यवहार उनका खुद को प्रेजेंटेबल बनाना कुछ लोग इतने अच्छे तरीके से खुद को कैरी करते हैं जो पहनते हैं उसको इतने अच्छे से कैरी करते हैं चेहरे पर मुस्कान लिए होते हैं वह भी खूबसूरत और आकर्षक लगते हैं एक सच्चा व्यक्ति साफ दिल का व्यक्ति भी एक चेहरे पर तेज लिए हुए होता है वह असली में खूबसूरत दिखता है तो खूबसूरत और आकर्षक दिखने का एक कारक अच्छा फिगर होना जरूर होता है पर वह एक ही सेक्टर है उसके अलावा भी बहुत से फैक्टर्स होते हैं जो सुंदर और आकर्षक दिखने में आप हमें महसूस होते हैं कि हम उन कारणों से भी सुंदर और आकर्षक लगते हैं या हमें कोई व्यक्ति खूबसूरत और आकर्षक लग सकता है और मुझे तो यह लगता है कि असली खूबसूरती हम उस व्यक्ति में ही देखते हैं जो सदा खुश रहता है उसका शरीर चाहे जैसा हो लेकिन खुश रहने वाला व्यक्ति सभी को प्रसन्न कर देता है और उसके आसपास होने से पॉजिटिव एनर्जी मिलती है वह हमारे लिए आकर्षण का केंद्र होती है कई बार हमें महसूस होता है कि इस व्यक्ति के साथ जब भी हम बैठते हैं बड़ा अच्छा लगता है क्योंकि वहां कंफर्ट जोन में होते हैं कंफर्ट फील करते हैं तो जहां भी हम सहज महसूस करते हैं उस सहज महसूस करना ही आकर्षण का केंद्र भी होता है तो बिल्कुल फिगर अच्छा हो तो खूबसूरती और आकर्षक आकर्षण तो बढ़ता ही है और वह केवल एक कारण हो सकता है सदा यह सही नहीं होता है धन्यवाद
Namaskaar prashn hai kya ladakiyon ka achchha phigar saij hona unakee khoobasooratee aur aakarshak lagane ke lie jarooree hai kisee bhee manushy kisee bhee vyakti ka phigar saij yadi phit hota hai ya nahin jaisa prakrti ne usako banaaya hai vyavastha dekhana khoobasoorat aur aakarshak bilkul lagata hee hai to koee mahila ho ya purush hoon yah baat sabhee par laagoo hotee hai yadi vah phit hai phit hai yaanee svaasthy hain to unaka shareer dekhane mein aakarshak lagata hee hai khoobasoorat lagata hee hai kitane hee aise vyaktitv hain chaahe vah philmee selibriteej ho chaahe vah politikal selibriteej ho chaahe hamaare ghar ke aas-paas rahane vaale hamaare jaanakaar logon hamaare saathee mitr ho hamaare saath kaam karane vaale log ho to yah bilkul sahee baat hai ki ek achchha ek achchha shareer sabhee ko apanee aur aakarshit karata hai khoobasoorat lagata hai aur achchha shareer ya achchha phigar tabhee hota hai jab vyakti ka khaanapaan vyakti ka svaasthy bilkul uchit hota hai to shram jo hai vah shareer kee aavashyakata hotee hai aur shram ke saath jab ham jeete hain mehanat karate hain to hamaara shareer phit rahata hai ab vah shram ghar mein kaam karake ho eksarasaij karake ho joging karake ho ya hamaara jo kaary jahaan ham kaary karate vahaan ham vyast rahate ho to is prakaar se shareer hamaara phit rahe sports khel ke bhee ho ho sakata hai vah bilkul mahila hee kyon nahin ladakiyaan hee kyon purush bhee koee bhee vyakti ho aap dekhenge chaahe chhota bachcha hee kyon na ho to har umr ka vyakti yadi set hai usaka shareer bilkul sudaul seedha yaanee ki jaisa hona chaahie jo ek aaidiyal hai jo ek normal shareer hai vah sabhee ko dekhane mein aakarshit karata hai aur aisa hee ladakiyon ke lie bhee hai yadi unaka phigar aur said jo ek hona chaahie yadi usase bahut jyaada hai ya bahut kam bhee hai yaanee ki bahut patala hona bahut mota hona donon hee sthiti mein jo hai shareer aakarshak nahin lagata hai isake doosaree aur ham yah bhee baat kar len ki keval keval phigar phit hone se hee khoobasooratee nahin hotee hai khoobasooratee yadi ham roop se dekhen to bilkul unase hogee kintu khoobasooratee yadi ham vyakti ke vyavahaar se dekhen usake kaary se dekhen usake sab ke saath rahane ka prem bhaav se dekhen doosaron ke prati apane aasapaas rahane vaale vyaktiyon ke prati usaka vyavahaar dekhen to asalee khoobasooratee vahee hotee hai manushy ka phigar aur usaka shareer nahin dekhate hain keval shareer ek kaarak nahin ho sakata kisee kee khoobasooratee ke lie bahut se aise vyakti hain jo bahut jise ham achchha phigar maanate hain jo aaidiyal phigar maanate hain vah nahin bhee hota kintu unake kaary unaka vyavahaar unaka khud ko prejentebal banaana kuchh log itane achchhe tareeke se khud ko kairee karate hain jo pahanate hain usako itane achchhe se kairee karate hain chehare par muskaan lie hote hain vah bhee khoobasoorat aur aakarshak lagate hain ek sachcha vyakti saaph dil ka vyakti bhee ek chehare par tej lie hue hota hai vah asalee mein khoobasoorat dikhata hai to khoobasoorat aur aakarshak dikhane ka ek kaarak achchha phigar hona jaroor hota hai par vah ek hee sektar hai usake alaava bhee bahut se phaiktars hote hain jo sundar aur aakarshak dikhane mein aap hamen mahasoos hote hain ki ham un kaaranon se bhee sundar aur aakarshak lagate hain ya hamen koee vyakti khoobasoorat aur aakarshak lag sakata hai aur mujhe to yah lagata hai ki asalee khoobasooratee ham us vyakti mein hee dekhate hain jo sada khush rahata hai usaka shareer chaahe jaisa ho lekin khush rahane vaala vyakti sabhee ko prasann kar deta hai aur usake aasapaas hone se pojitiv enarjee milatee hai vah hamaare lie aakarshan ka kendr hotee hai kaee baar hamen mahasoos hota hai ki is vyakti ke saath jab bhee ham baithate hain bada achchha lagata hai kyonki vahaan kamphart jon mein hote hain kamphart pheel karate hain to jahaan bhee ham sahaj mahasoos karate hain us sahaj mahasoos karana hee aakarshan ka kendr bhee hota hai to bilkul phigar achchha ho to khoobasooratee aur aakarshak aakarshan to badhata hee hai aur vah keval ek kaaran ho sakata hai sada yah sahee nahin hota hai dhanyavaad

Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:29
हेलो अभी 1 साल के आपका किसने किया लड़कियों का अच्छा सुना उनकी खूबसूरती और आकर्षक लिए जरूरी है तो खुशी की बात करें तो अच्छा होना चाहिए अपने आप को मेंटेन रखना चाहिए अच्छे कपड़े पहनने चाहिए और समाज के हिसाब से कपड़े पहनना चाहिए रहन-सहन रखना चाहिए अगर हम ज्ञान की बात करें तो हम पढ़ाई लिखाई अच्छे तभी लड़की कब होता है धन्यवाद
Helo abhee 1 saal ke aapaka kisane kiya ladakiyon ka achchha suna unakee khoobasooratee aur aakarshak lie jarooree hai to khushee kee baat karen to achchha hona chaahie apane aap ko menten rakhana chaahie achchhe kapade pahanane chaahie aur samaaj ke hisaab se kapade pahanana chaahie rahan-sahan rakhana chaahie agar ham gyaan kee baat karen to ham padhaee likhaee achchhe tabhee ladakee kab hota hai dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • लड़कियों का फिगर कैसा होना चाहिए, अच्छा फिगर कैसे बनाए, अच्छे फिगर के क्या फायदे है
URL copied to clipboard