#जीवन शैली

bolkar speaker

क्या भीतर से हर इंसान वैज्ञानिक है?

Kya Bhetar Se Har Insan Vegyanik Hai
Abhishek Kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Abhishek जी का जवाब
Student
0:33
मैं उसे कभी बोलकर प्रोफाइल में आपका स्वागत करता हूं तो सवाल है कि क्या भीतर से हर इंसान वैज्ञानिक है जी हां यह सत्य है कि हर इंसान की तरह से बचाने की बताएं जो व्यक्ति जिस क्षेत्र में चाहे चाहे विज्ञान तकनीकी साहित्य संगीत दर्शन के लिए लगातार आविष्कार और शोधकर्ता है साथी नई चीजों को जन्म दे रहा है तो होना इस तरह का वैज्ञानिक धन्यवाद
Main use kabhee bolakar prophail mein aapaka svaagat karata hoon to savaal hai ki kya bheetar se har insaan vaigyaanik hai jee haan yah saty hai ki har insaan kee tarah se bachaane kee bataen jo vyakti jis kshetr mein chaahe chaahe vigyaan takaneekee saahity sangeet darshan ke lie lagaataar aavishkaar aur shodhakarta hai saathee naee cheejon ko janm de raha hai to hona is tarah ka vaigyaanik dhanyavaad

और जवाब सुनें

bolkar speaker
क्या भीतर से हर इंसान वैज्ञानिक है?Kya Bhetar Se Har Insan Vegyanik Hai
Pt. Rakesh  Chaturvedi ( Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant | Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Pt. जी का जवाब
Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant |
1:15
नमस्कार दोस्तों प्रश्न है क्या भीतर से हर इंसान वैज्ञानिक है तो निश्चित रूप से बहुत ही अच्छा प्रश्न है निश्चित रूप से हर व्यक्ति वैज्ञानिक है वह कोई ना कोई शोधकर्ता रहता है किसी समस्या में आ जाता है क्या छोटे-छोटे कार्य में कोई चीज बाधित हो जाती है तो उसको किसी ने ट्यूबलाइट लगाना सिखाया नहीं किसी को बलम लगाना सिखाया नहीं कई लोग आप देखते होंगे कि कई बैठे बैठे अपने जुगाड़ के लिए कई चीजों का आविष्कार कर देते हैं वह सकता है जनता में इतना प्रचलित ना हो लेकिन सहूलियत उस व्यक्ति को होती है तो वह अपने लिए तो वैज्ञानिक और हम ही लोगों में से कोई ना कोई वैज्ञानिक बनता है तो कथन बिल्कुल सत्य है क्योंकि हम कुछ ना कुछ रोज प्रतिदिन कुछ ना कुछ खोज करते रहते हैं वह हो सकता की खोज बड़ी हो सकती है हो सकता है वह खोज बहुत ही छोटी हो सकती है लेकिन हमारा मस्तिष्क हर व्यक्ति का मस्तिष्क कुछ ना कुछ नया करने की सोचता रहता है ऐसी वैज्ञानिक जो बड़े स्तर पर हो जाते हैं वह भी कोई ना कोई सोचते रहते हैं नई नई चीजों का आविष्कार करने की कोशिश करते हैं बहुत सारे लोग सफल होते हैं बहुत सारे लोगों को काफी समय लग जाता है उसके बाद सफल होते हैं तो बिल्कुल सत्य है यह बात धन्यवाद
Namaskaar doston prashn hai kya bheetar se har insaan vaigyaanik hai to nishchit roop se bahut hee achchha prashn hai nishchit roop se har vyakti vaigyaanik hai vah koee na koee shodhakarta rahata hai kisee samasya mein aa jaata hai kya chhote-chhote kaary mein koee cheej baadhit ho jaatee hai to usako kisee ne tyoobalait lagaana sikhaaya nahin kisee ko balam lagaana sikhaaya nahin kaee log aap dekhate honge ki kaee baithe baithe apane jugaad ke lie kaee cheejon ka aavishkaar kar dete hain vah sakata hai janata mein itana prachalit na ho lekin sahooliyat us vyakti ko hotee hai to vah apane lie to vaigyaanik aur ham hee logon mein se koee na koee vaigyaanik banata hai to kathan bilkul saty hai kyonki ham kuchh na kuchh roj pratidin kuchh na kuchh khoj karate rahate hain vah ho sakata kee khoj badee ho sakatee hai ho sakata hai vah khoj bahut hee chhotee ho sakatee hai lekin hamaara mastishk har vyakti ka mastishk kuchh na kuchh naya karane kee sochata rahata hai aisee vaigyaanik jo bade star par ho jaate hain vah bhee koee na koee sochate rahate hain naee naee cheejon ka aavishkaar karane kee koshish karate hain bahut saare log saphal hote hain bahut saare logon ko kaaphee samay lag jaata hai usake baad saphal hote hain to bilkul saty hai yah baat dhanyavaad

bolkar speaker
क्या भीतर से हर इंसान वैज्ञानिक है?Kya Bhetar Se Har Insan Vegyanik Hai
vijay singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए vijay जी का जवाब
Social worker in india
0:49
जैसा कि साथियों आपका सवाल है क्या भीतर से हर इंसान विज्ञानिक है तो साथियों आपके सवाल का उत्तर इस प्रकार है कोई भी व्यक्ति जिस क्षेत्र में चयन हो या तकनीकी या करती या साहित्य संगीत या दर्शन या खेल या अर्थशास्त्र हो लगातार जो अविष्कार और जो शोध कर रहा है साथ ही नई चीजों को जन्म दे रहा है वह एक विज्ञानिक है अगर पानी मानो को देखा जाए तो वह गुफाओं और कंधों में रहता था और जानवर का शिकार करता रहता था और उसी पर ही निर्भर रहता था और उसी से अपना पेट भरता था धीरे-धीरे वह अपने बुद्धि को विकसित करता गया आज आधुनिक मानव बुद्धि मानव मानव के रूप में अपना एक प्रभुत्व स्थापित कर लिया है धन्यवाद खुश रहो
Jaisa ki saathiyon aapaka savaal hai kya bheetar se har insaan vigyaanik hai to saathiyon aapake savaal ka uttar is prakaar hai koee bhee vyakti jis kshetr mein chayan ho ya takaneekee ya karatee ya saahity sangeet ya darshan ya khel ya arthashaastr ho lagaataar jo avishkaar aur jo shodh kar raha hai saath hee naee cheejon ko janm de raha hai vah ek vigyaanik hai agar paanee maano ko dekha jae to vah guphaon aur kandhon mein rahata tha aur jaanavar ka shikaar karata rahata tha aur usee par hee nirbhar rahata tha aur usee se apana pet bharata tha dheere-dheere vah apane buddhi ko vikasit karata gaya aaj aadhunik maanav buddhi maanav maanav ke roop mein apana ek prabhutv sthaapit kar liya hai dhanyavaad khush raho

bolkar speaker
क्या भीतर से हर इंसान वैज्ञानिक है?Kya Bhetar Se Har Insan Vegyanik Hai
Trilok Sain Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Trilok जी का जवाब
Motivational Speaker Public Speaker Life Coach Youtuber
0:40
कचरे की क्या भीतर से हर इंसान वैज्ञानिक वैज्ञानिक तो नहीं कह सकते लेकिन हर इंसान के अंदर कुछ न कुछ योग्यता होती है उसे नया खोजने की नया ढूंढने की योग्यता होती है तो अपने आप में यूनिक है अपने आप उसके अंदर जो आईडी है वह यूनिट कर सकता है कुछ भी क्या करता है तो हर व्यक्ति अपने आप में एक अलग इंसान हैं उसके विचार ही मतलब अविष्कार करते हैं तो उसके विचार आएंगे लेकिन विचारों को जब बदलना पड़ता है वास्तविकता मेहता विद्या उसका रोता है धन्यवाद
Kachare kee kya bheetar se har insaan vaigyaanik vaigyaanik to nahin kah sakate lekin har insaan ke andar kuchh na kuchh yogyata hotee hai use naya khojane kee naya dhoondhane kee yogyata hotee hai to apane aap mein yoonik hai apane aap usake andar jo aaeedee hai vah yoonit kar sakata hai kuchh bhee kya karata hai to har vyakti apane aap mein ek alag insaan hain usake vichaar hee matalab avishkaar karate hain to usake vichaar aaenge lekin vichaaron ko jab badalana padata hai vaastavikata mehata vidya usaka rota hai dhanyavaad

bolkar speaker
क्या भीतर से हर इंसान वैज्ञानिक है?Kya Bhetar Se Har Insan Vegyanik Hai
Ganga Asati Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ganga जी का जवाब
Unknown
0:26
यह है कि क्या भीतर से हर इंसान भाई के आने के तो हम भी तो से हर इंसान वैज्ञानिक होता है बस फर्क इतना है कि जो लीडर रहते हैं वह आगे बढ़ जाते वैज्ञानिक बन जाते हो जो डरते हैं कि लोग हसेंगे फिर अच्छे लोग नहीं हैं जो लोग उनके सामने में कुछ करूंगी तो यह लो वोल्टेज हसेंगे गाने मारेंगे असली ब्लू भैया हमसे बात नहीं करेंगे तुम्हें देख रही हूं
Yah hai ki kya bheetar se har insaan bhaee ke aane ke to ham bhee to se har insaan vaigyaanik hota hai bas phark itana hai ki jo leedar rahate hain vah aage badh jaate vaigyaanik ban jaate ho jo darate hain ki log hasenge phir achchhe log nahin hain jo log unake saamane mein kuchh karoongee to yah lo voltej hasenge gaane maarenge asalee bloo bhaiya hamase baat nahin karenge tumhen dekh rahee hoon

bolkar speaker
क्या भीतर से हर इंसान वैज्ञानिक है?Kya Bhetar Se Har Insan Vegyanik Hai
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:24
हेलो रिबन स्वागत है आपका करेंगे अभी तक हर इंसान देंगे या फ्रेंड से वैज्ञानिक तो नहीं लेकिन हर इंसान के अंदर कोई ना कोई कला जरूर होती है हर इंसान के अंदर कोई न कोई ऐसी प्रतिभा होती है जैसे महान जरूर बनाती है तो किसी भी इंसान को कभी अपने आप को कमजोर नहीं समझना चाहिए हर इंसान के अंदर अपनी कोई ना कोई प्रतिभा जरूर होती है धन्यवाद
Helo riban svaagat hai aapaka karenge abhee tak har insaan denge ya phrend se vaigyaanik to nahin lekin har insaan ke andar koee na koee kala jaroor hotee hai har insaan ke andar koee na koee aisee pratibha hotee hai jaise mahaan jaroor banaatee hai to kisee bhee insaan ko kabhee apane aap ko kamajor nahin samajhana chaahie har insaan ke andar apanee koee na koee pratibha jaroor hotee hai dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • वैज्ञानिक कौन होते है, वैज्ञानिक कैसे बना जाता है
URL copied to clipboard