#जीवन शैली

bolkar speaker

कभी-कभी हमारी आंखें क्यों फड़कती है?

Kabhi Kabhi Humari Aankhe Kyo Fadakati Hai
Rajendra Malkhat Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Rajendra जी का जवाब
Self student
3:20
नमस्कार दोस्तों आपका प्रश्न है कभी-कभी हमारी आंखें क्यों फड़कती है तो दोस्तों आइए जानते हैं यह जानकारी पाइपिंग जिसे आईलिड ट्विचिंग इन पीपल के फल के रूप में भी जाना जाता है एक बहुत ही सामान्य आंख की स्थिति होती है यह कष्टप्रद आंखों का फड़कना हम तौर पर केवल एक आंख की निचली पलक को प्रभावित करता है लेकिन ऊपरी पलक भी भड़क सकती है ज्यादातर i2h लंबे समय तक प्रभावित नहीं करते हैं लेकिन कभी-कभी एक आंख का फड़कना हफ्तों या महीनों तक भी रह सकता है दोस्तों जो आंखें पढ़ती है हां या नहीं मिलती है तो उनका कारण आइए जानते हैं इस में तनाव भी शामिल हो सकता है थकान होने पर आंख पर जोर पड़ने पर कैफीन शराब का सेवन स्वभाव के होने पर पोषण की समस्या होने पर या एलर्जी होने पर कभी-कभी बस अपने आहार और जीवनशैली में मामूली बदलाव करने से आपकी आंखों के हिले फड़कने के खतरे को कम किया जा सकता है या आई ट्विचिंग समस्या को गायब किया जा सकता है कि किया जा सकता है दोस्तों जो आंखों का हिलना है धड़कन हम कारण हैं योग सांस लेने की व्यायाम या पालतू पशुओं के साथ समय बिताना व्यायाम करना और अपने शेड्यूल में अधिक पर एक लेना आदि तनाव को कम करने के तरीके हैं दोस्तों कर तनाव किया जा सकता है तनाव कम किया जा सकता है तो आंखें नहीं पड़ती है यह कम करने का उपाय है टोटल कंट्रोल रखें चलाओ मत कीजिए मत बड़ी दुकान पर ध्यान दीजिए नींद कम आना चाहे तनाव की वजह से या किसी और कारण से हो तो आगे बढ़ सकती है हर लगातार छह से 8 घंटे तक पर्याप्त नींद लेने तो थकान नहीं आएगी और आगे नहीं पड़ेगी आंखों का तनाव तो भाई सर ट्रेन लोकेटर टैबलेट और स्मार्टफोन की से अधिक प्रयोग सही है ऐसा हो सकता है तो सब अपने अपने डिजिटल उपकरणों से नियमित रूप से ब्रेक लेने से थकान कम हो जाती है पर एक महिला रेप राइट में सिंह का फ्रेंड के अंगों का फड़कना शुरू हो सकता है दोस्तों हर 20 मिनट में अपनी सक्रिय से दूर देखें और अपनी आंखों को 20 सेकंड है उससे अधिक समय तक दूर की वस्तु देखने पर अपना ध्यान केंद्रित करें इसके अलावा आप जो है इससे आप जो अपनी स्क्रीन पर देखते हो तो उसे आपका ध्यान प्रभावित होगा और आंखों का जो तनाव है वह नहीं हो इस प्रकार से हमारी आंखें जो है उनका पटना कब हो जाएगा या फिर गायब हो जाएगा धन्यवाद
Namaskaar doston aapaka prashn hai kabhee-kabhee hamaaree aankhen kyon phadakatee hai to doston aaie jaanate hain yah jaanakaaree paiping jise aaeelid tviching in peepal ke phal ke roop mein bhee jaana jaata hai ek bahut hee saamaany aankh kee sthiti hotee hai yah kashtaprad aankhon ka phadakana ham taur par keval ek aankh kee nichalee palak ko prabhaavit karata hai lekin ooparee palak bhee bhadak sakatee hai jyaadaatar i2h lambe samay tak prabhaavit nahin karate hain lekin kabhee-kabhee ek aankh ka phadakana haphton ya maheenon tak bhee rah sakata hai doston jo aankhen padhatee hai haan ya nahin milatee hai to unaka kaaran aaie jaanate hain is mein tanaav bhee shaamil ho sakata hai thakaan hone par aankh par jor padane par kaipheen sharaab ka sevan svabhaav ke hone par poshan kee samasya hone par ya elarjee hone par kabhee-kabhee bas apane aahaar aur jeevanashailee mein maamoolee badalaav karane se aapakee aankhon ke hile phadakane ke khatare ko kam kiya ja sakata hai ya aaee tviching samasya ko gaayab kiya ja sakata hai ki kiya ja sakata hai doston jo aankhon ka hilana hai dhadakan ham kaaran hain yog saans lene kee vyaayaam ya paalatoo pashuon ke saath samay bitaana vyaayaam karana aur apane shedyool mein adhik par ek lena aadi tanaav ko kam karane ke tareeke hain doston kar tanaav kiya ja sakata hai tanaav kam kiya ja sakata hai to aankhen nahin padatee hai yah kam karane ka upaay hai total kantrol rakhen chalao mat keejie mat badee dukaan par dhyaan deejie neend kam aana chaahe tanaav kee vajah se ya kisee aur kaaran se ho to aage badh sakatee hai har lagaataar chhah se 8 ghante tak paryaapt neend lene to thakaan nahin aaegee aur aage nahin padegee aankhon ka tanaav to bhaee sar tren loketar taibalet aur smaartaphon kee se adhik prayog sahee hai aisa ho sakata hai to sab apane apane dijital upakaranon se niyamit roop se brek lene se thakaan kam ho jaatee hai par ek mahila rep rait mein sinh ka phrend ke angon ka phadakana shuroo ho sakata hai doston har 20 minat mein apanee sakriy se door dekhen aur apanee aankhon ko 20 sekand hai usase adhik samay tak door kee vastu dekhane par apana dhyaan kendrit karen isake alaava aap jo hai isase aap jo apanee skreen par dekhate ho to use aapaka dhyaan prabhaavit hoga aur aankhon ka jo tanaav hai vah nahin ho is prakaar se hamaaree aankhen jo hai unaka patana kab ho jaega ya phir gaayab ho jaega dhanyavaad

और जवाब सुनें

bolkar speaker
कभी-कभी हमारी आंखें क्यों फड़कती है?Kabhi Kabhi Humari Aankhe Kyo Fadakati Hai
vijay singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए vijay जी का जवाब
Social worker in india
1:04
नाम नहीं आपका सवाल है कभी-कभी हमारी आंखें क्यों फड़कती है तो दोस्तों आपके सवाल का उत्तर इस प्रकार है कभी-कभी हमारी आंखें इसलिए फड़कती है क्योंकि हमारे यहां से में कुछ इन्फेक्शन होने की वजह से हमारी आंखें धड़कने लग जाती है यह हमारी आंखों में कुछ बाल आंखों में जाने की वजह से यह भी हमारी आंखें धड़कने लग जाती है और कुछ लोग ऐसे भी दाना बोलते हैं कि आंख फड़कने से कुछ आपको तनाव महसूस होती है लेकिन ऐसी कोई बात नहीं है ज्यादातर हमारी आंखें जो कुछ आंखों में प्रॉब्लम की वजह से ही धन्यवाद साथियों खुश रहो
Naam nahin aapaka savaal hai kabhee-kabhee hamaaree aankhen kyon phadakatee hai to doston aapake savaal ka uttar is prakaar hai kabhee-kabhee hamaaree aankhen isalie phadakatee hai kyonki hamaare yahaan se mein kuchh inphekshan hone kee vajah se hamaaree aankhen dhadakane lag jaatee hai yah hamaaree aankhon mein kuchh baal aankhon mein jaane kee vajah se yah bhee hamaaree aankhen dhadakane lag jaatee hai aur kuchh log aise bhee daana bolate hain ki aankh phadakane se kuchh aapako tanaav mahasoos hotee hai lekin aisee koee baat nahin hai jyaadaatar hamaaree aankhen jo kuchh aankhon mein problam kee vajah se hee dhanyavaad saathiyon khush raho

bolkar speaker
कभी-कभी हमारी आंखें क्यों फड़कती है?Kabhi Kabhi Humari Aankhe Kyo Fadakati Hai
अमित सिंह बघेल Bolkar App
Top Speaker,Level 55
सुनिए अमित जी का जवाब
सामाजिक कार्यकर्ता, मोटिवेशनल स्पीकर 
2:38
उसने पूछा क्या कभी-कभी हमारी आंखें क्यों फड़कती है देखिए आंख अगर देखे ज्यादा समय तक और बार-बार फड़कती है तो डॉक्टर से देखिए संपर्क करना चाहिए और मैं आपको बता दूं कि अधिकांश मामलों में आंखों का फड़कना कुछ सेकंड या कुछ मिनट या 1 से 2 घंटे तक होता है और यह अपने आप ठीक हो जाता है आंख फड़कने का सीधा संबंध उस की मांसपेशियों से अगर लंबे समय से ऐसा हो रहा है तो एक बार आंखों की जांच कर जरूर करवा लें हो सकता है चश्मा लगाने की जरूरत हो यह चश्मे का नंबर बदलने वाला हो तो आंख फड़कने का अगर मैं दूसरा कारण बताओ तो वह होता है तनाव होता है तनाव का सीधा असर नींद पर पड़ता है और आंख फड़कने लगती है तो यह हो सकता है कुछ कारण थोड़ी सी थकान में भी दिखे ऐसा होता है जो लोग लंबे समय तक कंप्यूटर लैपटॉप पर काम करते हैं उनकी विधि क्या पढ़ती है जो लोग कैफीन कार्य की बहुत ज्यादा सेवन करते हैं उन्हें भी देखिए परेशानी होती है शराब का ज्यादा नशा करने वालों की आंखें इस बीमारी से देखिए अछूती नहीं रहती जिनकी आंखें उसको भी हैं उन्हें भी देखिए इस बीमारी से जोड़ना पड़ता है वहीं देखिए मैं आपको बता दूं कई मामलों में आंख का फड़कना कुपोषण का संकेत होता है खास तौर पर दी कि बच्चों में आंख फड़कने का देखिए यह प्रमुख कारण होता है आपका देखिए फड़कना भी टॉय की कमी का भी दिखे संकेत है तो अगर देखिए आंख फड़कना आप को रोकना है तो आंखों के फड़कने का इलाज उसके कारण पड़ेगी निर्भर करता है मसलन यदि मांसपेशियों से जुड़ी समस्या है तो तुरंत डॉक्टर इलाज लेना चाहिए ज्यादा चाय या कॉफी शराब का सेवन ऐसा हो रहा है तो उनका सेवन कम करके देख ले फायदा ना हो तो डॉक्टर से मिले सुख होने के कारण आंख फड़क रही है तो उसके लिए डॉक्टर से संपर्क करें और आई ड्रॉप ने लंबे समय से लैपटॉप कंप्यूटर पर काम कर रहे हैं तो बीच-बीच में ब्रेक ले डिस्टल i10 को दिखे राहत देने के लिए अपने नेत्र चिकित्सक से कंप्यूटर आई नासिक हाईवे के प्रयोग के बारे में सलाह लें और मैं आपको बता दूं तनाव दूर करने की कोशिश करें गर्मी के मौसम में देखिए आंखों पर गिरे पानी की पट्टी बांधे शरीर में मैग्नीशियम की कमी के कारण देखे आंख फड़कती है इसे दूर करने के लिए डॉक्टर से मिले और जरूर देखिए पोषण में जय हिंद जय भारत
Usane poochha kya kabhee-kabhee hamaaree aankhen kyon phadakatee hai dekhie aankh agar dekhe jyaada samay tak aur baar-baar phadakatee hai to doktar se dekhie sampark karana chaahie aur main aapako bata doon ki adhikaansh maamalon mein aankhon ka phadakana kuchh sekand ya kuchh minat ya 1 se 2 ghante tak hota hai aur yah apane aap theek ho jaata hai aankh phadakane ka seedha sambandh us kee maansapeshiyon se agar lambe samay se aisa ho raha hai to ek baar aankhon kee jaanch kar jaroor karava len ho sakata hai chashma lagaane kee jaroorat ho yah chashme ka nambar badalane vaala ho to aankh phadakane ka agar main doosara kaaran batao to vah hota hai tanaav hota hai tanaav ka seedha asar neend par padata hai aur aankh phadakane lagatee hai to yah ho sakata hai kuchh kaaran thodee see thakaan mein bhee dikhe aisa hota hai jo log lambe samay tak kampyootar laipatop par kaam karate hain unakee vidhi kya padhatee hai jo log kaipheen kaary kee bahut jyaada sevan karate hain unhen bhee dekhie pareshaanee hotee hai sharaab ka jyaada nasha karane vaalon kee aankhen is beemaaree se dekhie achhootee nahin rahatee jinakee aankhen usako bhee hain unhen bhee dekhie is beemaaree se jodana padata hai vaheen dekhie main aapako bata doon kaee maamalon mein aankh ka phadakana kuposhan ka sanket hota hai khaas taur par dee ki bachchon mein aankh phadakane ka dekhie yah pramukh kaaran hota hai aapaka dekhie phadakana bhee toy kee kamee ka bhee dikhe sanket hai to agar dekhie aankh phadakana aap ko rokana hai to aankhon ke phadakane ka ilaaj usake kaaran padegee nirbhar karata hai masalan yadi maansapeshiyon se judee samasya hai to turant doktar ilaaj lena chaahie jyaada chaay ya kophee sharaab ka sevan aisa ho raha hai to unaka sevan kam karake dekh le phaayada na ho to doktar se mile sukh hone ke kaaran aankh phadak rahee hai to usake lie doktar se sampark karen aur aaee drop ne lambe samay se laipatop kampyootar par kaam kar rahe hain to beech-beech mein brek le distal i10 ko dikhe raahat dene ke lie apane netr chikitsak se kampyootar aaee naasik haeeve ke prayog ke baare mein salaah len aur main aapako bata doon tanaav door karane kee koshish karen garmee ke mausam mein dekhie aankhon par gire paanee kee pattee baandhe shareer mein maigneeshiyam kee kamee ke kaaran dekhe aankh phadakatee hai ise door karane ke lie doktar se mile aur jaroor dekhie poshan mein jay hind jay bhaarat

bolkar speaker
कभी-कभी हमारी आंखें क्यों फड़कती है?Kabhi Kabhi Humari Aankhe Kyo Fadakati Hai
Maayank Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Maayank जी का जवाब
College Student
1:05
एक भारतीय समाज की बात करें तो आंख फड़कना आंख फड़कती है तो कहते हैं कि हम शुरू है और क्या गुण हैं अगर कोई एक आंख फड़कती है तो आप कभी शगुन आ जाता है कब लगूंगा जाते हैं एक अध्ययन के अनुसार अधिकांश मामलों में आंखों का फड़कना कुछ मिनट पर तनाव का चिराग अभी नींद पर पड़ता है और आंख फड़कने के कारण की आंख फड़कती है कोई व्यक्ति ज्यादा थक चुका है लंबे समय तक कंप्यूटर पर काम करते हैं उनकी आप ज्यादा चैटिंग पी रहे हैं तो उन्हें भी आपको भी परेशानी हो सकती है ज्यादा को भी कई सारे सीजन से शराब का ज्यादा सेवन करना या कुपोषण होना या बी टवाल की कमी होने के कारण हो सकते हैं पूजा तेरी चुनरी सॉन्ग
Ek bhaarateey samaaj kee baat karen to aankh phadakana aankh phadakatee hai to kahate hain ki ham shuroo hai aur kya gun hain agar koee ek aankh phadakatee hai to aap kabhee shagun aa jaata hai kab lagoonga jaate hain ek adhyayan ke anusaar adhikaansh maamalon mein aankhon ka phadakana kuchh minat par tanaav ka chiraag abhee neend par padata hai aur aankh phadakane ke kaaran kee aankh phadakatee hai koee vyakti jyaada thak chuka hai lambe samay tak kampyootar par kaam karate hain unakee aap jyaada chaiting pee rahe hain to unhen bhee aapako bhee pareshaanee ho sakatee hai jyaada ko bhee kaee saare seejan se sharaab ka jyaada sevan karana ya kuposhan hona ya bee tavaal kee kamee hone ke kaaran ho sakate hain pooja teree chunaree song

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • दाईं आंख क्यों फड़कती है, बाई आंख क्यों फड़कती है, अंगों के फड़कने का वैज्ञानिक कारण
URL copied to clipboard