#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker

शारीरिक शिक्षा से आप क्या समझते हैं?

Shareerik Shiksha Se Aap Kya Samajhte Hai
Vaishnavi Pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Vaishnavi जी का जवाब
Student / Artist
0:49
नमस्कार आपने प्लास्टिक किया है कि शारीरिक शिक्षा से आप क्या समझते हैं तो देखिए अपने शरीर और दिमाग को स्वस्थ रखने के लिए जो शिक्षा दी जाती है उसे शारीरिक शिक्षा कहते हैं और शारीरिक शिक्षा में आप कोई योग प्राणायाम और ध्यान जैसी क्रियाओं को सिखाया जाता शारीरिक शिक्षा जो है वह मनुष्य के लिए बहुत ज्यादा जरूरी है क्योंकि आजकल मनुष्य के पास समय नहीं है लोगों का जीवन जो है वह बहुत भागदौड़ में व्यस्त रहता है पूरा दिन यह जरूरी है कि उनको शारीरिक शिक्षा दी जाए ताकि वह अपने शरीर का ख्याल रखें और फिट रहे
Namaskaar aapane plaastik kiya hai ki shaareerik shiksha se aap kya samajhate hain to dekhie apane shareer aur dimaag ko svasth rakhane ke lie jo shiksha dee jaatee hai use shaareerik shiksha kahate hain aur shaareerik shiksha mein aap koee yog praanaayaam aur dhyaan jaisee kriyaon ko sikhaaya jaata shaareerik shiksha jo hai vah manushy ke lie bahut jyaada jarooree hai kyonki aajakal manushy ke paas samay nahin hai logon ka jeevan jo hai vah bahut bhaagadaud mein vyast rahata hai poora din yah jarooree hai ki unako shaareerik shiksha dee jae taaki vah apane shareer ka khyaal rakhen aur phit rahe

और जवाब सुनें

bolkar speaker
शारीरिक शिक्षा से आप क्या समझते हैं?Shareerik Shiksha Se Aap Kya Samajhte Hai
डा. इन्दु प्रकाश सिंह  Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए डा. जी का जवाब
शिक्षण-कार्य, कालेज शिक्षा में प्राचार्य हूँ
2:18
शिक्षा से आप क्या समझते यह प्रश्न है आपका सीधी सी बात है वह शिक्षा व शारीरिक विकास की तरफ ध्यान दिलाती है उसे शारीरिक शिक्षा कहते हैं और यह जो शिक्षा पद्धति हमारी चल रही है बहुत देख सकता विमान शिक्षा पद्धति है आपने माना गया कि एक स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मस्तिष्क निवास करता है इसलिए शारीरिक शिक्षा को भी उतनी ही अमित तो दी गई इनमें बात सही है कम शारीरिक शिक्षा के प्रति कितने गंभीर नहीं है मैं भी कॉलेज शिक्षा में हूं और राजस्थान में लेकिन मुझे मालूम है कि हर कॉलेज में शारीरिक शिक्षक जहां शारीरिक शिक्षक हैं वहां सारी सुविधाएं नहीं हैं जहां शारीरिक शिक्षा की सुविधाएं हैं वहां या तो बच्चों में रुचि नहीं है और एक कारण यह भी मुझे थे संकोच नहीं कि जो पीटीआई है शारीरिक शिक्षक है उन्हें हर सरकार की खेल का ज्ञान नहीं है और यह उचित भी है कि एक विचारक खिलाड़ियों से हर गम का जानकार तो नहीं हो सकता है कि आपने इसीलिए शारीरिक शिक्षा जो है वह अपने आप पर पूर्ण नहीं हो पाएगी या अपने कम से कम 10 प्लस टू या 10th क्लास तक बच्चों को सब्जेक्ट पढ़ने का अधिकार मिलता है हालांकि इसमें भी कई जगहों पर बाधाएं हैं बीए बीएससी आदमी जो भी से उपलब्ध है उसी में बच्चों का एडमिशन लेना पड़ता है कि सिर्फ कर के बिछड़े हुए चित्र में नेताओं से प्राइवेट करना पड़ता है लेकिन पीटीआई जहां नहीं है या जिस खेल केपीटीआई है वहां उसे खेल का डेवलपमेंट तो बौद्धिक शिक्षा के साथ शारीरिक शिक्षक जो प्रयास है उसे गुप्त रखा जाता है इसमें खेलकूद है दौड़ भाग गए यह आपने इस तरह की बातें कुश्ती है कबड्डी वाले क्रिकेट है यादी
Shiksha se aap kya samajhate yah prashn hai aapaka seedhee see baat hai vah shiksha va shaareerik vikaas kee taraph dhyaan dilaatee hai use shaareerik shiksha kahate hain aur yah jo shiksha paddhati hamaaree chal rahee hai bahut dekh sakata vimaan shiksha paddhati hai aapane maana gaya ki ek svasth shareer mein hee svasth mastishk nivaas karata hai isalie shaareerik shiksha ko bhee utanee hee amit to dee gaee inamen baat sahee hai kam shaareerik shiksha ke prati kitane gambheer nahin hai main bhee kolej shiksha mein hoon aur raajasthaan mein lekin mujhe maaloom hai ki har kolej mein shaareerik shikshak jahaan shaareerik shikshak hain vahaan saaree suvidhaen nahin hain jahaan shaareerik shiksha kee suvidhaen hain vahaan ya to bachchon mein ruchi nahin hai aur ek kaaran yah bhee mujhe the sankoch nahin ki jo peeteeaee hai shaareerik shikshak hai unhen har sarakaar kee khel ka gyaan nahin hai aur yah uchit bhee hai ki ek vichaarak khilaadiyon se har gam ka jaanakaar to nahin ho sakata hai ki aapane iseelie shaareerik shiksha jo hai vah apane aap par poorn nahin ho paegee ya apane kam se kam 10 plas too ya 10th klaas tak bachchon ko sabjekt padhane ka adhikaar milata hai haalaanki isamen bhee kaee jagahon par baadhaen hain beee beeesasee aadamee jo bhee se upalabdh hai usee mein bachchon ka edamishan lena padata hai ki sirph kar ke bichhade hue chitr mein netaon se praivet karana padata hai lekin peeteeaee jahaan nahin hai ya jis khel kepeeteeaee hai vahaan use khel ka devalapament to bauddhik shiksha ke saath shaareerik shikshak jo prayaas hai use gupt rakha jaata hai isamen khelakood hai daud bhaag gae yah aapane is tarah kee baaten kushtee hai kabaddee vaale kriket hai yaadee

bolkar speaker
शारीरिक शिक्षा से आप क्या समझते हैं?Shareerik Shiksha Se Aap Kya Samajhte Hai
डा. इन्दु प्रकाश सिंह  Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए डा. जी का जवाब
शिक्षण-कार्य, कालेज शिक्षा में प्राचार्य हूँ
2:18
शिक्षा से आप क्या समझते यह प्रश्न है आपका सीधी सी बात है वह शिक्षा व शारीरिक विकास की तरफ ध्यान दिलाती है उसे शारीरिक शिक्षा कहते हैं और यह जो शिक्षा पद्धति हमारी चल रही है बहुत देख सकता विमान शिक्षा पद्धति है आपने माना गया कि एक स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मस्तिष्क निवास करता है इसलिए शारीरिक शिक्षा को भी उतनी ही अमित तो दी गई इनमें बात सही है कम शारीरिक शिक्षा के प्रति कितने गंभीर नहीं है मैं भी कॉलेज शिक्षा में हूं और राजस्थान में लेकिन मुझे मालूम है कि हर कॉलेज में शारीरिक शिक्षक जहां शारीरिक शिक्षक हैं वहां सारी सुविधाएं नहीं हैं जहां शारीरिक शिक्षा की सुविधाएं हैं वहां या तो बच्चों में रुचि नहीं है और एक कारण यह भी मुझे थे संकोच नहीं कि जो पीटीआई है शारीरिक शिक्षक है उन्हें हर सरकार की खेल का ज्ञान नहीं है और यह उचित भी है कि एक विचारक खिलाड़ियों से हर गम का जानकार तो नहीं हो सकता है कि आपने इसीलिए शारीरिक शिक्षा जो है वह अपने आप पर पूर्ण नहीं हो पाएगी या अपने कम से कम 10 प्लस टू या 10th क्लास तक बच्चों को सब्जेक्ट पढ़ने का अधिकार मिलता है हालांकि इसमें भी कई जगहों पर बाधाएं हैं बीए बीएससी आदमी जो भी से उपलब्ध है उसी में बच्चों का एडमिशन लेना पड़ता है कि सिर्फ कर के बिछड़े हुए चित्र में नेताओं से प्राइवेट करना पड़ता है लेकिन पीटीआई जहां नहीं है या जिस खेल केपीटीआई है वहां उसे खेल का डेवलपमेंट तो बौद्धिक शिक्षा के साथ शारीरिक शिक्षक जो प्रयास है उसे गुप्त रखा जाता है इसमें खेलकूद है दौड़ भाग गए यह आपने इस तरह की बातें कुश्ती है कबड्डी वाले क्रिकेट है यादी
Shiksha se aap kya samajhate yah prashn hai aapaka seedhee see baat hai vah shiksha va shaareerik vikaas kee taraph dhyaan dilaatee hai use shaareerik shiksha kahate hain aur yah jo shiksha paddhati hamaaree chal rahee hai bahut dekh sakata vimaan shiksha paddhati hai aapane maana gaya ki ek svasth shareer mein hee svasth mastishk nivaas karata hai isalie shaareerik shiksha ko bhee utanee hee amit to dee gaee inamen baat sahee hai kam shaareerik shiksha ke prati kitane gambheer nahin hai main bhee kolej shiksha mein hoon aur raajasthaan mein lekin mujhe maaloom hai ki har kolej mein shaareerik shikshak jahaan shaareerik shikshak hain vahaan saaree suvidhaen nahin hain jahaan shaareerik shiksha kee suvidhaen hain vahaan ya to bachchon mein ruchi nahin hai aur ek kaaran yah bhee mujhe the sankoch nahin ki jo peeteeaee hai shaareerik shikshak hai unhen har sarakaar kee khel ka gyaan nahin hai aur yah uchit bhee hai ki ek vichaarak khilaadiyon se har gam ka jaanakaar to nahin ho sakata hai ki aapane iseelie shaareerik shiksha jo hai vah apane aap par poorn nahin ho paegee ya apane kam se kam 10 plas too ya 10th klaas tak bachchon ko sabjekt padhane ka adhikaar milata hai haalaanki isamen bhee kaee jagahon par baadhaen hain beee beeesasee aadamee jo bhee se upalabdh hai usee mein bachchon ka edamishan lena padata hai ki sirph kar ke bichhade hue chitr mein netaon se praivet karana padata hai lekin peeteeaee jahaan nahin hai ya jis khel kepeeteeaee hai vahaan use khel ka devalapament to bauddhik shiksha ke saath shaareerik shikshak jo prayaas hai use gupt rakha jaata hai isamen khelakood hai daud bhaag gae yah aapane is tarah kee baaten kushtee hai kabaddee vaale kriket hai yaadee

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • शारीरिक शिक्षा के लाभ, शारीरिक शिक्षा के लक्ष्य, शारीरिक शिक्षा की विशेषताएं
URL copied to clipboard