#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker

क्या हर समय नर्म होना सही है?

Kya Har Samay Namr Hona Sahi Hai
shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
1:20
हेलो रितु आज आपका सवाल है कि क्या हर समय नंबर होना सही है कहा जाता है कि किसी के साथ विनम्रता से अच्छे से पेश आना चाहिए ना तब ग्रामीण इलाके में किसी को और शेयर करना चाहिए आज कल मुझे क्या लगता है ना कि हम भी चीजें के तरीके से बोल रहे हैं अच्छे से पेश आ रहे हैं लेकिन जहां पर आप तो इल्जाम लगाया जा रहा है या फिर आप गलत नहीं है आप को गलत बताया कि अगर आप इस तरीके से पेश आएंगे तो गलत समझ सकते हैं जैसे कि हम तो छोड़ो ठीक है मैं गलत हूं ऐसा व्यक्ति नहीं है मेरे झगड़ा नहीं करना है अच्छे से पेश आना ना प्यार को बोलेंगे तो छोड़ो जो बोलना है वह बोल लेना भूल कर चले जाएंगे जब तक आप अपना स्टैंड नहीं लेंगे तो ऐसे हर जगह आप तो दोषी हैं मतलब माने जाएंगे तो अच्छे से आना से भी गैर आपका छोड़ना चाहिए मैंने सुना तू क्या गलत नहीं है वहां पर आपको बोलना चाहिए ना कि वहां पर मेरे साथ साथ कुछ टाइम देना चाहिए
Helo ritu aaj aapaka savaal hai ki kya har samay nambar hona sahee hai kaha jaata hai ki kisee ke saath vinamrata se achchhe se pesh aana chaahie na tab graameen ilaake mein kisee ko aur sheyar karana chaahie aaj kal mujhe kya lagata hai na ki ham bhee cheejen ke tareeke se bol rahe hain achchhe se pesh aa rahe hain lekin jahaan par aap to iljaam lagaaya ja raha hai ya phir aap galat nahin hai aap ko galat bataaya ki agar aap is tareeke se pesh aaenge to galat samajh sakate hain jaise ki ham to chhodo theek hai main galat hoon aisa vyakti nahin hai mere jhagada nahin karana hai achchhe se pesh aana na pyaar ko bolenge to chhodo jo bolana hai vah bol lena bhool kar chale jaenge jab tak aap apana staind nahin lenge to aise har jagah aap to doshee hain matalab maane jaenge to achchhe se aana se bhee gair aapaka chhodana chaahie mainne suna too kya galat nahin hai vahaan par aapako bolana chaahie na ki vahaan par mere saath saath kuchh taim dena chaahie

और जवाब सुनें

bolkar speaker
क्या हर समय नर्म होना सही है?Kya Har Samay Namr Hona Sahi Hai
Dhiraj Gurjar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dhiraj जी का जवाब
Unknown
1:36

bolkar speaker
क्या हर समय नर्म होना सही है?Kya Har Samay Namr Hona Sahi Hai
vijay singh Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए vijay जी का जवाब
Social worker in india
1:09
फोन कर दो लोग आपका सवाल है कि हर समय धर्म होना सही है तो दोस्तों आपके सवाल का उत्तर इस प्रकार है हमें हर समय नरम नहीं रहना चाहिए हमें गर्म भी रहना चाहिए और नरम भी रहना चाहिए और साथ ही रहना चाहिए समय के अनुकूल हमें नाराम गरम होना बहुत ही जरूरी है क्योंकि अगर आप नरम रहेंगे तो हमेशा आपके मजबूरियों का फायदा उठाते रहेंगे इसलिए समय के अनुकूल आप में परिवर्तन होना बहुत ही जरूरी है और समय के मुताबिक ही आपको चलना चाहिए और जैसा वतन होता है उसके अनुकूल जी आपको रहना चाहिए अगर ठंडा अनुकूल है तो आपको गर्म होना बहुत जरूरी है अगर गर्म वातावरण है तो आपको ठंडा रहना बहुत जरूरी है इसलिए समय के मुताबिक चाहिए आपको चलना चाहिए धन्यवाद साथियों खुश रहो
Phon kar do log aapaka savaal hai ki har samay dharm hona sahee hai to doston aapake savaal ka uttar is prakaar hai hamen har samay naram nahin rahana chaahie hamen garm bhee rahana chaahie aur naram bhee rahana chaahie aur saath hee rahana chaahie samay ke anukool hamen naaraam garam hona bahut hee jarooree hai kyonki agar aap naram rahenge to hamesha aapake majabooriyon ka phaayada uthaate rahenge isalie samay ke anukool aap mein parivartan hona bahut hee jarooree hai aur samay ke mutaabik hee aapako chalana chaahie aur jaisa vatan hota hai usake anukool jee aapako rahana chaahie agar thanda anukool hai to aapako garm hona bahut jarooree hai agar garm vaataavaran hai to aapako thanda rahana bahut jarooree hai isalie samay ke mutaabik chaahie aapako chalana chaahie dhanyavaad saathiyon khush raho

bolkar speaker
क्या हर समय नर्म होना सही है?Kya Har Samay Namr Hona Sahi Hai
Pt. Rakesh  Chaturvedi ( Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant | Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Pt. जी का जवाब
Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant |
1:26
नमस्कार दोस्तों प्रश्न है कि क्या हर समय नंबर होना सही है तो दोस्तों नम्रता होने में कोई दिक्कत नहीं है देखेंगे आपको ही लोगों का परिवार में या कई लोगों के आप अपने मित्रों को देखो हमेशा रहता होगा ज्यादा कुछ बोलता ही नहीं से कोई मतलब ही नहीं होता होगा उसको जवाब दोगे या तो वह आपको जवाब देगा और देखोगे बहुत सफल भी होगा नम्रता से बहुत सारे काम आसानी से हो जाते हैं हो सकता है कि आपको कोई आप नंबर रहे तो आपको धोखा देने की कोशिश करें लेकिन आपको सावधानी से रहना है बहुत सारे मैंने देखे नंबर व्यक्ति तो होते हैं लेकिन अंदर से बहुत ही अच्छे प्रबंधक होते हैं अच्छा कार्य शैली होती है उनकी तो उनको ऐसा कोई बेवकूफ नहीं बना सकता बस शक्ल से नंबर लगते हैं तो नंबर तो नहीं छोड़नी चाहिए कभी भी किसी मौके पर निश्चित रूप से गुस्सा आता है ऐसा जो नंबर व्यक्ति होते हैं गुस्सा जाहिर भी करना चाहिए लेकिन वह भी गुस्से को विनम्रता से भी देखोगे आप कई लड़ाई झगड़ा होता है तो कई बार लोग गुस्से में भी है बहुत ही नंबर बात कर रहे हैं कई लोग ऐसे गाली गलौज से बहुत जोर जोर से बात करते हैं उसका कोई दुख नहीं हो सकता है हो सकता है लेकिन हमेशा बढ़िया रहता है और अपने स्वास्थ्य के लिए भी बहुत ही बढ़िया रहता है क्योंकि जब हम मैं नंबर था छोड़ देते हैं तो निश्चित रूप से किसी को गलत बोलते हैं तो निश्चित रूप से हम भी दबाव में आते हैं हमें भी टेंशन होती है बीपी हाई होता है तो किस बात के लिए नुकसानदायक है धन्यवाद
Namaskaar doston prashn hai ki kya har samay nambar hona sahee hai to doston namrata hone mein koee dikkat nahin hai dekhenge aapako hee logon ka parivaar mein ya kaee logon ke aap apane mitron ko dekho hamesha rahata hoga jyaada kuchh bolata hee nahin se koee matalab hee nahin hota hoga usako javaab doge ya to vah aapako javaab dega aur dekhoge bahut saphal bhee hoga namrata se bahut saare kaam aasaanee se ho jaate hain ho sakata hai ki aapako koee aap nambar rahe to aapako dhokha dene kee koshish karen lekin aapako saavadhaanee se rahana hai bahut saare mainne dekhe nambar vyakti to hote hain lekin andar se bahut hee achchhe prabandhak hote hain achchha kaary shailee hotee hai unakee to unako aisa koee bevakooph nahin bana sakata bas shakl se nambar lagate hain to nambar to nahin chhodanee chaahie kabhee bhee kisee mauke par nishchit roop se gussa aata hai aisa jo nambar vyakti hote hain gussa jaahir bhee karana chaahie lekin vah bhee gusse ko vinamrata se bhee dekhoge aap kaee ladaee jhagada hota hai to kaee baar log gusse mein bhee hai bahut hee nambar baat kar rahe hain kaee log aise gaalee galauj se bahut jor jor se baat karate hain usaka koee dukh nahin ho sakata hai ho sakata hai lekin hamesha badhiya rahata hai aur apane svaasthy ke lie bhee bahut hee badhiya rahata hai kyonki jab ham main nambar tha chhod dete hain to nishchit roop se kisee ko galat bolate hain to nishchit roop se ham bhee dabaav mein aate hain hamen bhee tenshan hotee hai beepee haee hota hai to kis baat ke lie nukasaanadaayak hai dhanyavaad

bolkar speaker
क्या हर समय नर्म होना सही है?Kya Har Samay Namr Hona Sahi Hai
Author Yogendra Singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Author जी का जवाब
लेखक
2:57
हेलो दोस्तों मेरा नाम है योगेंद्र सिंह और आप मुझे सुन रहे हैं बोलकर ऐप पर सवाल ही हर समय नंबर होना सही है क्या देखिए नंबर होना अच्छी बात है और इसमें खुद का ही फायदा ज्यादा होता है लेकिन आप कहेंगे कहीं ऐसी कोई जगह पहुंच जाए इंसान जहां पर उसे गुस्सा करना पड़ेगा चीजें सही नहीं जा रही है वहां पर तो गुस्सा करना पड़ेगा यानी कि आप किसी जगह के मालिक हैं और अगर आप अपने एंप्लॉय से काम कराएं किसी भी ऐसे इंसान से काम करा रहे हैं जो आपका काम कर रहा है लेकिन अगर वह सही से नहीं कर रहा तो उस पर गुस्सा तो दिखाना पड़ेगा तो उसके लिए तो मैं एक ही बात कहूंगा कि एक चीज होता है गुस्से का आ जाना यानी कि उस पर आपका काबू नहीं होता गुस्सा आ गया आपने पता नहीं उसे क्या कह दिया क्या क्या कर दिया दूसरा होता है गुस्सा करना दोनों अलग-अलग चाहिए जवाब गुस्सा करते हैं तो आप किसी सही चीज के लिए गुस्सा करते हैं वह आपके कंट्रोल में रहता है कि आपको कितना गुस्सा करना है और कितने समय तक करना है नंबर है ना बहुत अच्छी चीज है इससे लोगों के दिलों में आप के प्रति सम्मान भी बढ़ेगा और आपकी इमेज भी अच्छी बनेगी लेकिन जहां गुस्सा करने की बारी आई वहां पर आपको गुस्सा कर सकते हैं और गुस्सा करना आप समझ ही चुके हैं कि किस तरह से अलग होता है गुस्सा आने से और इसमें एक यह भी है कि आपको इंटरनली डिस्टर्ब नहीं रहेंगे यानी कि जो गुस्सा दिखा रहे हो बाहर का ही गुस्सा होगा सिर्फ और उसका पैसा है आप के दिमाग पर आपकी बॉडी पर नहीं पड़ेगा तो विशाखापट्नम रहे अंदर से शांत रहे लेकिन जहां गुस्सा करने की जरूरत पड़े वहां गुस्सा कीजिए और इसके लिए आपको प्रेक्टिस की जरूरत पड़ेगी और सही तरीका है क्योंकि कुछ जगह पर इंसान को ऐसा दिखाना पड़ता है जरूरी नहीं है कि वह किया ही जाए वरना सामने वाला इंसान कभी कभी काबू से बाहर चला जाता है आपके काम बिगाड़ देता है तो उसे समझाने के लिए कभी-कभी चीजें इस तरीके से करनी पड़ती लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि आप अपने मन की शांति को खोलें और आपे से बाहर हो जाना कुछ ऐसा कर जाए तो आपको पता ही ना हो यानी कि किसी कुछ ऐसा बोल देना जिससे कि आपको बाद में अफसोस हो या कुछ ऐसा कर देना और ऐसा तब होता है जब इंसान को गुस्सा आ जाता किस बात को समझ ही गुस्सा आ जाना और गुस्सा करना दोनों में फर्क होता है बहुत-बहुत धन्यवाद
Helo doston mera naam hai yogendr sinh aur aap mujhe sun rahe hain bolakar aip par savaal hee har samay nambar hona sahee hai kya dekhie nambar hona achchhee baat hai aur isamen khud ka hee phaayada jyaada hota hai lekin aap kahenge kaheen aisee koee jagah pahunch jae insaan jahaan par use gussa karana padega cheejen sahee nahin ja rahee hai vahaan par to gussa karana padega yaanee ki aap kisee jagah ke maalik hain aur agar aap apane employ se kaam karaen kisee bhee aise insaan se kaam kara rahe hain jo aapaka kaam kar raha hai lekin agar vah sahee se nahin kar raha to us par gussa to dikhaana padega to usake lie to main ek hee baat kahoonga ki ek cheej hota hai gusse ka aa jaana yaanee ki us par aapaka kaaboo nahin hota gussa aa gaya aapane pata nahin use kya kah diya kya kya kar diya doosara hota hai gussa karana donon alag-alag chaahie javaab gussa karate hain to aap kisee sahee cheej ke lie gussa karate hain vah aapake kantrol mein rahata hai ki aapako kitana gussa karana hai aur kitane samay tak karana hai nambar hai na bahut achchhee cheej hai isase logon ke dilon mein aap ke prati sammaan bhee badhega aur aapakee imej bhee achchhee banegee lekin jahaan gussa karane kee baaree aaee vahaan par aapako gussa kar sakate hain aur gussa karana aap samajh hee chuke hain ki kis tarah se alag hota hai gussa aane se aur isamen ek yah bhee hai ki aapako intaranalee distarb nahin rahenge yaanee ki jo gussa dikha rahe ho baahar ka hee gussa hoga sirph aur usaka paisa hai aap ke dimaag par aapakee bodee par nahin padega to vishaakhaapatnam rahe andar se shaant rahe lekin jahaan gussa karane kee jaroorat pade vahaan gussa keejie aur isake lie aapako prektis kee jaroorat padegee aur sahee tareeka hai kyonki kuchh jagah par insaan ko aisa dikhaana padata hai jarooree nahin hai ki vah kiya hee jae varana saamane vaala insaan kabhee kabhee kaaboo se baahar chala jaata hai aapake kaam bigaad deta hai to use samajhaane ke lie kabhee-kabhee cheejen is tareeke se karanee padatee lekin isaka yah matalab nahin hai ki aap apane man kee shaanti ko kholen aur aape se baahar ho jaana kuchh aisa kar jae to aapako pata hee na ho yaanee ki kisee kuchh aisa bol dena jisase ki aapako baad mein aphasos ho ya kuchh aisa kar dena aur aisa tab hota hai jab insaan ko gussa aa jaata kis baat ko samajh hee gussa aa jaana aur gussa karana donon mein phark hota hai bahut-bahut dhanyavaad

bolkar speaker
क्या हर समय नर्म होना सही है?Kya Har Samay Namr Hona Sahi Hai
Vijay shankar pal Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Vijay जी का जवाब
My youtube channel - Tech with vijay
0:33
उसका साथियों क्या हर समय नंबर होना सही है तो साथियों हमेशा आप दिला रहे या हमेशा हर बातों को स्वीकार कर लेना यह सही नहीं है जहां उचित हो जहां जैसा देखें टेढ़ी उंगली से सीधी उंगली से घी नहीं निकलता तो कहीं-कहीं टेडी भी करना पड़ता है अगर कहीं गर्म होने से काम होता है तो होना जरूरी है तो इसलिए हर जगह नंबर होना सही नहीं है उचित समय पर उचित कार्य करना सही होता है
Usaka saathiyon kya har samay nambar hona sahee hai to saathiyon hamesha aap dila rahe ya hamesha har baaton ko sveekaar kar lena yah sahee nahin hai jahaan uchit ho jahaan jaisa dekhen tedhee ungalee se seedhee ungalee se ghee nahin nikalata to kaheen-kaheen tedee bhee karana padata hai agar kaheen garm hone se kaam hota hai to hona jarooree hai to isalie har jagah nambar hona sahee nahin hai uchit samay par uchit kaary karana sahee hota hai

bolkar speaker
क्या हर समय नर्म होना सही है?Kya Har Samay Namr Hona Sahi Hai
Shivangi Dixit.  Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Shivangi जी का जवाब
Unknown
1:18
क्वेश्चन है क्या हाल समझ नंबर होना चाहिए कि मेरे मेरा मानना मेरा कहना है कि आपका स्वभाव विनम्र होना चाहिए हर जगह ऐसा नहीं करो आपका स्वभाव नंबर बस स्टॉप हर एक चीज कर पाएंगे क्योंकि देखिए कहीं-कहीं अब वैसे संसार तो रहे नहीं गए कि हम जहां भी बोले तो गुस्से से ऐसे बोल कर अपना काम कर कर बिल्कुल भी नहीं यदि आप अपने 2 शब्द प्यार के बोलेंगे नहीं रहेंगे तो सामने वाले को भी लगेगा कि देखिए कितने अच्छे से बात कर रहे हैं कितने अच्छे से वहीं कर नीचे रहता है चाहे आपके सामने कितना भी बड़ा इंसान आगे खड़ा क्यों ना हो जाए आपको भी वह लोग पूछेंगे क्योंकि आपका नेचर जो नंबर आपका स्वभाव जो है एकदम बिल्कुल नहीं तो यह चीज है वह होना चाहिए लेकिन यह भी जगह-जगह तो होना चाहिए हर जगह होना बिल्कुल भी सही नहीं है यदि कोई ऊंची आवाज में बात कर रहा था उससे भली लो बात करें हम रुक के बात करें लेकिन तब तक करें जब तक कैपेसिटी यू जब तक सामने वाला समझ जाओ कि क्या होता ना तो सामने वाले के सामने आई थी हम एकदम ही बने हुए बने रहते हैं तो लोग यह सोचते हैं कि इनको खुशियां ही कुछ बोल भी नहीं पाएंगे जब तक हम तेज नहीं होंगे कुछ बोलेंगे नहीं तब तक सामने वाले की भी दिमाग में घुसता नहीं है तो आजकल का जमाना ऐसा भी नहीं है कि एकदम सीधे बने रहे बिल्कुल एक्टिव रहिए नंबर रही है लेकिन जगह-जगह पर क्वेश्चन बिल्कुल सही किया गया है जवाब पसंद है तो लाइक सब्सक्राइब करें धन्यवाद
Kveshchan hai kya haal samajh nambar hona chaahie ki mere mera maanana mera kahana hai ki aapaka svabhaav vinamr hona chaahie har jagah aisa nahin karo aapaka svabhaav nambar bas stop har ek cheej kar paenge kyonki dekhie kaheen-kaheen ab vaise sansaar to rahe nahin gae ki ham jahaan bhee bole to gusse se aise bol kar apana kaam kar kar bilkul bhee nahin yadi aap apane 2 shabd pyaar ke bolenge nahin rahenge to saamane vaale ko bhee lagega ki dekhie kitane achchhe se baat kar rahe hain kitane achchhe se vaheen kar neeche rahata hai chaahe aapake saamane kitana bhee bada insaan aage khada kyon na ho jae aapako bhee vah log poochhenge kyonki aapaka nechar jo nambar aapaka svabhaav jo hai ekadam bilkul nahin to yah cheej hai vah hona chaahie lekin yah bhee jagah-jagah to hona chaahie har jagah hona bilkul bhee sahee nahin hai yadi koee oonchee aavaaj mein baat kar raha tha usase bhalee lo baat karen ham ruk ke baat karen lekin tab tak karen jab tak kaipesitee yoo jab tak saamane vaala samajh jao ki kya hota na to saamane vaale ke saamane aaee thee ham ekadam hee bane hue bane rahate hain to log yah sochate hain ki inako khushiyaan hee kuchh bol bhee nahin paenge jab tak ham tej nahin honge kuchh bolenge nahin tab tak saamane vaale kee bhee dimaag mein ghusata nahin hai to aajakal ka jamaana aisa bhee nahin hai ki ekadam seedhe bane rahe bilkul ektiv rahie nambar rahee hai lekin jagah-jagah par kveshchan bilkul sahee kiya gaya hai javaab pasand hai to laik sabsakraib karen dhanyavaad

bolkar speaker
क्या हर समय नर्म होना सही है?Kya Har Samay Namr Hona Sahi Hai
Amit Singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Amit जी का जवाब
Student
1:10
नमस्कार दोस्तों जैसा बर्ताव करता है उसी हिसाब से उसका जवाब जीवन में ऐसी बहुत सी आती है जहां पर हम अग्रवंशी का जीवन में जितना अधिक नाम रोते हैं तो लोग आपकी मजबूरी का फायदा उठाने आपकी मतलब जो आप सीधा पन होता है उसका फायदा उठाने लगे और आपको बहुत ज्यादा सताते हैं मतलब एक निश्चित समय तक ही ठीक रहता है अगर कोई ज्यादा जरूरत से ज्यादा आपको परेशान करता है तो आप पर आपको कठिन बनना ही होगा निश्चित तौर पर कठिन बनते हैं तो व्यक्ति मिला भी आप से प्रभावित होगा यानी कि बोले कि अब इसके दाम ज्यादा मजबूरी का फायदा उठाते हैं लेकिन परेशान हो रहा है तो झगड़ा कर देगा तो आप अपनी लाइफ धूप भी काफी अच्छा रहता हूं ज्यादा डिपेंड करती थी इस हिसाब से आपके पैसे क्या होता है
Namaskaar doston jaisa bartaav karata hai usee hisaab se usaka javaab jeevan mein aisee bahut see aatee hai jahaan par ham agravanshee ka jeevan mein jitana adhik naam rote hain to log aapakee majabooree ka phaayada uthaane aapakee matalab jo aap seedha pan hota hai usaka phaayada uthaane lage aur aapako bahut jyaada sataate hain matalab ek nishchit samay tak hee theek rahata hai agar koee jyaada jaroorat se jyaada aapako pareshaan karata hai to aap par aapako kathin banana hee hoga nishchit taur par kathin banate hain to vyakti mila bhee aap se prabhaavit hoga yaanee ki bole ki ab isake daam jyaada majabooree ka phaayada uthaate hain lekin pareshaan ho raha hai to jhagada kar dega to aap apanee laiph dhoop bhee kaaphee achchha rahata hoon jyaada dipend karatee thee is hisaab se aapake paise kya hota hai

bolkar speaker
क्या हर समय नर्म होना सही है?Kya Har Samay Namr Hona Sahi Hai
souramita Deb Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए souramita जी का जवाब
Unknown
0:48
क्यों हर समय दर्द होना सही है नहीं यह बिल्कुल सही नहीं है हमें हमेशा सिचुएशन के हिसाब से अपना बर्ताव रखना चाहिए अगर ऐसी सिचुएशन पर इस देश में हमारा जो नंबर था वह वह हमारे ऊपर हावी हो रहा है या किसी को हानि पहुंचा रहा है तो उस टाइम भी हमें नर नहीं रहना चाहिए उस टाइम पर हमें सख्ती बरतना चाहिए हर जगह पर नॉर्मल है कि कोई काम नहीं हो पाता कहीं के सिचुएशन कभी कभी ऐसा हो जाता है जहां पर सख्ती बरतना बहुत जरूरी होता है इसलिए जीवन में अच्छी तरह मेंटेन करके चलने के लिए एकदम समानता रखने के लिए हमें मैडम और शक्ति दोनों पर रखना चाहिए दोनों एक साथ मिलाकर फिर हमें चलना चाहिए धन्यवाद
Kyon har samay dard hona sahee hai nahin yah bilkul sahee nahin hai hamen hamesha sichueshan ke hisaab se apana bartaav rakhana chaahie agar aisee sichueshan par is desh mein hamaara jo nambar tha vah vah hamaare oopar haavee ho raha hai ya kisee ko haani pahuncha raha hai to us taim bhee hamen nar nahin rahana chaahie us taim par hamen sakhtee baratana chaahie har jagah par normal hai ki koee kaam nahin ho paata kaheen ke sichueshan kabhee kabhee aisa ho jaata hai jahaan par sakhtee baratana bahut jarooree hota hai isalie jeevan mein achchhee tarah menten karake chalane ke lie ekadam samaanata rakhane ke lie hamen maidam aur shakti donon par rakhana chaahie donon ek saath milaakar phir hamen chalana chaahie dhanyavaad

bolkar speaker
क्या हर समय नर्म होना सही है?Kya Har Samay Namr Hona Sahi Hai
Ganga Asati Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ganga जी का जवाब
Unknown
0:25
क्या हर समय नंबर होना चाहिए तो हर समय नंबर होना सही नहीं है नहीं तो आप से सुन लो बेवकूफ समझेंगे जैसे मामलों से सबसे हल्का सा रिएक्शन तो करना ही चाहिए अब नहीं करेंगे तो सबको बेवकूफ समझेंगे फिर भी बनी रहे
Kya har samay nambar hona chaahie to har samay nambar hona sahee nahin hai nahin to aap se sun lo bevakooph samajhenge jaise maamalon se sabase halka sa riekshan to karana hee chaahie ab nahin karenge to sabako bevakooph samajhenge phir bhee banee rahe

bolkar speaker
क्या हर समय नर्म होना सही है?Kya Har Samay Namr Hona Sahi Hai
Trilok Sain Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Trilok जी का जवाब
Motivational Speaker Public Speaker Life Coach Youtuber
0:24
इसमें क्या हर समय नंबर होना सही है जी मुझे ऐसा लगता है कि अगर आप बिजी कौन हैं तो बुरा नहीं है बहुत अच्छा कौन है हर समय नंबर होना चाहिए क्योंकि नम्रता की कोई कांच नहीं है नंबर होने वाला व्यक्ति है वह गुस्से व्यक्ति से ज्यादा शस्त्र किसी किसी भी काम को करवा सकता है
Isamen kya har samay nambar hona sahee hai jee mujhe aisa lagata hai ki agar aap bijee kaun hain to bura nahin hai bahut achchha kaun hai har samay nambar hona chaahie kyonki namrata kee koee kaanch nahin hai nambar hone vaala vyakti hai vah gusse vyakti se jyaada shastr kisee kisee bhee kaam ko karava sakata hai

bolkar speaker
क्या हर समय नर्म होना सही है?Kya Har Samay Namr Hona Sahi Hai
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:36
हेलो अभी बंद स्वागत है आपका आपका प्रश्न है क्या हर समय नंबर होना सही है तो सेंड सहरसा में नंबर होना चाहिए इसमें कोई गलत बात नहीं है क्योंकि हम अपने नम्रता से अच्छा व्यवहार से किसी का गुस्सा भी शांत कर सकते हैं और किसी का दिल भी जीत सकते हैं लेकिन अगर आपके साथ कोई बुरा करने की कोशिश कर रहा हो तो आपको उस समय नंबर नहीं होना है आपको थोड़ा कठोरता से पेश आना है और आपको उसको डांटना है तो आपको मौका देखकर ही नंबर है या कठोर होना आपको मौके के ऊपर निर्भर करता है कि उस समय कैसा मौका है धन्यवाद
Helo abhee band svaagat hai aapaka aapaka prashn hai kya har samay nambar hona sahee hai to send saharasa mein nambar hona chaahie isamen koee galat baat nahin hai kyonki ham apane namrata se achchha vyavahaar se kisee ka gussa bhee shaant kar sakate hain aur kisee ka dil bhee jeet sakate hain lekin agar aapake saath koee bura karane kee koshish kar raha ho to aapako us samay nambar nahin hona hai aapako thoda kathorata se pesh aana hai aur aapako usako daantana hai to aapako mauka dekhakar hee nambar hai ya kathor hona aapako mauke ke oopar nirbhar karata hai ki us samay kaisa mauka hai dhanyavaad

bolkar speaker
क्या हर समय नर्म होना सही है?Kya Har Samay Namr Hona Sahi Hai
raja khan Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए raja जी का जवाब
Farmer
0:26

bolkar speaker
क्या हर समय नर्म होना सही है?Kya Har Samay Namr Hona Sahi Hai
nav kishor aggarwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए nav जी का जवाब
Service
1:31
मुस्कान आप को संभालने की क्या हर समय नाम होना चाहिए हर समय नरम तो नहीं रहा जा सकता क्योंकि अगर हम ज्यादा नरमी बरते हुए या ज्यादा नरमी दिखाएंगे तो सामने वाला हो सकता है कि हमारी इसी कमजोरी का फायदा उठाया वह यह सोचेगा कि शायद हम लोग डरते हैं या फिर हम लोगों के अंदर शक्ति नहीं है लड़ने की यहां कहीं कमजोर है फिर भी हर जगह दिखाना ठीक नहीं होता कभी-कभी आप अपने आप को साबित करने के लिए हमें गर्मी भी दिखानी पड़ती है हमें अपना एटीट्यूड भी दिखाना पड़ता है हमें अपना व्यवहार भी दिखाना पड़ता है तो ज्यादा गर्मी और ज्यादा गर्मी दिखाना कभी भी सही नहीं होता हमेशा मौका वक्त और नजाकत देख करके बात कीजिए किस से बात कर रहे हैं कहां कर रहे हैं क्या बात कर रहे हैं यह सब सोची यह हाल फिलहाल मेरे साथ हो भी चुका है कि कोई आदमी था उसने मेरे को बिल्कुल भी गिरा हुआ समझ लिया उसने सोचा कि यह तो कुछ है ही नहीं और वह बहुत अच्छे पद पर हैं लेकिन उसको मैंने जवाब दिया कि आप शायद उसके अकल ठिकाने आ गई वह दिमाग वह 10 बार सोचेगा आप किसी को कुछ कहने से पहले क्योंकि हम किसी से कम नहीं है ना अब उस टाइम में नरमी दिखाता उस टाइम मैं उसके आगे हाथ जोड़ता हूं से माफी मांगता तो शायद हो सकता है कि वह और ज्यादा घमंडी हो तो और ज्यादा कुछ करता इसलिए नरमी हर जगह दिखाना ठीक नहीं होता आप अपने अगर आप सही हैं तो आप अपनी बात को साबित करने की कोशिश कीजिए और अपनी बात को ताकत से साबित कीजिए धन्यवाद
Muskaan aap ko sambhaalane kee kya har samay naam hona chaahie har samay naram to nahin raha ja sakata kyonki agar ham jyaada naramee barate hue ya jyaada naramee dikhaenge to saamane vaala ho sakata hai ki hamaaree isee kamajoree ka phaayada uthaaya vah yah sochega ki shaayad ham log darate hain ya phir ham logon ke andar shakti nahin hai ladane kee yahaan kaheen kamajor hai phir bhee har jagah dikhaana theek nahin hota kabhee-kabhee aap apane aap ko saabit karane ke lie hamen garmee bhee dikhaanee padatee hai hamen apana eteetyood bhee dikhaana padata hai hamen apana vyavahaar bhee dikhaana padata hai to jyaada garmee aur jyaada garmee dikhaana kabhee bhee sahee nahin hota hamesha mauka vakt aur najaakat dekh karake baat keejie kis se baat kar rahe hain kahaan kar rahe hain kya baat kar rahe hain yah sab sochee yah haal philahaal mere saath ho bhee chuka hai ki koee aadamee tha usane mere ko bilkul bhee gira hua samajh liya usane socha ki yah to kuchh hai hee nahin aur vah bahut achchhe pad par hain lekin usako mainne javaab diya ki aap shaayad usake akal thikaane aa gaee vah dimaag vah 10 baar sochega aap kisee ko kuchh kahane se pahale kyonki ham kisee se kam nahin hai na ab us taim mein naramee dikhaata us taim main usake aage haath jodata hoon se maaphee maangata to shaayad ho sakata hai ki vah aur jyaada ghamandee ho to aur jyaada kuchh karata isalie naramee har jagah dikhaana theek nahin hota aap apane agar aap sahee hain to aap apanee baat ko saabit karane kee koshish keejie aur apanee baat ko taakat se saabit keejie dhanyavaad

bolkar speaker
क्या हर समय नर्म होना सही है?Kya Har Samay Namr Hona Sahi Hai
Hiten Sethi Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Hiten जी का जवाब
Student
2:12
बिल्कुल भी नहीं यदि हर चीज नरम रहकर निपट सकती थी तो ना महाभारत होता ना श्री राम और रावण का युद्ध होता और ना जितने युद्ध हमने कलयुग में देखे हैं चाहे वह हल्दीघाटी का युद्ध हो चाहे वह प्लासी का युद्ध हो जितने भी युद्ध है जो भी हुए हैं विश्व में वह नहीं होते क्योंकि हर चीज से नरमी से निपटा नहीं जा सकता नरमी से अनुरोध किया जा सकता है इच्छा प्रकट की जा सकती है पर यदि धर्म के लिए खड़ा रहना पड़े और धर्म से मेरा मतलब मजहब नहीं है बंद नहीं है ढंग से मेरा मतलब धर्म है अपना कर्तव्य धर्म के लिए अधर्म से लड़ने के लिए आपको विद्युत करना पड़ेगा और युद्ध में नरमी नहीं होती कुछ चीजें होती हैं अगर आपको अपने बिगड़ते बेटे को या अपनी बिगड़ती बेटी को रोकना है तो आपको नरमी छोड़कर गर्मागर्म का इस्तेमाल करना पड़ेगा चाहे वह आपको अच्छा लगे या ना मां माता पिता को भी अपने बच्चों पर हाथ उठाना पड़ता है क्योंकि उन्हें पता है यहां पर अगर यदि नरमी बरत दी हो तो इसके अंदर कहा उन्हें खत्म हो जाएगा उसके अंदर का भी खत्म हो गया तो यह अपने मूल्यों को त्याग देगा अपने मूल्य भूल जाएगा पर एक अच्छा जीवन ना कर गलत आदतों में पड़ जाएगा कुछ चीजें हैं जहां पर नरमी काम आ जाती है लेकिन जहां गर्मी से काम ना बने वहां पर गर्व होना बहुत आवश्यक हो जाता है और एक ही है क्योंकि यदि हर चीज नरमी से निपट जाती तो इतना भयंकर इतने भयंकर युद्ध खून खराबा नहीं होता माता-पिता को अपने बच्चों को मारना नहीं पड़ता अध्यापकों को अपने शिष्यों को मारने की नौबत नहीं आती भटकने से रोकने के लिए आपको कहीं ना कहीं रुकावट लानी पड़ती है अब रुकावट बच्चा कैसे समझता है वह आपके ऊपर है पर नरमी हर जगह काम नहीं आती क्योंकि जैसा जवाब जैसा सवाल पूछते हैं आपको जवाब वैसा ही मिलेगा यह दुनिया का नियम है
Bilkul bhee nahin yadi har cheej naram rahakar nipat sakatee thee to na mahaabhaarat hota na shree raam aur raavan ka yuddh hota aur na jitane yuddh hamane kalayug mein dekhe hain chaahe vah haldeeghaatee ka yuddh ho chaahe vah plaasee ka yuddh ho jitane bhee yuddh hai jo bhee hue hain vishv mein vah nahin hote kyonki har cheej se naramee se nipata nahin ja sakata naramee se anurodh kiya ja sakata hai ichchha prakat kee ja sakatee hai par yadi dharm ke lie khada rahana pade aur dharm se mera matalab majahab nahin hai band nahin hai dhang se mera matalab dharm hai apana kartavy dharm ke lie adharm se ladane ke lie aapako vidyut karana padega aur yuddh mein naramee nahin hotee kuchh cheejen hotee hain agar aapako apane bigadate bete ko ya apanee bigadatee betee ko rokana hai to aapako naramee chhodakar garmaagarm ka istemaal karana padega chaahe vah aapako achchha lage ya na maan maata pita ko bhee apane bachchon par haath uthaana padata hai kyonki unhen pata hai yahaan par agar yadi naramee barat dee ho to isake andar kaha unhen khatm ho jaega usake andar ka bhee khatm ho gaya to yah apane moolyon ko tyaag dega apane mooly bhool jaega par ek achchha jeevan na kar galat aadaton mein pad jaega kuchh cheejen hain jahaan par naramee kaam aa jaatee hai lekin jahaan garmee se kaam na bane vahaan par garv hona bahut aavashyak ho jaata hai aur ek hee hai kyonki yadi har cheej naramee se nipat jaatee to itana bhayankar itane bhayankar yuddh khoon kharaaba nahin hota maata-pita ko apane bachchon ko maarana nahin padata adhyaapakon ko apane shishyon ko maarane kee naubat nahin aatee bhatakane se rokane ke lie aapako kaheen na kaheen rukaavat laanee padatee hai ab rukaavat bachcha kaise samajhata hai vah aapake oopar hai par naramee har jagah kaam nahin aatee kyonki jaisa javaab jaisa savaal poochhate hain aapako javaab vaisa hee milega yah duniya ka niyam hai

bolkar speaker
क्या हर समय नर्म होना सही है?Kya Har Samay Namr Hona Sahi Hai
Aarti  Sharma  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Aarti जी का जवाब
Staff nurse
0:49

bolkar speaker
क्या हर समय नर्म होना सही है?Kya Har Samay Namr Hona Sahi Hai
Avdhesh Tiwari Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Avdhesh जी का जवाब
Business
0:57

bolkar speaker
क्या हर समय नर्म होना सही है?Kya Har Samay Namr Hona Sahi Hai
Christina KC Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Christina जी का जवाब
MBA Govt job in PSU/Assistant Manager (HR)
0:57

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • नर्म रहने के क्या फायदे है, नर्म रहने से क्या होता है, नर्म होने का क्या मतलब होता है
URL copied to clipboard