#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker

क्या कृत्रिम बुद्धिमत्ता से इंसानी आवाज बनाई जा सकती है?

Kya Kritrim Buddhimatta Se Insani Awaj Bnayi Ja Sakti Hai
Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
1:21
एक बहुत पुराना सिद्धांत है सच्चाई छुप नहीं सकती कभी बनावट के उसूलों से खुशबू आ नहीं सकती कभी कागज के फूलों से आर्टिफिशलिटी हमेशा कहीं ना कहीं अपन रहती है यही कारण है कि आर्टिफिशलिटी को बहुत जल्दी ही पहचान लिया जाता है जो कदम तक के साथ में इंसानी आवाज स्टेबिलिटी करने की कोशिश की जाती है किंतु वह कौन सी चीज होती है ओरिजिनल आवाज नहीं बन सकती है तुमने देखा है कि हर व्यक्ति जो अपने हस्ताक्षर करता है वह अपने हस्ताक्षर में कोई न कोई ऐसे दिनविशेष रखता है जिसके आधार पर वह अपने ओरिजिनल अंताक्षरी जान सके और ओरिजिनल डुप्लीकेट मंत्र बता सके इसी प्रकार और आवाज में भी कुछ ना कुछ अंतर होता है ईश्वर की दी हुई प्रकृति के द्वारा दी हुई हर चीज में कुछ ना कुछ अपनी विशेषताएं हर किसी के पास होती हैं
Ek bahut puraana siddhaant hai sachchaee chhup nahin sakatee kabhee banaavat ke usoolon se khushaboo aa nahin sakatee kabhee kaagaj ke phoolon se aartiphishalitee hamesha kaheen na kaheen apan rahatee hai yahee kaaran hai ki aartiphishalitee ko bahut jaldee hee pahachaan liya jaata hai jo kadam tak ke saath mein insaanee aavaaj stebilitee karane kee koshish kee jaatee hai kintu vah kaun see cheej hotee hai orijinal aavaaj nahin ban sakatee hai tumane dekha hai ki har vyakti jo apane hastaakshar karata hai vah apane hastaakshar mein koee na koee aise dinavishesh rakhata hai jisake aadhaar par vah apane orijinal antaaksharee jaan sake aur orijinal dupleeket mantr bata sake isee prakaar aur aavaaj mein bhee kuchh na kuchh antar hota hai eeshvar kee dee huee prakrti ke dvaara dee huee har cheej mein kuchh na kuchh apanee visheshataen har kisee ke paas hotee hain

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • कृत्रिम बुद्धिमत्ता क्या होती है, कृत्रिम बुद्धिमत्ता कैसे काम करती है
  • क्या कृत्रिम बुद्धिमत्ता से इंसानी आवाज बनाई जा सकती है, कृत्रिम बुद्धिमत्ता, कृत्रिम बुद्धिमत्ता
URL copied to clipboard