#जीवन शैली

Nikhil Ranjan Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Programme Coordinator at National Institute of Electronics & Information Technology (NIELIT)
1:48
मुस्कुराना का प्रश्न जो कुछ भाग्य में लिखा है वह इंसान को अवश्य मिलता है चाहे किसी रास्ते से मिले तो फिर इंसान में घमंड क्यों आ जाता है तो आपको बता देंगे कि बिल्कुल सही बात है बिल्कुल सही पर इसने अपने आप ने उठाया है कि इंसान को यहां पर अपने भाग्य के अनुसार मिलता है तो उसको घमंड क्यों होता है तो सबसे पहले जीजा को बता दें कि देखे भाग्य के भरोसे बैठने वालों को केवल उतना ही मिलता है जितना कर्म करने वाले छोड़ दिया करते हैं अगर आप सोचते रहे कि आपके सामने एक था नहीं रखी है और उसमें से कॉल टूट गया आपके मुंह में चला जाएगा तो ऐसा नहीं है उसके लिए आपको ही कर्म करने होंगे मैं आपसे नहीं हो गया फट करनी होगी तभी आप को और आप तोड़कर रोटी करने वाला खा पाएंगे तो यहां पर अगर आप कर्म ही नहीं करेंगे तो वही आपके सामने एक पूरी थाली रखी हो लेकिन आप भूखे रह जाएंगे आपके मुंह में एक निभा अभी नहीं जाएगा उसी प्रकार अगर आपके भाग्य में करोड़ों अरबों रुपए के सुख संपत्ति लिखी भी है वह भी आपको तब तक नहीं मिलेगी तब तक आप उसके लिए प्रयास नहीं करेंगे तो व्यक्ति को प्रयास हमेशा अपने जीवन में करना चाहिए लेकिन कभी भी उन प्रयासों के द्वारा मिलने वाले किसी भी चीज को या आपका जो भी उस से आपको प्राप्त हो रहा है उस पर आपको घमंड नहीं करना चाहिए घमंड तो राजा जो रावण से लंका के दिन को सोने की लंका का राजा कहा जाता था उनका भी नहीं टिक पाया तो हम लोग तो एक आम इंसान ही हो तो व्यक्ति को कभी भी घमंड नहीं करना चाहिए मैं शुभकामनाएं आपके साथ है धन्यवाद
Muskuraana ka prashn jo kuchh bhaagy mein likha hai vah insaan ko avashy milata hai chaahe kisee raaste se mile to phir insaan mein ghamand kyon aa jaata hai to aapako bata denge ki bilkul sahee baat hai bilkul sahee par isane apane aap ne uthaaya hai ki insaan ko yahaan par apane bhaagy ke anusaar milata hai to usako ghamand kyon hota hai to sabase pahale jeeja ko bata den ki dekhe bhaagy ke bharose baithane vaalon ko keval utana hee milata hai jitana karm karane vaale chhod diya karate hain agar aap sochate rahe ki aapake saamane ek tha nahin rakhee hai aur usamen se kol toot gaya aapake munh mein chala jaega to aisa nahin hai usake lie aapako hee karm karane honge main aapase nahin ho gaya phat karanee hogee tabhee aap ko aur aap todakar rotee karane vaala kha paenge to yahaan par agar aap karm hee nahin karenge to vahee aapake saamane ek pooree thaalee rakhee ho lekin aap bhookhe rah jaenge aapake munh mein ek nibha abhee nahin jaega usee prakaar agar aapake bhaagy mein karodon arabon rupe ke sukh sampatti likhee bhee hai vah bhee aapako tab tak nahin milegee tab tak aap usake lie prayaas nahin karenge to vyakti ko prayaas hamesha apane jeevan mein karana chaahie lekin kabhee bhee un prayaason ke dvaara milane vaale kisee bhee cheej ko ya aapaka jo bhee us se aapako praapt ho raha hai us par aapako ghamand nahin karana chaahie ghamand to raaja jo raavan se lanka ke din ko sone kee lanka ka raaja kaha jaata tha unaka bhee nahin tik paaya to ham log to ek aam insaan hee ho to vyakti ko kabhee bhee ghamand nahin karana chaahie main shubhakaamanaen aapake saath hai dhanyavaad

और जवाब सुनें

Trilok Sain Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Trilok जी का जवाब
Motivational Speaker Public Speaker Life Coach Youtuber
0:39
जो कुछ भाग्य में लिखा है वह इंसान को अवश्य मिलता है चाहे किसी रास्ते से मिले तो फिर इंसान क्यों पैदा होता है घमंड क्यों पैदा होता है कि मैंने जो भी प्राप्त किया है उसे उसे थोड़ी मेहनत किया उसने फट लगाए हैं तो उसको ऐसा लगता है कि सब कुछ मेरे के द्वारा ही किया हुआ है मैंने फट लगाए मैंने प्रयास किया तो इसलिए मैंने किया है और घमंड एक मनुष्य का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है बहुत कम लोग होते हैं जो घमंड को हावी होने देते हैं अधिकांश लोगों के पास जब भी पैसा या फिर भूख लग जाती है तो घमंड आ ही जाता है
Jo kuchh bhaagy mein likha hai vah insaan ko avashy milata hai chaahe kisee raaste se mile to phir insaan kyon paida hota hai ghamand kyon paida hota hai ki mainne jo bhee praapt kiya hai use use thodee mehanat kiya usane phat lagae hain to usako aisa lagata hai ki sab kuchh mere ke dvaara hee kiya hua hai mainne phat lagae mainne prayaas kiya to isalie mainne kiya hai aur ghamand ek manushy ka ek mahatvapoorn hissa hai bahut kam log hote hain jo ghamand ko haavee hone dete hain adhikaansh logon ke paas jab bhee paisa ya phir bhookh lag jaatee hai to ghamand aa hee jaata hai

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • Insan ke bhagy mai jo likha hota hai wahi insan prapt karta hai fir ghamand kyu, ghamand Kyu aata hai jab manushy ko bhagy mai likha hua hi milta hai
  • इंसान में घमंड क्यों आता है, इंसान में घमंड होने का कारण, इंसान का घमंड
URL copied to clipboard