#जीवन शैली

bolkar speaker

एक जिम्मेदार इंसान अपना दुख दर्द किसके साथ बांट सकता है?

Ek Jimedaar Insaan Apna Dukh Dard Kiske Sath Bath Sakte Hai
Rajendra Malkhat Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Rajendra जी का जवाब
Self student
3:00
दोस्तों आपका प्रश्न है एक जिम्मेदार इंसान अपना दुख दर्द किसके साथ है बढ़ सकता है दोस्तों एक जिम्मेदार इंसान अपना दुख अपने शहीदों के साथ में बांट सकता है बशर्ते कि उन पर विश्वास होना चाहिए और उनका आप पर विश्वास होना चाहिए दोस्तों इस दुनिया में आजकल विश्वास नाम की कोई चीज है तो नहीं लेकिन फिर भी है अधिकांश है तो भी देखने को मिलता है कि ब्लॉक जैसा करते हैं बातें बताते हैं शेयर करते हैं लेकिन उनका दुरुपयोग हो जाता है फिर बात सामने आती है कि उसके साथ विश्वासघात कर दो दोस्तों अपनी जो अपना दुख दर्द है वह एक ऐसे इंसान के साथ में बैठे जो आपके साथ में शेयर करता हूं इसे दुख दर्द हो या फिर आपको आपको उन पर बहुत ज्यादा विश्वास हो गया उनका आप पर बहुत ज्यादा विश्वास है उसमें अपनी पत्नी हो सकती है अपने पति भी हो सकते हैं और अपना खास दोस्त भी हो सकता है या फिर अपने परिवार का पारिवारिक सदस्य हो सकता है या फिर या फिर अपना कोई अलग हटकर के कोई चाहता भी हो सकता है इंसान अपना दुख दर्द ऐसे व्यक्तियों के साथ में बांटे जिसका कोई कल को दुरुपयोग ना करें उसमें यदि लड़ाई भी हो जाए दोनों में बहुत ज्यादा लड़ाई हो झगड़ा भी हो जाए तो भी वह ऐसा रहो निरोग इन सब बातों के ऊपर पड़ता ही रखें कि कुछ बातें ऐसी होती है जिसको हम तेरे कर देनी चाहिए एक न एक दिन हिंदी लड़ाई हो जाए दोनों में तो फिर भी बातें जो कि नहीं बतानी चाहिए थी वह बातें भी बता देता है तो आप ऐसी महिला का ऐसी लड़की का यही से लड़के का या ऐसे दोस्त का चुनाव करें जिसके साथ लड़ाई झगड़ा एक बार हो जाने पर उन्होंने किसी को नहीं पता अब आपके दादी के अनुसार आपको ऐसा लगे कि वह जो व्यक्ति है या वह तो इंसान है उसके साथ में जो झगड़ा भी कर ले तो भी मैं बता नहीं होगी बातें होती है वह नहीं बताते हैं और इधर उधर चुगली साठी नहीं करते हैं शेर इधर-उधर नहीं करते हैं बातें केवल जिसको बता दी जाए वह अपने पास रखे तो ऐसे सभा वाले जब लोग चलते हैं वह बहुत ही शुभ * गुणवान व्यक्ति होते हैं उसके साथ अपने दुख दर्द शेयर किए जा सकते हैं और ना कि शेयर करने से दोस्तों की तो दुख हल्का हो जाता है और कभी कबार अधिकांशत ऐसा होता है कि हमारे दुखों का निवारण भी उनके पास होता है इसलिए हम अपने दुख दर्द शेयर करते हैं कि दुख दर्द शेयर करने से ही तो मन हल्का हो जाता है और या फिर हो सकता है कि आप को उसके दुख दर्द का निवारण के लिए उसके पास कोई उपाय हो
Doston aapaka prashn hai ek jimmedaar insaan apana dukh dard kisake saath hai badh sakata hai doston ek jimmedaar insaan apana dukh apane shaheedon ke saath mein baant sakata hai basharte ki un par vishvaas hona chaahie aur unaka aap par vishvaas hona chaahie doston is duniya mein aajakal vishvaas naam kee koee cheej hai to nahin lekin phir bhee hai adhikaansh hai to bhee dekhane ko milata hai ki blok jaisa karate hain baaten bataate hain sheyar karate hain lekin unaka durupayog ho jaata hai phir baat saamane aatee hai ki usake saath vishvaasaghaat kar do doston apanee jo apana dukh dard hai vah ek aise insaan ke saath mein baithe jo aapake saath mein sheyar karata hoon ise dukh dard ho ya phir aapako aapako un par bahut jyaada vishvaas ho gaya unaka aap par bahut jyaada vishvaas hai usamen apanee patnee ho sakatee hai apane pati bhee ho sakate hain aur apana khaas dost bhee ho sakata hai ya phir apane parivaar ka paarivaarik sadasy ho sakata hai ya phir ya phir apana koee alag hatakar ke koee chaahata bhee ho sakata hai insaan apana dukh dard aise vyaktiyon ke saath mein baante jisaka koee kal ko durupayog na karen usamen yadi ladaee bhee ho jae donon mein bahut jyaada ladaee ho jhagada bhee ho jae to bhee vah aisa raho nirog in sab baaton ke oopar padata hee rakhen ki kuchh baaten aisee hotee hai jisako ham tere kar denee chaahie ek na ek din hindee ladaee ho jae donon mein to phir bhee baaten jo ki nahin bataanee chaahie thee vah baaten bhee bata deta hai to aap aisee mahila ka aisee ladakee ka yahee se ladake ka ya aise dost ka chunaav karen jisake saath ladaee jhagada ek baar ho jaane par unhonne kisee ko nahin pata ab aapake daadee ke anusaar aapako aisa lage ki vah jo vyakti hai ya vah to insaan hai usake saath mein jo jhagada bhee kar le to bhee main bata nahin hogee baaten hotee hai vah nahin bataate hain aur idhar udhar chugalee saathee nahin karate hain sher idhar-udhar nahin karate hain baaten keval jisako bata dee jae vah apane paas rakhe to aise sabha vaale jab log chalate hain vah bahut hee shubh * gunavaan vyakti hote hain usake saath apane dukh dard sheyar kie ja sakate hain aur na ki sheyar karane se doston kee to dukh halka ho jaata hai aur kabhee kabaar adhikaanshat aisa hota hai ki hamaare dukhon ka nivaaran bhee unake paas hota hai isalie ham apane dukh dard sheyar karate hain ki dukh dard sheyar karane se hee to man halka ho jaata hai aur ya phir ho sakata hai ki aap ko usake dukh dard ka nivaaran ke lie usake paas koee upaay ho

और जवाब सुनें

bolkar speaker
एक जिम्मेदार इंसान अपना दुख दर्द किसके साथ बांट सकता है?Ek Jimedaar Insaan Apna Dukh Dard Kiske Sath Bath Sakte Hai
अमित सिंह बघेल Bolkar App
Top Speaker,Level 55
सुनिए अमित जी का जवाब
सामाजिक कार्यकर्ता, मोटिवेशनल स्पीकर 
1:36
एक जिम्मेदार इंसान अपना दुख दर्द बांट सकता है कि अगर कोई जिम्मेदार इंसान है और उसके साथ दुख दर्द है तो वह कोशिश करेगा कि अपनों के साथ बांटना जिसे वह अपना समझता हूं जिस पर वह विश्वास रखता हूं और कभी-कभी वह जिम्मेदार इंसान अपना दुख दर्द बढ़ता नहीं है क्योंकि देखिए उसके पास इतनी जिम्मेदारी होती है घर चलाना और जो भी जिम्मेदारी है वह निभाता रहता है और अपने दुख दर्द को अपने हिसाब रखता है वह किसी को बताता है बताता है जिम्मेदारी के बोझ से वो इंसान अपना दुख दर्द भी जाता है बहुत से लोग हैं कि अपना दुख दर्द एक दूसरे को बांटते हैं बताते लेकिन कुछ जिम्मेदार इंसान होते जो दुख दर्द बताते नहीं है वह मन ही मन घूमते रहते हैं जिम्मेदारी तो उनके साथ है जिम्मेदारी निभाते हैं जिम्मेदार निभाने में बहुत आगे रहते लेकिन कभी-कभी कुछ इंसान ऐसे मिल जाते जो अपने जो दुख दर्द होता है लोगों को पाते हैं बताते हैं मतलब जिस पर वह विश्वास रखता लेकिन कभी-कभी ऐसा बोला जाता है उसके साथ कि वह किसी को पता भी नहीं पाता और अपना दुख दर्द खुद से भी जाता है उसको समझ होती है कि मुझे जिम्मेदारी आनी है तो निभाता है तो देखिए कभी कभी खुद भी दुखों से लड़ने के लिए हमें तैयार रहना चाहिए खुद को इतना खुश रखे की दवा को
Ek jimmedaar insaan apana dukh dard baant sakata hai ki agar koee jimmedaar insaan hai aur usake saath dukh dard hai to vah koshish karega ki apanon ke saath baantana jise vah apana samajhata hoon jis par vah vishvaas rakhata hoon aur kabhee-kabhee vah jimmedaar insaan apana dukh dard badhata nahin hai kyonki dekhie usake paas itanee jimmedaaree hotee hai ghar chalaana aur jo bhee jimmedaaree hai vah nibhaata rahata hai aur apane dukh dard ko apane hisaab rakhata hai vah kisee ko bataata hai bataata hai jimmedaaree ke bojh se vo insaan apana dukh dard bhee jaata hai bahut se log hain ki apana dukh dard ek doosare ko baantate hain bataate lekin kuchh jimmedaar insaan hote jo dukh dard bataate nahin hai vah man hee man ghoomate rahate hain jimmedaaree to unake saath hai jimmedaaree nibhaate hain jimmedaar nibhaane mein bahut aage rahate lekin kabhee-kabhee kuchh insaan aise mil jaate jo apane jo dukh dard hota hai logon ko paate hain bataate hain matalab jis par vah vishvaas rakhata lekin kabhee-kabhee aisa bola jaata hai usake saath ki vah kisee ko pata bhee nahin paata aur apana dukh dard khud se bhee jaata hai usako samajh hotee hai ki mujhe jimmedaaree aanee hai to nibhaata hai to dekhie kabhee kabhee khud bhee dukhon se ladane ke lie hamen taiyaar rahana chaahie khud ko itana khush rakhe kee dava ko

bolkar speaker
एक जिम्मेदार इंसान अपना दुख दर्द किसके साथ बांट सकता है?Ek Jimedaar Insaan Apna Dukh Dard Kiske Sath Bath Sakte Hai
Trilok Sain Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Trilok जी का जवाब
Motivational Speaker Public Speaker Life Coach Youtuber
0:20
एक जिम्मेदार इंसान अपना दुख दर्द किसके साथ बात करें किसी दुखिया दर्द को बांटने की आप को सबसे जो सच है वह है आपका दोस्त किसी अच्छे दोस्त के साथ आप अपना दुख बांट सकते हैं क्योंकि दोस्त कभी भी आपको बुरी सलाह नहीं देगा वह आपको एक अच्छी सलाह दे ही देगा
Ek jimmedaar insaan apana dukh dard kisake saath baat karen kisee dukhiya dard ko baantane kee aap ko sabase jo sach hai vah hai aapaka dost kisee achchhe dost ke saath aap apana dukh baant sakate hain kyonki dost kabhee bhee aapako buree salaah nahin dega vah aapako ek achchhee salaah de hee dega

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • दुःख दर्द कैसे बाटे, दुःख दर्द कैसे कम करे, इंसान अपना दुःख कैसे कम करता है
  • दुख दर्द कैसे कम करे, दुःख दर्दो का निपटारा कैसे करे, जीवन में दुःख दर्द क्या सिखा कर जाते है
URL copied to clipboard