#undefined

Trilok Sain Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Trilok जी का जवाब
Motivational Speaker Public Speaker Life Coach Youtuber
0:25
दिन में कुछ समय निकालकर लंबी और गहरी सांस लेनी चाहिए ऐसा इसलिए कहा जाता है क्योंकि हम पूरी सांस नहीं लेते हैं जिसकी वजह से फेफड़ों के अंदर वायु पूर्ण रूप से जारी पाती ऑक्सीजन पूरी तरह से जाती नहीं है उसे क्या गिफ्ट फूलों की जो बनता है वह कमजोर करती है तो फेफड़ों को मजबूत बनाने के लिए पूरी तरह सांस लें और पूरी तरह बाहर
Din mein kuchh samay nikaalakar lambee aur gaharee saans lenee chaahie aisa isalie kaha jaata hai kyonki ham pooree saans nahin lete hain jisakee vajah se phephadon ke andar vaayu poorn roop se jaaree paatee okseejan pooree tarah se jaatee nahin hai use kya gipht phoolon kee jo banata hai vah kamajor karatee hai to phephadon ko majaboot banaane ke lie pooree tarah saans len aur pooree tarah baahar

और जवाब सुनें

Dr Shahin fidai Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Dr जी का जवाब
Educational Counseling & Psychotherapy
2:17
हमें दिन में कुछ समय निकालकर लंबी और गहरी सांस लेना चाहिए ऐसा इसलिए कहा जाता है क्योंकि हर सांस जो आप लेते हैं एक का नहीं हो नई उमंग और नई बिकनी नजर आता है और अच्छा से ऐसी चीज है ब्रिज लेना कि जिससे हमें एहसास दिलाती है कि हम इस दुनिया में जिंदा है जीवित है और हमारे पास ऐसा कुछ करने के लिए समय दिया गया है जिसका हम पर पृथ्वी उपयोग करें उस समय को हम कुछ ऐसी सकारात्मक चीजें उत्पन्न ना करें क्रिएट करें जिससे हमारे जीवन में पूरी उड़ जा रहे हो और हम अपना जीवन सुख शांति के साथ व्यतीत करें कौन है जब आप श्वास लेते हो तो बहुत ज्यादा अधिक गहरी श्वास लेने की कोशिश करें और अजय बाप सांस छोड़ते हो उसके साथ भी आप दीप गहरी सांसे छोड़ो जो भी दिन करते हो तब ऐसे ख्याल कर सकते हो कि युवा ब्रीडिंग इन पीस हैप्पीनेस फ्रेंडशिप और जब आप श्वास बाहर करते हो तब आप ऐसा सोचो कि जो भी स्ट्रेस है जो भी बेकार की चीजें हैं जो इस दिन की आपके शरीर में अब जरूरत नहीं है तो वैसे ही चीजों को आप लेट गो कर रहे हो आप उनके साथ जो ए टाटा बाय बाय कर रहे हो ताकि आप अपनी बॉडी को प्लेन रिंग कर रहे हो इसके साथ मेरा यूट्यूब चैनल है जो शाहिद चौक के नाम से है और मैंने वहां पर काफी सारी मेडिटेशन की ब्रीडिंग एक्सरसाइज रखी है जैसे पावर ऑफ इंडियन से सनलाइट मेडिटेशन है विदाउट की जो प्रस्ताव से परमिशन के साथ आप कर सकते हैं और आपके जीवन में पूरी ऊर्जा के साथ रह सकते हैं और आनंद के साथ अपना जीवन व्यतीत कर सकते हैं तो मेरी वीडियो उसको जरूर देखिएगा उसे इसे सब्सक्राइब जरूर कीजिएगा और अपने जीवन में उमंग के साथ आगे बढ़ी है और ऐसा कुछ क्रिएट कीजिए एक पर पूरी जीवन जिए कि जिससे आपके जीवन में हर पल हर वक्त समृद्धि रहे धन्यवाद कृष्ण पूछने के लिए आपका जीवन शुभ हो
Hamen din mein kuchh samay nikaalakar lambee aur gaharee saans lena chaahie aisa isalie kaha jaata hai kyonki har saans jo aap lete hain ek ka nahin ho naee umang aur naee bikanee najar aata hai aur achchha se aisee cheej hai brij lena ki jisase hamen ehasaas dilaatee hai ki ham is duniya mein jinda hai jeevit hai aur hamaare paas aisa kuchh karane ke lie samay diya gaya hai jisaka ham par prthvee upayog karen us samay ko ham kuchh aisee sakaaraatmak cheejen utpann na karen kriet karen jisase hamaare jeevan mein pooree ud ja rahe ho aur ham apana jeevan sukh shaanti ke saath vyateet karen kaun hai jab aap shvaas lete ho to bahut jyaada adhik gaharee shvaas lene kee koshish karen aur ajay baap saans chhodate ho usake saath bhee aap deep gaharee saanse chhodo jo bhee din karate ho tab aise khyaal kar sakate ho ki yuva breeding in pees haippeenes phrendaship aur jab aap shvaas baahar karate ho tab aap aisa socho ki jo bhee stres hai jo bhee bekaar kee cheejen hain jo is din kee aapake shareer mein ab jaroorat nahin hai to vaise hee cheejon ko aap let go kar rahe ho aap unake saath jo e taata baay baay kar rahe ho taaki aap apanee bodee ko plen ring kar rahe ho isake saath mera yootyoob chainal hai jo shaahid chauk ke naam se hai aur mainne vahaan par kaaphee saaree mediteshan kee breeding eksarasaij rakhee hai jaise paavar oph indiyan se sanalait mediteshan hai vidaut kee jo prastaav se paramishan ke saath aap kar sakate hain aur aapake jeevan mein pooree oorja ke saath rah sakate hain aur aanand ke saath apana jeevan vyateet kar sakate hain to meree veediyo usako jaroor dekhiega use ise sabsakraib jaroor keejiega aur apane jeevan mein umang ke saath aage badhee hai aur aisa kuchh kriet keejie ek par pooree jeevan jie ki jisase aapake jeevan mein har pal har vakt samrddhi rahe dhanyavaad krshn poochhane ke lie aapaka jeevan shubh ho

Harender Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Harender जी का जवाब
As School administration & Principal
2:05
मैं दिल में कुछ समय निकालकर लंबी और गहरी समझ लेना चाहिए ऐसा क्यों कहा जाता तेरी सांस लेते हैं और हंड्रेड परसेंट लंबी लेते हैं तो आपके जो होती है उसकी गलती रीता बढ़ जाती है उसमें जो इस्पेस होता है नॉर्मल स्पेस होता है वह बहन पड़ जाता है और वह फंक्शन कहते हैं कि उसके अंदर जो लंबी होती है वह निकली है गहरी सांस लेने से कहेंगे ही ऑक्सीजन लेवल ज्यादा आपके ब्लड में पहुंचती है तो जवाब सीजन लेवल पहुंचेगी तो आपको बेहतर हो जाएगा और आपके अंदर स्फूर्ति और एनर्जी के लिए रक्त का बहाव सही हो जाएगा तो निश्चित तौर पर जो ब्लड प्रेशर कम हो रहा है ब्लड प्रेशर भी कम होगा इस तरह की परिस्थिति में बैठकर के लंबी लंबी और गहरी गहरी सांस लेनी चाहिए हमारा मानसिक दबाव कम होगा ब्लड प्रेशर कम होगा और सबसे बड़ी ग्रंथि होती है कि हमारे जो ढंग से पढ़े हैं उनकी कार्यप्रणाली बढ़ जाती है और उसमें जो इस्पेस होता है वह कम है लोगों निश्चित तौर पर हमारे जीवन के लिए 1 साल तक पढ़ लो हो जाता है
Main dil mein kuchh samay nikaalakar lambee aur gaharee samajh lena chaahie aisa kyon kaha jaata teree saans lete hain aur handred parasent lambee lete hain to aapake jo hotee hai usakee galatee reeta badh jaatee hai usamen jo ispes hota hai normal spes hota hai vah bahan pad jaata hai aur vah phankshan kahate hain ki usake andar jo lambee hotee hai vah nikalee hai gaharee saans lene se kahenge hee okseejan leval jyaada aapake blad mein pahunchatee hai to javaab seejan leval pahunchegee to aapako behatar ho jaega aur aapake andar sphoorti aur enarjee ke lie rakt ka bahaav sahee ho jaega to nishchit taur par jo blad preshar kam ho raha hai blad preshar bhee kam hoga is tarah kee paristhiti mein baithakar ke lambee lambee aur gaharee gaharee saans lenee chaahie hamaara maanasik dabaav kam hoga blad preshar kam hoga aur sabase badee granthi hotee hai ki hamaare jo dhang se padhe hain unakee kaaryapranaalee badh jaatee hai aur usamen jo ispes hota hai vah kam hai logon nishchit taur par hamaare jeevan ke lie 1 saal tak padh lo ho jaata hai

Vijay shankar pal Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Vijay जी का जवाब
My youtube channel - Tech with vijay
0:45
कब साथियों जैसे हम सुबह जब उठते हैं तो सबसे पहले फ्रेश होने के बाद हमें व्यायाम करना चाहिए और व्यायाम में ही आता है लंबी सांसे जब हम लंबी सांसे लेते हैं सांस अंदर बाहर करते हैं नाक के माध्यम से तो इससे हमारे अंदर जो कार्बन डाइऑक्साइड होता है वह बाहर निकलता है और हमारे शरीर के अंदर एक स्वच्छ और साफ सुथरी हवा जाती है जिससे कि हमारा मानसिक और शरीर के अंदर जो कपड़ा होता है वह सांस के माध्यम से बाहर निकलता है और हम स्वस्थ रहते हैं या लंबी उम्र के लिए लंबे जीवन के लिए रेगुलर लगातार ऐसा करना बहुत फायदेमंद होता है आयोग की जवाब आपको पसंद आया होगा धन्यवाद
Kab saathiyon jaise ham subah jab uthate hain to sabase pahale phresh hone ke baad hamen vyaayaam karana chaahie aur vyaayaam mein hee aata hai lambee saanse jab ham lambee saanse lete hain saans andar baahar karate hain naak ke maadhyam se to isase hamaare andar jo kaarban daioksaid hota hai vah baahar nikalata hai aur hamaare shareer ke andar ek svachchh aur saaph sutharee hava jaatee hai jisase ki hamaara maanasik aur shareer ke andar jo kapada hota hai vah saans ke maadhyam se baahar nikalata hai aur ham svasth rahate hain ya lambee umr ke lie lambe jeevan ke lie regular lagaataar aisa karana bahut phaayademand hota hai aayog kee javaab aapako pasand aaya hoga dhanyavaad

Dr.Nitin Pawar, D.M S.(Management) Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Dr.Nitin जी का जवाब
Kisan,Journalist,Marathi Writer, Social Worker,Political Leader.
6:20
हमें दिन में कुछ समय निकालकर लंबी और गहरी सांस लेना चाहिए क्यों कहा जाता है तो वैसे ही हमें कभी भी पूछ लेना मां दुर्गे होता है कि सांस के साथ जो हवा हमारे फेफड़ों में जाती है वहां पर ऑक्सीजन पहुंचाती बाकी सिर्फ जूते और उनसे उस कर चेंजर पूरे शरीर को मिली और हमारी जो पेपर है उसको हम बहुत ज्यादा पहला दिन है वैसे तो बहुत ज्यादा फैला फैला सकता है उसमें ज्यादा पड़ सकता है उतना ऑक्सीजन ज्यादा अंदर लिया जा सकता है उसको पहुंचाया जा सकता है इसलिए ऐसा कहा जाता है कि उस समय के लिए ही सही लेकिन पूरी गहरी सांसे और लंबी सांसे लेना और इसमें कुछ देश में खड़ा रहने के लिए वैसे ही हवा भर के दिल के बाद हवा को छोड़ना शरीर के लिए अच्छा होता है इसका क्या कारण है और गहरी श्वास लेते समय हम जो है हमारे विचार विषय में रुकते जो मन का चित्र चित्र जो है वह समय भी रुकता है जो मन हमेशा कुछ न कुछ इधर-उधर भटकता है वह उस समय रुकता है तो मन का भी एक गया मुझसे होता है यह मेडिटेशन का एक अर्थ विपश्यना सा अपनी सांसों के ऊपर ध्यान रखकर वह कैसे आती है जाती है इस पर इस पर पहले ध्यान रखना होता है ध्यान रखने के बाद मंजूर होता है उसके बाद बात भी हवा आती है और जब आती है तो धीरे से उसको भर देती है और उसके बाद धीरे से वह चूड़ी मिल जाती है तो इससे भी फायदा उठा एकमात्र जरिया है ऑक्सीजन का हमारे शरीर में जाने का जो हवा में होता है वह हमारी सारा बारी हमारी सांस जब रुक जाती है तो कुछ समय बाद वह हमेशा के लिए रुक जाती है कि लगातार जीवन भर चलती हुई है बहुत सिस्टमैटिक यंत्रणा है जैसे हमारा दिल का धड़कना एक सिस्टमैटिक अंतर नाही जो हमारे जन्म से लेकर हमारे मूर्ति तकिए पर भी कोई आसान बात नहीं इतने लंबे समय तक उसका पंपिंग राहुल फ्री होते हैं उनका फैलना उसी पर जाना यह चलता है इश्क जीवन भर तो निश्चित रूप से वे दिन में कुछ समय के लिए और हो सके तो हमेशा उड़ीसा गहरी सांस लेनी चाहिए और तुमने भी चाहिए इसे अपनी बॉडी को ऑक्सीजन मिलने में सहायता होती है और ही अच्छा रहता है अगर मेरा यह जवाब सही से लाइक करना मत भूलें धन्यवाद
Hamen din mein kuchh samay nikaalakar lambee aur gaharee saans lena chaahie kyon kaha jaata hai to vaise hee hamen kabhee bhee poochh lena maan durge hota hai ki saans ke saath jo hava hamaare phephadon mein jaatee hai vahaan par okseejan pahunchaatee baakee sirph joote aur unase us kar chenjar poore shareer ko milee aur hamaaree jo pepar hai usako ham bahut jyaada pahala din hai vaise to bahut jyaada phaila phaila sakata hai usamen jyaada pad sakata hai utana okseejan jyaada andar liya ja sakata hai usako pahunchaaya ja sakata hai isalie aisa kaha jaata hai ki us samay ke lie hee sahee lekin pooree gaharee saanse aur lambee saanse lena aur isamen kuchh desh mein khada rahane ke lie vaise hee hava bhar ke dil ke baad hava ko chhodana shareer ke lie achchha hota hai isaka kya kaaran hai aur gaharee shvaas lete samay ham jo hai hamaare vichaar vishay mein rukate jo man ka chitr chitr jo hai vah samay bhee rukata hai jo man hamesha kuchh na kuchh idhar-udhar bhatakata hai vah us samay rukata hai to man ka bhee ek gaya mujhase hota hai yah mediteshan ka ek arth vipashyana sa apanee saanson ke oopar dhyaan rakhakar vah kaise aatee hai jaatee hai is par is par pahale dhyaan rakhana hota hai dhyaan rakhane ke baad manjoor hota hai usake baad baat bhee hava aatee hai aur jab aatee hai to dheere se usako bhar detee hai aur usake baad dheere se vah choodee mil jaatee hai to isase bhee phaayada utha ekamaatr jariya hai okseejan ka hamaare shareer mein jaane ka jo hava mein hota hai vah hamaaree saara baaree hamaaree saans jab ruk jaatee hai to kuchh samay baad vah hamesha ke lie ruk jaatee hai ki lagaataar jeevan bhar chalatee huee hai bahut sistamaitik yantrana hai jaise hamaara dil ka dhadakana ek sistamaitik antar naahee jo hamaare janm se lekar hamaare moorti takie par bhee koee aasaan baat nahin itane lambe samay tak usaka pamping raahul phree hote hain unaka phailana usee par jaana yah chalata hai ishk jeevan bhar to nishchit roop se ve din mein kuchh samay ke lie aur ho sake to hamesha udeesa gaharee saans lenee chaahie aur tumane bhee chaahie ise apanee bodee ko okseejan milane mein sahaayata hotee hai aur hee achchha rahata hai agar mera yah javaab sahee se laik karana mat bhoolen dhanyavaad

Sandeep pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Sandeep जी का जवाब
Student
1:05
गर्लफ्रेंड स्वागत है बोलकर आपके इस छोटे से ऑडियो में मुझे पूरी तरह से उम्मीद है कि आप ऑडियो को लाइक करना और मुझे बोलकर पर सब्सक्राइब करना शुरू कर दिया होगा तो चलिए शुरू करते हैं देते हैं आपके छोटे से मासूम से प्रश्न का जवाब हमें दिन में कुछ समय निकालकर लंबी और गहरी सांस लेना चाहिए ऐसा क्यों कहा जाता है तो देखे फ्रेंड्स आज के जो समय चल रहा है इसमें तरह-तरह के प्रदूषण और केमिकल की वजह से हमारे फेफड़े बीमार पड़ते जा रहे हैं जिसकी वजह से हमेशा से लेने में काफी तकलीफ होती जा रही है इसीलिए काफी जानकार लोग और सर्जन डॉक्टर यह हमें सलाह देते हैं कि कुछ देर तक हमें लंबी और गहरी सांसें लेनी चाहिए आशा करता हूं कि आप को मेरे एक छोटी सी ऑडियो में इंपॉर्टेंट जानकारी मिली होगी थैंक यू
Garlaphrend svaagat hai bolakar aapake is chhote se odiyo mein mujhe pooree tarah se ummeed hai ki aap odiyo ko laik karana aur mujhe bolakar par sabsakraib karana shuroo kar diya hoga to chalie shuroo karate hain dete hain aapake chhote se maasoom se prashn ka javaab hamen din mein kuchh samay nikaalakar lambee aur gaharee saans lena chaahie aisa kyon kaha jaata hai to dekhe phrends aaj ke jo samay chal raha hai isamen tarah-tarah ke pradooshan aur kemikal kee vajah se hamaare phephade beemaar padate ja rahe hain jisakee vajah se hamesha se lene mein kaaphee takaleeph hotee ja rahee hai iseelie kaaphee jaanakaar log aur sarjan doktar yah hamen salaah dete hain ki kuchh der tak hamen lambee aur gaharee saansen lenee chaahie aasha karata hoon ki aap ko mere ek chhotee see odiyo mein importent jaanakaaree milee hogee thaink yoo

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • गहरी सांस लेने के फायदे, गहरी श्वास लेने के फायदे, गहरी सांस लेने के फायदे बताइए
  • गहरी सांस लेने के फायदे, गहरी श्वास लेने के फायदे, गहरी सांस लेने के फायदे बताइए
URL copied to clipboard