#खेल कूद

bolkar speaker

क्रिकेटर विराट कोहली ने अवसाद पर क्या कहा?

Cricketor Virat Kohli Ne Avsad Par Kya Kaha
Naayank Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Naayank जी का जवाब
College
1:45
क्रिकेटर विराट कोहली ने एक साथ पर क्या इंग्लैंड के पूर्व खिलाड़ी मार्क नोल्स के साथ बातचीत में कोली ने स्वीकार किया कि मैं उस दौरे के दौरान यानी इंग्लैंड के दौरे के दौरान अपने करियर के मुश्किल दौर से गुजर रहे थे गोली से जब पूछा गया कि वह कभी अवसाद ग्रस्त रहे तो उन्होंने कहा हां मेरे साथ ऐसा हुआ था यह सोचकर अच्छा नहीं लगता कि आप फ्रेंड नहीं बना पा रहे हो मुझे लगता है कि सभी बल्लेबाजों किसी ना किसी दौर में ऐसा महसूस होता है कि आपका किसी चीज पर कोई नियंत्रण नहीं है होली के लिए 2014 तक इंग्लैंड दौरा निराशाजनक रहा उन्होंने पांच टेस्ट मैचों की 10 पारियों में 13.50 की औसत से रन बनाए थे और पुरातन का 1 रन 8 2500 रन 29270 वापिस 17 रामचरण मिश्रा इसके बाद हालांकि ऑस्ट्रेलिया के दौरे में उन्होंने शानदार वापसी की बारे में कहां आपको पता नहीं होता है उससे कैसे पार आना है यह बता जब कि मैं चीजों को बदलने के लिए कुछ नहीं कर सकता था मुझे ऐसा महसूस होता था कि जैसे कि मैं दुनिया में अकेला इंसान होने के लिए कोई नहीं लेकिन बात करने के लिए कोई पेशेवर नहीं था समझ सके कि मैं किसको से पूछा था मुझे लगता है कि यह बड़ा कारक होता है मैं बदलते हुए देखना चाहता हूं होली का यह भी मानना है कि मानसिक स्वास्थ्य के मुद्दे को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है क्योंकि इससे किसी खिलाड़ी का कैरियर बर्बाद हो सकता
Kriketar viraat kohalee ne ek saath par kya inglaind ke poorv khilaadee maark nols ke saath baatacheet mein kolee ne sveekaar kiya ki main us daure ke dauraan yaanee inglaind ke daure ke dauraan apane kariyar ke mushkil daur se gujar rahe the golee se jab poochha gaya ki vah kabhee avasaad grast rahe to unhonne kaha haan mere saath aisa hua tha yah sochakar achchha nahin lagata ki aap phrend nahin bana pa rahe ho mujhe lagata hai ki sabhee ballebaajon kisee na kisee daur mein aisa mahasoos hota hai ki aapaka kisee cheej par koee niyantran nahin hai holee ke lie 2014 tak inglaind daura niraashaajanak raha unhonne paanch test maichon kee 10 paariyon mein 13.50 kee ausat se ran banae the aur puraatan ka 1 ran 8 2500 ran 29270 vaapis 17 raamacharan mishra isake baad haalaanki ostreliya ke daure mein unhonne shaanadaar vaapasee kee baare mein kahaan aapako pata nahin hota hai usase kaise paar aana hai yah bata jab ki main cheejon ko badalane ke lie kuchh nahin kar sakata tha mujhe aisa mahasoos hota tha ki jaise ki main duniya mein akela insaan hone ke lie koee nahin lekin baat karane ke lie koee peshevar nahin tha samajh sake ki main kisako se poochha tha mujhe lagata hai ki yah bada kaarak hota hai main badalate hue dekhana chaahata hoon holee ka yah bhee maanana hai ki maanasik svaasthy ke mudde ko najarandaaj nahin kiya ja sakata hai kyonki isase kisee khilaadee ka kairiyar barbaad ho sakata

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • क्रिकेटर विराट कोहली ने अवसाद पर क्या कहा, क्रिकेटर विराट कोहली
URL copied to clipboard