#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker

सूर्य के अलावा भी कोई ग्रह रोशनी दे सकता है?

Surye Ke Alawa Bhi Koi Greh Roshni De Sakta Hai
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:34
हेलो दोस्तों स्वागत है आपका आप को प्रेग्नेंट के अलावा दे सकता है तो फ्रेंड तो उसके अलावा और कोई भी ग्रह रोशनी नहीं देता है हां रात के समय चंद्रमा रोशनी रोशनी दे सकता है चंद्रमा एक ऐसा ग्रह है जो रोशनी देता है लेकिन मैं रात के समय देता है दिन में उसका कोई भी महत्व नहीं होता है मैं रात के समय ही चंद्रमा नोट नहीं देता है और दिन में तो सिर्फ दो ही रोशनी देता है तो सूर्य के एक मात्र ऐसा ग्रह है जो रोशनी देता है गर्मी देता है सूर्य में बहुत सारे गुण होते हैं धन्यवाद
Helo doston svaagat hai aapaka aap ko pregnent ke alaava de sakata hai to phrend to usake alaava aur koee bhee grah roshanee nahin deta hai haan raat ke samay chandrama roshanee roshanee de sakata hai chandrama ek aisa grah hai jo roshanee deta hai lekin main raat ke samay deta hai din mein usaka koee bhee mahatv nahin hota hai main raat ke samay hee chandrama not nahin deta hai aur din mein to sirph do hee roshanee deta hai to soory ke ek maatr aisa grah hai jo roshanee deta hai garmee deta hai soory mein bahut saare gun hote hain dhanyavaad

और जवाब सुनें

bolkar speaker
सूर्य के अलावा भी कोई ग्रह रोशनी दे सकता है?Surye Ke Alawa Bhi Koi Greh Roshni De Sakta Hai
Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
0:44
पूरे तालाब भी कोई ग्रह रोशनी दे सकता है दे दो तो ब्रह्मांड जो है वह काफी ज्यादा बढ़ा है और इसमें बहुत से ऐसे घर है जो काफी ज्यादा चमकीले सूर्य से भी ज्यादा तो हम यह कह सकते हैं कि सूर्य के अलावा बहुत से ऐसे प्लेनेट से जो रोशनी देते हैं अभी तक उनकी जानकारी जो है किसी वैज्ञानिक को नहीं है परंतु जैसा टिमटिमाते तारे जो हम देख सकते हैं तो वह तारे होते हो सूर्य से भी बड़े होते हैं और हो सकता है कि वह जो है क्योंकि हम से तो काफी ज्यादा दूर पड़ जाते हो और ब्रह्मांड में देखे काफी ज्यादा से सूर्य है जो हमारे वाले सूर्य से ज्यादा रोशनी देते हैं
Poore taalaab bhee koee grah roshanee de sakata hai de do to brahmaand jo hai vah kaaphee jyaada badha hai aur isamen bahut se aise ghar hai jo kaaphee jyaada chamakeele soory se bhee jyaada to ham yah kah sakate hain ki soory ke alaava bahut se aise plenet se jo roshanee dete hain abhee tak unakee jaanakaaree jo hai kisee vaigyaanik ko nahin hai parantu jaisa timatimaate taare jo ham dekh sakate hain to vah taare hote ho soory se bhee bade hote hain aur ho sakata hai ki vah jo hai kyonki ham se to kaaphee jyaada door pad jaate ho aur brahmaand mein dekhe kaaphee jyaada se soory hai jo hamaare vaale soory se jyaada roshanee dete hain

bolkar speaker
सूर्य के अलावा भी कोई ग्रह रोशनी दे सकता है?Surye Ke Alawa Bhi Koi Greh Roshni De Sakta Hai
Rohit Rathore Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Rohit जी का जवाब
Student
0:48
मैडम एक स्वागत है आप सबका मेरी बोल कर एक प्रोफाइल पर और आप सिमरन रोहित राठौर को तो क्या मतलब पसंद के अलावे नहीं सॉरी के अलावा भी कोई ऐसी बुराई है जो रोशनी अपनी खुद की रोशनी उत्पन्न करते हैं और रोशनी दे सकते हैं तो आपको पता होगा गैलेक्सी बहुत बड़ी है क्योंकि बाहर से जो सूर्य मंडल एवं बहुत बड़ा है और हमारा अंतरिक्ष इतना बड़ा है कि इसमें से कहीं जा रहे हैं जो खुद की रोशनी से रोशन है किसी दूसरों के डिपेंड नहीं है और बहुत सारे ऐसे ग्रह है जो बहुत सारी रोशनी प्रोड्यूस करता है पर अभी तक जैसा देखते हैं तारे यह भी सूरज से कई गुना पड़े हैं और यह खुद की रोशनी पढ़ी यूज़ करते हैं जिससे हमें टिमटिमाते हुए दिखाई देते हैं उसे कहीं ग्रह है कहीं ऐसे ग्रह अंतरिक्ष में जो अपनी खुद की रोशनी से उजाला करते हैं फिर रोशनी देते हैं तो धन्यवाद प्रकाश अग्रवाल ने अब तक ले टेक केयर
Maidam ek svaagat hai aap sabaka meree bol kar ek prophail par aur aap simaran rohit raathaur ko to kya matalab pasand ke alaave nahin soree ke alaava bhee koee aisee buraee hai jo roshanee apanee khud kee roshanee utpann karate hain aur roshanee de sakate hain to aapako pata hoga gaileksee bahut badee hai kyonki baahar se jo soory mandal evan bahut bada hai aur hamaara antariksh itana bada hai ki isamen se kaheen ja rahe hain jo khud kee roshanee se roshan hai kisee doosaron ke dipend nahin hai aur bahut saare aise grah hai jo bahut saaree roshanee prodyoos karata hai par abhee tak jaisa dekhate hain taare yah bhee sooraj se kaee guna pade hain aur yah khud kee roshanee padhee yooz karate hain jisase hamen timatimaate hue dikhaee dete hain use kaheen grah hai kaheen aise grah antariksh mein jo apanee khud kee roshanee se ujaala karate hain phir roshanee dete hain to dhanyavaad prakaash agravaal ne ab tak le tek keyar

bolkar speaker
सूर्य के अलावा भी कोई ग्रह रोशनी दे सकता है?Surye Ke Alawa Bhi Koi Greh Roshni De Sakta Hai
Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
0:38
का सवाल है कि सूर्य के अलावा भी कोई ग्रह रोशनी दे सकते हैं तो सूर्य के अलावे तारा रोशनी देते हैं तारे रोशनी देते हैं और तारों की रोशनी आज तक इसलिए नहीं पहुंच पाती हूं कि वह हमसे बहुत ज्यादा दूर है अगर आकाश में आकाश गंगा में करीब 2 अरब है तारे हैं जो रोशनी देते हैं इसकी रोशनी हम तक इसलिए नहीं पहुंच पाती हूं क्योंकि वह हमसे बहुत ज्यादा दूरी पर स्थित है
Ka savaal hai ki soory ke alaava bhee koee grah roshanee de sakate hain to soory ke alaave taara roshanee dete hain taare roshanee dete hain aur taaron kee roshanee aaj tak isalie nahin pahunch paatee hoon ki vah hamase bahut jyaada door hai agar aakaash mein aakaash ganga mein kareeb 2 arab hai taare hain jo roshanee dete hain isakee roshanee ham tak isalie nahin pahunch paatee hoon kyonki vah hamase bahut jyaada dooree par sthit hai

bolkar speaker
सूर्य के अलावा भी कोई ग्रह रोशनी दे सकता है?Surye Ke Alawa Bhi Koi Greh Roshni De Sakta Hai
Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
0:16
समाने की सूर्य के अलावा भी कोई ग्रह रोशनी दे सकता है क्या कोई ग्रह रोशनी नहीं दे सकता केवल तारे रोशनी देते हैं और तुझे भी एक तारा है और हर तारा रोशनी देता है हमारी आकाशगंगा में लगभग 200 अरब तारे हैं और सभी रौशनी देते हैं
Samaane kee soory ke alaava bhee koee grah roshanee de sakata hai kya koee grah roshanee nahin de sakata keval taare roshanee dete hain aur tujhe bhee ek taara hai aur har taara roshanee deta hai hamaaree aakaashaganga mein lagabhag 200 arab taare hain aur sabhee raushanee dete hain

bolkar speaker
सूर्य के अलावा भी कोई ग्रह रोशनी दे सकता है?Surye Ke Alawa Bhi Koi Greh Roshni De Sakta Hai
Nikhil Ranjan Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Programme Coordinator at National Institute of Electronics & Information Technology (NIELIT)
0:24
गाना का प्रश्न सूर्य के अलावा भी कोई किरण रोशनी दे सकता है तो आपको बता दें देखे सूर्य ग्रह नहीं बल्कि तारा है और जो रोशनी देता है वह तारीख की रोशनी यहां पर आती है जो है वह पृथ्वी है मंगल है यह सब गए हैं उन से रोशनी नहीं मिलती है उस पर आर्टिफिशियल रोशनी यहां पर वाइट होते हैं मैं शुभकामनाएं आपके साथ हैं धन्यवाद
Gaana ka prashn soory ke alaava bhee koee kiran roshanee de sakata hai to aapako bata den dekhe soory grah nahin balki taara hai aur jo roshanee deta hai vah taareekh kee roshanee yahaan par aatee hai jo hai vah prthvee hai mangal hai yah sab gae hain un se roshanee nahin milatee hai us par aartiphishiyal roshanee yahaan par vait hote hain main shubhakaamanaen aapake saath hain dhanyavaad

bolkar speaker
सूर्य के अलावा भी कोई ग्रह रोशनी दे सकता है?Surye Ke Alawa Bhi Koi Greh Roshni De Sakta Hai
satish kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए satish जी का जवाब
Student
1:14
हाय फ्रेंड्स क्वेश्चन पूछा गया है कि सूर्य के अलावा भी कोई ग्रह ऐसा है जो रोशनी दे सकता है तो सबसे पहले यह क्वेश्चन जो है वह पूर्ण रूप से गलत माना जा सकता है क्योंकि सूर्य जो होता है वह इकतारा है और सूर्य के तुमने जो है वह एक राशि की गई है कि सूर्य के अलावा भी कोई ग्रह है जो रोशनी दे सकती है तो पूर्ण रूप से गलत हो सकता है पता ग्राम इसकी गहराई किस बात को समझने की कोशिश करें तो सूर्य के अलावा अगर हम कोई और है तारे की बात करें तो जितने भी हमारे सौरमंडल में तारे हैं फिर कहे तो हमारे ब्राह्मण में जितने भी मिल्की वे की तरह जो हैं और भी दूसरे ब्राह्मण हैं गैलेक्सी हैं उसमें जितने भी तारे हैं उनका जो होता है प्रकाश उनका अपना होता है इस तरह से देखा जाए तो सभी के जो होते हैं वह रोशनी दे सकते हैं पर डिपेंड करता है कि उसके चारों तरफ जो होता है कितने ग्रह हैं और उस ग्रह से जो होता है उस तारों के द्वारा दी जाने वाली प्रकाश से विश कर दी रोशनी मिल रही है कि नहीं या डिपेंड करता है
Haay phrends kveshchan poochha gaya hai ki soory ke alaava bhee koee grah aisa hai jo roshanee de sakata hai to sabase pahale yah kveshchan jo hai vah poorn roop se galat maana ja sakata hai kyonki soory jo hota hai vah ikataara hai aur soory ke tumane jo hai vah ek raashi kee gaee hai ki soory ke alaava bhee koee grah hai jo roshanee de sakatee hai to poorn roop se galat ho sakata hai pata graam isakee gaharaee kis baat ko samajhane kee koshish karen to soory ke alaava agar ham koee aur hai taare kee baat karen to jitane bhee hamaare sauramandal mein taare hain phir kahe to hamaare braahman mein jitane bhee milkee ve kee tarah jo hain aur bhee doosare braahman hain gaileksee hain usamen jitane bhee taare hain unaka jo hota hai prakaash unaka apana hota hai is tarah se dekha jae to sabhee ke jo hote hain vah roshanee de sakate hain par dipend karata hai ki usake chaaron taraph jo hota hai kitane grah hain aur us grah se jo hota hai us taaron ke dvaara dee jaane vaalee prakaash se vish kar dee roshanee mil rahee hai ki nahin ya dipend karata hai

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • सूर्य पर कितना तापमान रहता है, सूर्य की कितनी दूरी है पृथ्वी से
  • सूर्य के अलावा भी कोई ग्रह रोशनी दे सकता है, कोई ग्रह रोशनी दे सकता हैn konsa greh roshni deta hai
  • सूर्य ग्रह की क्या खासियत है, सूर्य ग्रह कितना दूर है
  • सूर्य के अलावा भी कोई ग्रह रोशनी दे सकता है, kon kon se greh roshni dete hai
  • konsa greh roshni deta hai, surya ke alava konsa greh roshni deta hai
URL copied to clipboard