#जीवन शैली

bolkar speaker

एक समय में बेहद खास रहे मित्र जब पहचानने से भी मना कर दे किस तरह खुद को समझाएंगे?

Ek Samay Mein Behad Khaas Rahe Mitr Jab Pehchanne Se Bhe Mana Kar De Kis Tarah Khud Ko Samjhaenge
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:25
हेलो एवरीवन स्वागत है आपका आपका प्रश्न है एक समय में भी हमारे मित्र पहचानने से मना कर दिया तो किस तरह खुद को समझाना चाहिए तो फ्रेंड सागर आपको कोई पहचानने से मना कर दिया आप से कोई मतलब नहीं रखना चाहता तो आप ही उस से मतलब मत रखिए आप अपने मन को समझाइए आप अपने काम में मन लगाइए और आप अपने घर में खुश रहिए धन्यवाद
Helo evareevan svaagat hai aapaka aapaka prashn hai ek samay mein bhee hamaare mitr pahachaanane se mana kar diya to kis tarah khud ko samajhaana chaahie to phrend saagar aapako koee pahachaanane se mana kar diya aap se koee matalab nahin rakhana chaahata to aap hee us se matalab mat rakhie aap apane man ko samajhaie aap apane kaam mein man lagaie aur aap apane ghar mein khush rahie dhanyavaad

और जवाब सुनें

bolkar speaker
एक समय में बेहद खास रहे मित्र जब पहचानने से भी मना कर दे किस तरह खुद को समझाएंगे?Ek Samay Mein Behad Khaas Rahe Mitr Jab Pehchanne Se Bhe Mana Kar De Kis Tarah Khud Ko Samjhaenge
Dukh kaise mite Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dukh जी का जवाब
Unknown
2:45
आपने पूछा कि एक समय में बेहद खास है नीचे पहचानने से मना कर किस तरह खुद को समझाए यह हमारी जो आत्मा है ना उसका 12 से कोई संबंध नहीं है परिवार में देखो पहुंच जाने रहते हैं अच्छे दिन आए थे उसका भी एक तो उसकी आत्मा से कोई संबंध नहीं है उसका भी अलग अलग समय माध्यमिक समीर चली जाती परिवार से संबंध पहले था अब आगे रहेगा क्योंकि हम चले जाएंगे तो अकेले जाएंगे सीमेंट का परिवार से संबंधित प्रदूषण कैसे रहेगा ही नहीं संबंध सिर्फ एक ही सोच है उनसे आप समझ लो वह समझ कभी नहीं टूटेगा और भी प्रसन्न होंगे आपके हमेशा साथ रहेंगे जैसे मेरे साथ रहते हैं मेरी साझा करते मदद करते हैं वह आपसे कभी वेब्बुक होंगे ही नहीं बल्कि बहुत प्रसन्न रहेंगे हो और शरीर छोड़ने के बाद आप उनके साथ रही है बड़े आनंद से साथ इसमें कुछ भी सनसनी मैंने काफी गोरी अपलोड किए वो कल एक बार सुनिए और अपना अज्ञान मिठाई खुश रह सकते हो तो आप पूछिए उसे खोल के नाम है तो कैसे मीठी तो मैं इसे के पास आपको बताऊंगा क्या हमारे संबंध तो इस पर सैलरी हम गलती यह करके संसार लोगों से जोड़ कभी हमें दूध मिलता है साथ-साथ स्वास्थ्य जब तक साथ रहे थे तब तो आपको अच्छी तरह से बात करेंगे पहचानेंगे और स्वास्थ्य से एक खत्म हुआ आपको बात नहीं करेंगे तो यह स्वार्थी संसार है ईश्वर विश्वास की सहायता करते हैं इस तरह का नहीं मुझे इस वक्त शास्त्री दयालु माता के ऊपर शांति को प्राप्त होता है यह गीता का पांचवा अध्याय कब 29 वर्षों के तो अब आप ज्ञान में रहेंगे तब यह दुख नहीं होगा अज्ञान है तो दुख है तो इस वर्ष हमारे परम पिता परमात्मा है उसे समझ जोड़ी ऐसे सर्जरी कैसे जोड़ते हैं वह तो मैंने बता ही दिया अभी वह कुल एक लाख चाहिए और मैंने काफी ऑडियो अपलोड किए कैसे मैं दुखी था अभी मैं कैसे सुखी हो गया हूं आगे भी सुखी रहूंगा तो बार-बार गोखले वापस से पूछे महेश जी के पास आवश्यकता और भक्ति में आगे बढ़ते रहिए
Aapane poochha ki ek samay mein behad khaas hai neeche pahachaanane se mana kar kis tarah khud ko samajhae yah hamaaree jo aatma hai na usaka 12 se koee sambandh nahin hai parivaar mein dekho pahunch jaane rahate hain achchhe din aae the usaka bhee ek to usakee aatma se koee sambandh nahin hai usaka bhee alag alag samay maadhyamik sameer chalee jaatee parivaar se sambandh pahale tha ab aage rahega kyonki ham chale jaenge to akele jaenge seement ka parivaar se sambandhit pradooshan kaise rahega hee nahin sambandh sirph ek hee soch hai unase aap samajh lo vah samajh kabhee nahin tootega aur bhee prasann honge aapake hamesha saath rahenge jaise mere saath rahate hain meree saajha karate madad karate hain vah aapase kabhee vebbuk honge hee nahin balki bahut prasann rahenge ho aur shareer chhodane ke baad aap unake saath rahee hai bade aanand se saath isamen kuchh bhee sanasanee mainne kaaphee goree apalod kie vo kal ek baar sunie aur apana agyaan mithaee khush rah sakate ho to aap poochhie use khol ke naam hai to kaise meethee to main ise ke paas aapako bataoonga kya hamaare sambandh to is par sailaree ham galatee yah karake sansaar logon se jod kabhee hamen doodh milata hai saath-saath svaasthy jab tak saath rahe the tab to aapako achchhee tarah se baat karenge pahachaanenge aur svaasthy se ek khatm hua aapako baat nahin karenge to yah svaarthee sansaar hai eeshvar vishvaas kee sahaayata karate hain is tarah ka nahin mujhe is vakt shaastree dayaalu maata ke oopar shaanti ko praapt hota hai yah geeta ka paanchava adhyaay kab 29 varshon ke to ab aap gyaan mein rahenge tab yah dukh nahin hoga agyaan hai to dukh hai to is varsh hamaare param pita paramaatma hai use samajh jodee aise sarjaree kaise jodate hain vah to mainne bata hee diya abhee vah kul ek laakh chaahie aur mainne kaaphee odiyo apalod kie kaise main dukhee tha abhee main kaise sukhee ho gaya hoon aage bhee sukhee rahoonga to baar-baar gokhale vaapas se poochhe mahesh jee ke paas aavashyakata aur bhakti mein aage badhate rahie

bolkar speaker
एक समय में बेहद खास रहे मित्र जब पहचानने से भी मना कर दे किस तरह खुद को समझाएंगे?Ek Samay Mein Behad Khaas Rahe Mitr Jab Pehchanne Se Bhe Mana Kar De Kis Tarah Khud Ko Samjhaenge
Shipra Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Shipra जी का जवाब
Self Employed
0:35
पता नहीं कि इस समय में बेहद खास रहमत रजा पहचानने से भी मना करें तो किस तरह तो खुद को समझाया तो देखिए यह वक्त का फेर होता है वह पढ़ने से सभी के साथ होता रहता है जब भी बुरा समय आता है तो कोई भी साथ नहीं देता है तो पहचानने से भी इंकार कर रहते हैं यही अगर आप कोई अच्छी रावली रोड पर तीन पोजीशन पर होंगे तो निश्चित तौर पर हर एक व्यक्ति आपके आगे पीछे घूमता को नजर आएगा इसलिए ऐसे लोगों को इग्नोर करके हमेशा कोशिश करनी चाहिए खुद को लाइफ में चप्पल बनाने की जूते की हर एक व्यक्ति आपके बाजू में नाचे उसको पहचाने और आपकी काबिलियत को माने आपका दिन शुभ रहे धन्यवाद

bolkar speaker
एक समय में बेहद खास रहे मित्र जब पहचानने से भी मना कर दे किस तरह खुद को समझाएंगे?Ek Samay Mein Behad Khaas Rahe Mitr Jab Pehchanne Se Bhe Mana Kar De Kis Tarah Khud Ko Samjhaenge
India is Great Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए India जी का जवाब
Master Chef in House
1:35
देखिए क्या होता है और इसलिए होता है क्योंकि वह आपको कई बार जाता है बट आप ऐसा भूल जा रहे हो जिस वजह से उसको अच्छा नहीं लगता है फिर वह सोचता है यार मैं इतनी बार कॉल करना सब कुछ करके बताओ मुझे कभी कॉल करते ही नहीं है बिल्कुल हमारी तरह क्योंकि मुझ में यह बहुत खराब आदत है मेरे पुराने दोस्तों मैं बहुत ज्यादा दोस्त बनाता ही नहीं हूं और इतना सुनना था जिसको कि मैं चला सकता हूं लेकिन फिर भी मेरी इतनी आदत खराब है कि मैं दरअसल उसे भूल जाता हूं पीछे से कॉल करता मुझे 12:00 बजे से बोलता तो मतलब लेकिन कभी जब जरूरत पड़ती है तो मैं खुद कॉल करता हूं फिर जो है कहते हैं कौन अरे यार मैं बोल रहा हूं अरे यार कहां मर गया था कुछ तो ऐसे होते हैं कुछ तो ऐसे तो कुछ ऐसे हम नहीं पहचान तो ऐसे बोलते गुस्से में तो आओ फिर कोई कॉल भी काट देती हो वापस से करता हूं मैं अपनी स्त्रियों में बता देता हूं फिर यार ऐसे मैसेज करो वगैरह क्यों हो गया क्या हो गया मर गया यह वह चार यार मेरे को तारीख की बड़ी परिस्थितियां खराब हो रही है बट तू ने भी ऐसा किया चल ठीक है मैं सोचा नहीं था कभी तो फिर वह तुरंत ही पिघल जाता है और फिर बोलता है बता क्या तेरा प्रॉब्लम है और फिर ऐसे करके समझा देते हैं लेकिन कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो यह कहे कि है मतलब समझ में बिल्कुल नहीं जानता हूं अपनी सोच लीजिए कि वह कहीं ना कहीं और ही लोगों से जो उसको जानता पहचानता मतलब जो से ज्यादा पैसे आपसे वापस सेवर मिल कर के और बातचीत करके बीच में और अपने बारे में कुछ सुन वाले से किए चीजें उस को 3 मैसेज भेजो देने के बाद वह आपको सामने से कॉल जरूर करेगा

bolkar speaker
एक समय में बेहद खास रहे मित्र जब पहचानने से भी मना कर दे किस तरह खुद को समझाएंगे?Ek Samay Mein Behad Khaas Rahe Mitr Jab Pehchanne Se Bhe Mana Kar De Kis Tarah Khud Ko Samjhaenge
shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
1:51
हेलो एवरीवन तो आज आप का सवाल है कि इस समय में बेहद खास रहे मित्र जब पहचानने से भी मना कर दे तो किस तरफ को समझाएंगे सदस्य अगर वह आपकी फेस को मतलब भूल गए हैं ऐसा नहीं चलता है चली वह मतलब ऐसा कर रहे हैं मैं भी ऐसा होता बहुत दिनों के बाद हम देखते हैं हम पहचान नहीं पाते हैं इसमें उनकी कोई गलती नहीं है यहां पर हम समझ सकते हैं कि जब हम इतने दिनों तक दूर होते हैं और बचपन के साथी दोस्त रहते हैं इतने सालों बाद मिलते हैं तो बहुत कुछ इंग्लिश आता है चाहे वह बॉडी को लेकर वह बातचीत करने के तरीके को लेकर ऐसे बदलाव तुझ में निराश होने की जरूरत नहीं है का मतलब ना चले कोई मतलब जानबूझकर ऐसा नहीं चलेगा फिर भी नहीं पहचान रहा है तो समझते क्या होते हैं कि जरूरी नहीं होता है कि हमेशा हर एक चीज कौन सा है जो आप जैसा कलेक्ट करने वाला इंसान भी वैसे ही हो आप जैसा के अधिकारी आप जैसे लोग दिखा रहे आज आपकी तरफ से जैसा कौन है उस इंसान की तरफ से भी रिटर्न में भी रहता हूं यह जरूरी नहीं होता तो कोई भी रिलेशन को बनाने से पहले यह जो दिमाग में रखना चाहिए कि हर रिलेशन ऐसे नहीं होते कि लोंग लास्टिंग चलेंगे चलो फ्रेंडशिप के हो चाहे कोई भी तो नहीं पहचानने में उनकी कोई भी रीजन हो सकता है ज्यादा से ज्यादा क्या कर सकते हो हम को समझाने की कोशिश करेंगे कि हम दोस्ती ना कर फिर भी अगर वह दिन आए कर रहे हैं कि नहीं वह नहीं पहचानते तो ऐसे तो मैं भी यही सोचता है कि मैं भी हमसे जाने अनजाने में ही गलती हो गई है तो माफी मांग लेना है और नहीं वह फिर भी पहचान नहीं रहे तो हमें यह सोचने की शायद रिलेशन हम संभाल रहे थे तुम्हारी तरफ से दोस्ती तक उसकी तरफ से शायद वही दोस्ती नहीं है वक्त के साथ उसमें होते हुए भूल गया

bolkar speaker
एक समय में बेहद खास रहे मित्र जब पहचानने से भी मना कर दे किस तरह खुद को समझाएंगे?Ek Samay Mein Behad Khaas Rahe Mitr Jab Pehchanne Se Bhe Mana Kar De Kis Tarah Khud Ko Samjhaenge
Trilok Sain Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Trilok जी का जवाब
Motivational Speaker Public Speaker Life Coach Youtuber
0:47
प्रशासनिक एक समय में बेहद खास है लेकिन जब मैदान में चलना जल्दी तो किस तरह खुद को समझाएंगे हम खुद को यह समझाएंगे कि इसकी विचार हैं हो सकता है कि आज यह मुझे नहीं पहचान रहा लेकिन एक दिन तुमको महसूस होगा कि मैंने गलत किया था क्योंकि इंसान हैं वह कभी छोटा झगड़ा किस समय उसकी परिस्थिति होती है अगर वह अपने आप को बड़ा समझने वाला यह पूरी थोड़ा समय मिले तो वह उसकी बहुत से उसकी विचारधारा है उसे उसके संस्कार के म्यूजिक से कोई फर्क नहीं पड़ता मैं अपनी जगह श्रेष्ठ हूं बस इतना सोच लूंगा और भुला दूंगा उसको

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • एक समय में बेहद खास रहे मित्र जब पहचानने से भी मना कर दे किस तरह खुद को समझाएंगे
URL copied to clipboard