#जीवन शैली

bolkar speaker

भारत के लोग बेरोजगारी पर बात क्यों नहीं कर रहे हैं?

Bharat Ke Log Berojgari Par Baat Kyo Nahi Kar Rahe Hai
अमित सिंह बघेल Bolkar App
Top Speaker,Level 55
सुनिए अमित जी का जवाब
सामाजिक कार्यकर्ता, मोटिवेशनल स्पीकर 
3:47
पूछा के भारत के लोग बेरोजगारी पर बात क्यों नहीं कर रहे थे कि भारत के लोगों के जेहन में क्या है कि रोजगार का एक ही अर्थ है सरकारी नौकरी अगर उससे थोड़ा बड़ा होता है तो माइंडसेट तो फिर प्राइवेट नौकरी स्वरोजगार को या सिर्फ को रोजगार में जीना ही नहीं जाता तो लंबी ग्राम संस्कृत कर लो को ना इसका दिखे मुख्य कारण रहा है भारतीय रोजगार की भाषा सही करने तो देखिए बेरोजगारी दूर हो सकती है दूसरे क्या है ना कि हमारे देश के भ्रष्टाचार ने भी दिखे बेरोजगार को बढ़ावा दिया है देखिए मैं आपको बता दूं शिक्षा पाठशाला अब हर गांव में उपलब्ध है पर वहां शिक्षा कभी बताई नहीं जाती जो बेरोजगार को दूर कर सकें अधिकतर दिखे पाठ शालाओं में बच्चों को को करने की सलाह दी जाती है और बच्चे गुरु की बातों में लग जाते हैं उसके माता-पिता भी इसी के पक्ष में लिखे होते हैं पड़ोसी के बच्चे ने कल यह काम कर दिया उसकी बेटी ने आईएस बन गया और अपने बच्चे में भी ढूंढते हैं और उसके अनुसार बनाना चाहते हैं असल में बच्चे की टैलेंट के अनुसार उसका मार्गदर्शन नहीं किया जाता है उसका परिणाम वह एक ऐसी नौकरी में फंस जाता है जिसका उसने कभी देखा ही नहीं अपना टैलेंट को कभी देखा ही नहीं पाता पुस्तक टैलेंट हो कभी नहीं दिखा पाता और एक मजबूर की जिंदगी जीना भी के शुरू हो जाता है देखिए मैं एक बात बता दो अगर मैं भी घर पर बैठे हैं मैं भी अगर अपने को बोलता कि मैं भी बेरोजगार हूं अगर मैं अपने टैलेंट को ना देखता आगे ना निकलता तो मैं घर पर बैठा हूं बोलता कि मैं बेरोजगार हूं पंडित ना कि नौकरी आपको मिल जाएगी अगर आप घर से निकलो और थोड़ा भागो दौड़ो निकलो मेहनत करनी पड़ेगी देखिए अगर हम घर पर ही बैठ कर रोना गाना घर चालू करें जब भी हुआ है वह ताकि मैं बेरोजगार हूं मेरे को काफी दोस्त हैं आज घर पर बैठे रहते घूमते हैं फिरते दारू भर मिलते जॉब मिल नहीं बोलोगे तो अपने मन की करो मन की भी नौकरी मिल जाती लेकिन करना ही नहीं चाहते तो घर पर अपने माता-पिता का पैसा जो आ रहा हूं वही खाना चाहते हैं फिर बाद में करते मैं बेरोजगार हूं तो आपको जो अच्छा लगे आपको कर सकते हैं क्योंकि लोग आपको नौकरी देने नहीं आएंगे आपको खुद निकलना होगा घर से जॉब के लिए नौकरी के लिए अगर आप कुछ कर सकते हो तो आप मत होना था जितने भी स्टार्ट कर सकते एक ठेला वाला भी देखिए पैसे कमा लेता है मेहनत करके तो आपके अंदर जो टैलेंट है उसको आप निकाले आगे बढ़े और भांति के लोग अपने में बिजी हैं वह आपसे नहीं कहेंगे कि आप की मदद करते आप मुझसे गरीबों की मदद करने की सोच अच्छी रखी है और आगे बढ़े और नौटंकी टाइम देगी क्या हुआ कि कॉर्नर वायरस की वजह से कई लोगों की नौकरी चली गई लेकिन इनकी चली गई तू कहीं ना कहीं नौकरी कर रहे हो सके तो लगे हैं मेहनत करना कहीं ना कहीं दो रोटी कमा रहे तो आप भी कमाए बचाए तो बेरोजगारी क्यों है इस विषय में देखे आप से बेहतर रोजगार क्यों हम तू अगर आपके अंदर टैलेंट है मेहनत करें आगे बढ़े कहीं भी जॉब मिल गई पार्ट टाइम फुल टाइम कुछ भी जॉब करें थोड़ा टाइम निकाल ले पैसे बचाएं और जो आप बताइए जहां है आप उस चीज में लग जाए आप मेहनत करें देखिए टाइम ऐसा है कि आप को रोजगार जरूरी है कहीं ना कहीं जय हिंद
Poochha ke bhaarat ke log berojagaaree par baat kyon nahin kar rahe the ki bhaarat ke logon ke jehan mein kya hai ki rojagaar ka ek hee arth hai sarakaaree naukaree agar usase thoda bada hota hai to maindaset to phir praivet naukaree svarojagaar ko ya sirph ko rojagaar mein jeena hee nahin jaata to lambee graam sanskrt kar lo ko na isaka dikhe mukhy kaaran raha hai bhaarateey rojagaar kee bhaasha sahee karane to dekhie berojagaaree door ho sakatee hai doosare kya hai na ki hamaare desh ke bhrashtaachaar ne bhee dikhe berojagaar ko badhaava diya hai dekhie main aapako bata doon shiksha paathashaala ab har gaanv mein upalabdh hai par vahaan shiksha kabhee bataee nahin jaatee jo berojagaar ko door kar saken adhikatar dikhe paath shaalaon mein bachchon ko ko karane kee salaah dee jaatee hai aur bachche guru kee baaton mein lag jaate hain usake maata-pita bhee isee ke paksh mein likhe hote hain padosee ke bachche ne kal yah kaam kar diya usakee betee ne aaeees ban gaya aur apane bachche mein bhee dhoondhate hain aur usake anusaar banaana chaahate hain asal mein bachche kee tailent ke anusaar usaka maargadarshan nahin kiya jaata hai usaka parinaam vah ek aisee naukaree mein phans jaata hai jisaka usane kabhee dekha hee nahin apana tailent ko kabhee dekha hee nahin paata pustak tailent ho kabhee nahin dikha paata aur ek majaboor kee jindagee jeena bhee ke shuroo ho jaata hai dekhie main ek baat bata do agar main bhee ghar par baithe hain main bhee agar apane ko bolata ki main bhee berojagaar hoon agar main apane tailent ko na dekhata aage na nikalata to main ghar par baitha hoon bolata ki main berojagaar hoon pandit na ki naukaree aapako mil jaegee agar aap ghar se nikalo aur thoda bhaago daudo nikalo mehanat karanee padegee dekhie agar ham ghar par hee baith kar rona gaana ghar chaaloo karen jab bhee hua hai vah taaki main berojagaar hoon mere ko kaaphee dost hain aaj ghar par baithe rahate ghoomate hain phirate daaroo bhar milate job mil nahin bologe to apane man kee karo man kee bhee naukaree mil jaatee lekin karana hee nahin chaahate to ghar par apane maata-pita ka paisa jo aa raha hoon vahee khaana chaahate hain phir baad mein karate main berojagaar hoon to aapako jo achchha lage aapako kar sakate hain kyonki log aapako naukaree dene nahin aaenge aapako khud nikalana hoga ghar se job ke lie naukaree ke lie agar aap kuchh kar sakate ho to aap mat hona tha jitane bhee staart kar sakate ek thela vaala bhee dekhie paise kama leta hai mehanat karake to aapake andar jo tailent hai usako aap nikaale aage badhe aur bhaanti ke log apane mein bijee hain vah aapase nahin kahenge ki aap kee madad karate aap mujhase gareebon kee madad karane kee soch achchhee rakhee hai aur aage badhe aur nautankee taim degee kya hua ki kornar vaayaras kee vajah se kaee logon kee naukaree chalee gaee lekin inakee chalee gaee too kaheen na kaheen naukaree kar rahe ho sake to lage hain mehanat karana kaheen na kaheen do rotee kama rahe to aap bhee kamae bachae to berojagaaree kyon hai is vishay mein dekhe aap se behatar rojagaar kyon ham too agar aapake andar tailent hai mehanat karen aage badhe kaheen bhee job mil gaee paart taim phul taim kuchh bhee job karen thoda taim nikaal le paise bachaen aur jo aap bataie jahaan hai aap us cheej mein lag jae aap mehanat karen dekhie taim aisa hai ki aap ko rojagaar jarooree hai kaheen na kaheen jay hind

और जवाब सुनें

bolkar speaker
भारत के लोग बेरोजगारी पर बात क्यों नहीं कर रहे हैं?Bharat Ke Log Berojgari Par Baat Kyo Nahi Kar Rahe Hai
Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
1:03
चलो बेरोजगारी पर बात क्यों नहीं कर रहे हैं देखिए भारत के लोग बेरोजगारी पर इसलिए बात नहीं कर रहे कि जो व्यक्ति बेरोजगारी के ऊपर बात करेगा उसे तुरंत अभी आप कह दिया जाता है दूसरी बात की है कि आजकल लोगों के दिमाग के अंदर पाकिस्तान हिंदुस्तान 370 राम मंदिर रायपुर हिंदुत्व जैसे मुद्दे जो है उस बड़ी तादाद में डाल दीजिए मीडिया को आप देख लीजिए क्योंकि लोग जो है वीडियो देखते हैं और मीडिया देखने के बाद उनकी भी जल्द मानसिकता ऐसी खो जाता है तो भारतीय गवर्नमेंट और हमारे मीडिया ने हमारे लोगों का जो है ब्रेनवाश किया है यही कारण है कि लोग जो इन जीडीपी का पर्व बेरोजगारी का पर बातें नहीं करते और जो व्यक्ति अपने दोस्त रहे और गद्दार जो है बता दिया जाता है लेकिन इस पक्ष रहे मीडिया निष्पक्ष गवर्नमेंट ने इस मसले पर मेरे हिसाब से आप को रोजगार भी मिलने के चांस बढ़ेंगे हमारी जी टीवी के जो अपने होते हैं वह भी पटेगी धन्यवाद

bolkar speaker
भारत के लोग बेरोजगारी पर बात क्यों नहीं कर रहे हैं?Bharat Ke Log Berojgari Par Baat Kyo Nahi Kar Rahe Hai
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:35
हेलो ऑपरेशन स्वागत है आपका आपका प्रश्न है भारत के लोग बेरोजगारी पर बात क्यों नहीं करते हैं तो सेंड जो जो लोग बेरोजगार नहीं होते हैं बेरोजगारी पर बात नहीं करते और जो बेरोजगार होते हैं वह निश्चित ही बेरोजगारी पर बात करते हैं कि हमें भी नौकरी मिलनी चाहिए नौकरी के और अवसर होना चाहिए जो नौकरी में सेट है तो वह तो बेरोजगारी के बाद बारे में बात नहीं करता क्योंकि उसको तो नौकरी लग गई होती लेकिन जो बेरोजगार होता है उसे इस बात की चिंता होती है कि हमें कहा क्या काम करना है तो वे लोग जरूर बात करते हैं धन्यवाद

bolkar speaker
भारत के लोग बेरोजगारी पर बात क्यों नहीं कर रहे हैं?Bharat Ke Log Berojgari Par Baat Kyo Nahi Kar Rahe Hai
Trilok Sain Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Trilok जी का जवाब
Motivational Speaker Public Speaker Life Coach Youtuber
1:01
नमस्कार खास नहीं की फाग के लोग बेरोजगारी पर बात क्यों नहीं कर रही है क्यों कर रही है ना आपने किए अभी तो आपने प्रश्न पूछा है और मैं आप जवाब दे रहा हूं तो खत्म होती है तो बेरोजगारी पर क्या बात करें बेरोजगारी के कारण क्या है ही बात कर लेते हैं आप क्या मानते हैं मैं ही मानता हूं कि बेरोजगारी अशिक्षा और जनसंख्या वृद्धि मुख्य रूप से जनसंख्या जनसंख्या ज्यादा होगी तो मैं शिक्षा शिक्षा होगी तो दिल संख्या ज्यादा होगी या शिक्षा होगी तो गरीबी होगी बेरोजगारी होगी इसलिए मुक्त मूल कारणों पर ध्यान देना होगा कि जनसंख्या कैसे करें शिक्षा को कैसे बड़ा ही तू ही 2 पॉइंट अगर सरकार और देश की जनता गौर करेगी तो बेरोजगारी मिट जाए

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • भारत में कुल कितनी आबादी है ? भारत की खोज किसने की ?
URL copied to clipboard