#भारत की राजनीति

vijay singh Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए vijay जी का जवाब
Social worker in india
1:58
नमस्ते तो आप का सवाल है सरकार अपने टूलकिट वाले विचारधारा रोजगार और गरीबों और सब पर लागू करेगी क्या सरकार अपने पद और शक्ति का दुरुपयोग तो दोस्तों आपके सवाल का उत्तर इस प्रकार है क्योंकि भारत में लोकतंत्र जरूर है लेकिन लोकतंत्र की सही पालना नहीं हो रही है क्योंकि आज हमारे देश में बोलने पर भी पाबंदी लग रही है जो कोई भी व्यक्ति अपने हक के लिए लड़ता है तो उनको कोई आतंकवादी बोलता है कोई देशद्रोही बोलता है और इसलिए ज्यादातर जो भी आंदोलन होते हैं उनकी गरिमा को ठेस पहुंचाने का कार्य करते हैं और जो भी आंदोलन गरीब अपने पेट के लिए आंदोलन करता है तो भी उन्हें देशद्रोही कहीं अलग अलग प्रकार के नामों से संबोधित करते हैं जिस प्रकार से हमारे देश में किसान आंदोलन हुए तब उनको कई प्रकार के नामों से संबोधित किया कोई उनको आंदोलन जी बोल रहा है कोई आतंकवादी बोल रहा है कोई पाकिस्तानी बोल रहा है अलग-अलग प्रकार के को जलील करने का कार्य किया है हमारे लोकतंत्र में एक ऐसा होना चाहिए जो अपने हक के लिए जो भी आंदोलन करते हैं उनका सम्मान करना चाहिए लेकिन हमारे देश में ज्यादातर आंदोलनों को बदनाम करने का षड्यंत्र करते हैं पता नहीं हमारा देश कहां जा रहा है धन्यवाद साथियों खुश रहो
Namaste to aap ka savaal hai sarakaar apane toolakit vaale vichaaradhaara rojagaar aur gareebon aur sab par laagoo karegee kya sarakaar apane pad aur shakti ka durupayog to doston aapake savaal ka uttar is prakaar hai kyonki bhaarat mein lokatantr jaroor hai lekin lokatantr kee sahee paalana nahin ho rahee hai kyonki aaj hamaare desh mein bolane par bhee paabandee lag rahee hai jo koee bhee vyakti apane hak ke lie ladata hai to unako koee aatankavaadee bolata hai koee deshadrohee bolata hai aur isalie jyaadaatar jo bhee aandolan hote hain unakee garima ko thes pahunchaane ka kaary karate hain aur jo bhee aandolan gareeb apane pet ke lie aandolan karata hai to bhee unhen deshadrohee kaheen alag alag prakaar ke naamon se sambodhit karate hain jis prakaar se hamaare desh mein kisaan aandolan hue tab unako kaee prakaar ke naamon se sambodhit kiya koee unako aandolan jee bol raha hai koee aatankavaadee bol raha hai koee paakistaanee bol raha hai alag-alag prakaar ke ko jaleel karane ka kaary kiya hai hamaare lokatantr mein ek aisa hona chaahie jo apane hak ke lie jo bhee aandolan karate hain unaka sammaan karana chaahie lekin hamaare desh mein jyaadaatar aandolanon ko badanaam karane ka shadyantr karate hain pata nahin hamaara desh kahaan ja raha hai dhanyavaad saathiyon khush raho

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

    URL copied to clipboard