#धर्म और ज्योतिषी

Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
0:42
समंदर में अगरबत्ती जलाना शुभ नहीं होता है क्योंकि हिंदू धर्म में बात को क्यों पूजा में बात करें मंदिर के अंदर अगरबत्ती जलाई जाती है इसको लेकर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी परंतु यदि भाषा का उपयोग पूजा में बिल्कुल बिल्कुल पूजा के लिए स्पेशल तौर पर तैयार किया गया है तो इसमें बात का तो बिल्कुल भी इस्तेमाल नहीं किया गया होगा तो अगर बच्चों के अंदर जो मांस लगता है बात नहीं होता है कुछ और यानी कि उनके द्वारा तैयार किया जाता है
Samandar mein agarabattee jalaana shubh nahin hota hai kyonki hindoo dharm mein baat ko kyon pooja mein baat karen mandir ke andar agarabattee jalaee jaatee hai isako lekar koee pratikriya nahin dee parantu yadi bhaasha ka upayog pooja mein bilkul bilkul pooja ke lie speshal taur par taiyaar kiya gaya hai to isamen baat ka to bilkul bhee istemaal nahin kiya gaya hoga to agar bachchon ke andar jo maans lagata hai baat nahin hota hai kuchh aur yaanee ki unake dvaara taiyaar kiya jaata hai

और जवाब सुनें

पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
1:06
जी हां मंदिर में अगरबत्ती जलाना शुभ नहीं होता है क्योंकि हिंदू धर्म में बात को क्यों पूजा में भर्ती थे बांस का उपयोग जो कि जब अर्थी बनती है मनुष्य की तो उस आरती में बांस का प्रयोग किया जाता है इसलिए माना जाता है यही कि जो अगरबत्ती में बांस का प्रयोग होता है उसके ऊपर भी वही धूप लगती है तो धूप उस पर लगाया जाता है इसलिए उस बांस का उपयोग नगर के क्योंकि बांस का वर्तमान प्रयोग बांस की डलिया भी बनती है बात क्या थी बनाई जाती है बस की छत पर पानी भी लगती है बस इसलिए कि वह जो है जलाने के काम में ना उसके अन्य उपयोग ले लिए जाएं इसलिए बुजुर्गों ने इसको एक बैरियर लगा दिया है कि धूप का अलग से माल करना है तो उसके बत्तियां जो है धूप भी और इस तरह से मत लो उसको वैज्ञानिक तरीके से बना करके थी उसको छुड़वाया जाए बांस में लगाते हैं तो उसके पास को जलाने से थोड़ा सोच कुछ कैसे निकलते हैं जो स्वास्थ्य के लिए भी हानिकारक होती है असली बुजुर्गों ने बताया है कि बांस जो है हिंदू धर्म के लिए जलाना उचित नहीं है
Jee haan mandir mein agarabattee jalaana shubh nahin hota hai kyonki hindoo dharm mein baat ko kyon pooja mein bhartee the baans ka upayog jo ki jab arthee banatee hai manushy kee to us aaratee mein baans ka prayog kiya jaata hai isalie maana jaata hai yahee ki jo agarabattee mein baans ka prayog hota hai usake oopar bhee vahee dhoop lagatee hai to dhoop us par lagaaya jaata hai isalie us baans ka upayog nagar ke kyonki baans ka vartamaan prayog baans kee daliya bhee banatee hai baat kya thee banaee jaatee hai bas kee chhat par paanee bhee lagatee hai bas isalie ki vah jo hai jalaane ke kaam mein na usake any upayog le lie jaen isalie bujurgon ne isako ek bairiyar laga diya hai ki dhoop ka alag se maal karana hai to usake battiyaan jo hai dhoop bhee aur is tarah se mat lo usako vaigyaanik tareeke se bana karake thee usako chhudavaaya jae baans mein lagaate hain to usake paas ko jalaane se thoda soch kuchh kaise nikalate hain jo svaasthy ke lie bhee haanikaarak hotee hai asalee bujurgon ne bataaya hai ki baans jo hai hindoo dharm ke lie jalaana uchit nahin hai

Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:37
हेलो एवरीवन स्वागत है आपका क्या मंदिर में अगरबत्ती आपका प्रश्न क्या मंदिर में अगरबत्ती जलाना शुभ नहीं होता क्योंकि हिंदू धर्म में बांस का उपयोग पूजा में बच्चे थे तो फ्रेंड से मंदिर में अगरबत्ती जलाना शुभ होता है ऐसा कुछ नहीं है किस में बांस का प्रयोग हेतु पूजा में नहीं होती क्योंकि उन्हें ओंकार के लिए किया जा रहा है और वह भगवान की पूजा के लिए किया जा रहा है तो अगरबत्ती जलाना अशुभ होता है सब लोग अगरबत्ती जलाते हैं हिंदू धर्म में भी अगरबत्ती जलाते हैं लोग यह वंचित नहीं होती है क्यों ना उसमें बात का उपयोग हो लेकिन फिर भी लोग अगरबत्ती जलाते हैं और उसे शुभ मानते हैं
Helo evareevan svaagat hai aapaka kya mandir mein agarabattee aapaka prashn kya mandir mein agarabattee jalaana shubh nahin hota kyonki hindoo dharm mein baans ka upayog pooja mein bachche the to phrend se mandir mein agarabattee jalaana shubh hota hai aisa kuchh nahin hai kis mein baans ka prayog hetu pooja mein nahin hotee kyonki unhen onkaar ke lie kiya ja raha hai aur vah bhagavaan kee pooja ke lie kiya ja raha hai to agarabattee jalaana ashubh hota hai sab log agarabattee jalaate hain hindoo dharm mein bhee agarabattee jalaate hain log yah vanchit nahin hotee hai kyon na usamen baat ka upayog ho lekin phir bhee log agarabattee jalaate hain aur use shubh maanate hain

vijay singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए vijay जी का जवाब
Social worker in india
0:26
नमस्ते दोस्तों आपका सवाल का उत्तर यह है हमारे देश में मंदिरों में ज्यादातर अगरबत्ती या धूप बत्ती और दीपक को शुभ माना जाता है जो लगभग मंदिरों में मंदिरों में अगरबत्ती जलाना शुभ माना जाता है धन्यवाद साथियों खुश रहो
Namaste doston aapaka savaal ka uttar yah hai hamaare desh mein mandiron mein jyaadaatar agarabattee ya dhoop battee aur deepak ko shubh maana jaata hai jo lagabhag mandiron mein mandiron mein agarabattee jalaana shubh maana jaata hai dhanyavaad saathiyon khush raho

Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
1:07
दवा ली कि क्या मंदिर में अगरबत्ती जलाना शुभ नहीं होता क्योंकि हिंदू धर्म में बांस का उपयोग पूजा में वर्जित है तो पूजा पाठ में अगरबत्ती जलाना धार्मिक दृष्टि से अशुभ माना जाता है दरअसल बहुत सारी कंपनियां अगरबत्ती बनाने में बात करते माल करती है जिसके बाद बात की पतली सी लकड़ी पर सुगंधित लेप लगाया जाता है कहते हैं कि सारी मुसीबत की जड़ पास की पतली सी लकड़ी है हिंदू धर्म में बांस को चलाना वर्जित है यहां तक कि किसी भी हवन या पूजा में बॉस्को नहीं जलाया जाता यहां तक की चिंता चिता में भी बांस की लकड़ी का इस्तेमाल नहीं किया जाता अर्थी के लिए बांस का इस्तेमाल जरूर किया जाता है लेकिन उसे जलाया नहीं जाता वहीं कई ग्रंथों में यह भी लिखा है कि बात को चलाने से पित्र दोष लगता है एक शोध में हमारे पूर्वजों द्वारा बांस ना जलाने की परंपरा को सही साबित किया गया है हमारे देश के नहीं इतनी के दो शोधकर्ताओं ने अपने शोध में यह दावा किया है कि अगरबत्ती हमारी सेहत के लिए बहुत हानिकारक है
Dava lee ki kya mandir mein agarabattee jalaana shubh nahin hota kyonki hindoo dharm mein baans ka upayog pooja mein varjit hai to pooja paath mein agarabattee jalaana dhaarmik drshti se ashubh maana jaata hai darasal bahut saaree kampaniyaan agarabattee banaane mein baat karate maal karatee hai jisake baad baat kee patalee see lakadee par sugandhit lep lagaaya jaata hai kahate hain ki saaree museebat kee jad paas kee patalee see lakadee hai hindoo dharm mein baans ko chalaana varjit hai yahaan tak ki kisee bhee havan ya pooja mein bosko nahin jalaaya jaata yahaan tak kee chinta chita mein bhee baans kee lakadee ka istemaal nahin kiya jaata arthee ke lie baans ka istemaal jaroor kiya jaata hai lekin use jalaaya nahin jaata vaheen kaee granthon mein yah bhee likha hai ki baat ko chalaane se pitr dosh lagata hai ek shodh mein hamaare poorvajon dvaara baans na jalaane kee parampara ko sahee saabit kiya gaya hai hamaare desh ke nahin itanee ke do shodhakartaon ne apane shodh mein yah daava kiya hai ki agarabattee hamaaree sehat ke lie bahut haanikaarak hai

NeelamAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए NeelamAwasthi जी का जवाब
I am housewife
0:53
क्या मंदिर में अगरबत्ती जलाना शुभ नहीं होता है क्योंकि हिंदू धर्म में बांस का उपयोग पूजा में वर्जित है देखिए अगरबत्ती बांस की बनी होती है अतः इसे जलाना शुभ नहीं होता है शास्त्रों में पूजा विधान में कहीं भी अगरबत्ती का उल्लेख नहीं मिलता है सब जगह धूप ही लिखा हुआ मिलता है अगर बत्ती बाज और केमिकल से बनाई जाती है जिसका सेहत पर बुरा असर होता है वैज्ञानिक शोध में पता चला है कि अगरबत्ती के धुएं में पाए जाने वाली पायल अधिक में हाइड्रोकार्बन पी ए एच की वजह से पूजा करने वाले पुजारियों में अस्थमा कल सर सर दर्द एवं खासी की गुंजाइश कई गुना ज्यादा पाई जाती है बंद कमरे में अगरबत्ती नहीं जलाना चाहिए धन्यवाद
Kya mandir mein agarabattee jalaana shubh nahin hota hai kyonki hindoo dharm mein baans ka upayog pooja mein varjit hai dekhie agarabattee baans kee banee hotee hai atah ise jalaana shubh nahin hota hai shaastron mein pooja vidhaan mein kaheen bhee agarabattee ka ullekh nahin milata hai sab jagah dhoop hee likha hua milata hai agar battee baaj aur kemikal se banaee jaatee hai jisaka sehat par bura asar hota hai vaigyaanik shodh mein pata chala hai ki agarabattee ke dhuen mein pae jaane vaalee paayal adhik mein haidrokaarban pee e ech kee vajah se pooja karane vaale pujaariyon mein asthama kal sar sar dard evan khaasee kee gunjaish kaee guna jyaada paee jaatee hai band kamare mein agarabattee nahin jalaana chaahie dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • पूजा में 1 या 3 अगरबत्ती जलाना शुभ है या अशुभ, पूजा में कितनी अगरबत्ती जलानी चाहिए, अगरबत्ती जलाना शुभ या अशुभ
URL copied to clipboard