#भारत की राजनीति

Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
0:44
भारत की वर्तमान न्याय प्रणाली और व्यवस्था में आम आदमी की स्थिति कहां और कैसे हैं दोस्तों यदि बात करें भारत के वर्तमान न्याय प्रणाली को लेकर तो आम आदमी की स्थिति इस मुकाबले काफी अच्छी है क्योंकि न्याय जो छात्र छात्रा यानी कि न्यायालय के अंदर कोई भी व्यक्ति जाकर के अपील कर सकता है और हर एक थी कि वहां पर सुनी जाती है आपको पुलिस के ऊपर भरोसा हो या ना हो आपको सीबीआई पर भरोसा हो या ना हो या फिर किसी संगठन के पर भरोसा हो या ना हो परंतु भारत के हर एक नागरिक को दोस्तों न्यायालय के अंदर जो बहुत ज्यादा भरोसा है ऐसी चीज को लेकर की बात करें तो हमारे लो 30 तारीख काफी अच्छे न्यायालय को लेकर के
Bhaarat kee vartamaan nyaay pranaalee aur vyavastha mein aam aadamee kee sthiti kahaan aur kaise hain doston yadi baat karen bhaarat ke vartamaan nyaay pranaalee ko lekar to aam aadamee kee sthiti is mukaabale kaaphee achchhee hai kyonki nyaay jo chhaatr chhaatra yaanee ki nyaayaalay ke andar koee bhee vyakti jaakar ke apeel kar sakata hai aur har ek thee ki vahaan par sunee jaatee hai aapako pulis ke oopar bharosa ho ya na ho aapako seebeeaee par bharosa ho ya na ho ya phir kisee sangathan ke par bharosa ho ya na ho parantu bhaarat ke har ek naagarik ko doston nyaayaalay ke andar jo bahut jyaada bharosa hai aisee cheej ko lekar kee baat karen to hamaare lo 30 taareekh kaaphee achchhe nyaayaalay ko lekar ke

और जवाब सुनें

पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
0:51
भारत की वर्तमान न्याय प्रणाली और व्यवस्था में आम आदमी की स्थिति कहां पर है और कैसे देखें न्याय प्रणाली हमारे यहां के थोड़ा सा गंभीर है गंभीर यह है कि आप मुकदमा दायर करते हैं बहुत दिनों बाद तारीख है लगती है तब तक भर में स्थितियां बदल जाती हैं हार जाते तो अपील करनी पड़ती है बहुत पैसा खर्च हो जाता है न्यायिक प्रणाली जो है हमारे यहां की बहुत मजबूत है और तू के न्याय देर में मिलता है इसलिए उसका सबसे बड़ा दोष है जल्दी उस पर निर्णय नहीं लिए जाते हैं तो बल्कि एक हमारे सामने भी एक भाषण में कहा था कि न्याय जो है न्यायालय बड़े लोगों के लिए पैसे वालों के लिए ही है गरीब आदमी हूं वहां तक पहुंच ही नहीं पाता है और वह मतलब न्याय से मतलब वंचित रखा जाता है
Bhaarat kee vartamaan nyaay pranaalee aur vyavastha mein aam aadamee kee sthiti kahaan par hai aur kaise dekhen nyaay pranaalee hamaare yahaan ke thoda sa gambheer hai gambheer yah hai ki aap mukadama daayar karate hain bahut dinon baad taareekh hai lagatee hai tab tak bhar mein sthitiyaan badal jaatee hain haar jaate to apeel karanee padatee hai bahut paisa kharch ho jaata hai nyaayik pranaalee jo hai hamaare yahaan kee bahut majaboot hai aur too ke nyaay der mein milata hai isalie usaka sabase bada dosh hai jaldee us par nirnay nahin lie jaate hain to balki ek hamaare saamane bhee ek bhaashan mein kaha tha ki nyaay jo hai nyaayaalay bade logon ke lie paise vaalon ke lie hee hai gareeb aadamee hoon vahaan tak pahunch hee nahin paata hai aur vah matalab nyaay se matalab vanchit rakha jaata hai

Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:39
हेलो फ्रेंड स्वागत है आपका आपका प्रश्न है भारत की वर्तमान न्याय प्रणाली और व्यवस्था में आम आदमी की स्थिति कहां और कैसी है वैसे हमारे भारत की जो न्याय प्रणाली है वह बहुत अच्छी है और बहुत ही निरपेक्ष है और बहुत अच्छे से न्याय करती है लेकिन बस एक कमी है उसमें की बहुत देर से न्याय मिलता है जब भी कोई किरदार करता है तो बहुत सारी तारीख है मिलती हैं और उसके बाद फिर जब 30 अगर कोई हार गया फिर दूसरी जगह किस लगाओ बहुत सारा पैसा भी बर्बाद होता है और तारीखें मिलती जाती है और न्याय बहुत देर से मिलता है बस यही है कि समय बहुत लगता है हमारे यहां न्याय प्रणाली में न्याय प्रणाली बहुत अच्छी है धन्यवाद
Helo phrend svaagat hai aapaka aapaka prashn hai bhaarat kee vartamaan nyaay pranaalee aur vyavastha mein aam aadamee kee sthiti kahaan aur kaisee hai vaise hamaare bhaarat kee jo nyaay pranaalee hai vah bahut achchhee hai aur bahut hee nirapeksh hai aur bahut achchhe se nyaay karatee hai lekin bas ek kamee hai usamen kee bahut der se nyaay milata hai jab bhee koee kiradaar karata hai to bahut saaree taareekh hai milatee hain aur usake baad phir jab 30 agar koee haar gaya phir doosaree jagah kis lagao bahut saara paisa bhee barbaad hota hai aur taareekhen milatee jaatee hai aur nyaay bahut der se milata hai bas yahee hai ki samay bahut lagata hai hamaare yahaan nyaay pranaalee mein nyaay pranaalee bahut achchhee hai dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • भारत की वर्तमान न्याय प्रणाली और व्यवस्था कैसी है, आम आदमी की स्थिति वर्तमान न्याय प्रणाली कहां और कैसी है
URL copied to clipboard