#जीवन शैली

bolkar speaker

आज बेरोजगारी बहुत ज्यादा बढ़ रही है इसके पीछे क्या कारण है?

Aaj Berojgari Bahut Jyada Badh Rahi Hai Iske Peeche Kya Karan Hai
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:45
हेलो एवरीवन स्वागत है आपका आपका प्रश्न है आज बेरोजगारी बहुत ज्यादा पड़ रही है इसके पीछे क्या कारण है तो फ्रेंड से आप सबको पता है कि देश की जनसंख्या बहुत ज्यादा है उस हिसाब से रोजगार के अवसर कम है उस हिसाब से नौकरियां कम है जनसंख्या ज्यादा है और नौकरी कम है इसलिए बेरोजगारी बढ़ रही हैं अब कोई भी नौकरी की वैकेंसी निकलती है तो वह जैसे कि 1000 वैकेंसी है लेकिन उसके लिए लोग कम से कम 4000 5000 लोग तक आवेदन कर देते हैं और 1000 लोग कोई नौकरी मिल पाती है तो बाकी के लोग बैठ जाते हैं और बेरोजगार रह जाते हैं इसलिए और सर के साधन उनको कब मिल रहे हैं इसलिए बेरोजगारी बढ़ रही है धन्यवाद
Helo evareevan svaagat hai aapaka aapaka prashn hai aaj berojagaaree bahut jyaada pad rahee hai isake peechhe kya kaaran hai to phrend se aap sabako pata hai ki desh kee janasankhya bahut jyaada hai us hisaab se rojagaar ke avasar kam hai us hisaab se naukariyaan kam hai janasankhya jyaada hai aur naukaree kam hai isalie berojagaaree badh rahee hain ab koee bhee naukaree kee vaikensee nikalatee hai to vah jaise ki 1000 vaikensee hai lekin usake lie log kam se kam 4000 5000 log tak aavedan kar dete hain aur 1000 log koee naukaree mil paatee hai to baakee ke log baith jaate hain aur berojagaar rah jaate hain isalie aur sar ke saadhan unako kab mil rahe hain isalie berojagaaree badh rahee hai dhanyavaad

और जवाब सुनें

bolkar speaker
आज बेरोजगारी बहुत ज्यादा बढ़ रही है इसके पीछे क्या कारण है?Aaj Berojgari Bahut Jyada Badh Rahi Hai Iske Peeche Kya Karan Hai
Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
1:24
आज बेरोजगारी बहुत ज्यादा बढ़ रही है इसके पीछे क्या कारण है दोस्तों बेरोजगारी बढ़ने का एक प्रमुख कारण है जनसंख्या देखिए आज देश की जनसंख्या इतनी ज्यादा बढ़ चुकी है पूरे वर्ल्ड की धरती के ऊपर पता नहीं कितनी प्रतिशत जनसंख्या बढ़ गई अपने देश की बात करें तो भारत की जनसंख्या उत्तर अमेरिका दक्षिण अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया इन तीनों महाद्वीपों की जनसंख्या मिला लीजिए इतनी जनसंख्या से भी अधिक जॉय भारत की जनसंख्या और दूसरी बात यह है कि हर साल हम लोग लगभग ऑस्ट्रेलिया कितनी जनसंख्या है वह पैदा भी कर देते हैं बेरोजगारी इस वजह से बढ़ रही है जनसंख्या कम है गवर्नमेंट जॉब रोजगार के साधन तो बढ़ाने की इच्छुक है परंतु हमारी जनसंख्या के हिसाब से जो है ऐसा करना नामुमकिन है मान लीजिए उसमें हजार पोस्ट है परंतु दोस्तों 1000000 लोग उसके लिए अप्लाई कर देते हैं यानी कुल मिलाकर यह कि आज बेरोजगारी चरम तक पहुंच गई है कि लोग जो कंपटीशन कोविड-19 जनसंख्या की स्तर पर देखने लग गए तो बिल्कुल दोस्तों पूरी तरीके से जो इसमें कारण हमारी जनसंख्या है और कुछ नहीं धन्यवाद
Aaj berojagaaree bahut jyaada badh rahee hai isake peechhe kya kaaran hai doston berojagaaree badhane ka ek pramukh kaaran hai janasankhya dekhie aaj desh kee janasankhya itanee jyaada badh chukee hai poore varld kee dharatee ke oopar pata nahin kitanee pratishat janasankhya badh gaee apane desh kee baat karen to bhaarat kee janasankhya uttar amerika dakshin amerika aur ostreliya in teenon mahaadveepon kee janasankhya mila leejie itanee janasankhya se bhee adhik joy bhaarat kee janasankhya aur doosaree baat yah hai ki har saal ham log lagabhag ostreliya kitanee janasankhya hai vah paida bhee kar dete hain berojagaaree is vajah se badh rahee hai janasankhya kam hai gavarnament job rojagaar ke saadhan to badhaane kee ichchhuk hai parantu hamaaree janasankhya ke hisaab se jo hai aisa karana naamumakin hai maan leejie usamen hajaar post hai parantu doston 1000000 log usake lie aplaee kar dete hain yaanee kul milaakar yah ki aaj berojagaaree charam tak pahunch gaee hai ki log jo kampateeshan kovid-19 janasankhya kee star par dekhane lag gae to bilkul doston pooree tareeke se jo isamen kaaran hamaaree janasankhya hai aur kuchh nahin dhanyavaad

bolkar speaker
आज बेरोजगारी बहुत ज्यादा बढ़ रही है इसके पीछे क्या कारण है?Aaj Berojgari Bahut Jyada Badh Rahi Hai Iske Peeche Kya Karan Hai
Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
1:50
संभालिए क्या आजकल बेरोजगारी बहुत ज्यादा बढ़ रही है इसके पीछे क्या कारण है उसमें जनसंख्या में बढ़ोतरी हुई है भारत में तेजी से जनसंख्या की वृद्धि हो रही है जिस दर पर जनसंख्या वृद्धि हो रही है सरकार द्वारा उधर से रोजगार उत्पन्न करना प्रसाद संभव नहीं हो पा रहा है जनसंख्या वृद्धि से प्रति व्यक्ति प्राकृतिक संसाधनों की कमी हो रही है जिससे कृषि जैसे पारंपरिक रोजगार में भी कमी आ रही है गुणवत्ता ही ने शिक्षा भारतीय शिक्षा डिग्री की शिक्षा है व्यवहार या कौशल भी शिक्षा नहीं जो रोजगार दे सके वर्तमान शिक्षा प्रणाली ने डिग्री धारियों की संख्या में तेजी से निकाह किया है किंतु रोजगार की व्यवहारिकता को नहीं कृषि का पिछड़ापन आज कृषि जीडीपी में महज 17% ही है किंतु आज भी साठ से सत्तर प्रतिशत लोग कृषि से जो कृषि से जुड़े हुए हैं जिसका कारण कृषि कृषि का पिछड़ापन है दूसरी और मौसमी कृषि के कारण अधिकांश समय तक किसान जब खेती नहीं होती बेरोजगार ही रहते हैं कृषि के पीछे पिछड़े जाने से औद्योगिकरण के लिए कच्चा माल का अभाव हो जाता है मशीनीकरण आश्रम अतिरेक देश होने के बावजूद भी मशीन प्रयोग पर बल दे रहा है जिससे बेरोजगारी की दर में वृद्धि हो रही है ऐसा उन देशों के लिए सहायक होता है जहां जनसंख्या कम हो परंतु यह भारत के लिए उचित नहीं है धीमी विकास दर विकास की दर उतनी नहीं है जितनी जनसंख्या वृद्धि की दर जब विकास की रफ्तार ही कम है तो अधिक रोजगार उपलब्ध कराना संभव नहीं हो पा रहा है इन कारणों के अलावा भी कई कारण है जिससे बेरोजगारी बढ़ रही है उनमें निर्धनता कुचक्र से रोजगार की कमी क्षेत्रीय असमानता आदि और कहीं भी कारण है जिनका उल्लेख करना संभव नहीं हो पाया
Sambhaalie kya aajakal berojagaaree bahut jyaada badh rahee hai isake peechhe kya kaaran hai usamen janasankhya mein badhotaree huee hai bhaarat mein tejee se janasankhya kee vrddhi ho rahee hai jis dar par janasankhya vrddhi ho rahee hai sarakaar dvaara udhar se rojagaar utpann karana prasaad sambhav nahin ho pa raha hai janasankhya vrddhi se prati vyakti praakrtik sansaadhanon kee kamee ho rahee hai jisase krshi jaise paaramparik rojagaar mein bhee kamee aa rahee hai gunavatta hee ne shiksha bhaarateey shiksha digree kee shiksha hai vyavahaar ya kaushal bhee shiksha nahin jo rojagaar de sake vartamaan shiksha pranaalee ne digree dhaariyon kee sankhya mein tejee se nikaah kiya hai kintu rojagaar kee vyavahaarikata ko nahin krshi ka pichhadaapan aaj krshi jeedeepee mein mahaj 17% hee hai kintu aaj bhee saath se sattar pratishat log krshi se jo krshi se jude hue hain jisaka kaaran krshi krshi ka pichhadaapan hai doosaree aur mausamee krshi ke kaaran adhikaansh samay tak kisaan jab khetee nahin hotee berojagaar hee rahate hain krshi ke peechhe pichhade jaane se audyogikaran ke lie kachcha maal ka abhaav ho jaata hai masheeneekaran aashram atirek desh hone ke baavajood bhee masheen prayog par bal de raha hai jisase berojagaaree kee dar mein vrddhi ho rahee hai aisa un deshon ke lie sahaayak hota hai jahaan janasankhya kam ho parantu yah bhaarat ke lie uchit nahin hai dheemee vikaas dar vikaas kee dar utanee nahin hai jitanee janasankhya vrddhi kee dar jab vikaas kee raphtaar hee kam hai to adhik rojagaar upalabdh karaana sambhav nahin ho pa raha hai in kaaranon ke alaava bhee kaee kaaran hai jisase berojagaaree badh rahee hai unamen nirdhanata kuchakr se rojagaar kee kamee kshetreey asamaanata aadi aur kaheen bhee kaaran hai jinaka ullekh karana sambhav nahin ho paaya

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • भारत में बेरोजगारी, भारत में बेरोजगारी के क्या कारण है, भारत में बेरोजगारी का कारण है
URL copied to clipboard