#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker

प्रेम बिना ज्ञान कैसा होता है?

Prem Bina Gyaan Kaisa Hota Hai
Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
0:47
प्रेम बिना ज्ञान कैसा होता है दोस्तों प्रेम बिना ज्ञान जो है वह अधूरा होता है क्योंकि जिस व्यक्ति के पास प्रेम है वही ज्ञान लेता है और जिसके पास ज्ञान है तो व्यक्ति प्रेमी हो जाता है ढाई अक्षर प्रेम के पढ़े सो पंडित होय कि जो कहावत है वह भी लागू होती है या नहीं होती पढ़ पढ़ जग मुआ पंडित भया न कोय ढाई अक्षर प्रेम के पढ़े सो पंडित होय दावत का मतलब भी बहुत है कि आप जग में चले जाइए कहीं पर भी कुछ भी पढ़ लीजिए जब तक आपने ढाई अक्षर प्रेम के नहीं पढ़े टॉपर ज्ञान में तो कुछ भी नहीं है
Prem bina gyaan kaisa hota hai doston prem bina gyaan jo hai vah adhoora hota hai kyonki jis vyakti ke paas prem hai vahee gyaan leta hai aur jisake paas gyaan hai to vyakti premee ho jaata hai dhaee akshar prem ke padhe so pandit hoy ki jo kahaavat hai vah bhee laagoo hotee hai ya nahin hotee padh padh jag mua pandit bhaya na koy dhaee akshar prem ke padhe so pandit hoy daavat ka matalab bhee bahut hai ki aap jag mein chale jaie kaheen par bhee kuchh bhee padh leejie jab tak aapane dhaee akshar prem ke nahin padhe topar gyaan mein to kuchh bhee nahin hai

और जवाब सुनें

bolkar speaker
प्रेम बिना ज्ञान कैसा होता है?Prem Bina Gyaan Kaisa Hota Hai
पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
1:13
देखिए जहां प्रेम होता है आपका स्नेह प्रेम के बिना ज्ञान कैसा हो जा प्रेम होता है वहां ज्ञान का कोई महत्व नहीं होता क्योंकि जब उठो गायक गदर लाखों ज्ञान गुण गौरव कुमार कोई को पिंकू आवाज में भागवत भड़ंग है और प्रेम अमित शाह के पद पर कहां के कहां था कि अंगने में शिथिलता सुहाई गाने रत्नाकर युवा उच्च का तू दो जो मानव सुधिया तो कोई भावना बुलाई है तुम हो तो बहुत ज्ञानी आदमी है और वह ज्ञान का उपदेश देने के लिए गए थे लेकिन उनके प्रेम पर इतने मग्न हो गए उन्होंने अपने ज्ञान का समर्पण करके वह भी प्रेम भाव के वशीभूत होकर थे वह आंसू आ गए इसलिए ज्ञान का महत्व अपने स्थान पर है लेकिन प्रेम का सर्वाधिक सर्वाधिक महत्व है जिसकी कोई तुलना नहीं की जा सकती कहते हैं कि प्रेम से प्रगट होए मर जाना हरि व्यापक सर्वत्र समाना अगर बहुत ज्यादा ज्ञानी बन कर के अगर आप ईश्वर की उपासना करते इतना फलीभूत नहीं होगी जितना आप मन से हृदय से मनसा वाचा कर्मणा से और प्रेम से आप किसी सर को प्राप्त करने के लिए आप अध्ययन करते हैं उनकी तपस्या कर
Dekhie jahaan prem hota hai aapaka sneh prem ke bina gyaan kaisa ho ja prem hota hai vahaan gyaan ka koee mahatv nahin hota kyonki jab utho gaayak gadar laakhon gyaan gun gaurav kumaar koee ko pinkoo aavaaj mein bhaagavat bhadang hai aur prem amit shaah ke pad par kahaan ke kahaan tha ki angane mein shithilata suhaee gaane ratnaakar yuva uchch ka too do jo maanav sudhiya to koee bhaavana bulaee hai tum ho to bahut gyaanee aadamee hai aur vah gyaan ka upadesh dene ke lie gae the lekin unake prem par itane magn ho gae unhonne apane gyaan ka samarpan karake vah bhee prem bhaav ke vasheebhoot hokar the vah aansoo aa gae isalie gyaan ka mahatv apane sthaan par hai lekin prem ka sarvaadhik sarvaadhik mahatv hai jisakee koee tulana nahin kee ja sakatee kahate hain ki prem se pragat hoe mar jaana hari vyaapak sarvatr samaana agar bahut jyaada gyaanee ban kar ke agar aap eeshvar kee upaasana karate itana phaleebhoot nahin hogee jitana aap man se hrday se manasa vaacha karmana se aur prem se aap kisee sar ko praapt karane ke lie aap adhyayan karate hain unakee tapasya kar

bolkar speaker
प्रेम बिना ज्ञान कैसा होता है?Prem Bina Gyaan Kaisa Hota Hai
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:43
हेलो हैप्पी बर्थडे स्वागत है आपका आपका प्रश्न है प्रेम बिना ज्ञान कैसा होता है तो फ्रेंड प्रेम बिना ज्ञान नहीं होता है क्योंकि आपको चाहे कितना भी ज्ञान हो आप कितने भी पढ़े-लिखे हो कितने भी समझदार हो अगर आपके अंदर प्रेम नहीं है तो अज्ञानी नहीं हो आप कितने भी समझदार हो अच्छे हो और आपके दिल में है मैं आपके प्रेम नहीं है करुणा नहीं है दया नहीं है तो विज्ञान बेकार है इसलिए सबसे पहले आपको प्रेम होना चाहिए आपके दिल में प्यार होना चाहिए हमदर्दी होना चाहिए उसी के लिए दया होनी चाहिए तभी आपका ज्ञान सार्थक होता है क्योंकि प्रेम सेम हर इंसान के दिल को जीत सकते हैं हर अच्छी चीज कर सकते हैं तो प्रेम होना बहुत जरूरी होता है धन्यवाद
Helo haippee barthade svaagat hai aapaka aapaka prashn hai prem bina gyaan kaisa hota hai to phrend prem bina gyaan nahin hota hai kyonki aapako chaahe kitana bhee gyaan ho aap kitane bhee padhe-likhe ho kitane bhee samajhadaar ho agar aapake andar prem nahin hai to agyaanee nahin ho aap kitane bhee samajhadaar ho achchhe ho aur aapake dil mein hai main aapake prem nahin hai karuna nahin hai daya nahin hai to vigyaan bekaar hai isalie sabase pahale aapako prem hona chaahie aapake dil mein pyaar hona chaahie hamadardee hona chaahie usee ke lie daya honee chaahie tabhee aapaka gyaan saarthak hota hai kyonki prem sem har insaan ke dil ko jeet sakate hain har achchhee cheej kar sakate hain to prem hona bahut jarooree hota hai dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • गुरु बिना ज्ञान ना होई, गुरु बिना ज्ञान मिले ना, ज्ञान कैसे प्राप्त करें
URL copied to clipboard