#भारत की राजनीति

bolkar speaker

सऊदी अरब के पास इतना पैसा है आधुनिक सेना है फिर भी इजराल से क्यों डरता है?

Saudi Arab Ke Paas Itna Paisa Hai Adhunik Sena Hai Fhir Bhi Israel Se Kyo Darta Hai
पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
0:41
सऊदी अरब पास पैसा है व्यवसाय अच्छा है पूरी दुनिया भर में तेल की सप्लाई करता है लेकिन इसराइल से इसलिए डरता है कि उसके पास आधुनिक हथियार होने के बाद भी आजकल दिल के खून वगैरह है उनमें बम फेंके कभी भी किसी से समय आग लगाई जा सकती इसलिए उन सब चीजों से बचाव के लिए जो कि उसका मुख्य धंधा भी है इसलिए आपने सारे को बचाने के लिए और किसी भी तरह की अनियमितताएं और परेशानियां न होने पावे बस में इसलिए उससे वो थोड़ा क्षमता भी डरता भी है लेकिन मुस्लिम कंट्री सब आपस में एक दूसरे से समन्वय बनाए रखते हैं लोग
Saoodee arab paas paisa hai vyavasaay achchha hai pooree duniya bhar mein tel kee saplaee karata hai lekin isarail se isalie darata hai ki usake paas aadhunik hathiyaar hone ke baad bhee aajakal dil ke khoon vagairah hai unamen bam phenke kabhee bhee kisee se samay aag lagaee ja sakatee isalie un sab cheejon se bachaav ke lie jo ki usaka mukhy dhandha bhee hai isalie aapane saare ko bachaane ke lie aur kisee bhee tarah kee aniyamitataen aur pareshaaniyaan na hone paave bas mein isalie usase vo thoda kshamata bhee darata bhee hai lekin muslim kantree sab aapas mein ek doosare se samanvay banae rakhate hain log

और जवाब सुनें

bolkar speaker
सऊदी अरब के पास इतना पैसा है आधुनिक सेना है फिर भी इजराल से क्यों डरता है?Saudi Arab Ke Paas Itna Paisa Hai Adhunik Sena Hai Fhir Bhi Israel Se Kyo Darta Hai
Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
0:34
दवा ले सऊदी अरेबिया के पास इतना पैसा आधुनिक से ना फिर भी दिल से क्यों डरता है दोस्तों इसराइल थे इसलिए डरता क्यों ना हो परंतु हर घर में एक सैनिक होता है वहां का हर एक नागरिक और यूरेनियम उत्पादन में सबसे अग्रणी गांव में अपना स्थान रखता है इस्राइल के पास तकनीकी क्षेत्र में युद्ध कर रहे क्षमता है यही कारण है कि इजराइल से सऊदी अरेबिया ही नहीं बल्कि आसपास के जितने भी कंट्री है वह सारे के सारे डरती है
Dava le saoodee arebiya ke paas itana paisa aadhunik se na phir bhee dil se kyon darata hai doston isarail the isalie darata kyon na ho parantu har ghar mein ek sainik hota hai vahaan ka har ek naagarik aur yooreniyam utpaadan mein sabase agranee gaanv mein apana sthaan rakhata hai israil ke paas takaneekee kshetr mein yuddh kar rahe kshamata hai yahee kaaran hai ki ijarail se saoodee arebiya hee nahin balki aasapaas ke jitane bhee kantree hai vah saare ke saare daratee hai

bolkar speaker
सऊदी अरब के पास इतना पैसा है आधुनिक सेना है फिर भी इजराल से क्यों डरता है?Saudi Arab Ke Paas Itna Paisa Hai Adhunik Sena Hai Fhir Bhi Israel Se Kyo Darta Hai
Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
5:50
सवाल यह है कि सऊदी अरब के पास इतना पैसा है आधुनिक सेना है फिर भी इस राज से क्यों डरता है तो मर मध्यपूर्व मामलों में मामलों के विशेषज्ञ कमरा आगा कहते हैं कि सऊदी की सेना बहुत कमजोर है उसे कोई ट्रेनिंग नहीं है कि आप के अत्याधुनिक हथियारों को चला सके वह कहते हैं किसकी एक मुख्य वजह यह भी है कि सऊदी की शाही परिवार इस बात से डर रहा है कि आर्मी मजबूत हुई तो तख्तापलट भी हो सकता है इसलिए सऊदी अपनी सुरक्षा और सेना की जरूरतों के लिए अमेरिका और पाकिस्तान पर निर्भर रहता है या मन के खिलाफ लड़ाई में सऊदी कितना खर्च कर चुका है इसकी जानकारी अब तक सार्वजनिक नहीं की गई है लेकिन पिछले 2 सालों में सऊदी के कुल विदेशी धन में 200 अरब डॉलर की गिरावट से साफ है कि उसे जमकर आर्थिक नुकसान हो रहे हैं सऊदी अरब ने यमन में मार्च 2015 में हस्तक्षेप शुरू किया था सऊदी के नेतृत्व वाले सैनिकों ने हवाई मामले छोटी संख्या में जमीन पर भी अपने सैनिकों को भेजा था अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इसी साल मार्च महीने में कहा था कि सऊदी अरब अमेरिकी हथियार का बड़ा खरीदार है पिछले साल अमेरिका ने सऊदी को हथियारों की खरीद पर 3.5 अरब डॉलर की छूट दी थी यह छूट पंद्रह अरब डॉलर की एंटी मिसाइल सिस्टम पर थी अगर सऊदी के पास अमेरिका कितने अच्छे हथियार है तो उसकी सेना कमजोर क्यों है सऊदी का शुमार दुनिया के उन देशों में हैं जो रक्षा पर मोटी रकम खर्च करता है वाशिंगटन इंस्टिट्यूट में इराक इरान और पारस की खाड़ी के सामने और रक्षा विशेषज्ञ माइकल नाइट का कहना है कि यह सच है कि ईरान सऊदी से सैन्य ताकत के मामले में आगे हैं वह कहते हैं कि राम की सेना में आपको कोई ऐसा नहीं मिलेगा जो जमीन पर कहता हूं कि से सऊदी की सेना से डर लगता है इसलिए मन में सऊदी के सैन्य हमले से भी समझा जा सकता है कई सालों से युद्ध जारी है लेकिन सऊदी को कुछ हासिल नहीं हुआ सैन्य विशेषज्ञों का मानना है कि सऊदी की सेना बहुत बड़ी है इसलिए यहां गुणवत्ता पर कमजोर कम है दूसरी समस्या यह है कि सऊदी की सेना आज भी पारंपरिक युद्ध के हिसाब से ही तैयार है और उससे 21वीं सदी के प्रति बाढ़ का सामना करना हो तो फस जाएगी स्टॉकहोम इंटरनेशनल पीस रिसर्च इंस्टीट्यूट के अनुसार सऊदी 2015 और 2016 में दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा हथियार आयातक देश था 2002 के बाद सऊदी के हथियार आयात में आज 200 फ़ीसदी की बढ़ोतरी हुई ऐसा भी नहीं है कि सऊदी कम गुणवत्ता वाले हथियार को खरीदना है सऊदी का ज्यादातर हथियार सौदा अंबिका से है यहां तक कि 2016 में अमेरिका ने अपने कुल हथियारों की बिक्री का 13 फ़ीसदी सौदा सऊदी अरब से किया सऊदी के रॉयल एंड फोर्स के पास यूरोफाइटर टाइफून भी है इसके साथ अमरीकी a50a गलती है यह सभी अत्याधुनिक लड़ाकू विमान है सऊदी का शुमार उन देशों में है जिनके पास बेहतरीन हथियार हैं इतना कुछ होने के बावजूद भी यमन में ईरान समर्थित होती विद्रोहियों पर सऊदी भारी नहीं पड़ पा रहा है कि सऊदी के खिलाफ बड़े हमले करने में कामयाब रहे हैं यहां तक की होती विद्रोहियों ने सऊदी के भीतर भी हमले किए हैं सबसे शर्मनाक तो यह है कि न्यूयॉर्क टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार होती कि एक बैलेस्टिक मिसाइल सऊदी की राजधानी रियाद के एयरपोर्ट पर गिरी थी शुरू में सऊदी ने इससे इनकार किया माइकल लाइट ने बिजनेस इंसाइडर से कहा है सऊदी ने यमन में केवल हवाई हमले का सहारा लिया है अगर उसके पास सैन्य ताकत है तो क्यों नहीं अमन की जमीन पर अपने सैनिकों को तार रहा है नाइट का कहना है कि जमीन पर लड़ने के लिए अनुभव और ट्रेनिंग की जरूरत होती है जो कि सऊदी की सेना के पास नहीं है वह कहते हैं कि सऊदी की सेना के पास आता धरणाची ऑपरेशन का बिल्कुल अनुभव नहीं है इसे इराक के उदाहरण से भी समझ सकते हैं इराक में सद्दाम हुसैन के खिलाफ जब अमरीका ने हमला किया तो उसने कोशिश की थी कि सऊदी की सेना भी साथ दें लेकिन ऐसा नहीं हो पाया सऊदी ने इस युद्ध में कोई योगदान नहीं दिया सऊदी अरब की थल सेना के बारे में कहा जाता है कि वह प्रशिक्षित नहीं है और ऐसे में यमन की जमीन पर जा कर लेना उसके लिए आसान नहीं मेडलिस्ट इंस्टिट्यूट में डिफरेंस एंड सिक्योरिटी प्रोग्राम के निदेशक बिलाल साहब कहते हैं तो दिमाग को समझता है कि यमन में 20 विद्रोहियों से जमीन पर जा कर लेना आसान नहीं है अगर सऊदी ऐसा करता है तो थे ना भरपाई होने वाला नुकसान उठाना पड़ेगा कई सैन्य विशेषज्ञों का कहना है कि सऊदी को अपनी सेना का आकार छोटा करना चाहिए इंसान ने विशेषज्ञों में नाइट में शामिल है लाइट का कहना है कि सऊदी को सेना में गुणवत्तापूर्ण बहाली और प्रशिक्षण पर ध्यान देने की जरूरत है ऐसी यूनिट बनानी चाहिए जो पड़ोसी देशों के साथ युद्ध अभ्यास करें यदि स्थिति की स्थिति को देखकर कहा जा रहा है कि मध्य पूर्व में ईरान का प्रभाव बढ़ रहा है सऊदी लंबे समय से हथियार बेचने वालों को पसंदीदा दे रहा है इस मामले में वह अमीर अमेरिका का दुलारा है राष्ट्रपति ट्रंप ने 110 साल अरब $1 की सैन्य समझौते की घोषणा की थी 32 साल के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान कहते हैं चाहते हैं कि वह अपने ही देश में हथियार बनवाएं वह चाहते हैं कि 2030 तक सऊदी अपने ही घर में जरूरतों के समान कम से कम आधा दिया तो बनाएगा अगर ऐसा होता है तो आने वाले समय में पता चल जाएगा कि सऊदी अरब से अन्य दृष्टिकोण से कितना मजबूत और प्रभावी हो पाता है और यमन में कोई निर्णायक भूमिका भूमिका निभा पाता है
Savaal yah hai ki saoodee arab ke paas itana paisa hai aadhunik sena hai phir bhee is raaj se kyon darata hai to mar madhyapoorv maamalon mein maamalon ke visheshagy kamara aaga kahate hain ki saoodee kee sena bahut kamajor hai use koee trening nahin hai ki aap ke atyaadhunik hathiyaaron ko chala sake vah kahate hain kisakee ek mukhy vajah yah bhee hai ki saoodee kee shaahee parivaar is baat se dar raha hai ki aarmee majaboot huee to takhtaapalat bhee ho sakata hai isalie saoodee apanee suraksha aur sena kee jarooraton ke lie amerika aur paakistaan par nirbhar rahata hai ya man ke khilaaph ladaee mein saoodee kitana kharch kar chuka hai isakee jaanakaaree ab tak saarvajanik nahin kee gaee hai lekin pichhale 2 saalon mein saoodee ke kul videshee dhan mein 200 arab dolar kee giraavat se saaph hai ki use jamakar aarthik nukasaan ho rahe hain saoodee arab ne yaman mein maarch 2015 mein hastakshep shuroo kiya tha saoodee ke netrtv vaale sainikon ne havaee maamale chhotee sankhya mein jameen par bhee apane sainikon ko bheja tha amerikee raashtrapati donaald tramp ne isee saal maarch maheene mein kaha tha ki saoodee arab amerikee hathiyaar ka bada khareedaar hai pichhale saal amerika ne saoodee ko hathiyaaron kee khareed par 3.5 arab dolar kee chhoot dee thee yah chhoot pandrah arab dolar kee entee misail sistam par thee agar saoodee ke paas amerika kitane achchhe hathiyaar hai to usakee sena kamajor kyon hai saoodee ka shumaar duniya ke un deshon mein hain jo raksha par motee rakam kharch karata hai vaashingatan instityoot mein iraak iraan aur paaras kee khaadee ke saamane aur raksha visheshagy maikal nait ka kahana hai ki yah sach hai ki eeraan saoodee se sainy taakat ke maamale mein aage hain vah kahate hain ki raam kee sena mein aapako koee aisa nahin milega jo jameen par kahata hoon ki se saoodee kee sena se dar lagata hai isalie man mein saoodee ke sainy hamale se bhee samajha ja sakata hai kaee saalon se yuddh jaaree hai lekin saoodee ko kuchh haasil nahin hua sainy visheshagyon ka maanana hai ki saoodee kee sena bahut badee hai isalie yahaan gunavatta par kamajor kam hai doosaree samasya yah hai ki saoodee kee sena aaj bhee paaramparik yuddh ke hisaab se hee taiyaar hai aur usase 21veen sadee ke prati baadh ka saamana karana ho to phas jaegee stokahom intaraneshanal pees risarch insteetyoot ke anusaar saoodee 2015 aur 2016 mein duniya ka doosara sabase bada hathiyaar aayaatak desh tha 2002 ke baad saoodee ke hathiyaar aayaat mein aaj 200 feesadee kee badhotaree huee aisa bhee nahin hai ki saoodee kam gunavatta vaale hathiyaar ko khareedana hai saoodee ka jyaadaatar hathiyaar sauda ambika se hai yahaan tak ki 2016 mein amerika ne apane kul hathiyaaron kee bikree ka 13 feesadee sauda saoodee arab se kiya saoodee ke royal end phors ke paas yoorophaitar taiphoon bhee hai isake saath amareekee a50a galatee hai yah sabhee atyaadhunik ladaakoo vimaan hai saoodee ka shumaar un deshon mein hai jinake paas behatareen hathiyaar hain itana kuchh hone ke baavajood bhee yaman mein eeraan samarthit hotee vidrohiyon par saoodee bhaaree nahin pad pa raha hai ki saoodee ke khilaaph bade hamale karane mein kaamayaab rahe hain yahaan tak kee hotee vidrohiyon ne saoodee ke bheetar bhee hamale kie hain sabase sharmanaak to yah hai ki nyooyork taims kee ek riport ke anusaar hotee ki ek bailestik misail saoodee kee raajadhaanee riyaad ke eyaraport par giree thee shuroo mein saoodee ne isase inakaar kiya maikal lait ne bijanes insaidar se kaha hai saoodee ne yaman mein keval havaee hamale ka sahaara liya hai agar usake paas sainy taakat hai to kyon nahin aman kee jameen par apane sainikon ko taar raha hai nait ka kahana hai ki jameen par ladane ke lie anubhav aur trening kee jaroorat hotee hai jo ki saoodee kee sena ke paas nahin hai vah kahate hain ki saoodee kee sena ke paas aata dharanaachee opareshan ka bilkul anubhav nahin hai ise iraak ke udaaharan se bhee samajh sakate hain iraak mein saddaam husain ke khilaaph jab amareeka ne hamala kiya to usane koshish kee thee ki saoodee kee sena bhee saath den lekin aisa nahin ho paaya saoodee ne is yuddh mein koee yogadaan nahin diya saoodee arab kee thal sena ke baare mein kaha jaata hai ki vah prashikshit nahin hai aur aise mein yaman kee jameen par ja kar lena usake lie aasaan nahin medalist instityoot mein dipharens end sikyoritee prograam ke nideshak bilaal saahab kahate hain to dimaag ko samajhata hai ki yaman mein 20 vidrohiyon se jameen par ja kar lena aasaan nahin hai agar saoodee aisa karata hai to the na bharapaee hone vaala nukasaan uthaana padega kaee sainy visheshagyon ka kahana hai ki saoodee ko apanee sena ka aakaar chhota karana chaahie insaan ne visheshagyon mein nait mein shaamil hai lait ka kahana hai ki saoodee ko sena mein gunavattaapoorn bahaalee aur prashikshan par dhyaan dene kee jaroorat hai aisee yoonit banaanee chaahie jo padosee deshon ke saath yuddh abhyaas karen yadi sthiti kee sthiti ko dekhakar kaha ja raha hai ki madhy poorv mein eeraan ka prabhaav badh raha hai saoodee lambe samay se hathiyaar bechane vaalon ko pasandeeda de raha hai is maamale mein vah ameer amerika ka dulaara hai raashtrapati tramp ne 110 saal arab $1 kee sainy samajhaute kee ghoshana kee thee 32 saal ke kraun prins mohammad bin salamaan kahate hain chaahate hain ki vah apane hee desh mein hathiyaar banavaen vah chaahate hain ki 2030 tak saoodee apane hee ghar mein jarooraton ke samaan kam se kam aadha diya to banaega agar aisa hota hai to aane vaale samay mein pata chal jaega ki saoodee arab se any drshtikon se kitana majaboot aur prabhaavee ho paata hai aur yaman mein koee nirnaayak bhoomika bhoomika nibha paata hai

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • सऊदी अरब की क्या खास बात है ?.. सऊदी अरब भारत से कितना महंगा होता है ?
URL copied to clipboard