#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker

भारत खुद का ट्विटर या व्हाट्सएप क्यों नहीं बनाता है?

Bharat Khudh Ka Twitter Ya Whatsapp Kyo Nahi Bnata Hai
Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
0:42
आपका खुद का ट्विटर व्हाट्सएप्प पर क्यों नहीं बनाते हैं दोस्तों आप ही चाहेंगे प्ले स्टोर के ऊपर तो आपको काफी सारी चीजें देखने को मिल जाएंगे जो कि अपने ट्विटर व्हाट्सएप की तरह परंतु हम जानकारी में नहीं है बस इतना है और यदि बात करती हो व्हाट्सएप पर आप इतनी को जानना होगा कि भारत के अंदर हर एक व्यक्ति जो है व्हाट्सएप यूज करती है तो हर कोई यूज़ नहीं करता है वह भारतीय विश्लेषण करता क्योंकि उनके पास इस चीज को लेकर के कोई जानकारी नहीं है
Aapaka khud ka tvitar vhaatsepp par kyon nahin banaate hain doston aap hee chaahenge ple stor ke oopar to aapako kaaphee saaree cheejen dekhane ko mil jaenge jo ki apane tvitar vhaatsep kee tarah parantu ham jaanakaaree mein nahin hai bas itana hai aur yadi baat karatee ho vhaatsep par aap itanee ko jaanana hoga ki bhaarat ke andar har ek vyakti jo hai vhaatsep yooj karatee hai to har koee yooz nahin karata hai vah bhaarateey vishleshan karata kyonki unake paas is cheej ko lekar ke koee jaanakaaree nahin hai

और जवाब सुनें

bolkar speaker
भारत खुद का ट्विटर या व्हाट्सएप क्यों नहीं बनाता है?Bharat Khudh Ka Twitter Ya Whatsapp Kyo Nahi Bnata Hai
Shipra Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Shipra जी का जवाब
Self Employed
0:26
पहले के भारत का ट्विटर या व्हाट्सएप पर जो नहीं बनाता है तो देखे वह भारत में चाहे जो नई लांच हो चुकी है आप किसको को के नाम से जाना जाता है और वह अपने रीजन मांगों जिसमें है बहुत ज्यादा पॉपुलर भी हो रही है यह भतीजी से ग्रुप कर रही है बहुत सारे लोग इस पर आ रहे हैं मैं खुद पर्सनली को पर काफी टाइम से एक्टिव हो मेरा हैंडसेट फ्रांसिस्को रंजन अगर आता है तो वहां जाकर के बिल्कुल से चेकआउट कर सकते हैं आपका दिन शुभ रहे धन्यवाद
Pahale ke bhaarat ka tvitar ya vhaatsep par jo nahin banaata hai to dekhe vah bhaarat mein chaahe jo naee laanch ho chukee hai aap kisako ko ke naam se jaana jaata hai aur vah apane reejan maangon jisamen hai bahut jyaada popular bhee ho rahee hai yah bhateejee se grup kar rahee hai bahut saare log is par aa rahe hain main khud parsanalee ko par kaaphee taim se ektiv ho mera haindaset phraansisko ranjan agar aata hai to vahaan jaakar ke bilkul se chekaut kar sakate hain aapaka din shubh rahe dhanyavaad

bolkar speaker
भारत खुद का ट्विटर या व्हाट्सएप क्यों नहीं बनाता है?Bharat Khudh Ka Twitter Ya Whatsapp Kyo Nahi Bnata Hai
lyadav Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए lyadav जी का जवाब
Unknown
1:36
भारत खुद का ट्विटर और व्हाट्सएप बना भी ले तो उसमें कई दिक्कतें हैं सोशल प्लेटफॉर्म लचीला होने के कारण हमेशा बदलता रहता है इसमें इनोवेशन करते रहना पड़ता है यह एक लंबे खेल की तरह है आप ट्विटर और व्हाट्सएप बना ले तो भी आपकी प्राइवेसी की कोई गारंटी नहीं उल्टा दूसरे देश आपको दुश्मन की नजर से देखेंगे सबसे ज्यादा जरूरी तो हमें एंड्रॉयड और आईओएस की तरह और ऑपरेटिंग सिस्टम बनाने की है एक बार हम ऑपरेटिंग सिस्टम बना ले तो यूं समझ लीजिए जमीन हमारे पास है अब हम उस पर बिजनेस करें या खेती हालांकि ऑपरेटिंग सिस्टम बनाना इतना आसान नहीं है इसके लिए फंडिंग भी बहुत ज्यादा लगती है जब आप एक बार प्लेटफार्म बना लेंगे तब वह खुद-ब-खुद इसमें इनोवे ऐड करते जाएंगे और यह आगे बढ़ता जाएगा इस तरह हम कह सकते हैं कि व्हाट्सएप और टि्वटर बनाना कोई पुणे समाधान नहीं है ना ही कोई सुरक्षा की गारंटी सबसे ज्यादा जरूरी हमें बेस बनाने की है एंड्रॉयड और आईओएस की तरह इसमें कई तरह की लहर और ऑप्शंस बनाकर हम पूर्णता कंट्रोल अपने हाथ में ले सकते हैं एक बार आपके पास ऑपरेटिंग सिस्टम होगा तब आपके लिए व्हाट्सएप पर ट्विटर जैसी कहीं एप्लीकेशन बनाना बहुत ही आसान हो जाएगा वरना आप दूसरे के प्लेटफार्म के लिए एप्लीकेशन ही बनाते रह जाएंगे
Bhaarat khud ka tvitar aur vhaatsep bana bhee le to usamen kaee dikkaten hain soshal pletaphorm lacheela hone ke kaaran hamesha badalata rahata hai isamen inoveshan karate rahana padata hai yah ek lambe khel kee tarah hai aap tvitar aur vhaatsep bana le to bhee aapakee praivesee kee koee gaarantee nahin ulta doosare desh aapako dushman kee najar se dekhenge sabase jyaada jarooree to hamen endroyad aur aaeeoes kee tarah aur opareting sistam banaane kee hai ek baar ham opareting sistam bana le to yoon samajh leejie jameen hamaare paas hai ab ham us par bijanes karen ya khetee haalaanki opareting sistam banaana itana aasaan nahin hai isake lie phanding bhee bahut jyaada lagatee hai jab aap ek baar pletaphaarm bana lenge tab vah khud-ba-khud isamen inove aid karate jaenge aur yah aage badhata jaega is tarah ham kah sakate hain ki vhaatsep aur tivatar banaana koee pune samaadhaan nahin hai na hee koee suraksha kee gaarantee sabase jyaada jarooree hamen bes banaane kee hai endroyad aur aaeeoes kee tarah isamen kaee tarah kee lahar aur opshans banaakar ham poornata kantrol apane haath mein le sakate hain ek baar aapake paas opareting sistam hoga tab aapake lie vhaatsep par tvitar jaisee kaheen epleekeshan banaana bahut hee aasaan ho jaega varana aap doosare ke pletaphaarm ke lie epleekeshan hee banaate rah jaenge

bolkar speaker
भारत खुद का ट्विटर या व्हाट्सएप क्यों नहीं बनाता है?Bharat Khudh Ka Twitter Ya Whatsapp Kyo Nahi Bnata Hai
पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
0:36
भारत के ट्विटर व्हाट्सएप क्यों नहीं बनाता है भारत में भी एक टि्वटर की तरह का एक सॉफ्टवेयर डेवलप किया गया है जो काफी प्रचलित हो रहा है चल रहा है किसको कहते हैं और व्हाट्सएप वाला भी कार्यक्रम चल रहा है कि भारत का अपना जो व्हाट्सएप हो जाएगा तो सर भारत का कमांड रहेगा सरकार का सामान रहेगा अभी यह व्हाट्सएप पर जितने फेसबुक हैं कि जब अमेरिका के संचालन में है इसलिए इसमें थोड़ा सा दिक्कत रहती हैं और क्रू तो चालू हो गया है उसको रुकवाया काफी प्रचार प्रसार जा रहा है और बिल्कुल ट्विटर की तरह ही काम करता है
Bhaarat ke tvitar vhaatsep kyon nahin banaata hai bhaarat mein bhee ek tivatar kee tarah ka ek sophtaveyar devalap kiya gaya hai jo kaaphee prachalit ho raha hai chal raha hai kisako kahate hain aur vhaatsep vaala bhee kaaryakram chal raha hai ki bhaarat ka apana jo vhaatsep ho jaega to sar bhaarat ka kamaand rahega sarakaar ka saamaan rahega abhee yah vhaatsep par jitane phesabuk hain ki jab amerika ke sanchaalan mein hai isalie isamen thoda sa dikkat rahatee hain aur kroo to chaaloo ho gaya hai usako rukavaaya kaaphee prachaar prasaar ja raha hai aur bilkul tvitar kee tarah hee kaam karata hai

bolkar speaker
भारत खुद का ट्विटर या व्हाट्सएप क्यों नहीं बनाता है?Bharat Khudh Ka Twitter Ya Whatsapp Kyo Nahi Bnata Hai
ekta Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ekta जी का जवाब
Unknown
1:18
अच्छा गया है भारत खुद का ट्विटर या व्हाट्सएप क्यों नहीं बताता है तो देखिए ऐसा बिल्कुल नहीं है भारत के पास व्हाट्सएप का बहुत अच्छा सब्सीट्यूट है जिसे हम टेलीग्राम कहते हैं जो व्हाट्सएप से काफी हद तक बेहतर है लेकिन हम मिनियंस जो हैं हम किसी भी चीज से एक बार हमारा लगा हो जाता तो उसको छोड़ना मेरे लिए काफी मुश्किल होता है इसलिए व्हाट्सएप का चलाना भी इंडिया से इतनी जल्दी जाना काफी मुश्किल है लेकिन काफी हद तक लोग टेलीग्राम पर शिफ्ट हो चुके हैं और व्हाट्सएप को काफी हद तक लोगों ने अवैध करना शुरू कर दिया है और एक समय ऐसा आएगा कि हम टेलीग्राम आप पूरी तरह से यूज करने लगेंगे क्योंकि टेलीग्राम के फीचर्स व्हाट्सएप से काफी ज्यादा बेहतर है और उसके अलावा गन बात कर रहे हैं ट्विटर की तो आपको पता होना चाहिए कि ट्विटर का भी सब्सीट्यूट इंडिया में बनाया गया जिसे ऐप के नाम से जाना जाता है वह बिल्कुल टि्वटर जैसा है और ट्विटर का इंडियन वर्जन आप इसको कह सकते हैं तो हमारे पास सर्विस सेक्टर बोल दिया पर टेक्नो सीआईडी वाला फील्ड है इसमें इंडिया तो किसी से पीछे नहीं है हमारे जो भी डेवलपमेंट से आईटीओ सर्विस सेक्टर में वह बेहतरीन है मैंने फैक्चरिंग में हम भले ही थोड़ा पीछे रह जाते हैं पर इन चीजों में हम सबसे अच्छा कर रहे हैं उम्मीद करती हूं आपको मेरा जवाब पसंद आया होगा धन्यवाद
Achchha gaya hai bhaarat khud ka tvitar ya vhaatsep kyon nahin bataata hai to dekhie aisa bilkul nahin hai bhaarat ke paas vhaatsep ka bahut achchha sabseetyoot hai jise ham teleegraam kahate hain jo vhaatsep se kaaphee had tak behatar hai lekin ham miniyans jo hain ham kisee bhee cheej se ek baar hamaara laga ho jaata to usako chhodana mere lie kaaphee mushkil hota hai isalie vhaatsep ka chalaana bhee indiya se itanee jaldee jaana kaaphee mushkil hai lekin kaaphee had tak log teleegraam par shipht ho chuke hain aur vhaatsep ko kaaphee had tak logon ne avaidh karana shuroo kar diya hai aur ek samay aisa aaega ki ham teleegraam aap pooree tarah se yooj karane lagenge kyonki teleegraam ke pheechars vhaatsep se kaaphee jyaada behatar hai aur usake alaava gan baat kar rahe hain tvitar kee to aapako pata hona chaahie ki tvitar ka bhee sabseetyoot indiya mein banaaya gaya jise aip ke naam se jaana jaata hai vah bilkul tivatar jaisa hai aur tvitar ka indiyan varjan aap isako kah sakate hain to hamaare paas sarvis sektar bol diya par tekno seeaeedee vaala pheeld hai isamen indiya to kisee se peechhe nahin hai hamaare jo bhee devalapament se aaeeteeo sarvis sektar mein vah behatareen hai mainne phaikcharing mein ham bhale hee thoda peechhe rah jaate hain par in cheejon mein ham sabase achchha kar rahe hain ummeed karatee hoon aapako mera javaab pasand aaya hoga dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • भारत बंद का असर.. भारत आत्मनिर्भर कैसे बनेगा
URL copied to clipboard