#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker

आप एक टिपिकल भरतीय पिता की व्याख्या कैसे करेंगे?

Aap Ek Tipikal Bharatiye Pita Ki Vekheya Kese Karenge
Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
0:54
आप एक टिपिकल भारतीय पिताजी व्याख्या कैसे करें दोस्तों को हमेशा स्वस्थ रहें यही नहीं बल्कि पूरे विश्व के अंदर आप कहीं पर भी देख ले उसके बाद उसको पैरों पर खड़े होते हुए के पिता देखता है एक पिता होता है अपने बच्चों के लिए सारी सुविधा है जो उसके बच्चों को लेने भारतीय उसका स्थान जो ईश्वर भी नहीं सकता
Aap ek tipikal bhaarateey pitaajee vyaakhya kaise karen doston ko hamesha svasth rahen yahee nahin balki poore vishv ke andar aap kaheen par bhee dekh le usake baad usako pairon par khade hote hue ke pita dekhata hai ek pita hota hai apane bachchon ke lie saaree suvidha hai jo usake bachchon ko lene bhaarateey usaka sthaan jo eeshvar bhee nahin sakata

और जवाब सुनें

bolkar speaker
आप एक टिपिकल भरतीय पिता की व्याख्या कैसे करेंगे?Aap Ek Tipikal Bharatiye Pita Ki Vekheya Kese Karenge
पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
1:04
भारतीय पिता कभी टिपिकल नहीं होते हैं कोई भी मां बाप अपने बेटे का अहित नहीं चाहता तो आफ टिपिकल सब आप स्वतंत्रता चाहते हैं बाप कंट्रोल चाहता है कि जब तक बेटा अपने पैरों पर खड़ा हो जाए समाज की कोई गंदी हवा उसके ऊपर न लगने पाए वह दारू ना पिए वह ब्राउन शुगर कहीं चक्कर में ना पड़ जाए कहीं औरतों के चक्कर में ना पड़ जाए उसका जीवन बर्बाद हो जाए यह मात्र मां-बाप की जिम्मेदारी होती है और हर पिता यही चाहता है कि उसका बेटा जितना वह है जिसने उसके सांभर तो सम्मान समाज में है उसे कह 10 गुना बड़ा करके दे क्योंकि पैसा जो है वही संसार में सब कुछ नहीं होता मान सम्मान भी होता है ज्ञान भी होता है परिवार की परंपराएं भी होते हैं इन सारी सारी परंपराओं को मान सम्मान को और पारिवारिक प्रतिष्ठा को इन को आगे बढ़ाने वाला ही अच्छा पुत्र माना जाता है और भारतीय माता-पिता जो है इस को सुरक्षित रखने के लिए हर संभव प्रयास करते हो टिपिकल नहीं होते गूगल आपको लगता है कि जो आपको मना करते हो और आपको बुरा लगता है
Bhaarateey pita kabhee tipikal nahin hote hain koee bhee maan baap apane bete ka ahit nahin chaahata to aaph tipikal sab aap svatantrata chaahate hain baap kantrol chaahata hai ki jab tak beta apane pairon par khada ho jae samaaj kee koee gandee hava usake oopar na lagane pae vah daaroo na pie vah braun shugar kaheen chakkar mein na pad jae kaheen auraton ke chakkar mein na pad jae usaka jeevan barbaad ho jae yah maatr maan-baap kee jimmedaaree hotee hai aur har pita yahee chaahata hai ki usaka beta jitana vah hai jisane usake saambhar to sammaan samaaj mein hai use kah 10 guna bada karake de kyonki paisa jo hai vahee sansaar mein sab kuchh nahin hota maan sammaan bhee hota hai gyaan bhee hota hai parivaar kee paramparaen bhee hote hain in saaree saaree paramparaon ko maan sammaan ko aur paarivaarik pratishtha ko in ko aage badhaane vaala hee achchha putr maana jaata hai aur bhaarateey maata-pita jo hai is ko surakshit rakhane ke lie har sambhav prayaas karate ho tipikal nahin hote googal aapako lagata hai ki jo aapako mana karate ho aur aapako bura lagata hai

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • आप एक शिक्षक है... आप एक सच्चे देश भक्त को कैसे जानेगे ?
URL copied to clipboard