#undefined

Amit Singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Amit जी का जवाब
Student 🇮🇳🇮🇳🇮🇳 mission Indian Army🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳
1:22
परकासमाली किसान आंदोलन 72 वें गणतंत्र दिवस के दिन इतना आक्रमक क्यों हो गया क्या किसानों के नाम पर सर दर्द हो रहा है देखिए तो बिल्कुल सही बात नहीं की जा सकती है क्योंकि पूरा देश देख रहा था उस दिन की जो भतरो गणतंत्र दिवस पर जो सनी लियोन ट्रैक्टर ब्रेड निकाली यानी कि लाल किले पर अपना जो तिरंगा था तिरंगे को हटाकर अपना झंडा लगाया तुमने उस दिन तक नहीं था क्योंकि वह लोग मांग कर रहे थे अपने मतलब अधिकारों की और उन्हें मतलब मत करो कि जो मन करे तो ने उनके अधिकार नहीं मिले थे उन्होंने सोचा कि सरकार को सुनना इसी तरह से धमकाया जाए कि अभी तो हम ने सही किया कि वह भविष्य में अगर हमारे अधिकार ना मिले तो हमसे भी खतरनाक काम कर सकता हूं तो हो सकता हूं मैं सरकार को संदेश कि अगर हमारे आप अधिकार नहीं दे रहे तो मैसेज से काम करते रहेंगे तो इसीलिए उन्होंने मना जो लाल किले पर अपना झंडा लगाया था था ना 24 जनवरी को अपनी परेड हनी ट्रैक्टर परेड निकाली थी तो उम्मीद करता हूं सवाल का जवाब अच्छा लगा होगा धन्यवाद
Parakaasamaalee kisaan aandolan 72 ven ganatantr divas ke din itana aakramak kyon ho gaya kya kisaanon ke naam par sar dard ho raha hai dekhie to bilkul sahee baat nahin kee ja sakatee hai kyonki poora desh dekh raha tha us din kee jo bhataro ganatantr divas par jo sanee liyon traiktar bred nikaalee yaanee ki laal kile par apana jo tiranga tha tirange ko hataakar apana jhanda lagaaya tumane us din tak nahin tha kyonki vah log maang kar rahe the apane matalab adhikaaron kee aur unhen matalab mat karo ki jo man kare to ne unake adhikaar nahin mile the unhonne socha ki sarakaar ko sunana isee tarah se dhamakaaya jae ki abhee to ham ne sahee kiya ki vah bhavishy mein agar hamaare adhikaar na mile to hamase bhee khataranaak kaam kar sakata hoon to ho sakata hoon main sarakaar ko sandesh ki agar hamaare aap adhikaar nahin de rahe to maisej se kaam karate rahenge to iseelie unhonne mana jo laal kile par apana jhanda lagaaya tha tha na 24 janavaree ko apanee pared hanee traiktar pared nikaalee thee to ummeed karata hoon savaal ka javaab achchha laga hoga dhanyavaad

और जवाब सुनें

Nikhil Ranjan Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Programme Coordinator at National Institute of Electronics & Information Technology (NIELIT)
0:45
र क प्रश्नों किसान आंदोलन भारत में गणतंत्र दिवस के लिए इतना आक्रमण क्यों हो गया क्या किसानों के नाम पर स्टूडेंट हो रहा है तो आपको बता दें देखिए जाए किसानों के कारण हुआ नहीं हुआ लेकिन उस दिन देश की जो छवि धूमिल हुई है और इस बात से कोई भी इनकार नहीं कर सकता है अब उसके पीछे एजेंडा क्या था किसका था क्या नहीं था वो सारी बातें सेकेंडरी हैं सबसे पहली चीज की देश को गौरवान्वित हर एक व्यक्ति को रखना चाहिए हर एक नागरिक की जिम्मेदारी होनी चाहिए और अगर आप देश की गरिमा के साथ खिलवाड़ करेंगे तो फिर यहां पर उसके परिणाम भी भुगतने के लिए प्रत्येक व्यक्ति को तैयार रहना चाहिए मैं शुभकामनाएं आपके साथ हैं धन्यवाद
Ra ka prashnon kisaan aandolan bhaarat mein ganatantr divas ke lie itana aakraman kyon ho gaya kya kisaanon ke naam par stoodent ho raha hai to aapako bata den dekhie jae kisaanon ke kaaran hua nahin hua lekin us din desh kee jo chhavi dhoomil huee hai aur is baat se koee bhee inakaar nahin kar sakata hai ab usake peechhe ejenda kya tha kisaka tha kya nahin tha vo saaree baaten sekendaree hain sabase pahalee cheej kee desh ko gauravaanvit har ek vyakti ko rakhana chaahie har ek naagarik kee jimmedaaree honee chaahie aur agar aap desh kee garima ke saath khilavaad karenge to phir yahaan par usake parinaam bhee bhugatane ke lie pratyek vyakti ko taiyaar rahana chaahie main shubhakaamanaen aapake saath hain dhanyavaad

Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
2:02
किसान आंदोलन बेहतर गणतंत्र दिवस के दिन इतना कम क्यों हो गया क्या किसानों के नाम पर संयंत्र हो रहा है दोस्तों के चारों के नाम पर कोई षड्यंत्र तो नहीं हो रहा है परंतु हां इतना जरूर मिलना लागू करने की वजह से गवर्नमेंट के द्वारा कोई षड्यंत्र जो किसानों के लिए तरीके से विरोध कर रहे हैं बहुत चीजों के सामने दो इसका समर्थन भी कर रहे हैं उत्तर प्रदेश पंजाब हरियाणा के जो किसानों को बड़ी तादाद में आंदोलन कर रहे हैं और गणतंत्र दिवस के दौरान उन्होंने लाल किले के ऊपर अपने के साथ झंडे लगाए हैं यह जो लगाने का मेन उद्देश्य है जिसका जो बात है यह पूरे भारत के अंदर है और वैश्विक मुद्दा है क्योंकि रिहाना जैसी जो फिल्म इंडस्ट्री की कुछ कलाकार है पोर्नस्टार मियां खलीफा है सचिन तेंदुलकर है यह कोई भी विदेशी जो है कमला हैरिस तक जो कि उपराष्ट्रपति अमेरिका की ट्वीट किया है और इस चीज को पूरे वैश्विक मुद्दा बना दिया गया किसानों को दोबारा किसानों का जो यह आक्रमण होना है हो सकता है जिसमें कुछ शरारती तत्वों की वजह से कुछ भी किया जा सकता है यह तो गलत है परंतु आंदोलन करना हर एक व्यक्ति का अधिकार है वह ऐसा कर सकता है परंतु आंदोलन किसान जो अपने हक की मांग जो है वह रख रहे हैं गवर्नमेंट्स को मानते हैं या नहीं मानते गवर्नमेंट निर्भर करता है परंतु इस बिल को वापस ले लिया जाता है इसका मतलब यह कि गवर्नमेंट जॉब तानाशाही सरकार किसी भी देश में नहीं होनी चाहिए धन्यवाद जय जवान जय किसान
Kisaan aandolan behatar ganatantr divas ke din itana kam kyon ho gaya kya kisaanon ke naam par sanyantr ho raha hai doston ke chaaron ke naam par koee shadyantr to nahin ho raha hai parantu haan itana jaroor milana laagoo karane kee vajah se gavarnament ke dvaara koee shadyantr jo kisaanon ke lie tareeke se virodh kar rahe hain bahut cheejon ke saamane do isaka samarthan bhee kar rahe hain uttar pradesh panjaab hariyaana ke jo kisaanon ko badee taadaad mein aandolan kar rahe hain aur ganatantr divas ke dauraan unhonne laal kile ke oopar apane ke saath jhande lagae hain yah jo lagaane ka men uddeshy hai jisaka jo baat hai yah poore bhaarat ke andar hai aur vaishvik mudda hai kyonki rihaana jaisee jo philm indastree kee kuchh kalaakaar hai pornastaar miyaan khaleepha hai sachin tendulakar hai yah koee bhee videshee jo hai kamala hairis tak jo ki uparaashtrapati amerika kee tveet kiya hai aur is cheej ko poore vaishvik mudda bana diya gaya kisaanon ko dobaara kisaanon ka jo yah aakraman hona hai ho sakata hai jisamen kuchh sharaaratee tatvon kee vajah se kuchh bhee kiya ja sakata hai yah to galat hai parantu aandolan karana har ek vyakti ka adhikaar hai vah aisa kar sakata hai parantu aandolan kisaan jo apane hak kee maang jo hai vah rakh rahe hain gavarnaments ko maanate hain ya nahin maanate gavarnament nirbhar karata hai parantu is bil ko vaapas le liya jaata hai isaka matalab yah ki gavarnament job taanaashaahee sarakaar kisee bhee desh mein nahin honee chaahie dhanyavaad jay javaan jay kisaan

Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:45
हेलो दोस्तों स्वागत है आपका आपका प्रश्न है किसान आंदोलन 72 वें गणतंत्र दिवस के लिए इतना आक्रमक क्यों हो गया था क्या किसानों के नाम पर सुनील सो रहा है तो फ्रेंड से किसानों ने गणतंत्र दिवस के दिन ट्रैक्टर रैलियां निकाली हुई थी आंदोलन किया था तो उस बीच में बहुत सारी उम्र मंत्री जी भी उस में घुस गए और उन्हें उपद्रवी ने लाल किले पर झंडा फहराया सिक्कों का झंडा पंजाबियों का और झंडे का अपमान किया पुलिस के साथ अभद्रता की मारपीट की तो उसमें किसान नहीं थी वह बहुत सारे उसमें गुंडे मवाली यह सब घुस गए थे और उन्होंने किसान लोगों को परेशान किया पुलिस को परेशान किया तो किसान इस तरह से नहीं कर सकते हैं यह सब उपद्रवियों का काम होता है धन्यवाद
Helo doston svaagat hai aapaka aapaka prashn hai kisaan aandolan 72 ven ganatantr divas ke lie itana aakramak kyon ho gaya tha kya kisaanon ke naam par suneel so raha hai to phrend se kisaanon ne ganatantr divas ke din traiktar railiyaan nikaalee huee thee aandolan kiya tha to us beech mein bahut saaree umr mantree jee bhee us mein ghus gae aur unhen upadravee ne laal kile par jhanda phaharaaya sikkon ka jhanda panjaabiyon ka aur jhande ka apamaan kiya pulis ke saath abhadrata kee maarapeet kee to usamen kisaan nahin thee vah bahut saare usamen gunde mavaalee yah sab ghus gae the aur unhonne kisaan logon ko pareshaan kiya pulis ko pareshaan kiya to kisaan is tarah se nahin kar sakate hain yah sab upadraviyon ka kaam hota hai dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • 72वे गणतंत्र, 72वे गणतंत्र दिवस, किसान आंदोलन 72वे गणतंत्र दिवस
URL copied to clipboard