#धर्म और ज्योतिषी

Siya Ram Dubey Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Siya जी का जवाब
Youtuber, life coach, spiritual thinker, motivational speaker, social media influencer
1:51
नमस्कार आपका प्रश्न है कि हर बुरा और गलत करने वाला इंसान हमेशा भगवत गीता के कर्म का ज्ञान ही क्यों देने लग जाता है जबकि भागवत गीता को तो लगभग सभी लोग बड़े होते हैं कि ऐसा कुछ भी नहीं है कि जो सभी लोग इंसान जो है भगवत गीता का अध्ययन किए होते हैं हां कुछ परसेंट लोग हैं जैसे कि 10 परसेंट 20 परसेंट से ज्यादा हमें नहीं विश्वास है कि गीता का पूरा अध्ययन लोग किए होंगे यदि कुछ लोग किए भी होंगे तो उनको समझ से पड़े होगा क्योंकि कम से कम गीता जी को यदि 8 बार से कम पढ़ा हो तो आपको उसका सही ज्ञान नहीं हो पाता है तो इसलिए यह कहना कि हर इंसान जो गीता पढ़ा होता है वह बुरा होता है और गलत होता है ऐसा बिल्कुल नहीं है हां कुछ लोग धर्म की बातें बड़े-बड़े बातें बहुत ज्यादा करते हैं लेकिन उसके ठीक विपरीत कार्य करते हैं मैंने कई ऐसे व्यक्तियों को देखा है तो आप इस प्रश्न से जाहिर हो जाता है कि आप किसी ऐसे ही इंसान के प्रभावित हुए होंगे तभी आपने ऐसा प्रश्न किया है तो मैं आपको यही चाहत खत्म करूंगा कि गीता जी का इसमें कोई दोस्त नहीं है बल्कि उस उनसे अध्ययन करने वालों का इसमें अज्ञान दिखता है और जो भी व्यक्ति यदि ठीक तरीके से गीता जी को पढ़ लेगा तो किसी को सताएगा नहीं किसी को बुरा नहीं कहेगा और किसी को गलत नहीं कहेगा धन्यवाद आपके इस प्रश्न के लिए आपका दिन शुभ हो
Namaskaar aapaka prashn hai ki har bura aur galat karane vaala insaan hamesha bhagavat geeta ke karm ka gyaan hee kyon dene lag jaata hai jabaki bhaagavat geeta ko to lagabhag sabhee log bade hote hain ki aisa kuchh bhee nahin hai ki jo sabhee log insaan jo hai bhagavat geeta ka adhyayan kie hote hain haan kuchh parasent log hain jaise ki 10 parasent 20 parasent se jyaada hamen nahin vishvaas hai ki geeta ka poora adhyayan log kie honge yadi kuchh log kie bhee honge to unako samajh se pade hoga kyonki kam se kam geeta jee ko yadi 8 baar se kam padha ho to aapako usaka sahee gyaan nahin ho paata hai to isalie yah kahana ki har insaan jo geeta padha hota hai vah bura hota hai aur galat hota hai aisa bilkul nahin hai haan kuchh log dharm kee baaten bade-bade baaten bahut jyaada karate hain lekin usake theek vipareet kaary karate hain mainne kaee aise vyaktiyon ko dekha hai to aap is prashn se jaahir ho jaata hai ki aap kisee aise hee insaan ke prabhaavit hue honge tabhee aapane aisa prashn kiya hai to main aapako yahee chaahat khatm karoonga ki geeta jee ka isamen koee dost nahin hai balki us unase adhyayan karane vaalon ka isamen agyaan dikhata hai aur jo bhee vyakti yadi theek tareeke se geeta jee ko padh lega to kisee ko sataega nahin kisee ko bura nahin kahega aur kisee ko galat nahin kahega dhanyavaad aapake is prashn ke lie aapaka din shubh ho

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

    URL copied to clipboard