#जीवन शैली

bolkar speaker

हम अपने मन की जिज्ञासा को कैसे शांत करें?

Hum Apne Man Ki Jigaysa Ko Kese Shaant Kare
Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
0:50
हम अपने मन की जिज्ञासा को कैसे शांत करें दोस्तों यदि आपके मन की कुछ जिज्ञासा ही है तो एक तो उस काम को यह तो हो सके तो पूरा कर दीजिए पर मान लीजिए वह काम जो पूरा करने को गलत काम है और उसका इतना तो समाज आप को इजाजत देता है ना ही कानून तो एक काम कीजिए कुछ काम को मत कीजिए जिज्ञासा को शांत करने का कोई दूसरा आईडिया दे तो कई प्रकार की होती तो पैसों को लेकर का जिज्ञासा होती है किसी व्यक्ति को किसी और चीज से लेकर जाती है बात करने में आप सोच रहे हैं उस चीज को सोचना बंद कर दीजिए तो मेरे साथ जाकर जिज्ञासा को शांत हो जाएगी इसके माध्यम से भी शांत हो जाएंगे धन्यवाद
Ham apane man kee jigyaasa ko kaise shaant karen doston yadi aapake man kee kuchh jigyaasa hee hai to ek to us kaam ko yah to ho sake to poora kar deejie par maan leejie vah kaam jo poora karane ko galat kaam hai aur usaka itana to samaaj aap ko ijaajat deta hai na hee kaanoon to ek kaam keejie kuchh kaam ko mat keejie jigyaasa ko shaant karane ka koee doosara aaeediya de to kaee prakaar kee hotee to paison ko lekar ka jigyaasa hotee hai kisee vyakti ko kisee aur cheej se lekar jaatee hai baat karane mein aap soch rahe hain us cheej ko sochana band kar deejie to mere saath jaakar jigyaasa ko shaant ho jaegee isake maadhyam se bhee shaant ho jaenge dhanyavaad

और जवाब सुनें

bolkar speaker
हम अपने मन की जिज्ञासा को कैसे शांत करें?Hum Apne Man Ki Jigaysa Ko Kese Shaant Kare
srikant pal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए srikant जी का जवाब
Student
0:40

bolkar speaker
हम अपने मन की जिज्ञासा को कैसे शांत करें?Hum Apne Man Ki Jigaysa Ko Kese Shaant Kare
Rohit Rathore Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Rohit जी का जवाब
Student
1:11
अबे साले थे आप सबका मेरी बोलकर ए प्रोफाइल पर और आप सुन रहे हैं रोहित राठौर को हम मेरी जिज्ञासा को कैसे शांत कर सकते हैं हम किसी भी चीज को लेकर आतुर क्यों हो जाते हैं क्योंकि हम जब भी कुछ नई चीज सुनते आ सकते हैं यदि हमें कोई बोलते कि भाई तुझे एक बात बताऊं अभी वह नहीं बताता तो हमारी ओर से बात को जाने के लिए और जिज्ञासा बढ़ जाती है तो ऐसा क्यों होता है हमारे मस्तिष्क एक प्रतिक्रिया है यह उस चीज को अवश्य जाना चाहता है जो कि उसके बारे में नहीं हूं यह हर नई चीज के प्रति एक अलग ही प्रतिक्रिया करता है हमारा मस्तिष्क मैंने हमारा दिमाग हर बार जब भी हम इसमें नई चीजें देखता इसको नहीं चीजें पता चलती है तो यह इससे उसे और खोजने की कोशिश करता है उसके बारे में और जानने की कोशिश करता है तब उसे तभी शांत कर सकते जब उसको उस चीज के बारे में संतुष्ट हो जाए उस चीज के बारे में पूरी तरह ज्ञान ले ले तो एक ही तरीका है मेरे अनुसार अपनी जिज्ञासा को शांत करने का और जिज्ञासु होना बहुत ही अच्छी बात है और हर चीज के बारे में ज्ञान लेना भी बहुत ही अच्छी बात है तो जग गया व्यक्ति जीवन में आगे बढ़ता है अच्छी-अच्छी चीजें सीखते चाहिए तभी सीखना बंद मत कीजिए जीवन के किसी भी पड़ाव पर हमें सीखना बंद नहीं करना चाहिए धन्यवाद मिलते आपसे अपने सवाल में अब तक ले टेक केयर
Abe saale the aap sabaka meree bolakar e prophail par aur aap sun rahe hain rohit raathaur ko ham meree jigyaasa ko kaise shaant kar sakate hain ham kisee bhee cheej ko lekar aatur kyon ho jaate hain kyonki ham jab bhee kuchh naee cheej sunate aa sakate hain yadi hamen koee bolate ki bhaee tujhe ek baat bataoon abhee vah nahin bataata to hamaaree or se baat ko jaane ke lie aur jigyaasa badh jaatee hai to aisa kyon hota hai hamaare mastishk ek pratikriya hai yah us cheej ko avashy jaana chaahata hai jo ki usake baare mein nahin hoon yah har naee cheej ke prati ek alag hee pratikriya karata hai hamaara mastishk mainne hamaara dimaag har baar jab bhee ham isamen naee cheejen dekhata isako nahin cheejen pata chalatee hai to yah isase use aur khojane kee koshish karata hai usake baare mein aur jaanane kee koshish karata hai tab use tabhee shaant kar sakate jab usako us cheej ke baare mein santusht ho jae us cheej ke baare mein pooree tarah gyaan le le to ek hee tareeka hai mere anusaar apanee jigyaasa ko shaant karane ka aur jigyaasu hona bahut hee achchhee baat hai aur har cheej ke baare mein gyaan lena bhee bahut hee achchhee baat hai to jag gaya vyakti jeevan mein aage badhata hai achchhee-achchhee cheejen seekhate chaahie tabhee seekhana band mat keejie jeevan ke kisee bhee padaav par hamen seekhana band nahin karana chaahie dhanyavaad milate aapase apane savaal mein ab tak le tek keyar

bolkar speaker
हम अपने मन की जिज्ञासा को कैसे शांत करें?Hum Apne Man Ki Jigaysa Ko Kese Shaant Kare
Udham Prasad Gautam Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Udham जी का जवाब
Unknown
1:48
हाय दोस्तो नमस्कार गुड इवनिंग आपका प्रश्न है कि हम अपने मन की जिज्ञासा को कैसे शांत करें दोस्तों हमारे मन भी कई प्रकार की जिज्ञासा व्यक्ति हैं कि हमें यह करना है वह करना है यह चाहिए वह चाहिए ठीक है तुम तमाम प्रकार के हमारे मन में विचारों अपने लगते हैं ठीक है इस चीज को हम कैसे कम कर सकते हैं देखिए पहली बार ही होता है कि हमारे पास इतना आमदनी हमारी नहीं दे पाते कि हमारी जिज्ञासाओं को शांत कर सके ठीक है तो इसका सीधा सा तरीका है कि हम अपने छोटे छोटे हैं लिखे जो हम से कम आमदनी में वह कैसे अपना जीवन व्यतीत करते उनकी जिज्ञासा है क्या होती हैं उनको देखकर हम अपनी जगह सांसो पर थोड़ा सा अपने रख सकते हैं लेकिन अपने जिज्ञासाओं को उसकी वजह से शांत कर सकते हैं लेकिन देखेंगे जैसे मालिक उधार देना चाहूंगा कि उसे हमको ज्यादा किसी चीज से जलन हो रही है जिसे मालवीय में अमृतसरी का कोई पाठक कट गया है बहादुर ज्यादा दुख हुआ ज्यादा तकलीफ हो रही है वहीं पर किसी का पैर ही कट गया है बगल में और वह अपने आप को खुश रखना है तो क्या हम उससे सीख सकते हैं ना कि उसका तो पैर कट गया लेकिन फिर भी वह अपने में खुश है ठीक है कोई दिक्कत नहीं है लड़ रहा है अपने दुख से तो फिर हमारा थोड़ा सा कटा है तो हम क्यों नहीं लड़ सकते ठीक उसी प्रकार से अगर कोई बगल वाला व्यक्ति उसके पास भी सब कुछ चाहिए लेकिन वह अपनी उसी में खुश है तो ठीक प्रकार उसी प्रकार से हमें भी जितना है उसी में हमें खुश रहना चाहिए ठीक है उसको देखकर अपनी जिज्ञासाओं को शांत कर सकते हैं इसलिए मोटिवेशनल जो चीजें होती सिलेक्शन बनाई जाती है और लोगों को प्रेरित किया ताकि देखने के लिए ताकि वह अपने हर प्रकार के जो भी उसके मन में विचार हैं उसकी वह समाधान पा सकें सीखे दोस्तों धन्यवाद
Haay dosto namaskaar gud ivaning aapaka prashn hai ki ham apane man kee jigyaasa ko kaise shaant karen doston hamaare man bhee kaee prakaar kee jigyaasa vyakti hain ki hamen yah karana hai vah karana hai yah chaahie vah chaahie theek hai tum tamaam prakaar ke hamaare man mein vichaaron apane lagate hain theek hai is cheej ko ham kaise kam kar sakate hain dekhie pahalee baar hee hota hai ki hamaare paas itana aamadanee hamaaree nahin de paate ki hamaaree jigyaasaon ko shaant kar sake theek hai to isaka seedha sa tareeka hai ki ham apane chhote chhote hain likhe jo ham se kam aamadanee mein vah kaise apana jeevan vyateet karate unakee jigyaasa hai kya hotee hain unako dekhakar ham apanee jagah saanso par thoda sa apane rakh sakate hain lekin apane jigyaasaon ko usakee vajah se shaant kar sakate hain lekin dekhenge jaise maalik udhaar dena chaahoonga ki use hamako jyaada kisee cheej se jalan ho rahee hai jise maalaveey mein amrtasaree ka koee paathak kat gaya hai bahaadur jyaada dukh hua jyaada takaleeph ho rahee hai vaheen par kisee ka pair hee kat gaya hai bagal mein aur vah apane aap ko khush rakhana hai to kya ham usase seekh sakate hain na ki usaka to pair kat gaya lekin phir bhee vah apane mein khush hai theek hai koee dikkat nahin hai lad raha hai apane dukh se to phir hamaara thoda sa kata hai to ham kyon nahin lad sakate theek usee prakaar se agar koee bagal vaala vyakti usake paas bhee sab kuchh chaahie lekin vah apanee usee mein khush hai to theek prakaar usee prakaar se hamen bhee jitana hai usee mein hamen khush rahana chaahie theek hai usako dekhakar apanee jigyaasaon ko shaant kar sakate hain isalie motiveshanal jo cheejen hotee silekshan banaee jaatee hai aur logon ko prerit kiya taaki dekhane ke lie taaki vah apane har prakaar ke jo bhee usake man mein vichaar hain usakee vah samaadhaan pa saken seekhe doston dhanyavaad

bolkar speaker
हम अपने मन की जिज्ञासा को कैसे शांत करें?Hum Apne Man Ki Jigaysa Ko Kese Shaant Kare
पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
1:16
अपने मन की जिज्ञासा को कैसे शांत करें जिज्ञासा मैंने जानने की क्षमता पर कितने हमारे मन को इतनी सशक्त मुरझाए दी है कि मर जाऊं मैं जिज्ञासा की ताकत जो है सर्वश्रेष्ठ होते हैं आप हर चीज के विषय में जानना चाहते हैं और जिज्ञासा एक ऐसी ऊर्जा है जो मंथन के द्वारा सतत प्रयास के द्वारा और अनुसंधान के द्वारा प्राप्त की जाती है अगर आपको किसी चीज की जानने की जिज्ञासा है तो उसको अनुसंधान करना पड़ेगा उसके विषय में मंथन करना पड़ेगा उसके विषय में कोई भी इन करनी पड़ेगी उसके विषय में समझना पड़ेगा तो हर चीज के विषय में पूरे संसार के विषय में ब्रह्मांड के विषय में मनुष्य के विषय में मानवता के विषय में समाज के विषय में प्रकृति के विषय में वस्तु के विषय में नई नई चीजों के विषय में नए-नए विज्ञान के विषय में इन सब चीजों की जानकारी हर मनुष्य को जानने की लालसा होती है प्यासा होती है और जिज्ञासा तभी शांत होगी कि जो मन में आपके प्रस्फुटन हो जो मन में भाव हो गए जिस चीज के जानने के लाल साहब के अंदर पैदा हो उस चीज के विषय में उसको पूरी जानकारी मिल जाए रियो जिज्ञासा शांत होती
Apane man kee jigyaasa ko kaise shaant karen jigyaasa mainne jaanane kee kshamata par kitane hamaare man ko itanee sashakt murajhae dee hai ki mar jaoon main jigyaasa kee taakat jo hai sarvashreshth hote hain aap har cheej ke vishay mein jaanana chaahate hain aur jigyaasa ek aisee oorja hai jo manthan ke dvaara satat prayaas ke dvaara aur anusandhaan ke dvaara praapt kee jaatee hai agar aapako kisee cheej kee jaanane kee jigyaasa hai to usako anusandhaan karana padega usake vishay mein manthan karana padega usake vishay mein koee bhee in karanee padegee usake vishay mein samajhana padega to har cheej ke vishay mein poore sansaar ke vishay mein brahmaand ke vishay mein manushy ke vishay mein maanavata ke vishay mein samaaj ke vishay mein prakrti ke vishay mein vastu ke vishay mein naee naee cheejon ke vishay mein nae-nae vigyaan ke vishay mein in sab cheejon kee jaanakaaree har manushy ko jaanane kee laalasa hotee hai pyaasa hotee hai aur jigyaasa tabhee shaant hogee ki jo man mein aapake prasphutan ho jo man mein bhaav ho gae jis cheej ke jaanane ke laal saahab ke andar paida ho us cheej ke vishay mein usako pooree jaanakaaree mil jae riyo jigyaasa shaant hotee

bolkar speaker
हम अपने मन की जिज्ञासा को कैसे शांत करें?Hum Apne Man Ki Jigaysa Ko Kese Shaant Kare
Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
1:07
सवाल यह है कि हम अपने मन की जिज्ञासा को कैसे शांत करें तो जिज्ञासा को शांत करने की बिल्कुल भी जरूरत नहीं है क्योंकि अगर आप में जिज्ञासा है कुछ करने की कुछ समझने की कुछ पाने की तभी आप जीवन में बढ़ा के बढ़ सकते हैं जिज्ञासा ही नए नए आइडियाज लाती है हमें सोचने समझने की शक्ति देती है हमारे प्रॉब्लम का सलूशन दिलाती है और जिज्ञासा की वजह से ही हमारे माइंड की ग्रोथ होती है अगर हम कुछ जिज्ञासा कुछ जानना छोड़ दें या अपने दिमाग का यूज करना छोड़ दें तो यह हमें आगे बढ़ने से रोकता है अगर हम जाना को छोड़ दें तो हमें हर पल हर दिन कुछ ना कुछ कुछ ना कुछ नया सीखते ही रहना चाहिए जिज्ञासा तो एक सीखने की भूख है आप देखते रहें और आगे बढ़ते रहिए और जिज्ञासा को कभी भी शांत करने की कोशिश मत कीजिएगा अगर हम जिज्ञासा को शांत करेंगे तो हम आउट ऑफ बॉक्स नहीं सोच पाएंगे और यह बहुत जरूरी यह कि हटकर सोचना कुछ नया सोचना कुछ अलग सोचना और उस पर काम करना
Savaal yah hai ki ham apane man kee jigyaasa ko kaise shaant karen to jigyaasa ko shaant karane kee bilkul bhee jaroorat nahin hai kyonki agar aap mein jigyaasa hai kuchh karane kee kuchh samajhane kee kuchh paane kee tabhee aap jeevan mein badha ke badh sakate hain jigyaasa hee nae nae aaidiyaaj laatee hai hamen sochane samajhane kee shakti detee hai hamaare problam ka salooshan dilaatee hai aur jigyaasa kee vajah se hee hamaare maind kee groth hotee hai agar ham kuchh jigyaasa kuchh jaanana chhod den ya apane dimaag ka yooj karana chhod den to yah hamen aage badhane se rokata hai agar ham jaana ko chhod den to hamen har pal har din kuchh na kuchh kuchh na kuchh naya seekhate hee rahana chaahie jigyaasa to ek seekhane kee bhookh hai aap dekhate rahen aur aage badhate rahie aur jigyaasa ko kabhee bhee shaant karane kee koshish mat keejiega agar ham jigyaasa ko shaant karenge to ham aaut oph boks nahin soch paenge aur yah bahut jarooree yah ki hatakar sochana kuchh naya sochana kuchh alag sochana aur us par kaam karana

bolkar speaker
हम अपने मन की जिज्ञासा को कैसे शांत करें?Hum Apne Man Ki Jigaysa Ko Kese Shaant Kare
Shipra Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Shipra जी का जवाब
Self Employed
0:15
बस वाले गेम अपने मन की जिज्ञासा को कैसे शांत करें तो नहीं तो छोड़ो जैसी चीज को लेकर क्या तुझे कैसा हो रही है उसके बारे में नॉलेज के एंकर के जानकारी प्राप्त करके क्या आप अपनी जिज्ञासा को शांत कर सकते हैं इसके लिए आप किसी भी तरीके का अपना सकते हैं आपका दिन शुभ रहे धन्यवाद
Bas vaale gem apane man kee jigyaasa ko kaise shaant karen to nahin to chhodo jaisee cheej ko lekar kya tujhe kaisa ho rahee hai usake baare mein nolej ke enkar ke jaanakaaree praapt karake kya aap apanee jigyaasa ko shaant kar sakate hain isake lie aap kisee bhee tareeke ka apana sakate hain aapaka din shubh rahe dhanyavaad

bolkar speaker
हम अपने मन की जिज्ञासा को कैसे शांत करें?Hum Apne Man Ki Jigaysa Ko Kese Shaant Kare
Deven  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Deven जी का जवाब
Valuepreneur Adventurer Life Explorer Dreamer
1:33
हम अपने मन की जिज्ञासा को कैसे शांत करें जिज्ञासा को शांत क्यों करना है अगर हमारा मन है तो ऑफिस से अगर नहीं इसलिए हमारी करैक्टेरिस्टिक से और हमें नई नई चीजें पता करने के लिए मनी अचूक होता है हमारा हमेशा उस को जानने के लिए इच्छुक होता है मैं बोलूंगा अगर कोई चीज अगर आपके ऑनलाइन में है ने उस पता है आपको यह चीज मुझे जानना है पहचान जानने से मुझे यह फायदा होगा या फिर ऐसे ही मुझे डर क्यों रही थी कि यह चीज क्या होती है तो उस जिज्ञासा को खत्म करें उसको उसमें इंक्वायरी करो उसको खत्म कर हो सकता है कभी बार ऐसी जगह से आ जाती है जिसका हमारी लाइफ से कोई संबंध नहीं लेकिन ऐसा लगता है कि यह कैसे होगा सिर्फ हमें वहां एक जगह बैठने की जिज्ञासा एक चीज है और अट्रैक्शन एक चीज है जो जिज्ञासा को आप अगर कॉल कर लोगे मन शांत हो जाएगा अट्रैक्शन होगा यहां तो हम इंसान से वहां पर इमोशन को काम कर रहेगा जगह माइंड काम करते जहां पर कॉग्निशन है अट्रैक्शन में इमोशन काम कर देगा कॉग्निशन नहीं है एनी वहां पर गलत निर्णय हो सकता है ट्रक हो सकता है पांचवी तक तो उस जिज्ञासा को कंप्लीट करने के चक्कर में ऐसे कई बार आता है न्यूज़ पेपर में आता है या कहीं पर इसमें लॉटरी लगेगी इतनी इतने पैसों का तू जिज्ञासा नहीं है क्वार्टर एक्शन है वह इमोशनली ड्रिवन होती है क्योंकि हमें पता होता कि यहां ऐसे ऐसे करने से शायद पैसे मिल जाए लेकिन जिज्ञासा आप हमेशा शांत कर सकते हो मन की जिज्ञासा शांत करने के लाभ ही गूगल ही काफी है
Ham apane man kee jigyaasa ko kaise shaant karen jigyaasa ko shaant kyon karana hai agar hamaara man hai to ophis se agar nahin isalie hamaaree karaikteristik se aur hamen naee naee cheejen pata karane ke lie manee achook hota hai hamaara hamesha us ko jaanane ke lie ichchhuk hota hai main boloonga agar koee cheej agar aapake onalain mein hai ne us pata hai aapako yah cheej mujhe jaanana hai pahachaan jaanane se mujhe yah phaayada hoga ya phir aise hee mujhe dar kyon rahee thee ki yah cheej kya hotee hai to us jigyaasa ko khatm karen usako usamen inkvaayaree karo usako khatm kar ho sakata hai kabhee baar aisee jagah se aa jaatee hai jisaka hamaaree laiph se koee sambandh nahin lekin aisa lagata hai ki yah kaise hoga sirph hamen vahaan ek jagah baithane kee jigyaasa ek cheej hai aur atraikshan ek cheej hai jo jigyaasa ko aap agar kol kar loge man shaant ho jaega atraikshan hoga yahaan to ham insaan se vahaan par imoshan ko kaam kar rahega jagah maind kaam karate jahaan par kognishan hai atraikshan mein imoshan kaam kar dega kognishan nahin hai enee vahaan par galat nirnay ho sakata hai trak ho sakata hai paanchavee tak to us jigyaasa ko kampleet karane ke chakkar mein aise kaee baar aata hai nyooz pepar mein aata hai ya kaheen par isamen lotaree lagegee itanee itane paison ka too jigyaasa nahin hai kvaartar ekshan hai vah imoshanalee drivan hotee hai kyonki hamen pata hota ki yahaan aise aise karane se shaayad paise mil jae lekin jigyaasa aap hamesha shaant kar sakate ho man kee jigyaasa shaant karane ke laabh hee googal hee kaaphee hai

bolkar speaker
हम अपने मन की जिज्ञासा को कैसे शांत करें?Hum Apne Man Ki Jigaysa Ko Kese Shaant Kare
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:55
हेलो दोस्तों स्वागत है आपका आपका प्रश्न है हम अपने मन की जिज्ञासा को कैसे शांत कर सकते हैं तो फ्रेंड से अगर हमारे मन में किसी चीज को जानने की जिज्ञासा है तो आप अपने जो आपके घर में पड़े हैं उन से पूछिए तो वह तूने जरूर आती होगी तो मैं आपके जिज्ञासा शांत करेंगे और आपके जो गुरु है टीचर हैं आपको जो नहीं बनता है तो आप उनसे पूछिए आपके मन में जो भी जिज्ञासा क्वेश्चन जो भी है तो वह जरूर सॉल्व करेंगे और आजकल सबसे अच्छा तरीका तो मोबाइल है आप इंटरनेट से गूगल से हम कोई भी प्रश्न का उत्तर देख सकते हैं अपनी जिज्ञासा उसे मिटा सकते हैं और जान सकते हैं आप यूट्यूब खोल कर देख लीजिए गूगल पर जाइए तो आपको कैसे बता सकते हैं और हमारा यह जो बोलकर एम चालू हुआ है तो भी आपके मन में कोई जिज्ञासा या प्रश्न है तो आप यहां भी पूछ सकते हैं तो आपको बढ़िया से बढ़िया जवाब मिलेंगे धन्यवाद
Helo doston svaagat hai aapaka aapaka prashn hai ham apane man kee jigyaasa ko kaise shaant kar sakate hain to phrend se agar hamaare man mein kisee cheej ko jaanane kee jigyaasa hai to aap apane jo aapake ghar mein pade hain un se poochhie to vah toone jaroor aatee hogee to main aapake jigyaasa shaant karenge aur aapake jo guru hai teechar hain aapako jo nahin banata hai to aap unase poochhie aapake man mein jo bhee jigyaasa kveshchan jo bhee hai to vah jaroor solv karenge aur aajakal sabase achchha tareeka to mobail hai aap intaranet se googal se ham koee bhee prashn ka uttar dekh sakate hain apanee jigyaasa use mita sakate hain aur jaan sakate hain aap yootyoob khol kar dekh leejie googal par jaie to aapako kaise bata sakate hain aur hamaara yah jo bolakar em chaaloo hua hai to bhee aapake man mein koee jigyaasa ya prashn hai to aap yahaan bhee poochh sakate hain to aapako badhiya se badhiya javaab milenge dhanyavaad

bolkar speaker
हम अपने मन की जिज्ञासा को कैसे शांत करें?Hum Apne Man Ki Jigaysa Ko Kese Shaant Kare
Pt. Rakesh  Chaturvedi ( Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant | Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Pt. जी का जवाब
Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant |
1:08
नमस्कार दोस्तों प्रश्न है कि हम अपने मन की जिज्ञासा को कैसे शांत करें तो दोस्तों हमेशा के लिए जिज्ञासा शांत नहीं होनी चाहिए एक व्यक्ति को जिज्ञासु होना चाहिए तो आजकल की ज्ञाता पहले जमाने के हमारे समय बड़ा मुश्किल हुआ करता था उसने फोन नहीं हुआ करता था गूगल बाबा नहीं हुआ करते थे आजकल तो आपके मन में जो जिज्ञासा है आप गूगल पर डाल कर भी देख सकते हैं और सबसे अच्छी बात है कि आप बोलकर ऐप थे भी अपनी जिज्ञासा को खत्म कर सकते हैं कोई आपको चीजें नहीं पता चल पा रही तो आप प्रश्न पूछ कर हमारे बोलकर आपसे चीज है क्या ज्ञान प्राप्त कर सकते हैं या जिज्ञासा खत्म करनी है आपको तो अपने गुरुजनों से पूछने लायक बात कर सकते हैं माता-पिता से कर सकते हैं दोस्तों से अपनी जिज्ञासा को खत्म कर सकते हैं और जिज्ञासा ही खत्म होती है तो निश्चित रूप से दूसरी जिज्ञासा भी कई बार जन्म लेती है तो जिज्ञासा होती रहनी चाहिए उसका समाधान होता रहना चाहिए निश्चित रूप से आप ज्ञानी पुरुष हो जाएंगे आप को ज्ञान प्राप्त होगा और जिज्ञासा कभी का विज्ञापन का अंत नहीं होना चाहिए बोलकर ऐप एक आपको मौका देता है कि आप जिज्ञासा को अपनी यहीं पर समाप्त कर सकते हैं धन्यवाद
Namaskaar doston prashn hai ki ham apane man kee jigyaasa ko kaise shaant karen to doston hamesha ke lie jigyaasa shaant nahin honee chaahie ek vyakti ko jigyaasu hona chaahie to aajakal kee gyaata pahale jamaane ke hamaare samay bada mushkil hua karata tha usane phon nahin hua karata tha googal baaba nahin hua karate the aajakal to aapake man mein jo jigyaasa hai aap googal par daal kar bhee dekh sakate hain aur sabase achchhee baat hai ki aap bolakar aip the bhee apanee jigyaasa ko khatm kar sakate hain koee aapako cheejen nahin pata chal pa rahee to aap prashn poochh kar hamaare bolakar aapase cheej hai kya gyaan praapt kar sakate hain ya jigyaasa khatm karanee hai aapako to apane gurujanon se poochhane laayak baat kar sakate hain maata-pita se kar sakate hain doston se apanee jigyaasa ko khatm kar sakate hain aur jigyaasa hee khatm hotee hai to nishchit roop se doosaree jigyaasa bhee kaee baar janm letee hai to jigyaasa hotee rahanee chaahie usaka samaadhaan hota rahana chaahie nishchit roop se aap gyaanee purush ho jaenge aap ko gyaan praapt hoga aur jigyaasa kabhee ka vigyaapan ka ant nahin hona chaahie bolakar aip ek aapako mauka deta hai ki aap jigyaasa ko apanee yaheen par samaapt kar sakate hain dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • हम अपने मन को कैसे कंट्रोल करें.. हम अपने मन को कैसे साफ़ रखे
URL copied to clipboard