#भारत की राजनीति

bolkar speaker

बैंक में जमा धन में नामित व्यक्ति का अधिकार कहां तक सीमित है?

Bank Mein Jama Dhan Mein Namit Vyakti Ka Adhikar Kahan Tak Seemit Hai
Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
1:00
200 वाले बैंक में जमा धन में नामित व्यक्ति का अधिकार कहां तक सीमित है दोस्तों बैंक में जो धन जमा है लेकिन जो व्यक्ति ने जो धन जमा किया जिसके नाम पर वह धन है एक व्यक्ति का उसका ही धन है और वह उसके पैसे वह किसी भी समय किसी भी वक्त निकाल सकता है दूसरी बात की है कि मान लीजिए कि उस व्यक्ति कभी डेथ हो जाती है तब वह किसी को नामित किए हुए होता है उसके दोस्तों उसके ऊपर पूरा हो जाता है क्योंकि उसके जो असली जमा लिखते हैं वह तो नहीं रहे परंतु उसकी डेथ के बाद उसके असली के मालिक हैं उनके जो द्वारा जो नामित किए गए हैं वह व्यक्ति कोई भी हो सकता है बेटा हो सकता है पता हो सकता है उसकी पत्नी हो सकती है या कोई अन्य व्यक्ति परंतु मिलेंगे उस व्यक्ति को जिसका नाम नॉमिनेट किया है जिस व्यक्ति का खाता था उस व्यक्ति ने उसका पूरी तरीके से हकदार है और पूरा पूरा उसको अधिकार है कि वह उस पैसे का मालिक है
200 vaale baink mein jama dhan mein naamit vyakti ka adhikaar kahaan tak seemit hai doston baink mein jo dhan jama hai lekin jo vyakti ne jo dhan jama kiya jisake naam par vah dhan hai ek vyakti ka usaka hee dhan hai aur vah usake paise vah kisee bhee samay kisee bhee vakt nikaal sakata hai doosaree baat kee hai ki maan leejie ki us vyakti kabhee deth ho jaatee hai tab vah kisee ko naamit kie hue hota hai usake doston usake oopar poora ho jaata hai kyonki usake jo asalee jama likhate hain vah to nahin rahe parantu usakee deth ke baad usake asalee ke maalik hain unake jo dvaara jo naamit kie gae hain vah vyakti koee bhee ho sakata hai beta ho sakata hai pata ho sakata hai usakee patnee ho sakatee hai ya koee any vyakti parantu milenge us vyakti ko jisaka naam nominet kiya hai jis vyakti ka khaata tha us vyakti ne usaka pooree tareeke se hakadaar hai aur poora poora usako adhikaar hai ki vah us paise ka maalik hai

और जवाब सुनें

bolkar speaker
बैंक में जमा धन में नामित व्यक्ति का अधिकार कहां तक सीमित है?Bank Mein Jama Dhan Mein Namit Vyakti Ka Adhikar Kahan Tak Seemit Hai
Pt. Rakesh  Chaturvedi ( Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant | Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Pt. जी का जवाब
Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant |
1:11
नमस्कार दोस्तों प्रश्न है कि बैंक में जमा धन में नामित व्यक्ति का अधिकार कहां तक सीमित है तो दोस्तों जो नॉमिनी होता है यानी कि नामित व्यक्ति है उसका अधिकार है कि बैंक में अगर उस व्यक्ति की खातिर धारक की मृत्यु हो जाती है तो वह पैसा निकाल सके लेकिन नामित व्यक्ति का उस पैकेट में पूर्ण रूप से अधिकार नहीं होता है अगर कोई खाताधारक ने मृत्यु होने के बाद भी लिखी हुई है कि यह पैसा खिलाने व्यक्ति को दे दिया जाए तो वह उसको नामित व्यक्ति निकाल के उसको देगा कानूनी रूप से ज्यादातर लोग नामित व्यक्ति अपने पति अपने पत्नी को बनाता है या पत्नी अपने पति को बनाती है ऐसी ज्यादा चलता है लेकिन अगर नामित व्यक्ति किसी बच्चे को ही बना रखा है तो उसका पूर्ण रूप से अधिकार नहीं माना जाएगा क्योंकि बस उसका बैंक से निकालने तक का अधिकार है उस पैसे पर नामित व्यक्ति का अधिकार नहीं होता जब तक कि कानूनी रूप से वह उसका उत्तराधिकारी ना हो या दिल में उसका नाम ना हो धन्यवाद
Namaskaar doston prashn hai ki baink mein jama dhan mein naamit vyakti ka adhikaar kahaan tak seemit hai to doston jo nominee hota hai yaanee ki naamit vyakti hai usaka adhikaar hai ki baink mein agar us vyakti kee khaatir dhaarak kee mrtyu ho jaatee hai to vah paisa nikaal sake lekin naamit vyakti ka us paiket mein poorn roop se adhikaar nahin hota hai agar koee khaataadhaarak ne mrtyu hone ke baad bhee likhee huee hai ki yah paisa khilaane vyakti ko de diya jae to vah usako naamit vyakti nikaal ke usako dega kaanoonee roop se jyaadaatar log naamit vyakti apane pati apane patnee ko banaata hai ya patnee apane pati ko banaatee hai aisee jyaada chalata hai lekin agar naamit vyakti kisee bachche ko hee bana rakha hai to usaka poorn roop se adhikaar nahin maana jaega kyonki bas usaka baink se nikaalane tak ka adhikaar hai us paise par naamit vyakti ka adhikaar nahin hota jab tak ki kaanoonee roop se vah usaka uttaraadhikaaree na ho ya dil mein usaka naam na ho dhanyavaad

bolkar speaker
बैंक में जमा धन में नामित व्यक्ति का अधिकार कहां तक सीमित है?Bank Mein Jama Dhan Mein Namit Vyakti Ka Adhikar Kahan Tak Seemit Hai
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:46
हेलो फ्रेंड स्वागत है आपका आपका प्रश्न बैंक में जमा धन में नामित व्यक्ति का अधिकार कहां तक सीमित होता है तो फ्रेंड बैंक में जो धन जमा होता है जिसे जो भी व्यक्ति अपने नाम से धन जमा करता है तो उसी व्यक्ति का पूरा-पूरा अधिकार बैंक में होता है वह कभी भी अपने बैंक से पैसे निकाल सकता है कभी भी अपने पैसों को निकालकर उपयोग कर सकता है और जो व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है तो उस व्यक्ति ने जिसको अपना नोनी बनाया होता है उसको वेतन मिल जाता है चाहे उनकी पत्नी हो उसकी पत्नी हो जिसके नाम में धन अपना नाम नहीं लिख पाया है तो उसे मिलता है और वे अपने धन का पूरा पूरा मालिकाना हक उसको होता है और उसका पूरा अधिकार होता है पैसों का धन्यवाद
Helo phrend svaagat hai aapaka aapaka prashn baink mein jama dhan mein naamit vyakti ka adhikaar kahaan tak seemit hota hai to phrend baink mein jo dhan jama hota hai jise jo bhee vyakti apane naam se dhan jama karata hai to usee vyakti ka poora-poora adhikaar baink mein hota hai vah kabhee bhee apane baink se paise nikaal sakata hai kabhee bhee apane paison ko nikaalakar upayog kar sakata hai aur jo vyakti kee mrtyu ho jaatee hai to us vyakti ne jisako apana nonee banaaya hota hai usako vetan mil jaata hai chaahe unakee patnee ho usakee patnee ho jisake naam mein dhan apana naam nahin likh paaya hai to use milata hai aur ve apane dhan ka poora poora maalikaana hak usako hota hai aur usaka poora adhikaar hota hai paison ka dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • बैंक में जमा धन में नामित व्यक्ति का अधिकार कहां तक सीमित है जमा धन में नामित व्यक्ति का अधिकार कहां तक सीमित है
URL copied to clipboard