#जीवन शैली

Christina KC Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Christina जी का जवाब
MBA Govt job in PSU/Assistant Manager (HR)
1:49
अपनी क्या है कुछ लोग हमेशा बाएं हाथ से का इस्तेमाल क्यों करते हैं क्या बच्चों को ऐसा करना करने से रोकना चाहिए कुछ लोग तो हम बचपन से ही जो है वह इस बात का इस्तेमाल करते हैं ऐसा नहीं है कि वह इस्तेमाल करते रहते हैं सिर्फ बाएं हाथ से ही उनका काम होता है वह लिखते हैं बाएं हाथ से वह उन सब लोगों को जहर बहुत वाले लोग बोलते हैं तो यह सब क्या होता है कि आपने पूछा है कि क्या बच्चों को ऐसा करने से रोकना चाहिए सही मात्रा में जो है देखा जाए तो बोला जाता है कि अगर आप दाएं हाथ से लिखते हो तो वही सही होता है क्योंकि अपने हाथ से लिखते हो तो आप जो लिखते हो वह आप देख पाते हो जो आप जवाब बाएं हाथ से लिखते हो जाओ तब आप जो लिखते हो तो आप देख नहीं पाते मुश्किल होती है कभी तो यह कांड होता है कि दाएं हाथ से लिखना चाहे वह काफी आसान होता है जब आप दाएं से बाएं तकलीफ हो तो इस तरीके का अस्तित्व के लिए जाते अगर आप उन्होंने हो तो वह आसान होता है बाएं हाथ वाले लोगों के लिए क्योंकि उर्दू जो होती है वह 2:30 से 22:00 तक लिखी जाती है तो अपने पूछा कि बच्चों के लिए क्या ऐसा रुकना चाहिए था कि अगर मान मतलब मान लिया जाए कि बच्चे जो है वह सिर्फ वही दिखेंगे जो अल्फाबेट्स है अंग्रेजी है सब यह सब लिखेंगे तो आप बच्चे को दाएं हाथ से का इस्तेमाल या फिर प्रयोग करना चाहिए सिखाइए अगर बच्चा जो है उर्दू लिखेगा तो आप दाएं और बाएं हाथ का इस्तेमाल अगर वह करता है तो भी मतलब मुश्किल नहीं है तो मेरा यह मानना है कि यही सवाल का जवाब है
Apanee kya hai kuchh log hamesha baen haath se ka istemaal kyon karate hain kya bachchon ko aisa karana karane se rokana chaahie kuchh log to ham bachapan se hee jo hai vah is baat ka istemaal karate hain aisa nahin hai ki vah istemaal karate rahate hain sirph baen haath se hee unaka kaam hota hai vah likhate hain baen haath se vah un sab logon ko jahar bahut vaale log bolate hain to yah sab kya hota hai ki aapane poochha hai ki kya bachchon ko aisa karane se rokana chaahie sahee maatra mein jo hai dekha jae to bola jaata hai ki agar aap daen haath se likhate ho to vahee sahee hota hai kyonki apane haath se likhate ho to aap jo likhate ho vah aap dekh paate ho jo aap javaab baen haath se likhate ho jao tab aap jo likhate ho to aap dekh nahin paate mushkil hotee hai kabhee to yah kaand hota hai ki daen haath se likhana chaahe vah kaaphee aasaan hota hai jab aap daen se baen takaleeph ho to is tareeke ka astitv ke lie jaate agar aap unhonne ho to vah aasaan hota hai baen haath vaale logon ke lie kyonki urdoo jo hotee hai vah 2:30 se 22:00 tak likhee jaatee hai to apane poochha ki bachchon ke lie kya aisa rukana chaahie tha ki agar maan matalab maan liya jae ki bachche jo hai vah sirph vahee dikhenge jo alphaabets hai angrejee hai sab yah sab likhenge to aap bachche ko daen haath se ka istemaal ya phir prayog karana chaahie sikhaie agar bachcha jo hai urdoo likhega to aap daen aur baen haath ka istemaal agar vah karata hai to bhee matalab mushkil nahin hai to mera yah maanana hai ki yahee savaal ka javaab hai

और जवाब सुनें

Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:53
हेलो दोस्तों स्वागत है आपका आपका प्रश्न है कुछ लोग हमेशा अपने आप का इस्तेमाल क्यों करते हैं क्या बच्चों को ऐसा करने से रोकना चाहिए तो फ्रेंड से बहुत सारे लोग लेफ्ट ही होते हैं और वे अपने लैपटॉप जाने पाए हाथ से ही काम करते हैं तो वे प्राकृतिक होता है बहुत सारे लोगों को उसी हाथ से काम करने की आदत होती है और बहुत सारे बच्चे भी ऐसे होते हैं उन्हें लिखने पढ़ने के लिए बाएं हाथ से नहीं रुकना चाहिए लेकिन हां अगर बच्चे बाएं हाथ से खाना खा रहे हैं तो आपको निश्चित ही उनको रोकना चाहिए आपको अपने दाहिने हाथ से खाना खाना सिखाना चाहिए अगर वह पढ़ने लिखने में अपने बाएं हाथ का इस्तेमाल कर रही है तो करने देना चाहिए क्योंकि बोलते हैं कि बाएं हाथ से हैंड राइटिंग बहुत अच्छी आती है तो आप अगर पढ़ने में बेस्ट माल कर रहे हैं तो उन्हें मना मत कीजिए लेकिन अगर खाने में बाएं हाथ का इस्तेमाल कर रहे हैं तो आपको उन्हें रोकना चाहिए धन्यवाद
Helo doston svaagat hai aapaka aapaka prashn hai kuchh log hamesha apane aap ka istemaal kyon karate hain kya bachchon ko aisa karane se rokana chaahie to phrend se bahut saare log lepht hee hote hain aur ve apane laipatop jaane pae haath se hee kaam karate hain to ve praakrtik hota hai bahut saare logon ko usee haath se kaam karane kee aadat hotee hai aur bahut saare bachche bhee aise hote hain unhen likhane padhane ke lie baen haath se nahin rukana chaahie lekin haan agar bachche baen haath se khaana kha rahe hain to aapako nishchit hee unako rokana chaahie aapako apane daahine haath se khaana khaana sikhaana chaahie agar vah padhane likhane mein apane baen haath ka istemaal kar rahee hai to karane dena chaahie kyonki bolate hain ki baen haath se haind raiting bahut achchhee aatee hai to aap agar padhane mein best maal kar rahe hain to unhen mana mat keejie lekin agar khaane mein baen haath ka istemaal kar rahe hain to aapako unhen rokana chaahie dhanyavaad

Trilok Sain Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Trilok जी का जवाब
Motivational Speaker Public Speaker Life Coach Youtuber
0:52
नमस्कार कुछ लोग हमेशा बाएं हाथ का इस्तेमाल करते हैं क्या हमें बच्चों के ऐसा करने से रोकना चाहिए जी बिल्कुल नहीं आप को बच्चों को रोकना नहीं चाहिए क्योंकि कोई फर्क नहीं पड़ता कि बच्चा किस हाथ से लिखा है बच्चा है उसको आसानी हो रही है उसे लिखने दीजिए क्योंकि यह रिसर्च में मैंने कहीं पर सुना है कि क्यों मतलब दाएं हाथ से लिखे वाले ज्यादा स्मार्ट होते ज्यादा बुद्धिमान होते हैं इसलिए बच्चों को रोकना चेन्नई लिए उनकी जो वाहन की है उससे दब जाती हैं जबरदस्ती दाएं हाथ से लिखने से बच्चा हो सकता है कि हीन भावना करो
Namaskaar kuchh log hamesha baen haath ka istemaal karate hain kya hamen bachchon ke aisa karane se rokana chaahie jee bilkul nahin aap ko bachchon ko rokana nahin chaahie kyonki koee phark nahin padata ki bachcha kis haath se likha hai bachcha hai usako aasaanee ho rahee hai use likhane deejie kyonki yah risarch mein mainne kaheen par suna hai ki kyon matalab daen haath se likhe vaale jyaada smaart hote jyaada buddhimaan hote hain isalie bachchon ko rokana chennee lie unakee jo vaahan kee hai usase dab jaatee hain jabaradastee daen haath se likhane se bachcha ho sakata hai ki heen bhaavana karo

srikant pal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए srikant जी का जवाब
Student
0:33

Rohit Rathore Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Rohit जी का जवाब
Student
1:16
वेलकम बैक कैसे हैं आप सब लोग स्वागत है आप सबका मेरी बोलकर प्रोफाइल पर और आप समझाएं रोहित राठौर को अगर आप दाएं या बाएं हाथ के इस्तेमाल करें आप यह किसी का हाथ काफी इस्तेमाल करें आपको करना वही काम है इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आपका बच्चा दाएं हाथ से लिखना सीख रहा है या बाएं हाथ लिखा तिगरा अपने देखेंगे दुनिया में कई लेफ्ट हैंडेड लोग भी और के राइट हैंडेड लोग भी सबका अपना अपना तरीका होता है अपना-अपना नजरिया होता है इसमें कोई खराबी या फिर अच्छा ही नहीं कि वह लेफ्ट हैंड से लिखता है या दाएं हाथ से लिखता है बाएं हाथ की उसमें आदत है तो यह वह बच्चा गंदा हो ऐसी कोई बात नहीं अगर आपका बच्चा बाएं हाथ से लिखना सीख रहा है बाएं हाथ से सारे काम कर रहा है तो लेफ्ट हैंड है उसका हिसाब मतलब नीचे बना हुआ है उसको भगवान ने ऐसा ही इस प्रकार से उसमें नीचे है भगवान ने उसे इस प्रकार से व्यक्तित्व दिया है कि वह उसे उसके बाएं हाथ का इस्तेमाल ज्यादा करें या इसी प्रकार से हमें यह सब पहले से ही यह थोड़ी खूबी होती है बाकी अगर आप सुधारना चाहते थे इसे सुधार भी सकते हैं पर बच्चे को बार बार टोक बच्चे के मानसिक स्वास्थ्य के लिए बिल्कुल अच्छा नहीं होगा इसलिए आप अभी जैसा उसे उचित लगे अगर बाएं हाथ से अगर अपने सारे काम करने में कंफर्ट महसूस कर रहा है तो उसे बाएं हाथ से ही एक अपने सारे काम करने दे तो धन्यवाद मिलते हैं आपसे अगले सवाल में जब तक के लिए टेक केयर
Velakam baik kaise hain aap sab log svaagat hai aap sabaka meree bolakar prophail par aur aap samajhaen rohit raathaur ko agar aap daen ya baen haath ke istemaal karen aap yah kisee ka haath kaaphee istemaal karen aapako karana vahee kaam hai isase koee phark nahin padata ki aapaka bachcha daen haath se likhana seekh raha hai ya baen haath likha tigara apane dekhenge duniya mein kaee lepht hainded log bhee aur ke rait hainded log bhee sabaka apana apana tareeka hota hai apana-apana najariya hota hai isamen koee kharaabee ya phir achchha hee nahin ki vah lepht haind se likhata hai ya daen haath se likhata hai baen haath kee usamen aadat hai to yah vah bachcha ganda ho aisee koee baat nahin agar aapaka bachcha baen haath se likhana seekh raha hai baen haath se saare kaam kar raha hai to lepht haind hai usaka hisaab matalab neeche bana hua hai usako bhagavaan ne aisa hee is prakaar se usamen neeche hai bhagavaan ne use is prakaar se vyaktitv diya hai ki vah use usake baen haath ka istemaal jyaada karen ya isee prakaar se hamen yah sab pahale se hee yah thodee khoobee hotee hai baakee agar aap sudhaarana chaahate the ise sudhaar bhee sakate hain par bachche ko baar baar tok bachche ke maanasik svaasthy ke lie bilkul achchha nahin hoga isalie aap abhee jaisa use uchit lage agar baen haath se agar apane saare kaam karane mein kamphart mahasoos kar raha hai to use baen haath se hee ek apane saare kaam karane de to dhanyavaad milate hain aapase agale savaal mein jab tak ke lie tek keyar

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
1:14
कुछ लोग हमेशा बाएं हाथ का इस्तेमाल क्यों करते हैं क्या बच्चों को ऐसा करने से रोकना चाहती है कि कंफर्टेबल के साथ-साथ फिदा हो जाएगी अगर लाइफ ऐसे ही लिख रहा है पढ़ रहा है हर काम कर रहा है तो सही एक बार फिर बाएं हाथ से गिर जाए तो कोई प्रॉब्लम है तो अमिताभ बच्चन के हाथ के भजन लग्न मुबारक नहीं करना चाहती अभी वह लगता
Kuchh log hamesha baen haath ka istemaal kyon karate hain kya bachchon ko aisa karane se rokana chaahatee hai ki kamphartebal ke saath-saath phida ho jaegee agar laiph aise hee likh raha hai padh raha hai har kaam kar raha hai to sahee ek baar phir baen haath se gir jae to koee problam hai to amitaabh bachchan ke haath ke bhajan lagn mubaarak nahin karana chaahatee abhee vah lagata

Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
4:05
सवाल यह है कि कुछ लोग हमेशा बाएं हाथ का कमाल करते क्यों करते हैं क्या बच्चों को ऐसा करने से रोकना चाहिए कि दरअसल हमारे पूरे शरीर में खास करें का असंतुलन होता है मिसाल के लिए हम बाएं हाथ से अपना फोन उठाते हैं और अदाएं को कान पर लगाकर सुनते हैं आज जब हमें फोन पर बात करते-करते कुछ लिखना होगा तो बाएं कान पर फोन लगाते हो रे दाएं हाथ से लिखना शुरु कर देते हैं इससे साफ जाहिर होता है कि जिस तरह से हम का काम करने में आसानी होती है वैसे ही हम अपने शरीर के अंगो का कमाल करते हैं मोटे तौर पर 40 से 3 लोग अपने बाएं कान का और 30% लोग अपनी बाईं आंख का और 20 फ़ीसदी लोग अपने बाएं पैर का सम्मान करते हैं लेकिन जब बात आती है कि हाथ की तो सिर्फ 10% लोग ही बाएं हाथ का इस्तेमाल करते हैं तो बाएं हाथ के मुकाबले के मुकाबले दाएं हाथ पर तुम्हारे सर इंसान ही नहीं इंसान नहीं करते हमारे और भी भाई बंधू यही करते हैं जैसे कि चिंपांजी वह किसी काम के लिए आया तो किसी काम के लिए बाया हाथ का इस्तेमाल करता है हालांकि वैज्ञानिकों ने अपने शोध में पाया है कि आधे चिंपांजी बाएं हाथ का तो आधे दाएं हाथ पर कमाल करते हैं मगर 10 के मुकाबले के इंसान ही बाएं हाथ का कमाल करता है पाकिस्तान ने दाएं हाथ के समांतर गोर देना कब से शुरू किया तो हमने अपने हाथों का इस्तेमाल कैसे करना शुरू किया यह जाने के लिए हम इंसान के विकास की बुनियाद में जाना होगा आदिमानव के रिश्तेदार रहे नियम डफल मानव के दांतो से उसका इशारा मिलता है उन्होंने अपने हाथों का बखूबी इस्तेमाल करना सीख लिया था हालांकि वो थोड़ी फूहड़ के संग में केवीके उन्होंने भले ही करना सीख लिया था लेकिन वह अपने दांतो से नोट कर ही खाते थे अलबत्ता गोश्त खाने के पढ़ने के लिए छोरा उनके हाथ में पकड़ते थे जिसमें कि रब से ज्यादा थी वह जिस तरह के औजार इस्तेमाल करते थे उनकी बनावट को देखकर अंदाजा अंदाजा लगाया जा सकता है कि वह कौन से हाथों में अपना खाना पकड़ते थे और कौन से हाथ से और जाकर कमाल करते थे फिर करने वालों में पाया गया है कि नहीं एंड ऑथर्स मानव में भी आपने दाएं हाथ का कमाल ज्यादा करते थे उनमें भी दाएं और बाएं हाथ पर अमल करने का अनुपात 10 में से एक था जो कि आज के स्थानों में देखने को मिलता है आज भी पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि हमारी डीएनए का कौन सा हिस्सा इस बात के लिए उसका आता है कि हम दया दाया और बाया हाथ का इस्तेमाल करे लेकिन जवाब आज भी किसी के पास नहीं हैं सवाल यह है कि लोग अपने बाएं हाथ का कमाल करते हैं क्या उनके जीवन में कोई असर पड़ता है या बच्चों को ऐसा करने से रोकना चाहिए ऐसा कहा जाता है कि हमारे बाएं तरफ का दिमाग दाएं हाथ के कंट्रोल में होता है और दिमाग का दायां हिस्सा बाएं हाथ के का हाथ को काबू में करता है यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन के प्रोफेसर प्रोफेसर और मनोवैज्ञानिक क्रिसमिस मैनर्स बदाम मनाते हैं मानते हैं कि बाएं हाथ का कमाल करने वाले लोग ज्यादा समझदार होते हैं उनके पास दूसरे आम इंसानों के मुकाबले ज्यादा काबिलियत होती है हालांकि कृत किस बात से बिगड़ते पार्क नहीं रखते ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर डोरोथी विश्वयुद्ध कब है या नहीं वह हाय बाय हाथरस कमाल करती हैं उन्हें लगता है कि मैं औरों से अलग हैं बाराती कहती हैं कि बाएं हाथ का कमाल करने वालों के साथ यह मिथक जुड़े हैं कि उन्हें डिस्लेक्सिया और आर्डर जैसी बीमारी होती हैं जबकि वह यह भी कहती है कि अच्छे संस्कार और संगीतकार ज्यादातर बाएं हाथ का कमाल करते हैं तो यह इंसान का स्वभाव है वह अपनी सहूलियत के हिसाब से अपने हाथों का इस्तेमाल करता है तो ऐसे में बच्चों को नहीं रुकना चाहिए बाएं हाथ का कमाल कर करने पर हाथ का इस्तेमाल करें दाएं हाथ का कोई खास असर पड़ता नहीं है
Savaal yah hai ki kuchh log hamesha baen haath ka kamaal karate kyon karate hain kya bachchon ko aisa karane se rokana chaahie ki darasal hamaare poore shareer mein khaas karen ka asantulan hota hai misaal ke lie ham baen haath se apana phon uthaate hain aur adaen ko kaan par lagaakar sunate hain aaj jab hamen phon par baat karate-karate kuchh likhana hoga to baen kaan par phon lagaate ho re daen haath se likhana shuru kar dete hain isase saaph jaahir hota hai ki jis tarah se ham ka kaam karane mein aasaanee hotee hai vaise hee ham apane shareer ke ango ka kamaal karate hain mote taur par 40 se 3 log apane baen kaan ka aur 30% log apanee baeen aankh ka aur 20 feesadee log apane baen pair ka sammaan karate hain lekin jab baat aatee hai ki haath kee to sirph 10% log hee baen haath ka istemaal karate hain to baen haath ke mukaabale ke mukaabale daen haath par tumhaare sar insaan hee nahin insaan nahin karate hamaare aur bhee bhaee bandhoo yahee karate hain jaise ki chimpaanjee vah kisee kaam ke lie aaya to kisee kaam ke lie baaya haath ka istemaal karata hai haalaanki vaigyaanikon ne apane shodh mein paaya hai ki aadhe chimpaanjee baen haath ka to aadhe daen haath par kamaal karate hain magar 10 ke mukaabale ke insaan hee baen haath ka kamaal karata hai paakistaan ne daen haath ke samaantar gor dena kab se shuroo kiya to hamane apane haathon ka istemaal kaise karana shuroo kiya yah jaane ke lie ham insaan ke vikaas kee buniyaad mein jaana hoga aadimaanav ke rishtedaar rahe niyam daphal maanav ke daanto se usaka ishaara milata hai unhonne apane haathon ka bakhoobee istemaal karana seekh liya tha haalaanki vo thodee phoohad ke sang mein keveeke unhonne bhale hee karana seekh liya tha lekin vah apane daanto se not kar hee khaate the alabatta gosht khaane ke padhane ke lie chhora unake haath mein pakadate the jisamen ki rab se jyaada thee vah jis tarah ke aujaar istemaal karate the unakee banaavat ko dekhakar andaaja andaaja lagaaya ja sakata hai ki vah kaun se haathon mein apana khaana pakadate the aur kaun se haath se aur jaakar kamaal karate the phir karane vaalon mein paaya gaya hai ki nahin end othars maanav mein bhee aapane daen haath ka kamaal jyaada karate the unamen bhee daen aur baen haath par amal karane ka anupaat 10 mein se ek tha jo ki aaj ke sthaanon mein dekhane ko milata hai aaj bhee pata lagaane kee koshish kar rahe hain ki hamaaree deeene ka kaun sa hissa is baat ke lie usaka aata hai ki ham daya daaya aur baaya haath ka istemaal kare lekin javaab aaj bhee kisee ke paas nahin hain savaal yah hai ki log apane baen haath ka kamaal karate hain kya unake jeevan mein koee asar padata hai ya bachchon ko aisa karane se rokana chaahie aisa kaha jaata hai ki hamaare baen taraph ka dimaag daen haath ke kantrol mein hota hai aur dimaag ka daayaan hissa baen haath ke ka haath ko kaaboo mein karata hai yoonivarsitee kolej landan ke prophesar prophesar aur manovaigyaanik krisamis mainars badaam manaate hain maanate hain ki baen haath ka kamaal karane vaale log jyaada samajhadaar hote hain unake paas doosare aam insaanon ke mukaabale jyaada kaabiliyat hotee hai haalaanki krt kis baat se bigadate paark nahin rakhate oksaphord yoonivarsitee ke prophesar dorothee vishvayuddh kab hai ya nahin vah haay baay haatharas kamaal karatee hain unhen lagata hai ki main auron se alag hain baaraatee kahatee hain ki baen haath ka kamaal karane vaalon ke saath yah mithak jude hain ki unhen disleksiya aur aardar jaisee beemaaree hotee hain jabaki vah yah bhee kahatee hai ki achchhe sanskaar aur sangeetakaar jyaadaatar baen haath ka kamaal karate hain to yah insaan ka svabhaav hai vah apanee sahooliyat ke hisaab se apane haathon ka istemaal karata hai to aise mein bachchon ko nahin rukana chaahie baen haath ka kamaal kar karane par haath ka istemaal karen daen haath ka koee khaas asar padata nahin hai

Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
1:28
मोगा में सब बाएं हाथ का इस्तेमाल क्यों करते हैं कि बच्चों को ऐसा करने से रोकना चाहिए देखिए दोस्तों यह अभी तो तय है शुरुआत में जो बच्चा पैदा होता है उसके बाद जो है दोनों हाथों को बराबर अपनी ताकत का इस्तेमाल करते परंतु जैसे-जैसे उसकी जो आप तो यह शरीर का जो असंतुलन है किसी और ज्यादा चला जाता है इसी वजह से वह उस क्षेत्र को लेकर एक काम करना शुरू कर देता है जैसे उसका को दाएं हाथ की तरफ जाना जाता है तो दाएं हाथ से लिख कर भाई वाले बाएं हाथ से लिखते अधिकांश देखा जाए तो है यानी कि जो कुछ ज्यादा हो जाती है भाई आप के मुकाबले परंतु फिर भी सारी बात करें मनुष्य को लेकर के तो इनमें से मात्र दोस्त सेंड ऐसे लोग हैं जो भाई आपकी तरफ से इनका जॉय बेटे को पड़ जाती है कि शुरुआत की तो बरोबर दोनों में ताकत रहती है तो धीरे-धीरे जो है एक हाथ की तरफ चली जाती है अब देखेंगे क्या बाएं हाथ से लिखते हैं तो आपको दायित्व काम करने में काफी मुश्किल होगी क्योंकि आपकी हाइब्रिड जो है वह बाई तरफ से हो चुकी है और यदि अब देखते हैं तो आपका जो है बाएं हाथ से लिखना कभी मुश्किल हो जाएगा परंतु यदि देखा जाए तो भाई हाथ के लोग जो है वह दाहिने हाथ के लोगों के मुकाबले कुछ ज्यादा स्पीड से जो लिखावट लिख सकते हैं और इसके अतिरिक्त भाई आपके दो लोग हैं दोस्तों इनकी संख्या मात्र 10 परसेंटेज अमित दाहिने हाथ की यानी कि 90 परसेंट
Moga mein sab baen haath ka istemaal kyon karate hain ki bachchon ko aisa karane se rokana chaahie dekhie doston yah abhee to tay hai shuruaat mein jo bachcha paida hota hai usake baad jo hai donon haathon ko baraabar apanee taakat ka istemaal karate parantu jaise-jaise usakee jo aap to yah shareer ka jo asantulan hai kisee aur jyaada chala jaata hai isee vajah se vah us kshetr ko lekar ek kaam karana shuroo kar deta hai jaise usaka ko daen haath kee taraph jaana jaata hai to daen haath se likh kar bhaee vaale baen haath se likhate adhikaansh dekha jae to hai yaanee ki jo kuchh jyaada ho jaatee hai bhaee aap ke mukaabale parantu phir bhee saaree baat karen manushy ko lekar ke to inamen se maatr dost send aise log hain jo bhaee aapakee taraph se inaka joy bete ko pad jaatee hai ki shuruaat kee to barobar donon mein taakat rahatee hai to dheere-dheere jo hai ek haath kee taraph chalee jaatee hai ab dekhenge kya baen haath se likhate hain to aapako daayitv kaam karane mein kaaphee mushkil hogee kyonki aapakee haibrid jo hai vah baee taraph se ho chukee hai aur yadi ab dekhate hain to aapaka jo hai baen haath se likhana kabhee mushkil ho jaega parantu yadi dekha jae to bhaee haath ke log jo hai vah daahine haath ke logon ke mukaabale kuchh jyaada speed se jo likhaavat likh sakate hain aur isake atirikt bhaee aapake do log hain doston inakee sankhya maatr 10 parasentej amit daahine haath kee yaanee ki 90 parasent

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • कुछ लोग हमेशा बाएं हाथ का इस्तेमाल क्यों करते हैं क्या बच्चों को ऐसा करने से रोकना चाहिए कुछ लोग हमेशा बाएं हाथ का इस्तेमाल क्यों करते हैं
URL copied to clipboard