#भारत की राजनीति

bolkar speaker

आने वाले समय में महंगाई आसमान छूने लगेगी आप का क्या विचार है?

Ane Vale Samaye Me Mahengayi Asmaan Ko Chuney Lgegi Aap Ka Vichaar Kya Hai
Udham Prasad Gautam Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Udham जी का जवाब
Unknown
3:08
हाय दोस्तों नमस्कार गुड इवनिंग आपका प्रश्न है कि आने वाले सेंड महंगाई आसमान को छूने लगे आपका क्या विचार है दोस्तों अगर ऐसे ही स्थिति रही और अब लोग अच्छे कामों की तरह की तकनीकी नहीं आई ठीक है तो ऐसी परिस्थिति आगे भी बढ़-चढ़कर भागीदारी रही करती रही तो जरूर मांगा ही बढ़ती ही जाएगी उसे पहले समझे कि मांगा या फिर आते क्यों दोस्तों जब भी हम हमारे देश में या हमारे अपने सभी उद्देश्य की उत्पादन की कमी हो जाती है कि किसी भी चीज है अगर उसने उत्पादन की कमी होती है तू चीज का मार्केट में कम फैला होता है यानी कम पहुंचता है तो कम चीजों के लिए ज्यादा लोग हो जाते हैं तो इसलिए वह चीज का दाम बढ़ जाता है ठीक है अगर वही चीज का ज्यादा मात्रा में उत्पादित हो तो क्या होगा कि उसकी दाम तुरंत गिर जाते हैं जैसे एक स्तर पर समझाना चाहूंगा ऐसे सर्दी के मौसम में क्या होता है कि जो मूली और पालक हो सस्ती हो जाती है क्यों क्योंकि उस समय उसका एक मौसम रहता है उस जिसमें जैसे ही बोल देते मूली पालक और अच्छे से हो जाता है उस वक्त में ठीक है और सब के पास हो जाता है इसलिए दूर के ₹4 किलो हो जाता है कभी कबार ऐसा लेकिन ठीक वही जब गर्मी का मौसम आता है तो उसका जो मौसम है मुझे और पालक होने का वह मौसम तो सा हो जाता है इसलिए अच्छे सो नहीं पाता है गर्मी में और जिसके पास होता है भी तो बहुत कम होता है इसलिए जब उसकी उत्पादन में कमी आती है तो गर्मी के मौसम में जाता है मूली और पालक कदम हाई हो जाता है ठीक है और उसको खरीदने वाले जाते हो जाते हैं ठीक है तू इस तरह से उस में परिवर्तन देखने को मिल जाता है और भी एक इकोनॉमिकल दृष्टि से कमी आती है कि जब भी हमारे अंदर यही कमी होती है कि कुछ लोग ऐसे होते हैं कि जब सामान सस्ता हो जाता है तो उस पर वॉल्यूम उसे विश्वास ही नहीं करते कि एक अच्छा या खराब है लेकिन जब उससे सामान का दाम बढ़ जाता है तो लोग सोचते हैं कि हां अब यह भैया तुम्हारे सामान के ऊपर ज्यादा ग्लो गिरने लगते हैं ठीक है तो इस तरह से भी वह जो दुकानदार वाले होते हैं वह सोचते हैं कि कम में बेचेंगे तो नहीं लेंगे जब ज्यादा दाम बढ़ेंगे तब सोचेंगे अब इसमें कि जो भी बीमारी है या फिर कुछ भी है वह खत्म हो गई अब सही हो गया ठीक है तो इस तरह से खरीदे लगते हैं इसलिए दुकानदार भी क्या करते हैं माल को हाय दाम पर बेचने में स्टार्ट कर देते हैं और लोग लेने लगते हैं इसलिए मंगाई और भी आगे बढ़ती चली जाती है ठीक है और हम चैन कहीं खो नाम जल्द से जल्द हम और आप ही महंगाई को बढ़ाने में आपका योगदान देते हैं ठीक है दोस्तों तो आप पढ़े लिखे हो और पढ़ाई लिखाई सेट नई तकनीकी अपने दिमाग से और अन्य लोगों से दृष्टि से आप तो है तकनीकी लाई है उसके बाद आपको उस पर विचार विमर्श कीजिए ठीक है तो ऐसे सभी लोग करने लगे तो क्या हुआ की नई तकनीकी देश में आएगी और नए रोजगार पैदा होंगे और नई का त्यागी तुझसे क्या होगा मंगाई भी कम होगी सभी लोगों को रोजगार मिलेगा ठीक है धन्यवाद
Haay doston namaskaar gud ivaning aapaka prashn hai ki aane vaale send mahangaee aasamaan ko chhoone lage aapaka kya vichaar hai doston agar aise hee sthiti rahee aur ab log achchhe kaamon kee tarah kee takaneekee nahin aaee theek hai to aisee paristhiti aage bhee badh-chadhakar bhaageedaaree rahee karatee rahee to jaroor maanga hee badhatee hee jaegee use pahale samajhe ki maanga ya phir aate kyon doston jab bhee ham hamaare desh mein ya hamaare apane sabhee uddeshy kee utpaadan kee kamee ho jaatee hai ki kisee bhee cheej hai agar usane utpaadan kee kamee hotee hai too cheej ka maarket mein kam phaila hota hai yaanee kam pahunchata hai to kam cheejon ke lie jyaada log ho jaate hain to isalie vah cheej ka daam badh jaata hai theek hai agar vahee cheej ka jyaada maatra mein utpaadit ho to kya hoga ki usakee daam turant gir jaate hain jaise ek star par samajhaana chaahoonga aise sardee ke mausam mein kya hota hai ki jo moolee aur paalak ho sastee ho jaatee hai kyon kyonki us samay usaka ek mausam rahata hai us jisamen jaise hee bol dete moolee paalak aur achchhe se ho jaata hai us vakt mein theek hai aur sab ke paas ho jaata hai isalie door ke ₹4 kilo ho jaata hai kabhee kabaar aisa lekin theek vahee jab garmee ka mausam aata hai to usaka jo mausam hai mujhe aur paalak hone ka vah mausam to sa ho jaata hai isalie achchhe so nahin paata hai garmee mein aur jisake paas hota hai bhee to bahut kam hota hai isalie jab usakee utpaadan mein kamee aatee hai to garmee ke mausam mein jaata hai moolee aur paalak kadam haee ho jaata hai theek hai aur usako khareedane vaale jaate ho jaate hain theek hai too is tarah se us mein parivartan dekhane ko mil jaata hai aur bhee ek ikonomikal drshti se kamee aatee hai ki jab bhee hamaare andar yahee kamee hotee hai ki kuchh log aise hote hain ki jab saamaan sasta ho jaata hai to us par volyoom use vishvaas hee nahin karate ki ek achchha ya kharaab hai lekin jab usase saamaan ka daam badh jaata hai to log sochate hain ki haan ab yah bhaiya tumhaare saamaan ke oopar jyaada glo girane lagate hain theek hai to is tarah se bhee vah jo dukaanadaar vaale hote hain vah sochate hain ki kam mein bechenge to nahin lenge jab jyaada daam badhenge tab sochenge ab isamen ki jo bhee beemaaree hai ya phir kuchh bhee hai vah khatm ho gaee ab sahee ho gaya theek hai to is tarah se khareede lagate hain isalie dukaanadaar bhee kya karate hain maal ko haay daam par bechane mein staart kar dete hain aur log lene lagate hain isalie mangaee aur bhee aage badhatee chalee jaatee hai theek hai aur ham chain kaheen kho naam jald se jald ham aur aap hee mahangaee ko badhaane mein aapaka yogadaan dete hain theek hai doston to aap padhe likhe ho aur padhaee likhaee set naee takaneekee apane dimaag se aur any logon se drshti se aap to hai takaneekee laee hai usake baad aapako us par vichaar vimarsh keejie theek hai to aise sabhee log karane lage to kya hua kee naee takaneekee desh mein aaegee aur nae rojagaar paida honge aur naee ka tyaagee tujhase kya hoga mangaee bhee kam hogee sabhee logon ko rojagaar milega theek hai dhanyavaad

और जवाब सुनें

bolkar speaker
आने वाले समय में महंगाई आसमान छूने लगेगी आप का क्या विचार है?Ane Vale Samaye Me Mahengayi Asmaan Ko Chuney Lgegi Aap Ka Vichaar Kya Hai
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:36
हेलो अभी बंद स्वागत है आपका आपका देश में आने वाले समय में महंगाई आसमान को छूने लगेगी आपका क्या विचार है तो फ्रेंड से बिल्कुल सही बात है आने वाले समय में महंगाई जरूर आसमान को छूने की जिस तरह से हफ्ते की कीमतें बढ़ रही हैं तो आने वाले समय में महंगाई और ज्यादा पड़ेगी क्योंकि जनसंख्या बहुत ज्यादा बढ़ रही है और संसाधन तो कम है तो इसीलिए हर चीज में महंगाई बढ़ती जा रही है और जो बाहर से चीजें आती है विदेशों से वह भी काफी महंगी मिलती है इसलिए महंगाई और ज्यादा पड़ रही है तो आने वाले समय में महंगाई नहीं सितारों से मिलेगी धन्यवाद
Helo abhee band svaagat hai aapaka aapaka desh mein aane vaale samay mein mahangaee aasamaan ko chhoone lagegee aapaka kya vichaar hai to phrend se bilkul sahee baat hai aane vaale samay mein mahangaee jaroor aasamaan ko chhoone kee jis tarah se haphte kee keematen badh rahee hain to aane vaale samay mein mahangaee aur jyaada padegee kyonki janasankhya bahut jyaada badh rahee hai aur sansaadhan to kam hai to iseelie har cheej mein mahangaee badhatee ja rahee hai aur jo baahar se cheejen aatee hai videshon se vah bhee kaaphee mahangee milatee hai isalie mahangaee aur jyaada pad rahee hai to aane vaale samay mein mahangaee nahin sitaaron se milegee dhanyavaad

bolkar speaker
आने वाले समय में महंगाई आसमान छूने लगेगी आप का क्या विचार है?Ane Vale Samaye Me Mahengayi Asmaan Ko Chuney Lgegi Aap Ka Vichaar Kya Hai
पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
1:47
आने वाले समय में महंगाई आसमान को छूने लगेगा आपका क्या विचार देकर बात सही है जब देश में निजी कारण हो जाएगा सब कुछ बनियों के हाथ में चला जाएगा तो ₹10 की चीज ₹50 के लेबल लगाकर बिकेगी और आप खरीदेंगे भाई पेट भरना है तो खरीद देंगे आपकी आमदनी इतनी नहीं है तो देश महंगाई की तरफ बढ़ रहा है लेकिन उसके अगर देखा जाए तो उसके लिए दोषी कौन है हमें आप तो दोस्ती है ना आपसे कह दिया कि रामचंद जी खतरे में है मंदिर बनना है आप ने बीजेपी को वोट दे दिया बीजेपी मंदिर और यह 370 धारा इन सब बातों पर काम कर रही है लेकिन देश की सारी संपत्ति जो है वह पूंजी पतियों के नाम कर दे रही है और पूंजीपतियों गए थे दूसरे शब्दों में यहां पर शासन हो रहा है अर्थशास्त्रियों का कहना है कि अगर पूंजी पतियों का शासन लगातार और 5 साल बना रहा तो देश फोटो में चला जाएगा इतनी बेरोजगारी बढ़ जाएगी इतनी भूख भरी बढ़ जाएगी कि कोई भी प्रधानमंत्री संभाल नहीं पाएंगे उसको इसलिए निजीकरण का विरोध करना चाहिए सरकारी नौकरियां आनी चाहिए शिक्षा स्वास्थ्य और जन सेवाओं के जितने भी संस्थाएं हैं उनका निजी कारण नहीं होना चाहिए इसलिए निजीकरण का विरोध कीजिए और कुछ साल में अगर आप किस को रोकना चाहते महंगाई को तो सीधे-सीधे ऐसी सरकार को लाइए जो निजीकरण का विरोध करती हो इसके लिए आम आदमी पार्टी सफिशिएंट है वह निजीकरण का विरोध भी करती है और अकेले सरकार का मुझे उठा ले रही है इसलिए 5 साल अगर और सर बीजेपी आ गई तो क्या स्थिति होगी वह आप भी समझ लीजिए
Aane vaale samay mein mahangaee aasamaan ko chhoone lagega aapaka kya vichaar dekar baat sahee hai jab desh mein nijee kaaran ho jaega sab kuchh baniyon ke haath mein chala jaega to ₹10 kee cheej ₹50 ke lebal lagaakar bikegee aur aap khareedenge bhaee pet bharana hai to khareed denge aapakee aamadanee itanee nahin hai to desh mahangaee kee taraph badh raha hai lekin usake agar dekha jae to usake lie doshee kaun hai hamen aap to dostee hai na aapase kah diya ki raamachand jee khatare mein hai mandir banana hai aap ne beejepee ko vot de diya beejepee mandir aur yah 370 dhaara in sab baaton par kaam kar rahee hai lekin desh kee saaree sampatti jo hai vah poonjee patiyon ke naam kar de rahee hai aur poonjeepatiyon gae the doosare shabdon mein yahaan par shaasan ho raha hai arthashaastriyon ka kahana hai ki agar poonjee patiyon ka shaasan lagaataar aur 5 saal bana raha to desh photo mein chala jaega itanee berojagaaree badh jaegee itanee bhookh bharee badh jaegee ki koee bhee pradhaanamantree sambhaal nahin paenge usako isalie nijeekaran ka virodh karana chaahie sarakaaree naukariyaan aanee chaahie shiksha svaasthy aur jan sevaon ke jitane bhee sansthaen hain unaka nijee kaaran nahin hona chaahie isalie nijeekaran ka virodh keejie aur kuchh saal mein agar aap kis ko rokana chaahate mahangaee ko to seedhe-seedhe aisee sarakaar ko laie jo nijeekaran ka virodh karatee ho isake lie aam aadamee paartee saphishient hai vah nijeekaran ka virodh bhee karatee hai aur akele sarakaar ka mujhe utha le rahee hai isalie 5 saal agar aur sar beejepee aa gaee to kya sthiti hogee vah aap bhee samajh leejie

bolkar speaker
आने वाले समय में महंगाई आसमान छूने लगेगी आप का क्या विचार है?Ane Vale Samaye Me Mahengayi Asmaan Ko Chuney Lgegi Aap Ka Vichaar Kya Hai
srikant pal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए srikant जी का जवाब
Student
0:32

bolkar speaker
आने वाले समय में महंगाई आसमान छूने लगेगी आप का क्या विचार है?Ane Vale Samaye Me Mahengayi Asmaan Ko Chuney Lgegi Aap Ka Vichaar Kya Hai
Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
0:34
इस समय में महंगाई आसमान को छूने लगेगी आप का विचार क्या है देखे दोस्तों जिस तरीके से आज पूरे विश्व के अंदर जनसंख्या बढ़ रही है लोगों को जो संसाधन है उनकी जगह जो है वह मशीनरी ले रही है रोजगार यानी के चलते हुए जा रहे हैं तो मेरे हिसाब से जो है महंगाई जो है दोस्तों को आसमान पर तो बढ़ेगी क्योंकि हम देख रहे हैं कि अमीर व्यक्ति और ज्यादा अमीर होता हुआ जा रहा है जबकि गरीब भक्ति और ज्यादा गरीब होता हुआ जा रहा है तो जनसंख्या और दूसरे आजकल के वजह से लोगों के रोजगार
Is samay mein mahangaee aasamaan ko chhoone lagegee aap ka vichaar kya hai dekhe doston jis tareeke se aaj poore vishv ke andar janasankhya badh rahee hai logon ko jo sansaadhan hai unakee jagah jo hai vah masheenaree le rahee hai rojagaar yaanee ke chalate hue ja rahe hain to mere hisaab se jo hai mahangaee jo hai doston ko aasamaan par to badhegee kyonki ham dekh rahe hain ki ameer vyakti aur jyaada ameer hota hua ja raha hai jabaki gareeb bhakti aur jyaada gareeb hota hua ja raha hai to janasankhya aur doosare aajakal ke vajah se logon ke rojagaar

bolkar speaker
आने वाले समय में महंगाई आसमान छूने लगेगी आप का क्या विचार है?Ane Vale Samaye Me Mahengayi Asmaan Ko Chuney Lgegi Aap Ka Vichaar Kya Hai
shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
0:43
हम तो चले कि आने वाले समय में महंगाई आसमान छूने लगे कि आपका क्या विचार है पूरी तरह से एक बात समझ में नहीं आई है आने वाले समय में और ज्यादा ही बढ़ जाती है और कितना दाम बढ़ जाता है हर एक चीज जो पहले जितना अदा होता तो मैसेज कर दो आने वाले समय में मरना कंपनी में घर चलाना बहुत मुश्किल हो सकता है
Ham to chale ki aane vaale samay mein mahangaee aasamaan chhoone lage ki aapaka kya vichaar hai pooree tarah se ek baat samajh mein nahin aaee hai aane vaale samay mein aur jyaada hee badh jaatee hai aur kitana daam badh jaata hai har ek cheej jo pahale jitana ada hota to maisej kar do aane vaale samay mein marana kampanee mein ghar chalaana bahut mushkil ho sakata hai

bolkar speaker
आने वाले समय में महंगाई आसमान छूने लगेगी आप का क्या विचार है?Ane Vale Samaye Me Mahengayi Asmaan Ko Chuney Lgegi Aap Ka Vichaar Kya Hai
Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
1:15
सवाल यह है कि आने वाले समय में महंगाई आसमान छूने लगेगी आपके क्या विचार हैं घर के राशन का सारा सामान सब्जियां दालें गैस सिलेंडर मसाले सभी चीजें तो महंगी होती जा रही है तो इसमें सोचने वाली बात है हम खाएंगे क्या इस सप्ताह जारी जारी सरकारी आंकड़े भी बता रहे हैं कि दिसंबर 2019 में मुद्रास्फीति यानी महंगाई दर 7.35 फ़ीसदी थी वह जनवरी 2020 आते-आते 7.59 फ़ीसदी तक पहुंच गए वहीं जनवरी 2019 में महंगाई दर 2.05 फ़ीसदी पर थी फिलहाल अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की बढ़ी कीमतें स्थिति के लिए जिम्मेदार हैं मई 2014 के बाद से पहली बार है कि जब जैन महंगाई दर सबसे अधिक है और चिंता का विषय बन गई है मई 2014 में यह 8.3 फ़ीसदी थी आप जैसे कि को बट के बाद और भारत के अर्थव्यवस्था पर भी काफी दुष्प्रभाव पड़ा है बहुत आर्थिक स्थिति बहुत कम बेकार हो गई है तो सरकार आने वाली समय आने वाले समय में की भरपाई के लिए महंगाई जरूर बढ़ाइए
Savaal yah hai ki aane vaale samay mein mahangaee aasamaan chhoone lagegee aapake kya vichaar hain ghar ke raashan ka saara saamaan sabjiyaan daalen gais silendar masaale sabhee cheejen to mahangee hotee ja rahee hai to isamen sochane vaalee baat hai ham khaenge kya is saptaah jaaree jaaree sarakaaree aankade bhee bata rahe hain ki disambar 2019 mein mudraaspheeti yaanee mahangaee dar 7.35 feesadee thee vah janavaree 2020 aate-aate 7.59 feesadee tak pahunch gae vaheen janavaree 2019 mein mahangaee dar 2.05 feesadee par thee philahaal antararaashtreey baajaar mein kachche tel kee badhee keematen sthiti ke lie jimmedaar hain maee 2014 ke baad se pahalee baar hai ki jab jain mahangaee dar sabase adhik hai aur chinta ka vishay ban gaee hai maee 2014 mein yah 8.3 feesadee thee aap jaise ki ko bat ke baad aur bhaarat ke arthavyavastha par bhee kaaphee dushprabhaav pada hai bahut aarthik sthiti bahut kam bekaar ho gaee hai to sarakaar aane vaalee samay aane vaale samay mein kee bharapaee ke lie mahangaee jaroor badhaie

bolkar speaker
आने वाले समय में महंगाई आसमान छूने लगेगी आप का क्या विचार है?Ane Vale Samaye Me Mahengayi Asmaan Ko Chuney Lgegi Aap Ka Vichaar Kya Hai
Anand Patel Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Anand जी का जवाब
Mathematics Teacher
0:44
आने वाले समय में महंगाई आसमान छूने लगे कि आपका क्या विचार है श्री किशोर कुमार के ना चल रहा है अभी बहुत लगाई है और आने वाले समय में वास्तव में महंगाई हो जाएगा ऊपर हो जाएगी और आसमान को छूने लगेगी लगता है कि मनुष्य को ही के सामने वाले व्यक्ति को जो महंगाई का सामना करता है सही अपने आप को इस प्रकार सहित फ्रेंड करना होगा कि वे आगे जो समय आने वाला है मैं आयुष शर्मा 165
Aane vaale samay mein mahangaee aasamaan chhoone lage ki aapaka kya vichaar hai shree kishor kumaar ke na chal raha hai abhee bahut lagaee hai aur aane vaale samay mein vaastav mein mahangaee ho jaega oopar ho jaegee aur aasamaan ko chhoone lagegee lagata hai ki manushy ko hee ke saamane vaale vyakti ko jo mahangaee ka saamana karata hai sahee apane aap ko is prakaar sahit phrend karana hoga ki ve aage jo samay aane vaala hai main aayush sharma 165

bolkar speaker
आने वाले समय में महंगाई आसमान छूने लगेगी आप का क्या विचार है?Ane Vale Samaye Me Mahengayi Asmaan Ko Chuney Lgegi Aap Ka Vichaar Kya Hai
Rajesh Kumar swami Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Rajesh जी का जवाब
Student
0:55
आने वाले समय में महंगाई आसमान छू लेगी जी हमारा भी विचार है अभी के टाइम में इतनी महंगाई चल रही है तो आने वाले आने वाले साल आने वाली युग आने वाली पीढ़ियां तो इस तिरंगे को झेल रही है जिले की भी हो जल्द भी रही है हम भी चल रहे हमारे से पैदल सकता था हमारी पीढ़ी चल रही है तुम जल रहे हैं आने वाली पीढ़ी हमसे भी ज्यादा जलेगी आएगी दिल्ली में आसमान आसमान सूरत आ गया आ गया के साल इसी से बढ़ेगा इससे अधिक बढ़ेगा इससे महंगाई बढ़ती जाएगी आगे की टाइम में लोगों का जीना और खाद्य पदार्थों से कोई भी समान हो इतना काफी मुश्किल हो जाएगा तुम्हें तो याद की टाइम ही भी आसमान को छू रही है
Aane vaale samay mein mahangaee aasamaan chhoo legee jee hamaara bhee vichaar hai abhee ke taim mein itanee mahangaee chal rahee hai to aane vaale aane vaale saal aane vaalee yug aane vaalee peedhiyaan to is tirange ko jhel rahee hai jile kee bhee ho jald bhee rahee hai ham bhee chal rahe hamaare se paidal sakata tha hamaaree peedhee chal rahee hai tum jal rahe hain aane vaalee peedhee hamase bhee jyaada jalegee aaegee dillee mein aasamaan aasamaan soorat aa gaya aa gaya ke saal isee se badhega isase adhik badhega isase mahangaee badhatee jaegee aage kee taim mein logon ka jeena aur khaady padaarthon se koee bhee samaan ho itana kaaphee mushkil ho jaega tumhen to yaad kee taim hee bhee aasamaan ko chhoo rahee hai

bolkar speaker
आने वाले समय में महंगाई आसमान छूने लगेगी आप का क्या विचार है?Ane Vale Samaye Me Mahengayi Asmaan Ko Chuney Lgegi Aap Ka Vichaar Kya Hai
Er.Awadhesh kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 66
सुनिए Er.Awadhesh जी का जवाब
Unknown
3:45
मनोज जी के द्वारा अनुरोध एक प्रश्न है कि आने वाले समय में महंगाई आसमान छूने लगेगी आपका क्या विचार है हंड्रेड परसेंट ए विचार है कि महंगाई तो बड़ी ही है और आने वाले समय में ऐसा लगता है कि और भी बढ़ेगी क्योंकि आप पिछले समय में देखा होगा कि जब सब्सिडी की बात की जा रही थी तू अपने देखा कि जो ₹60 का पेट्रोल था आज 9290 93 के आसपास दिख रहा है वही रिचार्ज यूटीवी का आप करा देते ₹200 का लगभग था वह आज 4:30 सौ ₹500 का रिचार्ज करवाया जा रहा है उसमें देखा जाए कि ₹400 के सिलेंडर थी जो राशि ₹400 में महीने का खर्च निपट जाता था लेकिन आज सब्सिडी का प्रोत्साहन देकर सब्सिडी का प्रलोभन देते 900 1000 रुपए तक का सब्सिडी वाले सिलेंडर बिके हैं वहीं अगर बात करें बिना सब्सिडी वाले सिलेंडर वह तो 1215 16 साल के भी मार्केट में बिके हैं वही देखा जाए तो जो तीन से ₹10 का प्लेटफार्म टिकट था वह आज लगभग ₹50 कई जो प्राइवेटाइजेशन हो गए हैं वहां पर लगभग ₹50 के प्लेटफार्म टिकट बिक रही खाने का तेल लगभग 50 से ₹60 किलो तो आज जो है एक सौ साठ से सत्तर रुपए किलो तेल भी करें सूची की महंगाई दर दिन पर दिन बढ़ती ही गई है कम नहीं हुई है और इसका कारण क्या रहा है कहीं न कहीं लोगों को सरकार के द्वारा प्रोत्साहन दिया गया लू प्रलोभन दिया गया जिस पर सरकार खरी नहीं उतरी उसके साथ-साथ मुझे लगता है इससे महंगाई का सबसे बड़ा कारण जो है कि आई बड़ी बड़ी पूंजी पतियों से जो इन्होंने उस कर्ज का भुगतान आम लोगों से पैसे बढ़ाकर तो रोजमर्रा की चीजें हैं उसका दाम बढ़ाकर की भरपाई करना चाहते हैं कि उनका कर्ज चुका सके जो और देशों से कर्ज लाए हैं यही सोच रहे हैं कि मैं किसी न किसी तरीके से महंगाई दर बढ़ाकर और जो कर्मचारी हैं कर्मचारी को मैं प्रलोभन इसलिए दूंगा तू ने महंगाई भत्ता ₹1 एक परसेंट या 50 परसेंट पॉइंट 5% बढ़ाकर 2% बढ़ाकर मैं क्या करूंगा उनके मुंह पर लगाम लगा दूंगा उन्हें बंद कर दूंगी रुक दूंगा कि आप नहीं बोलोगे क्योंकि आपको महंगाई बढ़ी है तो बात आपको मिला है महंगाई भत्ता लेकिन उसकी क्या करेंगे जो आम जनता है जो रोजमर्रा की जिंदगी अपने चंद पैसों के कमाए हुए बिताना चाहती है उसे आप कैसे हो तुम मुझे लगता है कि सरकार इस पर कुछ भी नहीं करना चाहती है और यह नहीं चाहती है कि हां मैं इस पर रोक लगा लूंगा या नहीं लगाऊंगा मुझे नहीं लगता कि आने वाले समय में इस पर रोक लगाई जा सकती है कि दिन पर दिन बढ़ती जाएगी और सबसे बड़ी बात बता दे कि जो भी सब्सिडी वाली चीज थे उसको सरकार प्लानिंग कर रही थी उसे बंद किया जाए और जो राखी प्रजेंट टाइम में रेट चल रहा है वही चलेंगे तो मुझे लगता है कि आने वाले समय में महंगाई दर और आसमान छू लेगी जो आम जनता है उसके लिए बहुत ज्यादा जिंदगी जीने का तरीका होगा बहुत ही कठिन होगा बहुत ही परिश्रमी होगा बहुत सारे दुखदाई होगा कष्टकारी होगा
Manoj jee ke dvaara anurodh ek prashn hai ki aane vaale samay mein mahangaee aasamaan chhoone lagegee aapaka kya vichaar hai handred parasent e vichaar hai ki mahangaee to badee hee hai aur aane vaale samay mein aisa lagata hai ki aur bhee badhegee kyonki aap pichhale samay mein dekha hoga ki jab sabsidee kee baat kee ja rahee thee too apane dekha ki jo ₹60 ka petrol tha aaj 9290 93 ke aasapaas dikh raha hai vahee richaarj yooteevee ka aap kara dete ₹200 ka lagabhag tha vah aaj 4:30 sau ₹500 ka richaarj karavaaya ja raha hai usamen dekha jae ki ₹400 ke silendar thee jo raashi ₹400 mein maheene ka kharch nipat jaata tha lekin aaj sabsidee ka protsaahan dekar sabsidee ka pralobhan dete 900 1000 rupe tak ka sabsidee vaale silendar bike hain vaheen agar baat karen bina sabsidee vaale silendar vah to 1215 16 saal ke bhee maarket mein bike hain vahee dekha jae to jo teen se ₹10 ka pletaphaarm tikat tha vah aaj lagabhag ₹50 kaee jo praivetaijeshan ho gae hain vahaan par lagabhag ₹50 ke pletaphaarm tikat bik rahee khaane ka tel lagabhag 50 se ₹60 kilo to aaj jo hai ek sau saath se sattar rupe kilo tel bhee karen soochee kee mahangaee dar din par din badhatee hee gaee hai kam nahin huee hai aur isaka kaaran kya raha hai kaheen na kaheen logon ko sarakaar ke dvaara protsaahan diya gaya loo pralobhan diya gaya jis par sarakaar kharee nahin utaree usake saath-saath mujhe lagata hai isase mahangaee ka sabase bada kaaran jo hai ki aaee badee badee poonjee patiyon se jo inhonne us karj ka bhugataan aam logon se paise badhaakar to rojamarra kee cheejen hain usaka daam badhaakar kee bharapaee karana chaahate hain ki unaka karj chuka sake jo aur deshon se karj lae hain yahee soch rahe hain ki main kisee na kisee tareeke se mahangaee dar badhaakar aur jo karmachaaree hain karmachaaree ko main pralobhan isalie doonga too ne mahangaee bhatta ₹1 ek parasent ya 50 parasent point 5% badhaakar 2% badhaakar main kya karoonga unake munh par lagaam laga doonga unhen band kar doongee ruk doonga ki aap nahin bologe kyonki aapako mahangaee badhee hai to baat aapako mila hai mahangaee bhatta lekin usakee kya karenge jo aam janata hai jo rojamarra kee jindagee apane chand paison ke kamae hue bitaana chaahatee hai use aap kaise ho tum mujhe lagata hai ki sarakaar is par kuchh bhee nahin karana chaahatee hai aur yah nahin chaahatee hai ki haan main is par rok laga loonga ya nahin lagaoonga mujhe nahin lagata ki aane vaale samay mein is par rok lagaee ja sakatee hai ki din par din badhatee jaegee aur sabase badee baat bata de ki jo bhee sabsidee vaalee cheej the usako sarakaar plaaning kar rahee thee use band kiya jae aur jo raakhee prajent taim mein ret chal raha hai vahee chalenge to mujhe lagata hai ki aane vaale samay mein mahangaee dar aur aasamaan chhoo legee jo aam janata hai usake lie bahut jyaada jindagee jeene ka tareeka hoga bahut hee kathin hoga bahut hee parishramee hoga bahut saare dukhadaee hoga kashtakaaree hoga

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • आने वाले समय में सोने का भाव.. आसमान छूती महंगाई
URL copied to clipboard